क्या लोकतंत्र में किसी सरकार की आलोचना करना कोई गुनाह है?...


play
user

Arvind rajpurohit

Entrepreneur , Mentor,

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल नहीं लोकतंत्र में किसी भी सरकार की आलोचना करना कोई गुनाह नहीं है उल्टा यह लोकतंत्र की मजबूती है उसकी खूबी है उसकी खूबसूरती है लेकिन आजकल हम जो देख रहे हैं कि सरकार की आलोचना करने के चक्कर में हम कहीं ना कहीं देश की आलोचना कर बैठते हैं विदेशों में उन लोगों के सामने कुछ लोग ऐसे बयान दे देते हैं जिससे सरकार की आलोचना कम और देश की और देश की संस्कृति की आलोचना ज्यादा हो जाती है दायरे में रहकर सरकार की आलोचना करें सरकार की नीतियों की आलोचना करें जो सरकार की नीतियां हैं उनकी भले ही आप कितनी भी बेधड़क आलोचना करो किसी को कोई तकलीफ नहीं होगी उल्टा सरकार को भी अपनी नीतियों की समीक्षा करने का और उसे अवसर मिलता है रेसर बनता है कभी-कभी तो सरकार जनविरोधी नीतियों बनाने से डरती है और यह लोकतंत्र के लिए ताकत है मजबूती है ध्यान रखें कि आलोचना अपने दायरे में हूं आलोचना से केवल उन नीतियों की आलोचना हो उन क्रियाकलापों की आलोचना हो ना कि उस देश की जिस देश में सरकार को चल रही हो

bilkul nahi loktantra mein kisi bhi sarkar ki aalochana karna koi gunah nahi hai ulta yah loktantra ki majbuti hai uski khoobi hai uski khoobsoorti hai lekin aajkal hum jo dekh rahe hain ki sarkar ki aalochana karne ke chakkar mein hum kahin na kahin desh ki aalochana kar baithate hain videshon mein un logon ke saamne kuch log aise bayan de dete hain jisse sarkar ki aalochana kam aur desh ki aur desh ki sanskriti ki aalochana zyada ho jaati hai daayre mein rahkar sarkar ki aalochana karen sarkar ki nitiyon ki aalochana karen jo sarkar ki nitiyan hain unki bhale hi aap kitni bhi bedhadak aalochana karo kisi ko koi takleef nahi hogi ulta sarkar ko bhi apni nitiyon ki samiksha karne ka aur use avsar milta hai racer banta hai kabhi kabhi toh sarkar janvirodhi nitiyon banaane se darti hai aur yah loktantra ke liye takat hai majbuti hai dhyan rakhen ki aalochana apne daayre mein hoon aalochana se keval un nitiyon ki aalochana ho un kriyaklapon ki aalochana ho na ki us desh ki jis desh mein sarkar ko chal rahi ho

बिल्कुल नहीं लोकतंत्र में किसी भी सरकार की आलोचना करना कोई गुनाह नहीं है उल्टा यह लोकतंत्र

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन लोकतंत्र की खूबसूरती ही यही है कि अगर आप किसी भी सरकार की योजनाओं से सैन्य तो आप उस सरकार की आलोचना कर सकते हैं उस पॉलिसी की आलोचना कर सकते आप रोटेट कर सकते हैं सेट कर सकते हैं सारी चीजें लोकतंत्र में दी गई हैं मुझे लगता है यह लोकतंत्र की खूबसूरती है अगर कोई अगर कोई इन चीजों का दमन करना चाह रहा है तो इसका मतलब है कि हमारे संविधान में जो लोकतंत्र की बात की गई है उसको वह दमन रहा है तो बिल्कुल यह आपको मॉल आपका लोकतांत्रिक अधिकार है आप को टेस्ट कर सकते हैं अब किस सरकार की किसी भी पॉलिसी से सहमत नहीं है तो उसको कैसे चार्ज कर सकती है उसका विरोध दर्ज करा सकते हैं

lekin loktantra ki khoobsoorti hi yahi hai ki agar aap kisi bhi sarkar ki yojanaon se sainya toh aap us sarkar ki aalochana kar sakte hain us policy ki aalochana kar sakte aap rotate kar sakte hain set kar sakte hain saree cheezen loktantra mein di gayi hain mujhe lagta hai yah loktantra ki khoobsoorti hai agar koi agar koi in chijon ka daman karna chah raha hai toh iska matlab hai ki hamare samvidhan mein jo loktantra ki baat ki gayi hai usko vaah daman raha hai toh bilkul yah aapko mall aapka loktantrik adhikaar hai aap ko test kar sakte hain ab kis sarkar ki kisi bhi policy se sahmat nahi hai toh usko kaise charge kar sakti hai uska virodh darj kara sakte hain

लेकिन लोकतंत्र की खूबसूरती ही यही है कि अगर आप किसी भी सरकार की योजनाओं से सैन्य तो आप उस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निश्चित तौर पर हमारा देश को एक लोकतांत्रिक देश में लोकतंत्र है लोकतंत्र का मतलब है कि हमारे देश में सबको अपने कुछ भी बोलने सुनने की आजादी है यानी पूरी जिसके मन में जो कुछ भी आया बोल सकता है अपना कोई भी हमारा कोई भी एक्सप्रेशन बयां कर सकता है यह लोकतांत्रिक देश की पहचान है और किसी भी एक पार्टी की आलोचना करना बिल्कुल भी गलत नहीं है किसी व्यक्ति के अनुकूल नहीं है लेकिन यह ध्यान में रखें कि आप किसी की भी आलोचना कीजिए लेकिन अपने शब्दों पर ध्यान रखिए अपनी भाषा पर लगाम रखें और जो आलोचना है वह बहुत ज्यादा बुरे शब्दों का इस्तेमाल करके ना कीजिए क्योंकि इस तरीके लोकतंत्र लोकतंत्र के नाम पर गलत गंदी भाषा का इस्तेमाल करना हमारे कानून में उसकी कोई जगह नहीं है

nishchit taur par hamara desh ko ek loktantrik desh mein loktantra hai loktantra ka matlab hai ki hamare desh mein sabko apne kuch bhi bolne sunane ki azadi hai yani puri jiske man mein jo kuch bhi aaya bol sakta hai apna koi bhi hamara koi bhi expression bayaan kar sakta hai yah loktantrik desh ki pehchaan hai aur kisi bhi ek party ki aalochana karna bilkul bhi galat nahi hai kisi vyakti ke anukul nahi hai lekin yah dhyan mein rakhen ki aap kisi ki bhi aalochana kijiye lekin apne shabdon par dhyan rakhiye apni bhasha par lagaam rakhen aur jo aalochana hai vaah bahut zyada bure shabdon ka istemal karke na kijiye kyonki is tarike loktantra loktantra ke naam par galat gandi bhasha ka istemal karna hamare kanoon mein uski koi jagah nahi hai

निश्चित तौर पर हमारा देश को एक लोकतांत्रिक देश में लोकतंत्र है लोकतंत्र का मतलब है कि हमार

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
user

Jyoti Mehta

Ex-History Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लोकतंत्र में हमें अभिव्यक्ति की आजादी है और हमारा देश हमारे संविधान हमें इस बात की आजादी देता है कि हम अपने विचारों को अभिव्यक्त कर सकते हैं अपनी बात कह सकते हैं लेकिन सरकार के लिए कुछ कह रहे हैं तो आपके पास कोई सबूत होना बहुत जरूरी है अगर आप से अनुरोध है कि हां सरकार निजी कार्य नहीं किए हैं यह सरकार इस तरह से बातें करके झूठ बोल रही है या लोगों को बरगला रही है वहां तक ठीक है लेकिन अगर आप कोई गंभीर आरोप सरकार पर लगाते हैं और उसके आपके पास साक्ष्य सबूत नहीं है तो वह गलत है उसमें आप पर केस हो सकता है और आप पुलिस में भी जा सकते हैं जेल में भी जा सकते हैं लेकिन आप अपने विचारों को व्यक्त करने के लिए स्वतंत्र हैं आप 4 लोगों के सामने अपने विचार व्यक्त कर सकते हैं सरकार ने जो वादा किया था वह पूरा नहीं किया है यह सरकार ने जो कहा था वह कार्य नहीं हुए हैं यह चीजें आप बोल सकते हैं क्योंकि आलोचना का जनता को है कि वह सरकार की आलोचना कर सकती है और सरकार को बता सकती है कि उन्होंने क्या-क्या कार्य नहीं किया है और आलोचना से ही सरकार को भी पता चलता है कि कहां जनता उन से नाखुश है और कहां उन्हें कार्य करने हैं तो आलोचना हमारा अधिकार है आलोचना हम कर सकते हैं लेकिन हम आरक्षित नहीं लगा सकते हैं बिना सबूतों के अगर हमारे पास आंखें हैं उसका सबूत है तभी हमारो पर आक्षेप लगा सकते हैं लेकिन आलोचना हम सरकार की कर सकते हैं और करनी भी चाहिए ताकि सरकार को पता चले कि उनकी जनता उनसे किस बात पर नाखुश

loktantra mein hamein abhivyakti ki azadi hai aur hamara desh hamare samvidhan hamein is baat ki azadi deta hai ki hum apne vicharon ko abhivyakt kar sakte hain apni baat keh sakte hain lekin sarkar ke liye kuch keh rahe hain toh aapke paas koi sabut hona bahut zaroori hai agar aap se anurodh hai ki haan sarkar niji karya nahi kiye hain yah sarkar is tarah se batein karke jhuth bol rahi hai ya logon ko bargala rahi hai wahan tak theek hai lekin agar aap koi gambhir aarop sarkar par lagate hain aur uske aapke paas sakshya sabut nahi hai toh vaah galat hai usmein aap par case ho sakta hai aur aap police mein bhi ja sakte hain jail mein bhi ja sakte hain lekin aap apne vicharon ko vyakt karne ke liye swatantra hain aap 4 logon ke saamne apne vichar vyakt kar sakte hain sarkar ne jo vada kiya tha vaah pura nahi kiya hai yah sarkar ne jo kaha tha vaah karya nahi hue hain yah cheezen aap bol sakte hain kyonki aalochana ka janta ko hai ki vaah sarkar ki aalochana kar sakti hai aur sarkar ko bata sakti hai ki unhone kya kya karya nahi kiya hai aur aalochana se hi sarkar ko bhi pata chalta hai ki kahaan janta un se nakhush hai aur kahaan unhe karya karne hain toh aalochana hamara adhikaar hai aalochana hum kar sakte hain lekin hum arakshit nahi laga sakte hain bina sabuton ke agar hamare paas aankhen hain uska sabut hai tabhi hamaro par akshep laga sakte hain lekin aalochana hum sarkar ki kar sakte hain aur karni bhi chahiye taki sarkar ko pata chale ki unki janta unse kis baat par nakhush

लोकतंत्र में हमें अभिव्यक्ति की आजादी है और हमारा देश हमारे संविधान हमें इस बात की आजादी द

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं लोकतंत्र में किसी भी और सरकार की आलोचना करना बिल्कुल भी गुनाह नहीं है अगर आपको कोई सरकार पसंद नहीं आ रही है कोई दिक्कत लग रही है आपको तो आप उनकी आलोचना कर सकते हैं उनका विरोध कर सकते हैं और उन तक पहुंचा सकते हैं क्या आप जो भी कर रहे हैं वह चीज सही नहीं है और देखिए लोकतंत्र का मतलब यही होता है कि जहां पर लोगों की बात सुनी जाएगी समझी जाएगी और फिर आगे बढ़ा जाएगा क्योंकि लोकतंत्र लोगों के लिए बना हुआ है और उसमें ब्लॉक जैसा चाहेंगे वैसा ही होगा तो कोई भी सरकार अगर कुछ भी गलत काम करती है तो लोकतंत्र में लोगों को पूरा अधिकार दिया जाता है कि वह गुनाह वह उसकी आलोचना करें अगर कुछ गलत हो रहा है तो या और उसका विरोध भी करें और सरकार को लोगों की बात सुननी भी पड़ेगी क्योंकि यह लोकतंत्र में यही चीज सबसे सर्वोपरि मानी जाती है

ji nahi loktantra mein kisi bhi aur sarkar ki aalochana karna bilkul bhi gunah nahi hai agar aapko koi sarkar pasand nahi aa rahi hai koi dikkat lag rahi hai aapko toh aap unki aalochana kar sakte hain unka virodh kar sakte hain aur un tak pahuncha sakte hain kya aap jo bhi kar rahe hain vaah cheez sahi nahi hai aur dekhiye loktantra ka matlab yahi hota hai ki jahan par logon ki baat suni jayegi samjhi jayegi aur phir aage badha jaega kyonki loktantra logon ke liye bana hua hai aur usmein block jaisa chahenge waisa hi hoga toh koi bhi sarkar agar kuch bhi galat kaam karti hai toh loktantra mein logon ko pura adhikaar diya jata hai ki vaah gunah vaah uski aalochana karen agar kuch galat ho raha hai toh ya aur uska virodh bhi karen aur sarkar ko logon ki baat sunnani bhi padegi kyonki yah loktantra mein yahi cheez sabse sarvopari maani jaati hai

जी नहीं लोकतंत्र में किसी भी और सरकार की आलोचना करना बिल्कुल भी गुनाह नहीं है अगर आपको कोई

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल नहीं लोकतंत्र में किसी सरकार की आलोचना करना कोई गुनाह नहीं है यह तो एक जल्दी कंपटीशन इंदु सरकार के बीच में लेकिन आलोचना भी होनी चाहिए तो सब कुछ तथ्य होना चाहिए अगर आप आलोचना कर रहे हैं तुम बिट्टू क्या आपके पास प्रूफ है आप जो कह रहे हैं वह आप सो भी कर सकते हैं पूरी कर सकते हैं तो बिना अगर आप किसी भी सरकार के ऊपर बिना किसी ग्रुप के कोई व्यग्र इल्जाम लगाते हैं इसका अर्थ ही होगा कि जो है आप उस सरकार को कुछ गलत कहना चाह रहे हैं और आप तो सिर्फ उसके लिए फ सकती क्योंकि मानहानि का आपके ऊपर केस हो सकता है लेकिन अब आपके पास प्रूफ है और आप तब आलोचना कर रहे तो फिर सही है हां बिल्कुल भी सही से कोई गलत बात नहीं है दूसरी बात क्या लक्षण दूसरे तरीके से की जा सकती जैसे कि हम जनता है अब हम भी पता नहीं किस नरेंद्र मोदी की सरकार में क्या हुआ है क्या नहीं हुआ पूरी इंफॉर्मेशन नहीं है कि कैंसर के बारे में कितना भी काम क्यों ना किया हो लेकिन हमें नहीं पसंद है तो हम कह सकते हैं कि बिल्कुल नरेंद्र मोदी ने कोई काम नहीं किया तो इस तरह की आलोचना की जा सकती कोई प्रॉब्लम ही हो क्योंकि आपने वोट दिया आपने टैक्स पर कर रहे तो आपको आलोचना करने की पूरा हक है

ji bilkul nahi loktantra mein kisi sarkar ki aalochana karna koi gunah nahi hai yah toh ek jaldi competition indu sarkar ke beech mein lekin aalochana bhi honi chahiye toh sab kuch tathya hona chahiye agar aap aalochana kar rahe hain tum bittu kya aapke paas proof hai aap jo keh rahe hain vaah aap so bhi kar sakte hain puri kar sakte hain toh bina agar aap kisi bhi sarkar ke upar bina kisi group ke koi vyagra illajam lagate hain iska arth hi hoga ki jo hai aap us sarkar ko kuch galat kehna chah rahe hain aur aap toh sirf uske liye f sakti kyonki manhani ka aapke upar case ho sakta hai lekin ab aapke paas proof hai aur aap tab aalochana kar rahe toh phir sahi hai haan bilkul bhi sahi se koi galat baat nahi hai dusri baat kya lakshan dusre tarike se ki ja sakti jaise ki hum janta hai ab hum bhi pata nahi kis narendra modi ki sarkar mein kya hua hai kya nahi hua puri information nahi hai ki cancer ke bare mein kitna bhi kaam kyon na kiya ho lekin hamein nahi pasand hai toh hum keh sakte hain ki bilkul narendra modi ne koi kaam nahi kiya toh is tarah ki aalochana ki ja sakti koi problem hi ho kyonki aapne vote diya aapne tax par kar rahe toh aapko aalochana karne ki pura haq hai

जी बिल्कुल नहीं लोकतंत्र में किसी सरकार की आलोचना करना कोई गुनाह नहीं है यह तो एक जल्दी कं

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!