क्या अंग्रेजी दवा की साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं, कुछ लोग बोलते है की रिएक्शन कर देता है?...


user
0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड अंग्रेजी दवा के साथ आज भी दवा नहीं लेनी चाहिए तो कुछ साल्ट ऐसे होते हैं जो व्यक्त नहीं करते लेकिन ज्यादातर साल पैसे होते जो आपस में सेक्स करते हैं इसलिए कभी भी आयुर्वेदिक और अंग्रेजी दवा साथ में लेनी चाहिए उसमें कुछ अंतर कर देना चाहिए कम से कम 2 घंटे का अंतर करें अंग्रेजी दवा और आवेदक क्योंकि यह भी कंफर्म नहीं होता है कि कौन सा कोई कोई सा साल्ट होता है अंग्रेजी दवा का युद्ध का जो आपस में अधिकतर जाता है इसे बहुत ही तो आया साथ में ले लेते हैं तो उसमें कोई दिक्कत नहीं होती है जैसे कि हिमालय कंपनी सारी दवाई आयुर्वेदिक होती हैं उनको एक दबाव के साथ भी आती हैं पूरी नहीं करते लेकिन कुछ ऐसी दवा आयुर्वेदिक दवा एलोपैथिक इलाज एक साथ नहीं करना चाहते हैं तो कम से कम 2 घंटे का अंतर रखें

hello friend angrezi dawa ke saath aaj bhi dawa nahi leni chahiye toh kuch salt aise hote hain jo vyakt nahi karte lekin jyadatar saal paise hote jo aapas me sex karte hain isliye kabhi bhi ayurvedic aur angrezi dawa saath me leni chahiye usme kuch antar kar dena chahiye kam se kam 2 ghante ka antar kare angrezi dawa aur avedak kyonki yah bhi confirm nahi hota hai ki kaun sa koi koi sa salt hota hai angrezi dawa ka yudh ka jo aapas me adhiktar jata hai ise bahut hi toh aaya saath me le lete hain toh usme koi dikkat nahi hoti hai jaise ki himalaya company saari dawai ayurvedic hoti hain unko ek dabaav ke saath bhi aati hain puri nahi karte lekin kuch aisi dawa ayurvedic dawa allopathic ilaj ek saath nahi karna chahte hain toh kam se kam 2 ghante ka antar rakhen

हेलो फ्रेंड अंग्रेजी दवा के साथ आज भी दवा नहीं लेनी चाहिए तो कुछ साल्ट ऐसे होते हैं जो व्य

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  641
WhatsApp_icon
29 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes  35  Dislikes    views  711
WhatsApp_icon
user

Dr.Deepak Dubey

Ayurvedic Doctor

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेदिक दवा के साथ एलोपैथिक दवाई अंग्रेजी दवा लेना वैसे तो इसका कोई भी दुष्परिणाम अभी सामने मेरे सामने तो कभी नहीं आया है मैं एक आयुर्वेद चिकित्सक हूं और मैं तो यह कहूंगा कि अगर आप आयुर्वेद दवा दे रहे तो आपको अंग्रेजी दवा की जरूरत ही नहीं पड़ेगी क्योंकि हर एक ताले की एक ही चाबी होती है दो चाबी होती नहीं है और एक चाबी जो है आयुर्वेद के रूप में आपके पास है यदि आप सही दवा सही चाबी सही ताले में फिट करते हो तो निश्चित रूप से वह खुल जाएगा इसी तरह का सही आयुर्वेद की दवा सही बीमारी में आप उपयोग करते हो देशकाल वातावरण सभी चीज को ध्यान में रखें तो निश्चित ही वह असर करती है और फायदा पहुंचाती है आपको अगर इस तरह की कोई समस्या है और आपको मजबूरन दोनों दवाइयां लेना पड़ रही है अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दो आप साथ में भी ले सकते हैं वरना भोजन आयुर्वेदिक जोगी दवाइयां होती हैं तो भोजन के आधे घंटे पहले खाई जाती है या आधे घंटे बाद खाई जाती हैं तो वैसे ही अंतर हो सकता है उनका कोई आपस में रिएक्शन एक लिस्ट नहीं होगा निश्चिंत रहें

ayurvedic dawa ke saath allopathic dawai angrezi dawa lena waise toh iska koi bhi dushparinaam abhi saamne mere saamne toh kabhi nahi aaya hai main ek ayurveda chikitsak hoon aur main toh yah kahunga ki agar aap ayurveda dawa de rahe toh aapko angrezi dawa ki zarurat hi nahi padegi kyonki har ek tale ki ek hi chabi hoti hai do chabi hoti nahi hai aur ek chabi jo hai ayurveda ke roop me aapke paas hai yadi aap sahi dawa sahi chabi sahi tale me fit karte ho toh nishchit roop se vaah khul jaega isi tarah ka sahi ayurveda ki dawa sahi bimari me aap upyog karte ho deshkal vatavaran sabhi cheez ko dhyan me rakhen toh nishchit hi vaah asar karti hai aur fayda pahunchati hai aapko agar is tarah ki koi samasya hai aur aapko majaburan dono davaiyan lena pad rahi hai angrezi aur ayurvedic do aap saath me bhi le sakte hain varna bhojan ayurvedic jogi davaiyan hoti hain toh bhojan ke aadhe ghante pehle khai jaati hai ya aadhe ghante baad khai jaati hain toh waise hi antar ho sakta hai unka koi aapas me reaction ek list nahi hoga nishchint rahein

आयुर्वेदिक दवा के साथ एलोपैथिक दवाई अंग्रेजी दवा लेना वैसे तो इसका कोई भी दुष्परिणाम अभी

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user

Poonam Sran

Ayurvedic Doctor,Yoga Trainer,Softskills Trainer

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी हां लोग ठीक ही कहते हैं कि वो रिएक्शन कर सकती हैं रिएक्शन नाम भी करें अगर तू भी एक प्रॉब्लम इस चीज में बहुत ज्यादा है कि अगर आप दोनों दवा एक ही चीज के लिए ले रहे हैं जैसे मान लीजिए आप डायबिटीज की दवा है आप एलोपैथी की भी खा रहे हैं और साथ ही आयुर्वेद की भी कार्य तो जब दोनों दवाई मिलकर आपकी शुगर शुगर लेवल को नीचे करेंगी तो आपको सुबह लोगों ने किसान से इसलिए बहुत जरूरी है कि जब भी आप अगर आप दोनों मेडिकेशंस ले रहे हो दोनों सिस्टम से तो आप दोनों डॉक्टर को यह बताइए कि मैं यह आयुर्वेदिक डॉक्टर की दवा भी ले रही हूं और दूसरे डॉक्टर को बताइए कि मैं यह एलोपैथी की दवा भी ले रही हूं जब आप सब लोग जमीन से बताएंगे तो वह अपनी दवाई की दोस्त को थोड़ा एडजस्ट कर सकते हैं अगर वह कोई आपको दो गोली दे रहा है तो वह सकता है वह आपको एक गोली दे दे कि नहीं पहुंचा तो जरूर है कि आप अपने दोनों डॉक्टर को अपनी दोनों तरीके की मेडिसिंस के बारे में जरूर इन्फॉर्म करें

haan ji haan log theek hi kehte hain ki vo reaction kar sakti hain reaction naam bhi kare agar tu bhi ek problem is cheez me bahut zyada hai ki agar aap dono dawa ek hi cheez ke liye le rahe hain jaise maan lijiye aap diabetes ki dawa hai aap allopathy ki bhi kha rahe hain aur saath hi ayurveda ki bhi karya toh jab dono dawai milkar aapki sugar sugar level ko niche karengi toh aapko subah logo ne kisan se isliye bahut zaroori hai ki jab bhi aap agar aap dono medikeshans le rahe ho dono system se toh aap dono doctor ko yah bataiye ki main yah ayurvedic doctor ki dawa bhi le rahi hoon aur dusre doctor ko bataiye ki main yah allopathy ki dawa bhi le rahi hoon jab aap sab log jameen se batayenge toh vaah apni dawai ki dost ko thoda adjust kar sakte hain agar vaah koi aapko do goli de raha hai toh vaah sakta hai vaah aapko ek goli de de ki nahi pohcha toh zaroor hai ki aap apne dono doctor ko apni dono tarike ki medisins ke bare me zaroor inform kare

हां जी हां लोग ठीक ही कहते हैं कि वो रिएक्शन कर सकती हैं रिएक्शन नाम भी करें अगर तू भी एक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
user

Dr Saurabh Shukla

Ayurvedic Doctor

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चेकमेट की तरह आप देश अशोक करने की नशीली दवाइयां खा सकते हैं तो आप टेंशन ना ले

checkmate ki tarah aap desh ashok karne ki nashili davaiyan kha sakte hain toh aap tension na le

चेकमेट की तरह आप देश अशोक करने की नशीली दवाइयां खा सकते हैं तो आप टेंशन ना ले

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
Likes  194  Dislikes    views  5766
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोनों ही तो आप एक समय एक ही दवाई ले सकते यह भी उस केस में जो आपके लिए बहुत बड़ी समस्या है आपकी कोशिश कीजिए कि आप एक ही तरह की दवाई का उपयोग करें

dono hi toh aap ek samay ek hi dawai le sakte yah bhi us case me jo aapke liye bahut badi samasya hai aapki koshish kijiye ki aap ek hi tarah ki dawai ka upyog kare

दोनों ही तो आप एक समय एक ही दवाई ले सकते यह भी उस केस में जो आपके लिए बहुत बड़ी समस्या है

Romanized Version
Likes  291  Dislikes    views  3709
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका बंद है क्या नहीं चला कि सात अजूबे दवा का सेवन किया जा सकता है आपको अपनाना है आयुर्वेदिक एलोपैथिक वेद जी कैसी है वह बर्ड्स शब्दों के आधार पर 200 का संबंध करती है उसे कितना करती है उसका कोई साइड इफेक्ट आपको सुझाव है

aapka band hai kya nahi chala ki saat ajoobe dawa ka seven kiya ja sakta hai aapko apnana hai ayurvedic allopathic ved ji kaisi hai vaah birds shabdon ke aadhar par 200 ka sambandh karti hai use kitna karti hai uska koi side effect aapko sujhaav hai

आपका बंद है क्या नहीं चला कि सात अजूबे दवा का सेवन किया जा सकता है आपको अपनाना है आयुर्वेद

Romanized Version
Likes  134  Dislikes    views  1178
WhatsApp_icon
user

Dr. Devesh khemka

Ayurvedic Doctor

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आजकल बहुत सी एलोपैथिक दवाइयां और आयुर्वेदिक दवाइयां साथ में ली जा रहे हैं सभी डॉक्टरों के द्वारा दी जा रही हैं इस तरह की कोई समस्या नहीं होती फिर भी जहां तक मेरी राय है मैं मानता हूं कि आयुर्वेदिक दवा और एलोपैथिक दवा में कम से कम 2 घंटे का अंतर आप अवश्य रखें और रिएक्शन तो किसी दवा का किसी के साथ हो सकता है लेकिन एक अकेली दवा अंग्रेजी दवा कोई भी दवा किस की किसी को भी लेखन कर सकती तो रिएक्शन एक अलग प्रक्रिया है उसका आयुर्वेदिक एलोपैथिक सीधा मतलब नहीं है

aajkal bahut si allopathic davaiyan aur ayurvedic davaiyan saath me li ja rahe hain sabhi doctoron ke dwara di ja rahi hain is tarah ki koi samasya nahi hoti phir bhi jaha tak meri rai hai main maanta hoon ki ayurvedic dawa aur allopathic dawa me kam se kam 2 ghante ka antar aap avashya rakhen aur reaction toh kisi dawa ka kisi ke saath ho sakta hai lekin ek akeli dawa angrezi dawa koi bhi dawa kis ki kisi ko bhi lekhan kar sakti toh reaction ek alag prakriya hai uska ayurvedic allopathic seedha matlab nahi hai

आजकल बहुत सी एलोपैथिक दवाइयां और आयुर्वेदिक दवाइयां साथ में ली जा रहे हैं सभी डॉक्टरों के

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
user

khusi

Ayurvedic Doctor

0:26
Play

Likes  3  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
user
0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप जब भी अंग्रेजी आयुर्वेदिक दवा ले हैं तो बाप डॉक्टर से उसी से पूछ लिया है कि मेरी इधर मेरे समय इस समय यह दवा ले रहा हूं इसके साथ यह दवा ले सकते हैं कि ले सकते कुछ दवाइयां है जो कि ले सकते हैं कुछ होते हैं कि नहीं ले सकते थोड़ा सा होम्योपैथिक में प्रिकॉशन है कि आधे घंटे का गैप रखते हैं आयुर्वेदिक में उतना नहीं है दिन कुछ में हो सकता है लेकिन मुझे नहीं मालूम लेकिन हां अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा कभी-कभी ले सकते हैं

aap jab bhi angrezi ayurvedic dawa le hain toh baap doctor se usi se puch liya hai ki meri idhar mere samay is samay yah dawa le raha hoon iske saath yah dawa le sakte hain ki le sakte kuch davaiyan hai jo ki le sakte hain kuch hote hain ki nahi le sakte thoda sa homeopathic me precaution hai ki aadhe ghante ka gap rakhte hain ayurvedic me utana nahi hai din kuch me ho sakta hai lekin mujhe nahi maloom lekin haan angrezi dawa ke saath ayurvedic dawa kabhi kabhi le sakte hain

आप जब भी अंग्रेजी आयुर्वेदिक दवा ले हैं तो बाप डॉक्टर से उसी से पूछ लिया है कि मेरी इधर मे

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  960
WhatsApp_icon
user

Vijay Sharma

Yoga Trainer (P.G.D.Y.)

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दो कहती हो कम से कम एक-दो घंटे करके अपना चाहिए आपके सुनाई जो कोई अच्छी बात है वह गलत वह अपना काम करती है वह अपना एलोपैथिक सेंचुरी देती है लेटेस्ट भेज देती है उस समय का ध्यान रखें दोनों प्रति हमारी बात कर सकते हैं

do kehti ho kam se kam ek do ghante karke apna chahiye aapke sunayi jo koi achi baat hai vaah galat vaah apna kaam karti hai vaah apna allopathic century deti hai latest bhej deti hai us samay ka dhyan rakhen dono prati hamari baat kar sakte hain

दो कहती हो कम से कम एक-दो घंटे करके अपना चाहिए आपके सुनाई जो कोई अच्छी बात है वह गलत वह अप

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  472
WhatsApp_icon
user
0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पतरा नमस्कार क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेद दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि एक्शन कर देता है मित्र ऐसी कोई बात नहीं है अंग्रेजी दवा के साथ में भी आयुर्वेदिक दवा ली जा सकते हो पैथिक दवा के साथ में भी और विद्वान की जा सकती है बस यह थोड़ा सा आधे घंटे के अंदर करके दवा खाइए ऐसी कोई दिक्कत नहीं है कि क्यों घर वैदिक दवा कभी रिएक्शन नहीं करती अगर इलेक्शन होती है तो अंग्रेजी दवा कहीं रिएक्शन होगा आयुर्वेदिक दवा कनेक्शन ही होगा धन्यवाद

patara namaskar kya angrezi dawa ke saath ayurveda dawa le sakte hain kuch log bolte hain ki action kar deta hai mitra aisi koi baat nahi hai angrezi dawa ke saath me bhi ayurvedic dawa li ja sakte ho paithik dawa ke saath me bhi aur vidhwaan ki ja sakti hai bus yah thoda sa aadhe ghante ke andar karke dawa khaiye aisi koi dikkat nahi hai ki kyon ghar vaidik dawa kabhi reaction nahi karti agar election hoti hai toh angrezi dawa kahin reaction hoga ayurvedic dawa connection hi hoga dhanyavad

पतरा नमस्कार क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेद दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि एक्शन

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  302
WhatsApp_icon
user

Dr Raj Kumar Kochar

Ayurvedic Doctors ( Researcher )

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो लोग अनजाने हैं वह ऐसा बोल सकते हैं हम आपको ऐसा नहीं बोलेंगे आप अंग्रेजी के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं और लेट एबीएलओ जैसे आप अंग्रेजी कोई दवा ले रहे हैं और साथ में आपको लीवर के लिए 52 दिए दिए तो वह आयुर्वेदिक दवाएं इसलिए ऐसा कुछ नहीं है ठीक है आयुर्वेदिक और अंग्रेजी दवा के बीच में आधे घंटे का डिफरेंस करके लेना चाहिए ताकि उसका कोई साइड इफेक्ट आफ तो ओपन नाउ

jo log anjaane hain vaah aisa bol sakte hain hum aapko aisa nahi bolenge aap angrezi ke saath ayurvedic dawa le sakte hain aur late ABLO jaise aap angrezi koi dawa le rahe hain aur saath me aapko liver ke liye 52 diye diye toh vaah ayurvedic davayain isliye aisa kuch nahi hai theek hai ayurvedic aur angrezi dawa ke beech me aadhe ghante ka difference karke lena chahiye taki uska koi side effect of toh open now

जो लोग अनजाने हैं वह ऐसा बोल सकते हैं हम आपको ऐसा नहीं बोलेंगे आप अंग्रेजी के साथ आयुर्वेद

Romanized Version
Likes  376  Dislikes    views  1779
WhatsApp_icon
user

Govind Mandal

Ayurvedic Doctor

0:49
Play

Likes  7  Dislikes    views  236
WhatsApp_icon
user

Dr Anil Kumar Agarwal

Physician &Laser Acupuncture specialist

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दवाई आपको लेनी है तो इसमें अच्छा लगेगा कि आप कम से कम 1 घंटे का बीच में गैप रखें दो अलग-अलग दवाई ले लो जल्दी आराम पड़ेगा

agar angrezi aur ayurvedic dawai aapko leni hai toh isme accha lagega ki aap kam se kam 1 ghante ka beech me gap rakhen do alag alag dawai le lo jaldi aaram padega

अगर अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दवाई आपको लेनी है तो इसमें अच्छा लगेगा कि आप कम से कम 1 घंटे का

Romanized Version
Likes  163  Dislikes    views  1445
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेद के साथ अंग्रेजी दवाइयों के साथ आयुर्वेदिक ले सकते हैं 98% रिएक्शन यादव

ayurveda ke saath angrezi dawaiyo ke saath ayurvedic le sakte hain 98 reaction yadav

आयुर्वेद के साथ अंग्रेजी दवाइयों के साथ आयुर्वेदिक ले सकते हैं 98% रिएक्शन यादव

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  242
WhatsApp_icon
user

Dr. Rajesh Suri

Ayurvedic Doctor

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि रिएक्शन कर देता है गलत है अंग्रेजी दवा कराओ ले रहे हैं और आयुर्वेदिक दवा भी साथ में ले सकते हैं क्योंकि आयुर्वेदिक का तो कोई साइड इफेक्ट होता नहीं है कभी भी नहीं होगा

namaskar aapka sawaal hai kya angrezi dawa ke saath ayurvedic dawa le sakte hain kuch log bolte hain ki reaction kar deta hai galat hai angrezi dawa karao le rahe hain aur ayurvedic dawa bhi saath me le sakte hain kyonki ayurvedic ka toh koi side effect hota nahi hai kabhi bhi nahi hoga

नमस्कार आपका सवाल है क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  456
WhatsApp_icon
user

Dr. Ved Thapar

Medico / Health Guide/ Health Speaker /Motivator

2:01
Play

Likes  52  Dislikes    views  1749
WhatsApp_icon
user

Dr Arun Chandan

Doctor, Development Professional, Herbal Medicines Expert, Medical astrologer

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोनों दबाव को इकट्ठे लेना तो समझदारी नहीं है यह सही है दोनों दवाइयों का आपस में रिएक्शन हो सकता है जो शरीर के लिए घातक हो सकता है इसलिए एक समय में एक ही दवाई ली जाए अच्छा है दोनों दवाइयों में 1 घंटे का कम से कम फर्क होना जरूरी है

dono dabaav ko ikatthe lena toh samajhdari nahi hai yah sahi hai dono dawaiyo ka aapas me reaction ho sakta hai jo sharir ke liye ghatak ho sakta hai isliye ek samay me ek hi dawai li jaaye accha hai dono dawaiyo me 1 ghante ka kam se kam fark hona zaroori hai

दोनों दबाव को इकट्ठे लेना तो समझदारी नहीं है यह सही है दोनों दवाइयों का आपस में रिएक्शन हो

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  1156
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंग्रेजी दवा और आयुर्वेदिक दवा को एक साथ लेने पर रिएक्शन हो सकता है या नहीं हो सकता है इस पर भी रिसर्च करना बाकी है क्योंकि इस पर बहुत ज्यादा काम नहीं हुआ लेकिन कुछ जगह पर हमें रिएक्शन देखने को मिलता है और कुछ जगह पर एक्शन देखने को नहीं मिलता है वैसे काफी सारे एलोपैथी डॉक्टर्स भी अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवाइयां लिखते हैं जैसे एक आयुर्वेदिक दवा है अंग्रेजी दवाइयों के साथ बहुत आसानी से ऑफिस से ले सकते हैं लेकिन कुछ दवाइयां जो रस और सभी देश हैं उनके साथ भी कर सकते हैं तो आपको केवल इतना ध्यान रखना है और आयुर्वेदिक दवा के बीच में कम से कम डेढ़ से 2 घंटे का आपके रखें उसके बाद आप ले सकते हैं क्योंकि काफी दवाइयां ऐसी हैं जैसे ब्लड प्रेशर सुबह थायराइड की दवा को रेगुलर लेनी होती उसके बीच में जैसे आपको जोड़ों का दर्द और आप आयुर्वेदिक इलाज देना चाहते हैं तो यह दोनों साथ में लिए जा सकते हैं लेकिन हम दवा

angrezi dawa aur ayurvedic dawa ko ek saath lene par reaction ho sakta hai ya nahi ho sakta hai is par bhi research karna baki hai kyonki is par bahut zyada kaam nahi hua lekin kuch jagah par hamein reaction dekhne ko milta hai aur kuch jagah par action dekhne ko nahi milta hai waise kaafi saare allopathy doctors bhi angrezi dawa ke saath ayurvedic davaiyan likhte hain jaise ek ayurvedic dawa hai angrezi dawaiyo ke saath bahut aasani se office se le sakte hain lekin kuch davaiyan jo ras aur sabhi desh hain unke saath bhi kar sakte hain toh aapko keval itna dhyan rakhna hai aur ayurvedic dawa ke beech me kam se kam dedh se 2 ghante ka aapke rakhen uske baad aap le sakte hain kyonki kaafi davaiyan aisi hain jaise blood pressure subah thyroid ki dawa ko regular leni hoti uske beech me jaise aapko jodo ka dard aur aap ayurvedic ilaj dena chahte hain toh yah dono saath me liye ja sakte hain lekin hum dawa

अंग्रेजी दवा और आयुर्वेदिक दवा को एक साथ लेने पर रिएक्शन हो सकता है या नहीं हो सकता है इस

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

sulekhayoga03

Yoga Teacher & health beauty expert

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपस में क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि रिएक्शन कर देता है आप ही दवाई ले सकते हैं क्योंकि बहुत सारी कंडीशन में दोनों दवाई लेना अर्जेंट हो जाता है जरूरी हो जाता है तो इसमें ऐसा नहीं है कि आप को नहीं लेना है लेकिन आपको डिस्टेंस अपना दवाइयों के बीच में अगर आप आयुर्वेदिक दवाई अभी ले रहे हैं तो 1 घंटे बाद आप दूसरी दवा ले सकते हैं तो दोनों दवाइयों के बीच में 1 घंटे का डिस्टेंस सके तो आपको कुछ नहीं होगा थैंक यू

aapas me kya angrezi dawa ke saath ayurvedic dawa le sakte hain kuch log bolte hain ki reaction kar deta hai aap hi dawai le sakte hain kyonki bahut saari condition me dono dawai lena urgent ho jata hai zaroori ho jata hai toh isme aisa nahi hai ki aap ko nahi lena hai lekin aapko distance apna dawaiyo ke beech me agar aap ayurvedic dawai abhi le rahe hain toh 1 ghante baad aap dusri dawa le sakte hain toh dono dawaiyo ke beech me 1 ghante ka distance sake toh aapko kuch nahi hoga thank you

आपस में क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि रिएक्शन क

Romanized Version
Likes  247  Dislikes    views  5013
WhatsApp_icon
user

Ashish Lavania

Yoga Trainer

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा आप नहीं ले सकते हैं उसके पीछे में वजह बता रहा हूं कि कुछ अंग्रेजी दवा ऐसी होती है जो अंग्रेजी दवा कुछ खेसारी ऐसे थे जो आज तुरंत जो है इस बीमारी पर काम करती है तो एंटीबॉडीज होती है तो वह इफेक्ट भी करती है उसकी कुछ साइड इफेक्ट भी होते हैं उस दवाई के क्योंकि वह तुरंत बॉडी पर शक करती है तो उसके कुछ साइड इफेक्ट भी होते आयुर्वेदिक चीज है कुछ ऐसी होते कि किसी के साथ रिएक्शन करके कुछ भी बन सकता है वहीं के लिए नुकसानदायक हो सकता है कि मैं बिल्कुल कंफर्म कर लेना चाहिए कि कौन सी दवा है हमको इस दवा के साथ आयुर्वेद में क्या ले रहे हैं या मैं कंफर्म होना चाहिए चाहे आप आयुर्वेदिक डॉक्टर से पूछे आपने फिजिशियन से पूछे

ji bilkul angrezi dawa ke saath ayurvedic dawa aap nahi le sakte hain uske peeche me wajah bata raha hoon ki kuch angrezi dawa aisi hoti hai jo angrezi dawa kuch khesari aise the jo aaj turant jo hai is bimari par kaam karti hai toh antibodies hoti hai toh vaah effect bhi karti hai uski kuch side effect bhi hote hain us dawai ke kyonki vaah turant body par shak karti hai toh uske kuch side effect bhi hote ayurvedic cheez hai kuch aisi hote ki kisi ke saath reaction karke kuch bhi ban sakta hai wahi ke liye nukasanadayak ho sakta hai ki main bilkul confirm kar lena chahiye ki kaun si dawa hai hamko is dawa ke saath ayurveda me kya le rahe hain ya main confirm hona chahiye chahen aap ayurvedic doctor se pooche aapne physican se pooche

जी बिल्कुल अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा आप नहीं ले सकते हैं उसके पीछे में वजह बता रह

Romanized Version
Likes  261  Dislikes    views  2200
WhatsApp_icon
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

3:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंग्लिश लगा अर्थात अमेठी की मेडिकल सिस्टम एलोपैथिक मेडिकल सिस्टम पूरे विश्व में एकमात्र रियली और साइंटिफिक मेडिकल सिस्टम होने का दावा करती है और यह बात तो संपूर्ण झूठ है आयुर्वेद विकलांग सृष्टि की मनुष्य रचना हुई और चार वेद परमात्मा शक्ति के द्वारा प्रदान किए गए चार वेदों के ऋग्वेद का आयुर्वेदिक वैद्य है और संपूर्ण वैज्ञानिक के सिस्टम का नॉलेज है और उसके अनुसार ट्रीटमेंट और मेडिसिन देखकर के मूर्ति के मूर्ति में गए हुए रोगियों को भी बचाने का प्रयत्न लाखो लाखो साल से होता है और यह दिल भी पिक्चर की बात है कि करते हैं आज के समय में अभी 1 जनवरी दिसंबर 2019 जिससे यह जो रूप है कोरोनावायरस रोग को पूरी सिस्टम के साथ है हम लोग आयुर्वेदिक ट्रीटमेंट से और हमारे मेडिसिन से पूरा कंट्रोल करके व्यक्ति को बचाने के अंदर हम लोग सक्षम है और हमारा उपयोग भी जाना चाहिए भारत सरकार और विश्व की सरकारों को अंग्रेजी दवा को एलोपैथी सिस्टम बोलते हैं और आयुर्वेद की जॉब मेडिसिन है वह आयुर्वेदिक मेडिसिन हर्बल वनस्पति शास्त्र के अनुसार है उसकी अलग अलग सिस्टम में तो आयुर्वेद के जो उसे थे इस अली के साथ है सम्मिश्रण होने वाले मूलभूत तत्व है और एलोपैथी के जो तत्व है वह सुस्त रासायनिक प्रक्रिया है आप लोग उससे ऑपरेशन टेबल और उसे 24 के कारण में उसका उपयोग कर सकते हैं आयुर्वेद को कानून के अनुसार किसी भी प्रकार के ऑपरेशन का और ऐसी प्रक्रिया उसके ऊपर प्रतिबंध लगा रखा है आज की तारीख में पूरे विश्व के अंदर जो ऑपरेशन और सर्जरी के जो ऑपरेशन वगैरा होते हैं उसके 6070 जो व्यापन से वह सुश्रुत संहिता के अनुसार है और 30 40 एस ए वेपन से हथियार सर्जिकल के जिसका आज के साइंस को भी पता नहीं है कि यह घर पंच किस प्रकार के होंगे और सुशील के साक्षरता दर पर जो ज्ञापन से उसका तो उन्होंने आविष्कार करके उसका उपयोग कर रहे हैं अभी यह लोग तो आप यह मूलभूत बातों को समझेंगे और यह समझ करके उनसे उसके अनुसार आप चलेंगे तो आपको कोई प्रकार की प्रतिक्रिया और शरीर नेम कोई प्रकार की महामारी असुविधा होली का कोई डर नहीं रहेगा आयुर्वेद संपूर्ण विज्ञान है और एलोपैथी के की दवाई है आप लोग कोई करने की जरूरत नहीं है उसका कोई मीनिंग नहीं है पूरे भूपेंदर एलोपैथी के नाम पर भयानक लूट पर शोध के लिए लाखों लाखों मनुष्य करोड़ों करोड़ों मनुष्य प्रति साल इसके कारण मरते हैं कोई स्टॉप ज्यादा फायदा होता है ऐसी कोई बात नहीं है आयुर्वेद को आप लोग अपना ही है और उसकी सिस्टम के अनुसार चल दिए ज्यादातर बिना ऑपरेशन निर्बल व्यक्ति अच्छे हो जाते हैं और ऑपरेशन करने की जो सिस्टम ही हुआ है तो उसका कोई परमिशन नहीं है तो आप लोगे सारी बातों को अपने मन में सोचिए और इसमें सुधार करने के लिए आप भारत सरकार विश्व सरकार को अनुरोध करिए धन्यवाद

english laga arthat amethi ki medical system allopathic medical system poore vishwa me ekmatra really aur scientific medical system hone ka daawa karti hai aur yah baat toh sampurna jhuth hai ayurveda viklaang shrishti ki manushya rachna hui aur char ved paramatma shakti ke dwara pradan kiye gaye char vedo ke rigved ka ayurvedic vaidhy hai aur sampurna vaigyanik ke system ka knowledge hai aur uske anusaar treatment aur medicine dekhkar ke murti ke murti me gaye hue rogiyon ko bhi bachane ka prayatn lakho lakho saal se hota hai aur yah dil bhi picture ki baat hai ki karte hain aaj ke samay me abhi 1 january december 2019 jisse yah jo roop hai coronavirus rog ko puri system ke saath hai hum log ayurvedic treatment se aur hamare medicine se pura control karke vyakti ko bachane ke andar hum log saksham hai aur hamara upyog bhi jana chahiye bharat sarkar aur vishwa ki sarkaro ko angrezi dawa ko allopathy system bolte hain aur ayurveda ki job medicine hai vaah ayurvedic medicine herbal vanaspati shastra ke anusaar hai uski alag alag system me toh ayurveda ke jo use the is ali ke saath hai sammishran hone waale mulbhut tatva hai aur allopathy ke jo tatva hai vaah sust Rasayanik prakriya hai aap log usse operation table aur use 24 ke karan me uska upyog kar sakte hain ayurveda ko kanoon ke anusaar kisi bhi prakar ke operation ka aur aisi prakriya uske upar pratibandh laga rakha hai aaj ki tarikh me poore vishwa ke andar jo operation aur surgery ke jo operation vagera hote hain uske 6070 jo vyapan se vaah sushrut sanhita ke anusaar hai aur 30 40 S a weapon se hathiyar surgical ke jiska aaj ke science ko bhi pata nahi hai ki yah ghar punch kis prakar ke honge aur sushil ke saksharta dar par jo gyapan se uska toh unhone avishkar karke uska upyog kar rahe hain abhi yah log toh aap yah mulbhut baaton ko samjhenge aur yah samajh karke unse uske anusaar aap chalenge toh aapko koi prakar ki pratikriya aur sharir name koi prakar ki mahamari asuvidha holi ka koi dar nahi rahega ayurveda sampurna vigyan hai aur allopathy ke ki dawai hai aap log koi karne ki zarurat nahi hai uska koi meaning nahi hai poore bhupendar allopathy ke naam par bhayanak loot par shodh ke liye laakhon laakhon manushya karodo karodo manushya prati saal iske karan marte hain koi stop zyada fayda hota hai aisi koi baat nahi hai ayurveda ko aap log apna hi hai aur uski system ke anusaar chal diye jyadatar bina operation nirbal vyakti acche ho jaate hain aur operation karne ki jo system hi hua hai toh uska koi permission nahi hai toh aap loge saari baaton ko apne man me sochiye aur isme sudhaar karne ke liye aap bharat sarkar vishwa sarkar ko anurodh kariye dhanyavad

इंग्लिश लगा अर्थात अमेठी की मेडिकल सिस्टम एलोपैथिक मेडिकल सिस्टम पूरे विश्व में एकमात्र रि

Romanized Version
Likes  128  Dislikes    views  1470
WhatsApp_icon
user

Rajeshwar

Ayurvedic Doctor

0:27
Play

Likes  7  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
user

Dr. Nikul Patel

Ayurvedic Doctor

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंग्रेजी दवाई के साथ आयुर्वेदिक दवाई ले सकते हैं या नहीं इसका रिएक्शन आएगा कि नहीं इस संदर्भ के लिए मैं आपको इतना ही बता सकता हूं कि यह सारी चीज डिपेंड करती है कि आप कौन सी दवाई ले रहे हैं किस चीज के लिए ले रहे हैं तो वह सारी बात इसके डिपेंड करती है क्योंकि कभी-कभी ऐसा होता है कि आप एलोपैथी दवाई किसी और प्रॉब्लम के लिए ले रहे हो आयुर्वेदिक दवाई दूसरे और तो और दोनों चीज एक दूसरे के आमने सामने रहती है तो रिएक्शन आता है ऐसा नहीं बोल सकते लेकिन वह रिएक्शन में ऐसा होता है कि यहां पर भी एक्शन आता है ऐसा नहीं है लेकिन वह एक दूसरे की फेक को कम कर देता है तो वह बात हम को ध्यान में रखनी चाहिए नॉर्मल ही ऐसा होता है की आयुर्वेदिक दवाई अगर कोई रजिस्टर्ड डॉक्टर ने आयुर्वेद डिग्री होल्डर है और एंटीक है उन्होंने लिख दी है और उनसे यह परामर्श करके उड़िया है कि मुझे यह इंग्लिश दवाई भी चलती है तो अगर उन्होंने आपको सजेस्ट किया है वह दवाई देखकर तो कभी भी उसमें रिएक्शन आने की संभावना नहीं रहती है बहुत ही कम संभावना रहती है तो आपको अगर कहीं पर भी ऐसा है कि आपको तो आयुर्वेद कंसलटेंट से संपर्क करके उनका परामर्श से ही काम करना चाहिए अपने आप अपने हिसाब से यह सही बात नहीं है तो इतनी बात आप को ध्यान में रखनी चाहिए धन्यवाद यहां मौजूद है डॉक्टर निकुल पटेल आयुर्वेद कंसलटेंट आप कभी भी और कोई मार्गदर्शन चाहते हैं तो हमें व्हाट्सएप या टेलीग्राम पर संपर्क कर सकते हैं हमारा नंबर है 98250 40824 धन्यवाद

angrezi dawai ke saath ayurvedic dawai le sakte hain ya nahi iska reaction aayega ki nahi is sandarbh ke liye main aapko itna hi bata sakta hoon ki yah saari cheez depend karti hai ki aap kaun si dawai le rahe hain kis cheez ke liye le rahe hain toh vaah saari baat iske depend karti hai kyonki kabhi kabhi aisa hota hai ki aap allopathy dawai kisi aur problem ke liye le rahe ho ayurvedic dawai dusre aur toh aur dono cheez ek dusre ke aamane saamne rehti hai toh reaction aata hai aisa nahi bol sakte lekin vaah reaction me aisa hota hai ki yahan par bhi action aata hai aisa nahi hai lekin vaah ek dusre ki fake ko kam kar deta hai toh vaah baat hum ko dhyan me rakhni chahiye normal hi aisa hota hai ki ayurvedic dawai agar koi registered doctor ne ayurveda degree holder hai aur entik hai unhone likh di hai aur unse yah paramarsh karke udiya hai ki mujhe yah english dawai bhi chalti hai toh agar unhone aapko suggest kiya hai vaah dawai dekhkar toh kabhi bhi usme reaction aane ki sambhavna nahi rehti hai bahut hi kam sambhavna rehti hai toh aapko agar kahin par bhi aisa hai ki aapko toh ayurveda consultant se sampark karke unka paramarsh se hi kaam karna chahiye apne aap apne hisab se yah sahi baat nahi hai toh itni baat aap ko dhyan me rakhni chahiye dhanyavad yahan maujud hai doctor nikul patel ayurveda consultant aap kabhi bhi aur koi margdarshan chahte hain toh hamein whatsapp ya telegram par sampark kar sakte hain hamara number hai 98250 40824 dhanyavad

अंग्रेजी दवाई के साथ आयुर्वेदिक दवाई ले सकते हैं या नहीं इसका रिएक्शन आएगा कि नहीं इस संदर

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
play
user
1:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने किया है क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि रिएक्शन कर देता है तो प्रिय बंधु में आपको बता देना चाहता हूं कि जब आप अंग्रेजी दवा खा रहे हैं तो ना आप आयुर्वेदिक दवा देना होम्योपैथी दवा लें अगर अंग्रेजी दवा के साथ आप इन दोनों का प्रयोग कहते हैं आयुर्वेदिक या फिर हमें पैथिक दवा का इस्तेमाल करते हैं तो या आपके लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है और हंड्रेड परसेंट रिएक्शन तो करेगा ही लेकिन आप बहुत बड़ी प्रॉब्लम में भी हो सकते हो इस कारण से आप एक ही दवा का सेवन करें यही आपके स्वास्थ के लिए उत्तम होगा

aapne kiya hai kya angrezi dawa ke saath ayurvedic dawa le sakte hain kuch log bolte hain ki reaction kar deta hai toh priya bandhu me aapko bata dena chahta hoon ki jab aap angrezi dawa kha rahe hain toh na aap ayurvedic dawa dena homeopathy dawa le agar angrezi dawa ke saath aap in dono ka prayog kehte hain ayurvedic ya phir hamein paithik dawa ka istemal karte hain toh ya aapke liye musibat khadi kar sakta hai aur hundred percent reaction toh karega hi lekin aap bahut badi problem me bhi ho sakte ho is karan se aap ek hi dawa ka seven kare yahi aapke swaasth ke liye uttam hoga

आपने किया है क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि रिएक

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  1227
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमेशा आयुर्वेदिक दवाई इस्तेमाल करें जिसका जिससे आपका स्वास्थ्य अच्छा बरकरार रहेगा उन नई नई जो बीमारी आ रही है वह नहीं होंगी आपको टाइम लगता है पर आपको अच्छा स्वास्थ्य बेहतर मिलेगा आपके जीवन में धन्यवाद

hamesha ayurvedic dawai istemal kare jiska jisse aapka swasthya accha barkaraar rahega un nayi nayi jo bimari aa rahi hai vaah nahi hongi aapko time lagta hai par aapko accha swasthya behtar milega aapke jeevan me dhanyavad

हमेशा आयुर्वेदिक दवाई इस्तेमाल करें जिसका जिससे आपका स्वास्थ्य अच्छा बरकरार रहेगा उन नई न

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार गुड मॉर्निंग आपने एक प्रश्न किया है आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न क्या अंग्रेजी दवा के साथ आयुर्वेदिक दवा ले सकते हैं कुछ लोग बोलते हैं कि रिएक्शन कर देते हैं बिल्कुल लेकिन अंग्रेजी दवा आता है जो लेने के बाद अगर माली जी के लिए

namaskar good morning aapne ek prashna kiya hai aapke dwara pooche gaye prashna kya angrezi dawa ke saath ayurvedic dawa le sakte hain kuch log bolte hain ki reaction kar dete hain bilkul lekin angrezi dawa aata hai jo lene ke baad agar maali ji ke liye

नमस्कार गुड मॉर्निंग आपने एक प्रश्न किया है आपके द्वारा पूछे गए प्रश्न क्या अंग्रेजी दवा क

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  802
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!