क्या आपका कोई पसंदीदा शिक्षक है? उस शिक्षक ने आप पर क्या प्रभाव छोड़ा?...


user
2:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो सभी को नमस्कार आपने बहुत इंटरेस्टेड साफसन मेरे सामने रखा है जिस पर विचार रखना भी मैं अपना एक सौभाग्य समझूंगी आपने पूछा क्या आपका कोई पसंदीदा शिक्षक है रहा है और शिक्षक ने आप पर क्या प्रभाव छोड़ा है हां मेरे पसंदीदा शिक्षक मेरे गुरुजी प्रोफ़ेसर बैजनाथ प्रसाद हिंदी विभाग पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ वह मेरे पसंदीदा गुरु रहे हैं मेरे शिक्षक रहे हैं वह मेरे लिए एक आदर्श रहे हैं उन्होंने मुझे शिक्षा के एक जो गुड जो गुण होते हैं जो गम भी निकले शिक्षा की जो गहराई होती है वह मुझे समझाइए उन्होंने मेरी लेखन शैली को सुधारा है उन्होंने मेरी बात शैली को सुधारा है उन्होंने मुझ में लिखने की कला को जागृत किया है वह मेरे पीएचडी के दौरान मेरे गाइड बे थे मेरे सुपरवाइजर पर थे उनका काम ही नहीं था कि जल्दी से जल्दी काम निपटाना है या फिर सम्मिट करवाना वह किसी भी विषय पर जब अपने स्टूडेंट को पीएचडी करवाते हैं तो उसकी गहराई में खुद भी उतरते हैं और स्टूडेंट को भी उतारते हैं और उसकी एक एक चीज पर पढ़कर बिल्कुल उसमें शोध कार्य करवाते हैं उनके द्वारा किया गया करवाएगा शोध कार्य हमेशा पिक होता है जिसमें कोई कमी नहीं होती है वह अपने स्टूडेंट को सिखाते हैं कि आप जितना ज्यादा हो सके पढ़ाई को समय दीजिए जितना ज्यादा हो सके अच्छे से अच्छा विश्वास करने की आप कोशिश कीजिए तो मैं आज यही कहना चाहूंगी कि आज मैं जिस बेड ऐडमिशन पर हूं वह मेरे गुरु जी के काल हूं मेरे गुरु जी मेरे लिए एक आदर्श रहे हैं एक अच्छा मार्गदर्शक रहे हैं जिन्हें मैं सही मायने में अपने गुरु की संज्ञा दे सकते हैं धन्यवाद

sabse pehle toh sabhi ko namaskar aapne bahut interested safasan mere saamne rakha hai jis par vichar rakhna bhi main apna ek saubhagya samjhungi aapne poocha kya aapka koi pasandida shikshak hai raha hai aur shikshak ne aap par kya prabhav choda hai haan mere pasandida shikshak mere guruji professor baijnath prasad hindi vibhag punjab vishwavidyalaya chandigarh vaah mere pasandida guru rahe hain mere shikshak rahe hain vaah mere liye ek adarsh rahe hain unhone mujhe shiksha ke ek jo good jo gun hote hain jo gum bhi nikle shiksha ki jo gehrai hoti hai vaah mujhe samjhaiye unhone meri lekhan shaili ko sudhara hai unhone meri baat shaili ko sudhara hai unhone mujhse me likhne ki kala ko jagrit kiya hai vaah mere phd ke dauran mere guide be the mere supervisor par the unka kaam hi nahi tha ki jaldi se jaldi kaam niptana hai ya phir sammit karwana vaah kisi bhi vishay par jab apne student ko phd karwaate hain toh uski gehrai me khud bhi utarate hain aur student ko bhi utarate hain aur uski ek ek cheez par padhakar bilkul usme shodh karya karwaate hain unke dwara kiya gaya karwaega shodh karya hamesha pic hota hai jisme koi kami nahi hoti hai vaah apne student ko sikhaate hain ki aap jitna zyada ho sake padhai ko samay dijiye jitna zyada ho sake acche se accha vishwas karne ki aap koshish kijiye toh main aaj yahi kehna chahungi ki aaj main jis bed admission par hoon vaah mere guru ji ke kaal hoon mere guru ji mere liye ek adarsh rahe hain ek accha margadarshak rahe hain jinhen main sahi maayne me apne guru ki sangya de sakte hain dhanyavad

सबसे पहले तो सभी को नमस्कार आपने बहुत इंटरेस्टेड साफसन मेरे सामने रखा है जिस पर विचार रखना

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  184
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!