क्या भारत में वित्तीय आपात लगने की संभावना है?...


user

Aalok Kumar Srivastava

Financial consultant Or Investment Advisor In Aditya Birla Sunlife Barabanki UP

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न क्या भारत में वित्त आपातकाल लगाने की संभावना नहीं भारत में वित्तीय आपातकाल लगाने की कोई संभावना है भारत पर मुख्य ताकाची प्रधान देश है और जहां तक मैं समझता हूं इसके आधार पर जीडीपी में इसका जितना हिस्सा है और जितना अपने इन स्टॉक्स है तो उसके हिसाब से विद्या पता लगाने की आवश्यकता नहीं होगी हां यह जरूर हो जाएगा कि भविष्य में भारत का जो चाइना के से भागने वाली कंपनियां हैं उन कंपनियों को अपने देश में आकर्षित करने के लिए बहुत सारी आयतें हो टैक्स मीडिया के देखो सब लोग यहां पर इंगेजमेंट करना शुरू कर दें इसकी संभावना 99.8% है जबकि वित्तीय आपातकाल की संभावना 0%

aapka prashna kya bharat me vitt aapatkal lagane ki sambhavna nahi bharat me vittiy aapatkal lagane ki koi sambhavna hai bharat par mukhya takachi pradhan desh hai aur jaha tak main samajhata hoon iske aadhar par GDP me iska jitna hissa hai aur jitna apne in stocks hai toh uske hisab se vidya pata lagane ki avashyakta nahi hogi haan yah zaroor ho jaega ki bhavishya me bharat ka jo china ke se bhagne wali companiya hain un companion ko apne desh me aakarshit karne ke liye bahut saari ayaten ho tax media ke dekho sab log yahan par engagement karna shuru kar de iski sambhavna 99 8 hai jabki vittiy aapatkal ki sambhavna 0

आपका प्रश्न क्या भारत में वित्त आपातकाल लगाने की संभावना नहीं भारत में वित्तीय आपातकाल लगा

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

0:47
Play

Likes  83  Dislikes    views  2722
WhatsApp_icon
user

Sunil Kumar

Online Business ,Newtork Marketing & You Tuber

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा तो मुमकिन मुझे भी लगता है कि यह करुणा को जो कहर के कारण पूरा लॉक डाउन हो गया इंडिया यह आगे आने वाले टाइम में जो ऐसे वित्तीय आपात की संभावना लग रही है और यह वित्तीय आपात इतना भयंकर होगा किसी कल्पना भी नहीं कर सकते बस हम यही उम्मीद करते हैं कि जल्दी यह करुणा का प्रकोप जो खत्म हो जाए इसका एंटी डोज आ जाए और दुनिया में जो एक पूरा लॉक दाम पड़ा हुआ है वह लोग खत्म हो जाए नहीं तो अगर एक-दो महीना 3 महीना क्लॉक डांस फ्लिक गया तो आप सोच सकते हैं कि भारत कितने भारत ही नहीं पूरे विश्व में कितने प्राप्त वित्तीय आपात आने वाली संभावना है कि हम कल्पना भी नहीं कर सकते हैं तो बस यही उम्मीद करते हैं कि जल्दी सब कुछ खत्म हो जाए और हमारा जो जीवन चर्या झुका हुआ है जो लोग डॉन के कारण पूरा विश्व के साथ साथ भारत भी रुका हुआ है वह जल्दी अपनी पटरी पर लौटे सारा कामकाज सुचारू ढंग से स्टार्ट हो जाए

aisa toh mumkin mujhe bhi lagta hai ki yah corona ko jo kahar ke karan pura lock down ho gaya india yah aage aane waale time me jo aise vittiy aapaat ki sambhavna lag rahi hai aur yah vittiy aapaat itna bhayankar hoga kisi kalpana bhi nahi kar sakte bus hum yahi ummid karte hain ki jaldi yah corona ka prakop jo khatam ho jaaye iska anti dose aa jaaye aur duniya me jo ek pura lock daam pada hua hai vaah log khatam ho jaaye nahi toh agar ek do mahina 3 mahina clock dance flick gaya toh aap soch sakte hain ki bharat kitne bharat hi nahi poore vishwa me kitne prapt vittiy aapaat aane wali sambhavna hai ki hum kalpana bhi nahi kar sakte hain toh bus yahi ummid karte hain ki jaldi sab kuch khatam ho jaaye aur hamara jo jeevan charya jhuka hua hai jo log don ke karan pura vishwa ke saath saath bharat bhi ruka hua hai vaah jaldi apni patri par laute saara kaamkaaj sucharu dhang se start ho jaaye

ऐसा तो मुमकिन मुझे भी लगता है कि यह करुणा को जो कहर के कारण पूरा लॉक डाउन हो गया इंडिया यह

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  414
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की आपका प्रश्न है क्या भारत में वित्तीय आपात लगने की संभावना है तो मैं आपको बता दूं कि पिछले 1 हफ्ते से भारत में व्यापार लगने की संभावना की चर्चाएं हो रही थी बहुत अफवाहें फैल रही थी क्योंकि भारत में सेंसेक्स और डूब गया था भारत की आर्थिक व्यवस्था बहुत खराब हो रही थी लेकिन जब सी वित्त मंत्री ने एक लाख 70 हजार करोड़ रुपए की सहायता दी है देश के लिए प्रावधान किया है तब से ऐसा लगता है कि अब भारत में भी आप आग लगने की संभावनाएं समाप्त हो गई है और मेरा विचार तो यही है भारत में वित्तीय आपात लगने की संभावना है बिल्कुल ही नहीं

ram ram ji ki aapka prashna hai kya bharat me vittiy aapaat lagne ki sambhavna hai toh main aapko bata doon ki pichle 1 hafte se bharat me vyapar lagne ki sambhavna ki charchaen ho rahi thi bahut afwayen fail rahi thi kyonki bharat me sensex aur doob gaya tha bharat ki aarthik vyavastha bahut kharab ho rahi thi lekin jab si vitt mantri ne ek lakh 70 hazaar crore rupaye ki sahayta di hai desh ke liye pravadhan kiya hai tab se aisa lagta hai ki ab bharat me bhi aap aag lagne ki sambhavnayen samapt ho gayi hai aur mera vichar toh yahi hai bharat me vittiy aapaat lagne ki sambhavna hai bilkul hi nahi

राम राम जी की आपका प्रश्न है क्या भारत में वित्तीय आपात लगने की संभावना है तो मैं आपको बता

Romanized Version
Likes  160  Dislikes    views  2247
WhatsApp_icon
user

Ranjeet Singh Uppal

Retired GM ONGC

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में आपातकाल अभी तक 3 बार लगाया गया है पहली बार चाइना वार के समय 1962 में उसके पास बंगला देश के आजादी के लिए जो 71 का वार हमने लड़ा था उस वक्त और तीसरी बार 75 में जब इंदिरा गांधी का इलेक्शन हाईकोर्ट ने इनवेलिड क्लियर किया था जो तीसरी बार हमने आपातकाल लगाया था वह इंटरनल इमरजेंसी थी परंतु जहां तक वित्तीय आपातकाल लगाने की बात है आज तक वित्तीय आपातकाल लगाने की नौबत कभी नहीं आई एक बार जब चंद्रशेखर गवर्नमेंट थी तो वह हमारी हालत काफी खराब थी सोना भी गिरवी रखना पड़ा था परंतु तब भी इसकी आवश्यकता नहीं पड़ी उसके बाद 2008 में जब विश्व में पूरी मंडी चल रही थी तब भी हमारी आर्थिक हालत खराब थी पर फिर भी वित्तीय आपातकाल नहीं लगाया गया अभी भी जो हमारी विनती हालत है वह अच्छी नहीं पुराना बारिश की वजह से लेकिन निकट भविष्य में ऐसी कोई संभावना नहीं है कि आप वित्तीय आपातकाल लगाया जाए लेकिन अगर भविष्य में यह स्थिति बिगड़ती है तो इस बारे में विचार किया जा सकता है पर फिलहाल इसकी कोई संभावना नहीं है धन्यवाद

bharat me aapatkal abhi tak 3 baar lagaya gaya hai pehli baar china war ke samay 1962 me uske paas bangla desh ke azadi ke liye jo 71 ka war humne lada tha us waqt aur teesri baar 75 me jab indira gandhi ka election highcourt ne invalid clear kiya tha jo teesri baar humne aapatkal lagaya tha vaah internal emergency thi parantu jaha tak vittiy aapatkal lagane ki baat hai aaj tak vittiy aapatkal lagane ki naubat kabhi nahi I ek baar jab chandrashekhar government thi toh vaah hamari halat kaafi kharab thi sona bhi girvi rakhna pada tha parantu tab bhi iski avashyakta nahi padi uske baad 2008 me jab vishwa me puri mandi chal rahi thi tab bhi hamari aarthik halat kharab thi par phir bhi vittiy aapatkal nahi lagaya gaya abhi bhi jo hamari vinati halat hai vaah achi nahi purana barish ki wajah se lekin nikat bhavishya me aisi koi sambhavna nahi hai ki aap vittiy aapatkal lagaya jaaye lekin agar bhavishya me yah sthiti bigadati hai toh is bare me vichar kiya ja sakta hai par filhal iski koi sambhavna nahi hai dhanyavad

भारत में आपातकाल अभी तक 3 बार लगाया गया है पहली बार चाइना वार के समय 1962 में उसके पास बंग

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  510
WhatsApp_icon
user

Devkumar Kaneri BSP

Advocate & Politicians

2:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार साथियों जैसा कि आपने पूछा है क्या भारत में बिकती आपदा आपात लगने की संभावना है आज तरफ से करुणा की महामारी पूरी दुनिया पहले भारत की लाभ धाम के कारण रीजेंसी 1 सप्ताह हो गया है पादप क्या है तो अगर हम ही स्टार्ट तरीके से देखे हैं तो निश्चित तौर पर ऐसा लगता है कि देशभक्ति आता आ सकती है लेकिन आज भी देश के 75 पश्चिम जो धन है वह जी पति और मंदिर मंदिरों में कहते आज कोई बच्चियों के पास और मंदिरों आदित्य दोस्तों के पास कितनी संपदा है ऐसे ऐसे अगर 10 साल तक याद आएगा तो भी इस देश को कोई समस्या कुछ कम कर लेकिन जब इस बात का है कि सरकार को इसका दिखाओ सरकार इस दिशा में पहल करें और भारत में किसी सूरत में व्यक्ति या व्यापार नहीं लगता कि भारत हर तरफ सकता संपन्न है लेकिन दुख इस बात का है कि मैं बोला हूं कि आज पारेसन और उसी तरफ से आज मंदिरों के जरूरत इस बात का है कि सरकार काम करें यदि इस दिशा में काम माननीय तो एक महान

namaskar sathiyo jaisa ki aapne poocha hai kya bharat me bikti aapda aapaat lagne ki sambhavna hai aaj taraf se corona ki mahamari puri duniya pehle bharat ki labh dhaam ke karan regency 1 saptah ho gaya hai padap kya hai toh agar hum hi start tarike se dekhe hain toh nishchit taur par aisa lagta hai ki deshbhakti aata aa sakti hai lekin aaj bhi desh ke 75 paschim jo dhan hai vaah ji pati aur mandir mandiro me kehte aaj koi bachiyo ke paas aur mandiro aditya doston ke paas kitni sampada hai aise aise agar 10 saal tak yaad aayega toh bhi is desh ko koi samasya kuch kam kar lekin jab is baat ka hai ki sarkar ko iska dikhaao sarkar is disha me pahal kare aur bharat me kisi surat me vyakti ya vyapar nahi lagta ki bharat har taraf sakta sampann hai lekin dukh is baat ka hai ki main bola hoon ki aaj paresan aur usi taraf se aaj mandiro ke zarurat is baat ka hai ki sarkar kaam kare yadi is disha me kaam mananiya toh ek mahaan

नमस्कार साथियों जैसा कि आपने पूछा है क्या भारत में बिकती आपदा आपात लगने की संभावना है आज

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  781
WhatsApp_icon
play
user
0:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल यह है कि भारत में ही आने की संभावना है तुम्हें आपको बता देना चाहता हूं कि फिलहाल अभी 14 अप्रैल तक वित्तीय आपात लगाने की संभावना नहीं है

aapka sawaal yah hai ki bharat me hi aane ki sambhavna hai tumhe aapko bata dena chahta hoon ki filhal abhi 14 april tak vittiy aapaat lagane ki sambhavna nahi hai

आपका सवाल यह है कि भारत में ही आने की संभावना है तुम्हें आपको बता देना चाहता हूं कि फिलहाल

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1238
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!