आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है?...


user

Shahin Fidai

Counselor, www.Youtube.com/Shahintalks www.Thevitalitycafe.com/Counseling

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है और सबसे तक बात यह है कि हमें हर पल अपने आपको एजुकेटिव रखना पड़ता है हमें बहुत सारा नॉलेज हासिल करना पड़ती है अपने आप को अपग्रेड रखना पड़ता है ताकि हम लेवल तक पहुंच सके यहां पर हमारे बच्चे जो हैं वह हमसे प्यार करें क्योंकि अगर हमारे पास एजुकेशन होगा अगर हम आइए और अपने आपको अपडेट करेंगे तो हमारे पास उतनी नई टेक्निक होगी उतनी उतनी उतनी नहीं मैं थक जाओगी दिखाने की कुछ नया इनोवेशन बुलाने की और हमारा जब पैशन है हमारे पीछे पाइप फिटिंग का पेड़ है उसमें ग्रोथ और डिवेलपमेंट करने कि हमें भी मजा आएगी मैं सरकारी में

aapko kya lagta hai ki shikshak hone ke bare me sabse kathin baat kya hai aur sabse tak baat yah hai ki hamein har pal apne aapko educative rakhna padta hai hamein bahut saara knowledge hasil karna padti hai apne aap ko upgrade rakhna padta hai taki hum level tak pohch sake yahan par hamare bacche jo hain vaah humse pyar kare kyonki agar hamare paas education hoga agar hum aaiye aur apne aapko update karenge toh hamare paas utani nayi technique hogi utani utani utani nahi main thak jaogi dikhane ki kuch naya innovation bulane ki aur hamara jab passion hai hamare peeche pipe fitting ka ped hai usme growth aur divelapament karne ki hamein bhi maza aayegi main sarkari me

आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है और सबसे तक बात यह है कि

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1233
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Usha Batra

Beauty Therapist

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षक के बारे में कुछ भी कठिन नहीं है सबसे इन जो वाकई कठिन हमको लगता है जो टीचर मेहनत नहीं करना जानते या जिन को नॉलेज नहीं है अच्छे से नाली लेकर जब आपको कांसेप्ट क्लियर कर रखे हुए हैं तो आपको बढ़ाने में कोई भी दिक्कत नहीं आएगी और कुछ भी मुश्किल नहीं लगेगा

shikshak ke bare me kuch bhi kathin nahi hai sabse in jo vaakai kathin hamko lagta hai jo teacher mehnat nahi karna jante ya jin ko knowledge nahi hai acche se nali lekar jab aapko concept clear kar rakhe hue hain toh aapko badhane me koi bhi dikkat nahi aayegi aur kuch bhi mushkil nahi lagega

शिक्षक के बारे में कुछ भी कठिन नहीं है सबसे इन जो वाकई कठिन हमको लगता है जो टीचर मेहनत नही

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  560
WhatsApp_icon
user

RAJENDRA YADAV

Career Coach

0:41
Play

Likes  31  Dislikes    views  440
WhatsApp_icon
user

Prashant dwivedi

Yogasan Teacher

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात है कि आपका बहुत ही ज्यादा अरमान होना एक शिक्षक को समय से पहले बूढ़ा होना पड़ता है मुलायम दर्शन की एक शिक्षक जब तक गंभीर और धैर्यवान नहीं होगा एक्वाश्चर शिक्षक बनने पाए और शिक्षक में बहुत ज्यादा देर होना चाहिए और सबसे कठिन बात उसकी लहरों का होना ही शिक्षक के अंदर होता है

mujhe lagta hai ki shikshak hone ke bare me sabse kathin baat hai ki aapka bahut hi zyada armaan hona ek shikshak ko samay se pehle budha hona padta hai mulayam darshan ki ek shikshak jab tak gambhir aur dhairyavan nahi hoga ekwashchar shikshak banne paye aur shikshak me bahut zyada der hona chahiye aur sabse kathin baat uski laharon ka hona hi shikshak ke andar hota hai

मुझे लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात है कि आपका बहुत ही ज्यादा अरमान होन

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user

Niraj Devani

PHILOSOPHER

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे आपको एजुकेशन क्वालीफिकेशन अच्छी हो तभी आप शिक्षक तो बनते हैं ठीक है तो वह तो कोई दिक्कत की बात नहीं है और दूसरी बात कि आप तो जो ट्रेन होते हैं आपको प्रशिक्षण मिला होता है कि किस तरह से आप को बच्चों को पढ़ाना है तो उसमें भी कोई दिक्कत नहीं है लेकिन एक चीज है जो सब शिक्षकों में देखने को नहीं मिलती वह बच्चों को समझना बच्चों को दिमाग को को पढ़ना और उनके साथ बच्चों की तरह थोड़ा रहना तो यह नहीं कर पाते हैं ज्यादातर शिक्षकों अपने परिवार में और और दूसरी समस्याओं में आजकल जो टीचर से इतने उलझे रहते हैं कि जो बच्चों का एक अचूक प्रति उनका प्यार होना चाहिए उनके प्रति जेलोदा होना चाहिए वह बहुत कम देखने को मिलता है तो अगर शिक्षक बच्चों के प्रति उनको प्यार आए उनकी भावनाओं को समझें तो यह सबसे बड़ी उसकी उम्र में तो कहूंगा के सीमेंट कह लाएगी कि ऐसा बहुत कम अभी देखने को क्योंकि मिलता है तो यह सबसे कठिन है कि बच्चों को समझना और उनकी भावनाओं की कद्र करना

dekhe aapko education qualification achi ho tabhi aap shikshak toh bante hain theek hai toh vaah toh koi dikkat ki baat nahi hai aur dusri baat ki aap toh jo train hote hain aapko prashikshan mila hota hai ki kis tarah se aap ko baccho ko padhana hai toh usme bhi koi dikkat nahi hai lekin ek cheez hai jo sab shikshakon me dekhne ko nahi milti vaah baccho ko samajhna baccho ko dimag ko ko padhna aur unke saath baccho ki tarah thoda rehna toh yah nahi kar paate hain jyadatar shikshakon apne parivar me aur aur dusri samasyaon me aajkal jo teacher se itne ulajhe rehte hain ki jo baccho ka ek achuk prati unka pyar hona chahiye unke prati jeloda hona chahiye vaah bahut kam dekhne ko milta hai toh agar shikshak baccho ke prati unko pyar aaye unki bhavnao ko samajhe toh yah sabse badi uski umar me toh kahunga ke cement keh layegi ki aisa bahut kam abhi dekhne ko kyonki milta hai toh yah sabse kathin hai ki baccho ko samajhna aur unki bhavnao ki kadra karna

देखे आपको एजुकेशन क्वालीफिकेशन अच्छी हो तभी आप शिक्षक तो बनते हैं ठीक है तो वह तो कोई दिक्

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  947
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको क्या लगता है कि एक शिक्षक होने के नाते सबसे कठिन स्थिति क्या होती है छक्के कठिन भारतीय में एक शिक्षक पूर्ण तपस्वी ईमानदार व कर्तव्यनिष्ठ अनुशासित पर अपनी ड्यूटी के प्रति जुझारू होते हैं और इतना सब कुछ करने के बाद अगर शिक्षक को एक शिक्षक की तरह से विद्यालय में समाज में परिवार ने अपने शिष्यों के आश्रितों के गायन से उन्हें सम्मान नहीं मिलता उसे सहना सबसे कठिन भाग्य क्योंकि इन लोगों के पास इन सब को संसार के हर प्राणी को पता है कि जिंदगी में किसी भी इंसान को टक्कर देने वाला जो दुनिया में एक किए हुए हैं शिक्षक उसके बावजूद शिक्षक से बहस करना शिक्षक का अपमान करना शिक्षक को भला बुरा समझ ना मानना और की बातों का तिरस्कार करना एक शिक्षक के लिए सबसे कठिन स्टेट ज्योति

aapko kya lagta hai ki ek shikshak hone ke naate sabse kathin sthiti kya hoti hai chakke kathin bharatiya me ek shikshak purn tapaswi imaandaar va kartavyanishth anushasit par apni duty ke prati jujharu hote hain aur itna sab kuch karne ke baad agar shikshak ko ek shikshak ki tarah se vidyalaya me samaj me parivar ne apne shishyon ke aashrito ke gaayan se unhe sammaan nahi milta use sahna sabse kathin bhagya kyonki in logo ke paas in sab ko sansar ke har prani ko pata hai ki zindagi me kisi bhi insaan ko takkar dene vala jo duniya me ek kiye hue hain shikshak uske bawajud shikshak se bahas karna shikshak ka apman karna shikshak ko bhala bura samajh na manana aur ki baaton ka tiraskar karna ek shikshak ke liye sabse kathin state jyoti

आपको क्या लगता है कि एक शिक्षक होने के नाते सबसे कठिन स्थिति क्या होती है छक्के कठिन भारती

Romanized Version
Likes  352  Dislikes    views  4237
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको क्या लगता है शिक्षक होने के नाते सबसे कठिन बात क्या है कि हमारा उसको जो बनाई जाती है जब टीम बनाई जाती है बच्चों की रुचि के अनुसार नहीं बनाई जाती है और कई काला टीका चार्ट बना रहा है का छपरा से बनाते हो कैसे बनाते हुए डिजाइन बना देता है वहां पर जो पेंटिंग और स्कूल देना चाहिए एक दूसरे से लेकर 12 तक लैंग्वेज में पढ़ना पड़ेगा हमें और भी सब्जेक्ट पढ़ने में पास होने के लिए

aapko kya lagta hai shikshak hone ke naate sabse kathin baat kya hai ki hamara usko jo banai jaati hai jab team banai jaati hai baccho ki ruchi ke anusaar nahi banai jaati hai aur kai kaala tika chart bana raha hai ka chapra se banate ho kaise banate hue design bana deta hai wahan par jo painting aur school dena chahiye ek dusre se lekar 12 tak language me padhna padega hamein aur bhi subject padhne me paas hone ke liye

आपको क्या लगता है शिक्षक होने के नाते सबसे कठिन बात क्या है कि हमारा उसको जो बनाई जाती है

Romanized Version
Likes  310  Dislikes    views  2734
WhatsApp_icon
user

Ajit Pandit

visual Artist आप ललित कला में कैरियर बनाना हैं तो संपर्क कर सकते हैं

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी बिहार में शिक्षक होना और होने के बारे में सबसे कठिन वाक्य है जो आप अभी कह नहीं सकते किसी को समाज में जो हम शिक्षक हैं फिर वह उन्हें लगेगा जो आप ठीक-ठाक हैं समाज को आयोजित शिक्षक नियोजित शिक्षकों के लिए जो शिक्षकों का मोरल डाउन करता है

abhi bihar me shikshak hona aur hone ke bare me sabse kathin vakya hai jo aap abhi keh nahi sakte kisi ko samaj me jo hum shikshak hain phir vaah unhe lagega jo aap theek thak hain samaj ko ayojit shikshak niyojit shikshakon ke liye jo shikshakon ka moral down karta hai

अभी बिहार में शिक्षक होना और होने के बारे में सबसे कठिन वाक्य है जो आप अभी कह नहीं सकते कि

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  496
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  38  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे तो एक शिक्षक होने के नाते में सबसे कठिन क्या है तो सबसे कठिन तो यही होता है कि बच्चों को बच्चे हमारे लिए एक चैलेंज होते हैं बच्चे हमारे लिए एक एक चुनौती होते हैं कि अगर हम बच्चों को पढ़ा रहे हमारा पढ़ाया हुआ बच्चा अगर समाज में वह राष्ट्र का निर्माण करने लायक अगर नहीं बनता है अगर आपने 30 बच्चों में किसी एक बच्चे को भी उससे समाज के निर्माण के लायक अगर नहीं बना पा रहे एक बच्चे के अंदर भी हम एक अच्छे गटको नहीं डेवलप कर पा रहे तो यह एक शिक्षक के लिए सबसे कठिन बात होती है कि वह अपने बच्चों को कैसे पढ़ा रहे कैसे समाज निर्माण के लिए सदिश राशि के लिए कैसे क्या-क्या चीजें उसको उसके माइंड में डेवलप कर सकता है क्या नहीं कर सकता यह सारी बातें सोचने के लिए एक शिक्षक के लिए बहुत कठिनाई होती बच्चे के अंदर कैसे यह सारी भावनाएं डिवेलप करें उन सब को डिवेलप करने के लिए हमें हम लोगों को हम शिक्षकों को बहुत मेहनत करनी पड़ती है इसके लिए हम कभी-कभी ऐसे भी कराते हैं उनको एग्जाम भी देते हैं स्कूल में जो कार्यक्रम राष्ट्रीय कार्यक्रम होते हैं का निर्माण कैसे होगा कैसे हम उनको यह करेंगे तो यह एक बहुत ही कठिन बात होती कि बच्चों को राष्ट्र के लिए राष्ट्र निर्माण के लिए का बिल बनाना धन्यवाद

dekhe toh ek shikshak hone ke naate me sabse kathin kya hai toh sabse kathin toh yahi hota hai ki baccho ko bacche hamare liye ek challenge hote hain bacche hamare liye ek ek chunauti hote hain ki agar hum baccho ko padha rahe hamara padhaya hua baccha agar samaj me vaah rashtra ka nirmaan karne layak agar nahi banta hai agar aapne 30 baccho me kisi ek bacche ko bhi usse samaj ke nirmaan ke layak agar nahi bana paa rahe ek bacche ke andar bhi hum ek acche gatako nahi develop kar paa rahe toh yah ek shikshak ke liye sabse kathin baat hoti hai ki vaah apne baccho ko kaise padha rahe kaise samaj nirmaan ke liye sadish rashi ke liye kaise kya kya cheezen usko uske mind me develop kar sakta hai kya nahi kar sakta yah saari batein sochne ke liye ek shikshak ke liye bahut kathinai hoti bacche ke andar kaise yah saari bhaavnaye develop kare un sab ko develop karne ke liye hamein hum logo ko hum shikshakon ko bahut mehnat karni padti hai iske liye hum kabhi kabhi aise bhi karate hain unko exam bhi dete hain school me jo karyakram rashtriya karyakram hote hain ka nirmaan kaise hoga kaise hum unko yah karenge toh yah ek bahut hi kathin baat hoti ki baccho ko rashtra ke liye rashtra nirmaan ke liye ka bill banana dhanyavad

देखे तो एक शिक्षक होने के नाते में सबसे कठिन क्या है तो सबसे कठिन तो यही होता है कि बच्चों

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
user

Nitesh

Engineer, Counseller

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षक होना और शिक्षक बने रहना यह काफी अंतर भाषण बने रहना था उनके बने रहना लोगों को शिक्षा देते रहना आज के जमाने में पूर्ण तरह की पिक्चर जो पहले जमाने में डीलरशिप आयुक्त हो गई आज 1 साल 2 साल मोरल वैल्यू थॉट विद मॉडर्न एजुकेशन अभी के समय में शिक्षक कुत्ते को बच्चों को पढ़ाता है

shikshak hona aur shikshak bane rehna yah kaafi antar bhashan bane rehna tha unke bane rehna logo ko shiksha dete rehna aaj ke jamane me purn tarah ki picture jo pehle jamane me dealership aayukt ho gayi aaj 1 saal 2 saal moral value thought with modern education abhi ke samay me shikshak kutte ko baccho ko padhata hai

शिक्षक होना और शिक्षक बने रहना यह काफी अंतर भाषण बने रहना था उनके बने रहना लोगों को शिक्ष

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user

Ramakant

Teacher

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षक होने की में शिक्षक होने में सबसे कठिन बात है आदर्श समाज के सामने आदर्श प्रस्तुत करना शिक्षक को एक आदर्श शिक्षक के रूप में जीवन व्यतीत करना होता है कहीं न कहीं शिक्षक उस कर्तव्य से विमुख हो जाता है क्योंकि समाज शिक्षक को ही देख कर कार्य करते हैं शिक्षक सबसे महान होता है उसके गुणों की पूजा होती है अगर कोई शिक्षक कौन हो जाए उसकी निंदा होती है जिससे आज समाज में शिक्षक के सम्मान को कम आता जा रहा है शिक्षक को लोग एक हल्के से लेते हुए उसके प्रति प्रति जो भाव था वह कम कर दिए हैं वह हमें पुनर्स्थापित करना होगा शिक्षक बनकर अपने आदर्शों को दिखाकर अपने गुणों को व्यक्त करके समाज को दिशा निर्देश देकर हमें अपने अस्तित्व को पुनः बनाए रखने में अहम भूमिका निभा रही हैं धन

shikshak hone ki me shikshak hone me sabse kathin baat hai adarsh samaj ke saamne adarsh prastut karna shikshak ko ek adarsh shikshak ke roop me jeevan vyatit karna hota hai kahin na kahin shikshak us kartavya se vimukh ho jata hai kyonki samaj shikshak ko hi dekh kar karya karte hain shikshak sabse mahaan hota hai uske gunon ki puja hoti hai agar koi shikshak kaun ho jaaye uski ninda hoti hai jisse aaj samaj me shikshak ke sammaan ko kam aata ja raha hai shikshak ko log ek halke se lete hue uske prati prati jo bhav tha vaah kam kar diye hain vaah hamein punarsthapit karna hoga shikshak bankar apne aadarshon ko dikhakar apne gunon ko vyakt karke samaj ko disha nirdesh dekar hamein apne astitva ko punh banaye rakhne me aham bhumika nibha rahi hain dhan

शिक्षक होने की में शिक्षक होने में सबसे कठिन बात है आदर्श समाज के सामने आदर्श प्रस्तुत करन

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user

Kumar Saurabh

Education

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मुझे लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात जो पूछी गई है जब कोई बच्ची के लिए हम इतनी ज्यादा मेहनत करते हैं उसे अपनी तरफ से सब कुछ समझाने का प्रयास बार-बार करते हैं और अंत में परिणाम मिलता है बच्चा कि कहता है कि मुझे समझ में नहीं आया तब बहुत ज्यादा तकलीफ होती है दुख होता है और उस समय हमारी सारी मेहनत खराब होती दिखाई देती है 40 छात्रों में यदि एक भी छात्र ने इस बात को कह दिया कि सर मुझे समझ में नहीं आता मैं क्या करूं यही हमारे लिए सबसे बड़ी शर्म की बात है

namaste doston mujhe lagta hai ki shikshak hone ke bare me sabse kathin baat jo puchi gayi hai jab koi bachi ke liye hum itni zyada mehnat karte hain use apni taraf se sab kuch samjhane ka prayas baar baar karte hain aur ant me parinam milta hai baccha ki kahata hai ki mujhe samajh me nahi aaya tab bahut zyada takleef hoti hai dukh hota hai aur us samay hamari saari mehnat kharab hoti dikhai deti hai 40 chhatro me yadi ek bhi chatra ne is baat ko keh diya ki sir mujhe samajh me nahi aata main kya karu yahi hamare liye sabse badi sharm ki baat hai

नमस्ते दोस्तों मुझे लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात जो पूछी गई है जब कोई

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
play
user

Arjun jha

Rt Science Teacher

1:43

Likes  9  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षक बनना आसान काम नहीं है सिर्फ मत बना लेने से या अंग्रेजी का अनुवाद सिखा देने से कोई शिक्षक नहीं बन जाता उसके लिए बहुत सारे पटेरिया को फुलफिलमेंट करना पड़ता है आपको अच्छाई का प्रतीक बनना चाहिए मारी का क्षेत्र को और अपने आदत को सुधारना होगा कई प्रकार का आदमी अब नहीं होना चाहिए पान गुटखा बीड़ी सिगरेट गाजा नशा मुक्त होना चाहिए आपका जीवन सरल होना चाहिए आप दूसरों से डिफेंड नजर आए आप समाज के हर लोग जो करते हैं आप नहीं कर सकते आप के ऊपर पावन दी है क्योंकि आप एक शिक्षक शिक्षक का दायित्व और जवाबदेही एक दूसरे जयपुर शिक्षक की समस्त अतिथि शिक्षक की समस्त शक्तियां

shikshak banna aasaan kaam nahi hai sirf mat bana lene se ya angrezi ka anuvad sikha dene se koi shikshak nahi ban jata uske liye bahut saare pateriya ko fulfilment karna padta hai aapko acchai ka prateek banna chahiye mari ka kshetra ko aur apne aadat ko sudharna hoga kai prakar ka aadmi ab nahi hona chahiye pan gutkha bidi cigarette gajja nasha mukt hona chahiye aapka jeevan saral hona chahiye aap dusro se defend nazar aaye aap samaj ke har log jo karte hain aap nahi kar sakte aap ke upar paavan di hai kyonki aap ek shikshak shikshak ka dayitva aur javabdehi ek dusre jaipur shikshak ki samast atithi shikshak ki samast shaktiyan

शिक्षक बनना आसान काम नहीं है सिर्फ मत बना लेने से या अंग्रेजी का अनुवाद सिखा देने से कोई श

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

Imran

Teacher

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात किया है तो शिक्षक होना बहुत ही अच्छी बात है लेकिन शिक्षक होने में एक बहुत ही कठिन बात होता है कि आपके अंदर एक विश्वास उनसे हाथ में विश्वास है कि हम इस काम को कर और किसी भी चीज को एक्सप्लेन करने के लिए आप क्लास में रहते हैं तो बच्चा कैसे सवाल कर सकती है और हो सकता है उसका जवाब नहीं दिया तो आप को समझाना होगा कि बच्चे को समझ में आएगा कोई बात नहीं आती ढंग से आपको प्लेन करना पड़ता है और वह चीज जो नहीं करता उसको बहुत ही कटिंग करते हैं

aapka sawaal hai aapko kya lagta hai ki shikshak hone ke bare me sabse kathin baat kiya hai toh shikshak hona bahut hi achi baat hai lekin shikshak hone me ek bahut hi kathin baat hota hai ki aapke andar ek vishwas unse hath me vishwas hai ki hum is kaam ko kar aur kisi bhi cheez ko explain karne ke liye aap class me rehte hain toh baccha kaise sawaal kar sakti hai aur ho sakta hai uska jawab nahi diya toh aap ko samajhana hoga ki bacche ko samajh me aayega koi baat nahi aati dhang se aapko plane karna padta hai aur vaah cheez jo nahi karta usko bahut hi cutting karte hain

आपका सवाल है आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात किया है तो शिक्षक

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  40
WhatsApp_icon
user
0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक शिक्षक के सामने तभी कठिनाई आती है जब उसे अपना हिसाब की साइज करता है यहां जा राजनीति की जगह फूल होते हैं वह शिक्षक अपना कार्य करने में असमर्थ होता है इसलिए शिक्षक के सामने सबसे बड़ी कठिन बार उसके लिए समाज का व्यवहार और अपना हिसाब अगर सुंदर हो अच्छा हो तो वह आगे सही तरक्की कर पाता है

ek shikshak ke saamne tabhi kathinai aati hai jab use apna hisab ki size karta hai yahan ja raajneeti ki jagah fool hote hain vaah shikshak apna karya karne me asamarth hota hai isliye shikshak ke saamne sabse badi kathin baar uske liye samaj ka vyavhar aur apna hisab agar sundar ho accha ho toh vaah aage sahi tarakki kar pata hai

एक शिक्षक के सामने तभी कठिनाई आती है जब उसे अपना हिसाब की साइज करता है यहां जा राजनीति की

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
user

A_KUMAR

PRINCIPAL TEACHER

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे कठिन बात होती है बच्चों को समझ पाना उनकी जिज्ञासाओं को शांत कर पाना और यह तभी संभव है उनकी जिज्ञासाओं को शांत कर बना तभी संभव है जब हम इसके लिए विधिवत रूप से तैयार हो हमारा विषय संपूर्ण तैयार हो और जो बच्चे जिज्ञासा करते हैं सवाल देते हैं उनके जवाब देने के लिए हम एकदम स्वस्थ रूप से मौजूद वहां क्लास में इसके लिए हमें चाइल्ड पेडागोजी और विषय का ज्ञान विधिवत होना चाहिए

sabse kathin baat hoti hai baccho ko samajh paana unki jigyasaon ko shaant kar paana aur yah tabhi sambhav hai unki jigyasaon ko shaant kar bana tabhi sambhav hai jab hum iske liye vidhivat roop se taiyar ho hamara vishay sampurna taiyar ho aur jo bacche jigyasa karte hain sawaal dete hain unke jawab dene ke liye hum ekdam swasth roop se maujud wahan class me iske liye hamein child pedagoji aur vishay ka gyaan vidhivat hona chahiye

सबसे कठिन बात होती है बच्चों को समझ पाना उनकी जिज्ञासाओं को शांत कर पाना और यह तभी संभव है

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षक का का भूमिका बहुत ही कठिन होता है एक समाज में शिक्षक का आचरण बहुत ही मायने रखता है बहुत ही महत्वपूर्ण होता है एक शिक्षक का चरित्र कि यदि आपका खुद का चरित्र अच्छा नहीं है तो आप एक छात्र को क्या शिक्षा देंगे क्या उपदेश देंगे और देते भी हैं तो उतना मान्य नहीं होगा क्योंकि आप यदि खुद आचरण के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं अनुशासन का पालन नहीं कर रहे तो आप दूसरे को उपदेश देने का अधिकार नहीं रखते हैं अतः एक शिक्षक को चाहिए कि अनुशासित तथा एक आचरण युक्त एक नैतिक जीवन जी धन्यवाद

shikshak ka ka bhumika bahut hi kathin hota hai ek samaj me shikshak ka aacharan bahut hi maayne rakhta hai bahut hi mahatvapurna hota hai ek shikshak ka charitra ki yadi aapka khud ka charitra accha nahi hai toh aap ek chatra ko kya shiksha denge kya updesh denge aur dete bhi hain toh utana manya nahi hoga kyonki aap yadi khud aacharan ke niyamon ka palan nahi kar rahe hain anushasan ka palan nahi kar rahe toh aap dusre ko updesh dene ka adhikaar nahi rakhte hain atah ek shikshak ko chahiye ki anushasit tatha ek aacharan yukt ek naitik jeevan ji dhanyavad

शिक्षक का का भूमिका बहुत ही कठिन होता है एक समाज में शिक्षक का आचरण बहुत ही मायने रखता है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
user

Ram

Govt Teacher

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार शिक्षक की गरिमा को बनाए रखना मुझे सबसे कठिन लगता है हर समय डर रहता है कि कहीं कुछ ऐसा ना हो जाए कि समाज में शिक्षक वर्ग कलंकित हो

namaskar shikshak ki garima ko banaye rakhna mujhe sabse kathin lagta hai har samay dar rehta hai ki kahin kuch aisa na ho jaaye ki samaj me shikshak varg kalankit ho

नमस्कार शिक्षक की गरिमा को बनाए रखना मुझे सबसे कठिन लगता है हर समय डर रहता है कि कहीं कुछ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Gaurav

Teacher

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे कठिन बात यह है कि बच्चों को समझना समझाना नहीं बच्चों को समझना बच्चों को जब हम समझ जाएंगे किस किस टाइप के हैं किस अनुकूल हैं प्रतिकूल हैं कैसे व्यवहार रखते हैं हमारी बात अगर आपने उनको समझ लिया और आपके पास टैलेंट है तो आप पढ़ा पाओगे अन्यथा आप नहीं पढ़ा पाओगे अगर आपने उनको नहीं समझा उनको अपने बारे में नहीं बताया तो मैं आपको कभी समझ नहीं पाएंगे एक आपको डरावना रूप से देखेंगे आपके आपकी जो पिक्चर सेट होगी वह डरावनी फिल्म के साथ से ही चैट होगी

sabse kathin baat yah hai ki baccho ko samajhna samajhana nahi baccho ko samajhna baccho ko jab hum samajh jaenge kis kis type ke hain kis anukul hain pratikul hain kaise vyavhar rakhte hain hamari baat agar aapne unko samajh liya aur aapke paas talent hai toh aap padha paoge anyatha aap nahi padha paoge agar aapne unko nahi samjha unko apne bare me nahi bataya toh main aapko kabhi samajh nahi payenge ek aapko daravna roop se dekhenge aapke aapki jo picture set hogi vaah daravni film ke saath se hi chat hogi

सबसे कठिन बात यह है कि बच्चों को समझना समझाना नहीं बच्चों को समझना बच्चों को जब हम समझ जाए

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि शिक्षक अगर बनना है तो उसके लिए सबसे कठिन बाकी है कि है शिक्षक चेतना में हमें अभिरुचि के साधनों से मतलब ऐसे नहीं कि हमें दूसरी उधर कोई नौकरी नहीं मिली हम मजबूरी में आ रहे हैं क्योंकि एक शैक्षणिक चाहे कला है अगर कोई अपनी मन की सबसे लंबा अपना जीवन का लक्ष्य समझ कर अपना एंबिशन समझकर अपनी रुचि अबीर की समस्या अगर इस क्षेत्र में आता है तो अच्छी रूप से सफल हो पाता है ऐसा मुझे लगता है

mujhe lagta hai ki shikshak agar banna hai toh uske liye sabse kathin baki hai ki hai shikshak chetna me hamein abhiruchi ke saadhano se matlab aise nahi ki hamein dusri udhar koi naukri nahi mili hum majburi me aa rahe hain kyonki ek shaikshnik chahen kala hai agar koi apni man ki sabse lamba apna jeevan ka lakshya samajh kar apna embishan samajhkar apni ruchi abir ki samasya agar is kshetra me aata hai toh achi roop se safal ho pata hai aisa mujhe lagta hai

मुझे लगता है कि शिक्षक अगर बनना है तो उसके लिए सबसे कठिन बाकी है कि है शिक्षक चेतना में हम

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user

Niraj Yadav

Study for Healthy Bharat...

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक शिक्षक के लिए जो सबसे कठिन बात होती है वह प्रथम यह है कि उन्हें सदैव अपने आपको एक विद्यार्थी बनाए रखना होता है और दूसरा बहुत सारे ऐसे मन लुभावनी चीज होते हैं जिससे उन्हें दूर होना पड़ता है और समाज में अनुशासित रहते हुए कर्तव्यनिष्ठ व्यक्ति की पहचान बनाए रखनी पड़ती है जो एक चुनौती भरा कार्य होता है धन्यवाद

ek shikshak ke liye jo sabse kathin baat hoti hai vaah pratham yah hai ki unhe sadaiv apne aapko ek vidyarthi banaye rakhna hota hai aur doosra bahut saare aise man lubhavani cheez hote hain jisse unhe dur hona padta hai aur samaj me anushasit rehte hue kartavyanishth vyakti ki pehchaan banaye rakhni padti hai jo ek chunauti bhara karya hota hai dhanyavad

एक शिक्षक के लिए जो सबसे कठिन बात होती है वह प्रथम यह है कि उन्हें सदैव अपने आपको एक विद्य

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  73
WhatsApp_icon
user

Vinayak

Biology Teacher

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऑटो B.Ed टीचर सबसे सबसे मुश्किल चीज होती है जो ऑपरेशन आपको धैर्य रखना कितना बहुत जरूरी है क्योंकि कक्षा में आप अलग-अलग तरह के दिमाग वाले बच्चों से मिलते हैं कुछ बच्चे इतने साफ होते हैं क्यों एक बार में ही चीज को कैच कर लेते हैं कुछ बच्चे नहीं कर पाते या उनके पढ़ने का तरीका अलग होता है आप जो तरीका यूज़ कर रहे हो वह उनके लिए सही नहीं होता तो उन्हें दो-दो बार तीन तीन बार भी बताना पड़ता है तो इस काम के लिए आपको यू हैव टो बिलीव पेशेंट अगर आपने पेशेंस नहीं है तो आप से बच्चों पर चलाने लगते हैं आप उनको गलत तरीके से डांटने लगते हैं तो वह एंगर के रूप में निकलता है बाहर तो इफ यू हैव ए डिजायर टो बे ए टीचर जस्ट मैरिड एंड प्राय टो रिमूव परसेंट अपने आप को धैर्यवान बनाएं

auto B Ed teacher sabse sabse mushkil cheez hoti hai jo operation aapko dhairya rakhna kitna bahut zaroori hai kyonki kaksha me aap alag alag tarah ke dimag waale baccho se milte hain kuch bacche itne saaf hote hain kyon ek baar me hi cheez ko catch kar lete hain kuch bacche nahi kar paate ya unke padhne ka tarika alag hota hai aap jo tarika use kar rahe ho vaah unke liye sahi nahi hota toh unhe do do baar teen teen baar bhi batana padta hai toh is kaam ke liye aapko you have toe believe patient agar aapne patience nahi hai toh aap se baccho par chalane lagte hain aap unko galat tarike se dantane lagte hain toh vaah anger ke roop me nikalta hai bahar toh if you have a desire toe be a teacher just married and paraya toe remove percent apne aap ko dhairyavan banaye

ऑटो B.Ed टीचर सबसे सबसे मुश्किल चीज होती है जो ऑपरेशन आपको धैर्य रखना कितना बहुत जरूरी है

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने आप को सही साबित करना अगर एक एग्जांपल देखा जाए कि एक इंजीनियर होता है अगर वह किसी मशीन को तैयार करता है तो मशीन को तैयार करता है जब चालू करता है तो कोई प्रॉब्लम होती लेकिन वह फिर देख कर उसको वापस रिपेयर कर सकता है लेकिन शिक्षक एक ऐसा मशीन है जिसके द्वारा एक भी गलती की गई तो सामने वाले जो छात्र हैं उनका भविष्य जिंदगी भर के लिए खत्म हो सकता है

apne aap ko sahi saabit karna agar ek example dekha jaaye ki ek engineer hota hai agar vaah kisi machine ko taiyar karta hai toh machine ko taiyar karta hai jab chaalu karta hai toh koi problem hoti lekin vaah phir dekh kar usko wapas repair kar sakta hai lekin shikshak ek aisa machine hai jiske dwara ek bhi galti ki gayi toh saamne waale jo chatra hain unka bhavishya zindagi bhar ke liye khatam ho sakta hai

अपने आप को सही साबित करना अगर एक एग्जांपल देखा जाए कि एक इंजीनियर होता है अगर वह किसी मशीन

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user
0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है तो देखिए शिक्षक होना अपने आप में एक बहुत कटिंग बात है शिक्षक होने के लिए पहले तो आपको समाज के अंदर और जहां पर आप रहते हैं वहां पर आपको एक सामाजिक दायरा बनाना पड़ता है क्योंकि शिक्षकों के लिए एक धारणा बना ली गई है कि शिक्षक के काम नहीं करते शिक्षक कोई के नहीं करना चाहता क्या करना चाहिए शिक्षा किया करते हैं शिक्षा के करते हैं तो अगर आप एक शिक्षक है तो आपको हमेशा इन सवालों का भैया हमेशा इन प्रश्नों के आगे से गुजरना पड़ता है तो शिक्षक का होने के बारे में सबसे कठिन बात की है कि आपको एक सामाजिक दायरा बनाना पड़ता है आपको एक सामाजिक एक परिपेक्ष में रहकर अपनी सोच को बनाना पड़ता है क्योंकि एक शिक्षक होने के नाते आप समाज में और बच्चों को बच्चों के एक रोल मॉडल होते हैं तो आपको थोड़ा सा उस डायरी के अंदर चलना पड़ता है और आपको कई बार तो अपनी जो हॉबीज होती है या कई बार जो आपको आप करना चाहते हैं उनको भी छुपाना पड़ता है या फिर उनको छोड़ना पड़ता है धन्यवाद

namaskar aapka sawaal hai aapko kya lagta hai ki shikshak hone ke bare me sabse kathin baat kya hai toh dekhiye shikshak hona apne aap me ek bahut cutting baat hai shikshak hone ke liye pehle toh aapko samaj ke andar aur jaha par aap rehte hain wahan par aapko ek samajik dayara banana padta hai kyonki shikshakon ke liye ek dharana bana li gayi hai ki shikshak ke kaam nahi karte shikshak koi ke nahi karna chahta kya karna chahiye shiksha kiya karte hain shiksha ke karte hain toh agar aap ek shikshak hai toh aapko hamesha in sawalon ka bhaiya hamesha in prashnon ke aage se gujarana padta hai toh shikshak ka hone ke bare me sabse kathin baat ki hai ki aapko ek samajik dayara banana padta hai aapko ek samajik ek paripeksh me rahkar apni soch ko banana padta hai kyonki ek shikshak hone ke naate aap samaj me aur baccho ko baccho ke ek roll model hote hain toh aapko thoda sa us diary ke andar chalna padta hai aur aapko kai baar toh apni jo Hobbies hoti hai ya kai baar jo aapko aap karna chahte hain unko bhi chupana padta hai ya phir unko chhodna padta hai dhanyavad

नमस्कार आपका सवाल है आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है तो

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user

trapti

Teacher

4:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्वेश्चन है आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है मैंने लाइक किया है एक टीचर के बारे में टीचर से चेहरे के बच्चों को ढूंढना जो अपनी लाइफ में कहीं ना कहीं बहुत स्ट्रगल कर रहा है और वह शो नहीं कर पा रहे करना तो बहुत कुछ आता है बट कहीं ना कहीं बुक कर नहीं पा रहे तू ऐसे बच्चों को उन सभी बच्चों में तलाश करना जो कुछ कर तो बहुत ज्यादा अच्छा सकते हैं जिनकी वजह से वह बच्चे अपनी लाइफ में सबसे बड़ी है यह बहुत मुश्किल होते हैं उनके लिए ढूंढा कि ऐसा क्या रीजन है क्योंकि जल्दी बच्चे कभी भी बताते नहीं है बट हां टीचर और बच्चे दोनों एक दूसरे के साथ फ्रेंडली हो जाए बच्चे बहुत जल्दी खुलकर अपनी बात शेयर करते हैं टीचर टीचर ऑन बात को समझते हैं जब टीचर और बात को समझते हैं उनकी प्रॉब्लम सॉल्व कर देते हैं वह अपनी लाइफ में आगे बढ़ जाते हैं बच्चे बहुत अच्छी बात होती है चेंज कर देते स्टूडेंट की लाइफ चेंज कर देते हैं उनको कुछ नहीं होते कुछ ना हो करके उन्हें बहुत कुछ बना देना बहुत बड़ी बात होती है एक टीचर के लिए और एक स्टूडेंट को एक फ्रेंडली नेचर देना यह बहुत अच्छी चीज होती है टीचर की खुलकर बता सके कि जो बच्चे डरते बहुत है तू खुलकर नहीं बता पाते हैं और यही एक रीजन होता है जो टीचर को देखना होता है कि उनके जो है ऐसे क्या रिजल्ट है जो को आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं तो यह ढूंढना बहुत कठिन होता है और उनके मुंह से सच्चाई निकलवाना कि ऐसा कौन से रीवा में इनको देखना बहुत जरूरी है कि वह बच्चे कर तो बहुत अच्छा सकते बैठ कर क्यों नहीं पा रहा अगर वह चीज को बहुत अच्छे हैं और स्टैंडिंग हो जाती है तो डेफिनेटली वह बच्चे का कैरियर संवर जाता है और एक चीज और कहना चाहूंगी टीचर के लिए यह चीज भी एक अच्छे के लिए कठिन के लिए आप अपनी भाषा में टीचर को हमेशा ग्रेट हर इंसान को होनी चाहिए इंटरनेट टीचर को अवेयर हमेशा हर एक चीज बात सिर्फ लिए रहना भी चाहिए कि बच्चे चार लाइफ के संकुचन उनके उनके अलग चीज के बारे में बाईसा समय नॉलेज नहीं है सर में ट्वेल्थ के बाद क्या करूं मुझे बेटे करना चाहिए मुझे बीएससी करना चाहिए क्या मुझे दूसरे में जाना चाहिए कंप्यूटर का कोर्स करना चाहिए आईटीआई करना चाहिए तभी तो एक अच्छा फ्यूचर उस बच्चे के लिए क्या हर बच्चा तो बीटेक के लिए नहीं होता ना खुशबू चीज प्रोवाइड करना वह फिर पर करना वह बहुत अच्छी चीज होती है और उसके लिए टीचर को हमेशा हर एक चीज की नॉलेज हमेशा तुम्हें बस इतना ही कहना चाहूंगी थैंक्यू फॉर वाचिंग माय वीडियो प्लीज लाइक एंड फॉलो

question hai aapko kya lagta hai ki shikshak hone ke bare me sabse kathin baat kya hai maine like kiya hai ek teacher ke bare me teacher se chehre ke baccho ko dhundhana jo apni life me kahin na kahin bahut struggle kar raha hai aur vaah show nahi kar paa rahe karna toh bahut kuch aata hai but kahin na kahin book kar nahi paa rahe tu aise baccho ko un sabhi baccho me talash karna jo kuch kar toh bahut zyada accha sakte hain jinki wajah se vaah bacche apni life me sabse badi hai yah bahut mushkil hote hain unke liye dhundha ki aisa kya reason hai kyonki jaldi bacche kabhi bhi batatey nahi hai but haan teacher aur bacche dono ek dusre ke saath friendly ho jaaye bacche bahut jaldi khulkar apni baat share karte hain teacher teacher on baat ko samajhte hain jab teacher aur baat ko samajhte hain unki problem solve kar dete hain vaah apni life me aage badh jaate hain bacche bahut achi baat hoti hai change kar dete student ki life change kar dete hain unko kuch nahi hote kuch na ho karke unhe bahut kuch bana dena bahut badi baat hoti hai ek teacher ke liye aur ek student ko ek friendly nature dena yah bahut achi cheez hoti hai teacher ki khulkar bata sake ki jo bacche darte bahut hai tu khulkar nahi bata paate hain aur yahi ek reason hota hai jo teacher ko dekhna hota hai ki unke jo hai aise kya result hai jo ko aage nahi badh paa rahe hain toh yah dhundhana bahut kathin hota hai aur unke mooh se sacchai nikalwana ki aisa kaun se reeva me inko dekhna bahut zaroori hai ki vaah bacche kar toh bahut accha sakte baith kar kyon nahi paa raha agar vaah cheez ko bahut acche hain aur standing ho jaati hai toh definetli vaah bacche ka carrier saanvaru jata hai aur ek cheez aur kehna chahungi teacher ke liye yah cheez bhi ek acche ke liye kathin ke liye aap apni bhasha me teacher ko hamesha great har insaan ko honi chahiye internet teacher ko aveyar hamesha har ek cheez baat sirf liye rehna bhi chahiye ki bacche char life ke sankuchan unke unke alag cheez ke bare me baisa samay knowledge nahi hai sir me twelfth ke baad kya karu mujhe bete karna chahiye mujhe bsc karna chahiye kya mujhe dusre me jana chahiye computer ka course karna chahiye iti karna chahiye tabhi toh ek accha future us bacche ke liye kya har baccha toh btech ke liye nahi hota na khushboo cheez provide karna vaah phir par karna vaah bahut achi cheez hoti hai aur uske liye teacher ko hamesha har ek cheez ki knowledge hamesha tumhe bus itna hi kehna chahungi thainkyu for vaching my video please like and follow

क्वेश्चन है आपको क्या लगता है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है मैंने लाइक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एजे टीचर या शिक्षक के रूप में आज तक मैंने स्कूल में कभी भी कठिनाई का अनुभव नहीं किया क्योंकि इस पुलिया साला मेरे लिए टाइम पास का माध्यम नहीं बल्कि वहां पर रचनात्मकता लाने का एक माध्यम रोज वहां पर एक नई बात लेकर जाता हूं मेरे लिए हर रोज इतना होता है रचनात्मकता से जनता बनाने के लिए जरूरी होता है क्या आप नया नया चीज करें क्योंकि मैं नया चीज करता हूं वहां जाने के बाद इसलिए मेरे को आज तक टीचर जॉब तो कोई परेशानी तो नहीं हुआ जहां तक 8 घंटे का समय 8 घंटे में 4 की रेट पढ़ाते पढ़ाते समय का पता नहीं चलता इतने सारे प्रश्न और जिज्ञासाओं को शांत करना पड़ता है कि बुद्धि बुद्धि को भी आराम मिलता है इस बुद्धि का प्रयोग आपके पास जितना भी ज्यादा ज्ञान है उसको आप साला में जाकर बांटते हैं जिससे आपकी बुद्धि बिल्कुल संतुलित रहती है क्योंकि मेरे को हिंदी में पढ़ाना पड़ता है तो इसके लिए जरूरी है कि मैं हर रोज एक नया पिक्चर नए तरीके से बात करूं ऐसा नहीं है कि मैं स्कूल जा रहा हूं और डाइट से तैयारी करके जाऊं या वहां पर जाने के बाद मैं गायक पकड़ तो उनको पटाऊं चाय की जरूरत नहीं पड़ती का सहारा ना लें बच्चों के सामने में के व्याख्यान देना है वह पूरी तरीके से बिल्कुल कॉल तो करो अपना व्याख्यान करें कि सिंह करने के बहुत सारे तरीके में पढ़ाने के बहुत सारे तरीके हैं उन तरीकों का उपयोग करें उन तरीकों को उपयोग करने में ही उसका समय चला जाएगा और मेरे ख्याल से कठिन कठिन तो कुछ भी नहीं होती ठीक है रिपीट में दो चार जगह ऐसा हो जाता है जब चुनाव नाम होता है उस समय हमें चुनाव में क्षेत्र में भेज दिए जाते हैं जिससे चुनाव का माहौल और टीचिंग जॉब दोनों अलग-अलग चीजें हैं लेकिन उस कार्य को करना भी एक नया अनुभव को जन्म देता है नया कार्य हम जीते हैं इसलिए वहां पर भी कोई कठिनाई का अनुभव नहीं होता अगर हम कोई काम करना ना चाहे तभी हमको कसाई काम होगा अन्यथा शिक्षक का झुमका जो जवाब है वह इतना अच्छा है कि उसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता इसके बारे में मैं फिर से आपको जवाब दूंगा तब तक आपको जवाब का इंतजार करेंगे

AJ teacher ya shikshak ke roop me aaj tak maine school me kabhi bhi kathinai ka anubhav nahi kiya kyonki is puliya sala mere liye time paas ka madhyam nahi balki wahan par rachnatmaka lane ka ek madhyam roj wahan par ek nayi baat lekar jata hoon mere liye har roj itna hota hai rachnatmaka se janta banane ke liye zaroori hota hai kya aap naya naya cheez kare kyonki main naya cheez karta hoon wahan jaane ke baad isliye mere ko aaj tak teacher job toh koi pareshani toh nahi hua jaha tak 8 ghante ka samay 8 ghante me 4 ki rate padhate padhate samay ka pata nahi chalta itne saare prashna aur jigyasaon ko shaant karna padta hai ki buddhi buddhi ko bhi aaram milta hai is buddhi ka prayog aapke paas jitna bhi zyada gyaan hai usko aap sala me jaakar bantate hain jisse aapki buddhi bilkul santulit rehti hai kyonki mere ko hindi me padhana padta hai toh iske liye zaroori hai ki main har roj ek naya picture naye tarike se baat karu aisa nahi hai ki main school ja raha hoon aur diet se taiyari karke jaaun ya wahan par jaane ke baad main gayak pakad toh unko pataun chai ki zarurat nahi padti ka sahara na le baccho ke saamne me ke vyakhyan dena hai vaah puri tarike se bilkul call toh karo apna vyakhyan kare ki Singh karne ke bahut saare tarike me padhane ke bahut saare tarike hain un trikon ka upyog kare un trikon ko upyog karne me hi uska samay chala jaega aur mere khayal se kathin kathin toh kuch bhi nahi hoti theek hai repeat me do char jagah aisa ho jata hai jab chunav naam hota hai us samay hamein chunav me kshetra me bhej diye jaate hain jisse chunav ka maahaul aur teaching job dono alag alag cheezen hain lekin us karya ko karna bhi ek naya anubhav ko janam deta hai naya karya hum jeete hain isliye wahan par bhi koi kathinai ka anubhav nahi hota agar hum koi kaam karna na chahen tabhi hamko kasai kaam hoga anyatha shikshak ka jhumka jo jawab hai vaah itna accha hai ki uske bare me kuch kaha nahi ja sakta iske bare me main phir se aapko jawab dunga tab tak aapko jawab ka intejar karenge

एजे टीचर या शिक्षक के रूप में आज तक मैंने स्कूल में कभी भी कठिनाई का अनुभव नहीं किया क्यों

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के समय में एक अध्यापक होने के लिए सबसे बड़ी कठिन बात यह है कि आज के समय में जो धन का महत्व बढ़ गया है धन के आगे कोई भी छात्र अपेक्षा का सम्मान नहीं करता ऐसा पहले होता था दूसरी बात आज के समय में दंड प्रक्रिया कम हो गई है इससे भी एक टीचर टीचर को सबसे बड़ी असावधानी का सामना करना पड़ता है

aaj ke samay me ek adhyapak hone ke liye sabse badi kathin baat yah hai ki aaj ke samay me jo dhan ka mahatva badh gaya hai dhan ke aage koi bhi chatra apeksha ka sammaan nahi karta aisa pehle hota tha dusri baat aaj ke samay me dand prakriya kam ho gayi hai isse bhi ek teacher teacher ko sabse badi asavadhani ka samana karna padta hai

आज के समय में एक अध्यापक होने के लिए सबसे बड़ी कठिन बात यह है कि आज के समय में जो धन का मह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user

Lalit Kumar

Selp Employ

3:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा किशन है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन जो बात होती है बस एक ही वर्ड स्टूडेंट एक क्लास में 78 छात्र छात्राएं स्कूल में टीचर शिप 1 घंटे की क्लास लेते हैं टीचर उस 7080 बच्चों को साइलेंट करके चुपचाप अपनी अपना जो अध्याय होता है उसको विशेष रूप से अच्छे से सिखाते हैं समझाते यह कोई मामूली छोटी बात नहीं है क्योंकि अगर वाक्य ही पढ़ाने वाले शिक्षक हैं जो अच्छे दिल से अपने स्टूडेंट को कुछ सिखा रहे हैं तो बातें ही स्टूडेंट भी दिल से उनकी बात सुनेंगे समझेंगे वरना मैंने ऐसे ऐसे अध्यापक देखे हैं जो क्लास में आते हैं बैठ गए रामायण सुना दी महाभारत सुना दी चल दिए अध्याय यह विज्ञान कोर्स ए विज्ञान और महाभारत सुना कर चले गए तो एक स्टूडेंट क्या समझेगा क्या सोचेगा कि सर क्या पढ़ा कर दें वह तो ही समझेगा अरे नहीं आ रही तो अपन रोज टीवी में देखते हैं महाभारत यार ए तो ए मास्टर भी आ रहे थे टाइम पास करने आते हैं तो एक शिक्षक के लिए छोटी बात नहीं है बहुत बड़ी बात है स्टूडेंट को कंफर्म

hamara kishan hai ki shikshak hone ke bare me sabse kathin baat kya hai shikshak hone ke bare me sabse kathin jo baat hoti hai bus ek hi word student ek class me 78 chatra chatrae school me teacher ship 1 ghante ki class lete hain teacher us 7080 baccho ko silent karke chupchap apni apna jo adhyay hota hai usko vishesh roop se acche se sikhaate hain smajhate yah koi mamuli choti baat nahi hai kyonki agar vakya hi padhane waale shikshak hain jo acche dil se apne student ko kuch sikha rahe hain toh batein hi student bhi dil se unki baat sunenge samjhenge varna maine aise aise adhyapak dekhe hain jo class me aate hain baith gaye ramayana suna di mahabharat suna di chal diye adhyay yah vigyan course a vigyan aur mahabharat suna kar chale gaye toh ek student kya samjhega kya sochega ki sir kya padha kar de vaah toh hi samjhega are nahi aa rahi toh apan roj TV me dekhte hain mahabharat yaar a toh a master bhi aa rahe the time paas karne aate hain toh ek shikshak ke liye choti baat nahi hai bahut badi baat hai student ko confirm

हमारा किशन है कि शिक्षक होने के बारे में सबसे कठिन बात क्या है शिक्षक होने के बारे में सबस

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!