user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भैया आपको कहना भारतीय संस्कृत क्या कहती है भारतीय संस्कृति कहती है कि पूरे विश्व को अपना समझो अपना परिवार संपूर्ण मानवता को अपनाओ भारतीय संस्कृत क्या कहती है आई एम निकिता नाम उदारता नाम यह मेरा है यह तेरा है यह इस प्रकार की गणना छूटे हृदय वाले लोग करते हैं उदार कृत वालों के लिए अलार्म भारतीयों के लिए यह पृथ्वी ही परिवार के समान भारतीय संस्कृति मानवता को प्रेम का संदेश देती है भारतीय संस्कृति अंधकार से उजाले में आने का आह्वान करती है तो मा ज्योतिर्गमय भारतीय संस्कृति है सर्वे संतु निरामया सर्वे बताओ सनी लोक सुखी रहें सभी लोग निरोग रहे हे पिता हे परमपिता किसी को कभी किसी प्रकार का दुख ना हो तो भारतीय संस्कृति की मूल अवधारणा की है कि मानवता से प्रेम करो और प्रेम की ज्योति जलाते चलो प्रेम की गंगा बहाते यह भारतीय संस्कृति

bhaiya aapko kehna bharatiya sanskrit kya kehti hai bharatiya sanskriti kehti hai ki poore vishwa ko apna samjho apna parivar sampurna manavta ko apnao bharatiya sanskrit kya kehti hai I M nikita naam udarata naam yah mera hai yah tera hai yah is prakar ki ganana chhoote hriday waale log karte hain udaar krit walon ke liye alarm bharatiyon ke liye yah prithvi hi parivar ke saman bharatiya sanskriti manavta ko prem ka sandesh deti hai bharatiya sanskriti andhakar se ujale me aane ka aahvaan karti hai toh ma jyotirgamay bharatiya sanskriti hai survey santu niramaya survey batao sunny lok sukhi rahein sabhi log nirog rahe hai pita hai parampita kisi ko kabhi kisi prakar ka dukh na ho toh bharatiya sanskriti ki mul avdharna ki hai ki manavta se prem karo aur prem ki jyoti jalate chalo prem ki ganga bahate yah bharatiya sanskriti

भैया आपको कहना भारतीय संस्कृत क्या कहती है भारतीय संस्कृति कहती है कि पूरे विश्व को अपना स

Romanized Version
Likes  452  Dislikes    views  3103
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत की संस्कृति बहुत यानी है इसके भारत महान इतिहास विलक्षण भूगोल और सिंधु घाटी की सभ्यता के दौरान बनी और आगे चलकर दैनिक युग के लिए विकास हुई थी बौद्ध धर्म के साथ युवक आशीर्वाद उसके आगमन के साथ फली पुलिस अपनी खुद की परेड पर चीन विरासत में शामिल है भारत की संस्कृतिक देश के इतिहास में कई दृष्टि से इस बात पर अलग-अलग अपना मतलब अलग-अलग रहा है

bharat ki sanskriti bahut yani hai iske bharat mahaan itihas vilakshan bhugol aur sindhu ghati ki sabhyata ke dauran bani aur aage chalkar dainik yug ke liye vikas hui thi Baudh dharm ke saath yuvak ashirvaad uske aagaman ke saath fali police apni khud ki parade par china virasat me shaamil hai bharat ki sanskritik desh ke itihas me kai drishti se is baat par alag alag apna matlab alag alag raha hai

भारत की संस्कृति बहुत यानी है इसके भारत महान इतिहास विलक्षण भूगोल और सिंधु घाटी की सभ्यता

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!