corona info
qna

इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से?...


25 जवाब
user

Mohammad Bilal

Accountant

0:46
Play

Likes  55  Dislikes    views  1840
WhatsApp_icon
अपने सवाल पूछें और एक्स्पर्ट्स के जवाब सुने
qIconask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupucture Therapist

0:34
Play

देखो दिमाग में ताकत होगी तभी आदमी मेहनत कर पाएगा जब आग में जोर होगा तभी आदमी मेहनत कर पाएगा अब मैंने कौन करेगा हाथ पैर करेंगे इंस्ट्रक्शन के दिमाग की है तो दिमाग जो है कंप्यूटर विचार तेज चलता है और कहावतें दिमाग का ज्यादा सामान करो तभी हम मेहनत करती है
dekho dimag me takat hogi tabhi aadmi mehnat kar payega jab aag me jor hoga tabhi aadmi mehnat kar payega ab maine kaun karega hath pair karenge instruction ke dimag ki hai toh dimag jo hai computer vichar tez chalta hai aur kahavaten dimag ka zyada saamaan karo tabhi hum mehnat karti hai
देखो दिमाग में ताकत होगी तभी आदमी मेहनत कर पाएगा जब आग में जोर होगा तभी आदमी मेहनत कर पाएग
...
Likes  56  Dislikes    views  1470
WhatsApp_icon
user

Yogendra Sharma

Motivational Speaker, Business Coach

0:48
Play

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉर्पोरेट ट्रेन के बारे में बोलना कि इंसान जो है अपनी मेहनत और संघर्ष ही आगे बढ़ता है जिस इंसान में दिमाग नहीं होता है और अपडेट कर लेता है अपने दिमाग को अच्छा बना लेता है लेकिन जिस इंसान में दिमाग बहुत होता है सब कुछ जानता है और अपने कर्म को नहीं करता अपने मेहनत को नहीं करता अपने संघर्ष को नहीं करता है तो वह इसलिए अपनी मेहनत के द्वारा दिमाग को पाया जा सकता है लेकिन दिमाग के द्वारा मेहनत को नहीं पाया जा सकता
hello friends main yogendra sharma Motivational speaker Career coach aur corporate train ke bare me bolna ki insaan jo hai apni mehnat aur sangharsh hi aage badhta hai jis insaan me dimag nahi hota hai aur update kar leta hai apne dimag ko accha bana leta hai lekin jis insaan me dimag bahut hota hai sab kuch jaanta hai aur apne karm ko nahi karta apne mehnat ko nahi karta apne sangharsh ko nahi karta hai toh vaah isliye apni mehnat ke dwara dimag ko paya ja sakta hai lekin dimag ke dwara mehnat ko nahi paya ja sakta
हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉर्पोरेट ट्रेन के बारे मे
...
Likes  306  Dislikes    views  3387
WhatsApp_icon
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

3:30
Play

प्रसन्न है इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से दर्शन मेहनत भी जरूरी होती है और लेकिन दिमाग की युक्ति ज्यादा होती है क्योंकि मेहनत तो करने में एक श्रम दान होता है और वह हम मेहनत कर सकते हैं बहुत लेकिन अगर युक्ति होती है तो उस मेहनत की खपत कम होती है और कार्य का निर्माण अच्छे ढंग से चलता है तो सबसे उत्तम युक्ति होती है दिमाग होता है दिमाग के सहारे मनुष्य हर कार्य को सरल और सहज बना सकता है तो दिमाग की प्रयुक्ति बहुत जरूरी है और ज्यादा होती है और ऐसा भी नहीं है कि मेहनत ना करें मेहनत करने का मतलब किसी काम में कर्मठता अगर नहीं आती है तो वह गलत हो जाता है कर्म के छेत्र में से डालना बहुत जरूरी होता लेकिन प्रयोजन दिमाग से ही सिद्ध होता है दिमाग की युक्ति बहुत जरूरी होती है हर चीज को निर्माण करने में हमें क्या-क्या चीज इसमें जोड़ने चाहिए यह सारी चीजें दिमाग की है क्षमता होती है क्योंकि कोई विकल्प संभावनाओं को और भी बढ़िया विवेचना करके हम देखेंगे तो कुछ ना कुछ और भी सहज और सरल तरीका मिलता है और जो हमारे परिश्रम और काल को दोनों की को कम कर देता है और सफलता की गुंजाइश बढ़ जाती है तो जो दिमाग में एडवांस में सोचकर निर्धारित करके कार्य होते हैं वह अधिकांश सटीक होते हैं और महत्वपूर्ण बनते हैं तो यही सारी चीज है कि तो बढ़ने के लिए दोनों ही चीज के बहुत शक्ति होती है वह है दिमाग दिमाग में विकल्प की संभावनाओं से हमें आयोजन चीजों को जोड़ने में एक संभावना मिली रेत सपोर्ट होता रहता है दिमाग के बराबर से कार्य में चले और उसको देखे निगरानी करे तो काम बनता रहता और समर्थ है अच्छा चलता है तो मेहनत करने का मतलब यह है ताकि ताकत बल बहुत ज्यादा लेकिन दिमाग से उसका डायग्राम सही नहीं बन पाता है उसके हिसाब से हमारी जो निरीक्षण दृष्टिकोण है वह नहीं चल पाती है तो काम दिखाता है मतलब वह सही कुशलता में नहीं आता है तो इस दिमाग को नितांत आवश्यकता मैं मानता हूं कि इसमें दिमाग से ही युक्ति की प्रयोग होता है तो यह दिमाग पर ही डिपेंड करता है कि हमारी मेहनत सफल हो पाती है कि नहीं हो पाती है मैंने तो हम जरूर करते हैं लेकिन कभी युक्ति थोड़ा सा सहारा सपोर्ट दिमाग नहीं विकल में इधर उधर कोई नई युक्ति सोच नहीं दे पाता है तो फिर वह से डरे में रहता है लेकिन अब इन करण करने के लिए दिमाग की प्रयुक्ति होती है दिमाग को जो कहा गया यहां बुद्धि से रिलेटेड बातें कही गई है दिमाग में से संबंधित वह बुद्धि युक्ति है जो निर्णायक और क्षमता अन्वेषण करने की एक धाराएं प्रवाहित रहती तो उसके ही आधार पर हम किसी भी कार्य को सुचारू रूप से संपन्न कर सकते हैं धन्यवाद मेजेपी योगी व्हो कलेक्ट्स की ओर से आपको शुभकामनाएं
prasann hai insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se darshan mehnat bhi zaroori hoti hai aur lekin dimag ki yukti zyada hoti hai kyonki mehnat toh karne me ek shram daan hota hai aur vaah hum mehnat kar sakte hain bahut lekin agar yukti hoti hai toh us mehnat ki khapat kam hoti hai aur karya ka nirmaan acche dhang se chalta hai toh sabse uttam yukti hoti hai dimag hota hai dimag ke sahare manushya har karya ko saral aur sehaz bana sakta hai toh dimag ki prayukti bahut zaroori hai aur zyada hoti hai aur aisa bhi nahi hai ki mehnat na kare mehnat karne ka matlab kisi kaam me karmathata agar nahi aati hai toh vaah galat ho jata hai karm ke chetra me se dalna bahut zaroori hota lekin prayojan dimag se hi siddh hota hai dimag ki yukti bahut zaroori hoti hai har cheez ko nirmaan karne me hamein kya kya cheez isme jodne chahiye yah saari cheezen dimag ki hai kshamta hoti hai kyonki koi vikalp sambhavanaon ko aur bhi badhiya vivechna karke hum dekhenge toh kuch na kuch aur bhi sehaz aur saral tarika milta hai aur jo hamare parishram aur kaal ko dono ki ko kam kar deta hai aur safalta ki gunjaiesh badh jaati hai toh jo dimag me advance me sochkar nirdharit karke karya hote hain vaah adhikaansh sateek hote hain aur mahatvapurna bante hain toh yahi saari cheez hai ki toh badhne ke liye dono hi cheez ke bahut shakti hoti hai vaah hai dimag dimag me vikalp ki sambhavanaon se hamein aayojan chijon ko jodne me ek sambhavna mili ret support hota rehta hai dimag ke barabar se karya me chale aur usko dekhe nigrani kare toh kaam banta rehta aur samarth hai accha chalta hai toh mehnat karne ka matlab yah hai taki takat bal bahut zyada lekin dimag se uska diagram sahi nahi ban pata hai uske hisab se hamari jo nirikshan drishtikon hai vaah nahi chal pati hai toh kaam dikhaata hai matlab vaah sahi kushalata me nahi aata hai toh is dimag ko nitant avashyakta main maanta hoon ki isme dimag se hi yukti ki prayog hota hai toh yah dimag par hi depend karta hai ki hamari mehnat safal ho pati hai ki nahi ho pati hai maine toh hum zaroor karte hain lekin kabhi yukti thoda sa sahara support dimag nahi vikal me idhar udhar koi nayi yukti soch nahi de pata hai toh phir vaah se dare me rehta hai lekin ab in karan karne ke liye dimag ki prayukti hoti hai dimag ko jo kaha gaya yahan buddhi se related batein kahi gayi hai dimag me se sambandhit vaah buddhi yukti hai jo niranayak aur kshamta anveshan karne ki ek dharayen pravahit rehti toh uske hi aadhar par hum kisi bhi karya ko sucharu roop se sampann kar sakte hain dhanyavad mejepi yogi vo collects ki aur se aapko subhkamnaayain
प्रसन्न है इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से दर्शन मेहनत भी जरूरी होती है और लेकिन द
...
Likes  225  Dislikes    views  4501
WhatsApp_icon
user
Play

नमस्कार आपका प्रश्न है इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से देखी सफलता प्राप्त करने के लिए दोनों ही चीजें बहुत महत्व रखती हैं यदि आप मेहनत कर रहे हैं परंतु उसका प्रयोग अपने दिमाग को लगाकर नहीं कर रहे हैं तो वह मेहनत आपकी बेकार भी जा सकती है परंतु दिमाग होने पर भी आप मेहनत ना करें तो उस स्थिति में भी आप सफलता को प्राप्त नहीं कर पाएंगे इसलिए इसके बिना दूसरा अधूरा है तो यह दोनों ही चीजें ऐसी हैं जिनके द्वारा आप एक साथ मिलकर सफलता प्राप्त कर सकते हैं धन्यवाद आपका दिन शुभ हो
namaskar aapka prashna hai insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se dekhi safalta prapt karne ke liye dono hi cheezen bahut mahatva rakhti hain yadi aap mehnat kar rahe hain parantu uska prayog apne dimag ko lagakar nahi kar rahe hain toh vaah mehnat aapki bekar bhi ja sakti hai parantu dimag hone par bhi aap mehnat na kare toh us sthiti me bhi aap safalta ko prapt nahi kar payenge isliye iske bina doosra adhura hai toh yah dono hi cheezen aisi hain jinke dwara aap ek saath milkar safalta prapt kar sakte hain dhanyavad aapka din shubha ho
नमस्कार आपका प्रश्न है इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से देखी सफलता प्राप्त करने के
...
Likes  203  Dislikes    views  3513
WhatsApp_icon
user

सियाराम दुबे

Tech YouTuber & Spiritual Person

1:31
Play

जय श्रीमन्नारायण अपने प्रश्न किया है कि इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से देखिए जब तक दोनों साथ नहीं होंगे मेहनत और दिमाग तब तक आप आगे नहीं बढ़ पाएंगे क्योंकि आप लाख मेहनत करेंगे आपके पास दिमाग नहीं होगा तो आप गलत रास्ते पर कितना भी मेहनत कर ले आप आगे नहीं बढ़ पाएंगे लेकिन वही आप दिमाग का इस्तेमाल करते हुए स्मार्ट लिटरेरी कैसे सोच कर अपने पूरे स्टेट जी के साथ पूरे प्लानिंग के साथ उस काम को करने की क्षमता रखते हैं तो जरूर आप एक ना एक दिन आगे उसमें सफल हो जाएंगे और आगे बढ़ पाएंगे तो वर्तमान में चाहे कोई भी फिर ले लीजिए उसमें इतना ज्यादा कंपटीशन है कि आपका नहीं सकते हैं इसलिए कोई भी आप काम करें हर उस व्यक्ति से अलग हटकर सोच सोचे जो कि कोई सूचना हो तो आप उसमें ज्यादा कामयाब हो पाएंगे अलग तरीके से सोच उसमें आप विकसित करें और उसको सही रास्ते में इंप्लीमेंट करें इसके साथ ही कड़ी मेहनत भी जरूरी है जब तक आप कड़ी मेहनत नहीं करेंगे तो सोचने से भी कुछ नहीं होगा
jai shrimannarayan apne prashna kiya hai ki insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se dekhiye jab tak dono saath nahi honge mehnat aur dimag tab tak aap aage nahi badh payenge kyonki aap lakh mehnat karenge aapke paas dimag nahi hoga toh aap galat raste par kitna bhi mehnat kar le aap aage nahi badh payenge lekin wahi aap dimag ka istemal karte hue smart literary kaise soch kar apne poore state ji ke saath poore planning ke saath us kaam ko karne ki kshamta rakhte hain toh zaroor aap ek na ek din aage usme safal ho jaenge aur aage badh payenge toh vartaman me chahen koi bhi phir le lijiye usme itna zyada competition hai ki aapka nahi sakte hain isliye koi bhi aap kaam kare har us vyakti se alag hatakar soch soche jo ki koi soochna ho toh aap usme zyada kamyab ho payenge alag tarike se soch usme aap viksit kare aur usko sahi raste me implement kare iske saath hi kadi mehnat bhi zaroori hai jab tak aap kadi mehnat nahi karenge toh sochne se bhi kuch nahi hoga
जय श्रीमन्नारायण अपने प्रश्न किया है कि इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से देखिए जब त
...
Likes  174  Dislikes    views  1069
WhatsApp_icon
user

Sachidanand Joshi

Naturopath Yoga Trainer

1:33
Play

नमस्कार आपका सवाल है कि इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से इंसान दोनों चीजों से आगे बढ़ता है दिमाग से भी और मेहनत से भी जब वह मेहनत करता है और खूब जी लगाकर मेहनत करता है तो दिमाग अपने आप आ जाता है और दिमाग में नई चीजे बताने लगता है नए-नए विचार ढूंढ ढूंढ कर लाने लगता है मन तेज हो जाता है चलाएं बानो जाता है तो मन टेक दिमाग की एक अवस्था है और जो मेहनत है वह कर्म की एक अवस्था है तो गजब कर्म और दिमाग मन जब मिलकर काम करते हैं तो आदमी आगे बढ़ता है और कामयाब होता है तो आप दोनों का संबंध में बनाइए और अपने कर्म में लग जाइए फल की इच्छा मत कीजिए फल अत्यंत ही मीठा होगा अपने आसपास साफ सफाई रखें बार-बार हाथ धोते रहे सैनिटाइज करते रहे चाय कॉफी और गर्म सूट पीते रहे करो ना को दूर रखें अपने घर से बाहर ना निकले 21 दिन से पहले तो बिल्कुल ना निकले जब तक प्रधान सेवक जी नाक हैं ठीक है स्वस्थ रहिए अपने परिवार के साथ निरोगी रही है मेरी कामना है मैं सच्चिदानंद जोशी योगाचार्य नेचुरोपैथी
namaskar aapka sawaal hai ki insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se insaan dono chijon se aage badhta hai dimag se bhi aur mehnat se bhi jab vaah mehnat karta hai aur khoob ji lagakar mehnat karta hai toh dimag apne aap aa jata hai aur dimag me nayi chije batane lagta hai naye naye vichar dhundh dhundh kar lane lagta hai man tez ho jata hai chalaye bano jata hai toh man take dimag ki ek avastha hai aur jo mehnat hai vaah karm ki ek avastha hai toh gajab karm aur dimag man jab milkar kaam karte hain toh aadmi aage badhta hai aur kamyab hota hai toh aap dono ka sambandh me banaiye aur apne karm me lag jaiye fal ki iccha mat kijiye fal atyant hi meetha hoga apne aaspass saaf safaai rakhen baar baar hath dhote rahe sainitaij karte rahe chai coffee aur garam suit peete rahe karo na ko dur rakhen apne ghar se bahar na nikle 21 din se pehle toh bilkul na nikle jab tak pradhan sevak ji nak hain theek hai swasth rahiye apne parivar ke saath nirogee rahi hai meri kamna hai main sacchidanand joshi yogacharya naturopathy
नमस्कार आपका सवाल है कि इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से इंसान दोनों चीजों से आगे ब
...
Likes  58  Dislikes    views  1740
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychologist And Parenting Coach

0:49
Play

कृष्ण इंसान में हत्या के प्रक्रिया दिमाग में आगे बढ़ने के लिए लड़के दोनों चाहिए मेहनत करता रे शारीरिक मेहनत हो तेरे और दिमाग लगाया कि भाजपा में शामिल आगे फिर आगे नहीं बढ़ सकते तो बुद्धि सही दिशा में लगे और मेहनत करें और मेहनत ना करें इसमें कोई मुकाबला नहीं करेगा दिमाग लगाएं दोनों चाहिए
krishna insaan me hatya ke prakriya dimag me aage badhne ke liye ladke dono chahiye mehnat karta ray sharirik mehnat ho tere aur dimag lagaya ki bhajpa me shaamil aage phir aage nahi badh sakte toh buddhi sahi disha me lage aur mehnat kare aur mehnat na kare isme koi muqabla nahi karega dimag lagaye dono chahiye
कृष्ण इंसान में हत्या के प्रक्रिया दिमाग में आगे बढ़ने के लिए लड़के दोनों चाहिए मेहनत करता
...
Likes  418  Dislikes    views  3975
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

0:57
Play

इंसान में से आगे बढ़ता है या दिमाग दोनों कमलेश दोनों को आगे बढ़ता है तभी आप करते हैं जब कोई मेहनत करने का विचार आपके मस्तिष्क में आता है यह क्षेत्र में मेहनत करनी चाहिए विचारों और शरीर और मन का अच्छा कार्यक्रम अच्छा संतुलन स्थापित करना चाहिए और शब्दों में एकरूपता का होना एकरूपता का होना अत्यंत आवश्यक है विचार से होती है और दिमाग की मानता ज्यादा रहती है जिसे आपका शरीर शरीर के ऑल बैंक रूप में कॉल करते हैं
insaan me se aage badhta hai ya dimag dono kamlesh dono ko aage badhta hai tabhi aap karte hain jab koi mehnat karne ka vichar aapke mastishk me aata hai yah kshetra me mehnat karni chahiye vicharon aur sharir aur man ka accha karyakram accha santulan sthapit karna chahiye aur shabdon me ekrupta ka hona ekrupta ka hona atyant aavashyak hai vichar se hoti hai aur dimag ki maanta zyada rehti hai jise aapka sharir sharir ke all bank roop me call karte hain
इंसान में से आगे बढ़ता है या दिमाग दोनों कमलेश दोनों को आगे बढ़ता है तभी आप करते हैं जब को
...
Likes  209  Dislikes    views  2000
WhatsApp_icon
user

Kankan Sarmah

Psychologist

1:22
Play

इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से लिखे दोस्तों यह दोनों चीज एक दूसरे के ऊपर इंटरकनेक्टेड है और इंटरडिपेंडेंट है बिना सोचे समझे अब कुछ काम नहीं कर पाएंगे और जो भी आप काम करेंगे उसके लिए आपको मेहनत तो करना ही है तो दिमाग यानी की सोच सोच होता है बहुत बड़ा चीज क्योंकि वहां से हमारा क्या होते हैं वह काम करने का जो स्टेटस स्कैनिंग होता है वह दिमाग से सुस्ती होता है दिमाग से पैदा होते हैं आपकी सोच आपकी बहुत प्रोसेस है वह सुस्ती होते कि मुझे यह काम के हिसाब से निपटाना चाहिए या करना चाहिए तो जब तक आप सोचेंगे नहीं आपके दिमाग में प्लानिंग कभी भी नहीं आएगा फिर जब आप रनिंग करने के बाद जब हम उसको ऑर्गेनाइज इन करते हैं उसको निभाते हैं वह होते हैं आपकी मेहनत क्योंकि प्लानिंग तो आप कर लिया अब बड़े एग्जामिनेशन के और इनकी मेडिटेशन करने के लिए आपको शायद यहां भी जाना पड़े उनसे बात करना पड़े बहुत कुछ होता है उसमें समझने के लिए करने के लिए मेहनत तो करनी है
insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se likhe doston yah dono cheez ek dusre ke upar interconnected hai aur interdependent hai bina soche samjhe ab kuch kaam nahi kar payenge aur jo bhi aap kaam karenge uske liye aapko mehnat toh karna hi hai toh dimag yani ki soch soch hota hai bahut bada cheez kyonki wahan se hamara kya hote hain vaah kaam karne ka jo status scanning hota hai vaah dimag se susti hota hai dimag se paida hote hain aapki soch aapki bahut process hai vaah susti hote ki mujhe yah kaam ke hisab se niptana chahiye ya karna chahiye toh jab tak aap sochenge nahi aapke dimag me planning kabhi bhi nahi aayega phir jab aap running karne ke baad jab hum usko organize in karte hain usko nibhate hain vaah hote hain aapki mehnat kyonki planning toh aap kar liya ab bade examination ke aur inki meditation karne ke liye aapko shayad yahan bhi jana pade unse baat karna pade bahut kuch hota hai usme samjhne ke liye karne ke liye mehnat toh karni hai
इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से लिखे दोस्तों यह दोनों चीज एक दूसरे के ऊपर इंटरकनेक
...
Likes  512  Dislikes    views  5706
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

0:49
Play

अपने प्रश्न क्या इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो सूत्र में मैं यही कहना चाहता हूं कि जीवन में आगे बढ़ने के लिए दोनों ही चीजों की जरूरत होती है और आपको कामयाबी सफलता दोनों ही चीजों से मिलती अगर आप अपने जीवन में सिर्फ कड़ी मेहनत कर रहे हैं लेकिन अपना दिमाग बहुत ही मिस नहीं कर रहे हैं तो उससे भी आप क्यों सफलता मिलेगी ऐसा संभव नहीं है और आप सिर्फ अपना दिमाग यूज कर रहे हैं मेहनत नहीं कर रहे हैं तो उससे भी सफलता मिलेगी ऐसा कोई निश्चित नहीं है लेकिन जब दोनों ही चीजें एक साथ किया जाता है दोनों ही उचित मात्रा में संतुलित तरीके से किया जाता है तब जीवन में सफलता संभव होती है और जरूर मिलती है इसलिए मैं यही कहना चाहता हूं कि दोनों ही चीजों का हमारे जीवन की सफलता में योगदान होता है बहुत-बहुत धन्यवाद
apne prashna kya insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se toh sutra me main yahi kehna chahta hoon ki jeevan me aage badhne ke liye dono hi chijon ki zarurat hoti hai aur aapko kamyabi safalta dono hi chijon se milti agar aap apne jeevan me sirf kadi mehnat kar rahe hain lekin apna dimag bahut hi miss nahi kar rahe hain toh usse bhi aap kyon safalta milegi aisa sambhav nahi hai aur aap sirf apna dimag use kar rahe hain mehnat nahi kar rahe hain toh usse bhi safalta milegi aisa koi nishchit nahi hai lekin jab dono hi cheezen ek saath kiya jata hai dono hi uchit matra me santulit tarike se kiya jata hai tab jeevan me safalta sambhav hoti hai aur zaroor milti hai isliye main yahi kehna chahta hoon ki dono hi chijon ka hamare jeevan ki safalta me yogdan hota hai bahut bahut dhanyavad
अपने प्रश्न क्या इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो सूत्र में मैं यही कहना चाहता ह
...
Likes  221  Dislikes    views  1800
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kumar (MATHS GURU)

Motivational Speaker | High Sch.Teacher

0:22
Play

इंसान अपने मेहनत और दिमाग दोनों से बढ़ता है लेकिन पहले मेहनत करने का खून आना चाहिए अच्छी एजुकेशन आना चाहिए अच्छे कर्तव्य आना चाहिए और अच्छा इंसान होना दो जो कोई भी व्यक्ति अपने शिक्षा में या कोई व्यवसाय नहीं है अपने दिमाग और परिश्रम के बल पर पड़ते हैं और सफेद आंसर करते हैं
insaan apne mehnat aur dimag dono se badhta hai lekin pehle mehnat karne ka khoon aana chahiye achi education aana chahiye acche kartavya aana chahiye aur accha insaan hona do jo koi bhi vyakti apne shiksha me ya koi vyavasaya nahi hai apne dimag aur parishram ke bal par padate hain aur safed answer karte hain
इंसान अपने मेहनत और दिमाग दोनों से बढ़ता है लेकिन पहले मेहनत करने का खून आना चाहिए अच्छी ए
...
Likes  310  Dislikes    views  4067
WhatsApp_icon
user

Deepak Deshwal

Stock Market Researcher

0:51
Play

इंसान बहनों से आगे बढ़ता है या दिमाग से भाई जी देखो मेहनत तो एक आम मजदूरी करता रहेगा मेरा बात नहीं करता लेकिन इंसान वही आगे बढ़ पाता जो दिमाग लगाता है ठीक है लेकिन दिमाग लगाने से आदमी आगे बढ़ता है यह बात हमने मान ले उसके साथ यदि मेहनत नहीं होगी तो मुझे लगता है कि आप आगे नहीं बढ़ पाओगे तो हम यह कह सकते कि मेहनत ठीक है आपको थोड़ा कामयाब बनाएगी है ना और जो दिमाग है वह आपके मेहनत से भी ऊपर बढ़ कर ले जाएगा आपको बहुत ज्यादा कामयाब बनाएगा धन्यवाद
insaan bahnon se aage badhta hai ya dimag se bhai ji dekho mehnat toh ek aam mazdoori karta rahega mera baat nahi karta lekin insaan wahi aage badh pata jo dimag lagaata hai theek hai lekin dimag lagane se aadmi aage badhta hai yah baat humne maan le uske saath yadi mehnat nahi hogi toh mujhe lagta hai ki aap aage nahi badh paoge toh hum yah keh sakte ki mehnat theek hai aapko thoda kamyab banayegi hai na aur jo dimag hai vaah aapke mehnat se bhi upar badh kar le jaega aapko bahut zyada kamyab banayega dhanyavad
इंसान बहनों से आगे बढ़ता है या दिमाग से भाई जी देखो मेहनत तो एक आम मजदूरी करता रहेगा मेरा
...
Likes  121  Dislikes    views  1388
WhatsApp_icon
user

Bk soni

Rajyoga Teacher

0:52
Play

बहुत अच्छा प्रश्न किया है इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से देखिए कई कई जगह में कोई कोई फील्ड में ऐसा है कि परिश्रम से ही हम आगे बढ़ते हैं और कोई कोई फिर डालता है जिसमें हमें बुद्धि का उपयोग दिमाग का उपयोग करना पड़ता है इसीलिए हमें फील्ड के अनुसार जगह के अनुसार हम मेहनत से भी आगे बढ़ते और दिमाग से भी पर कभी-कभी दोनों ही एक जरूरी होती है मेहनत भी करना होता है दिमाग भी लगाना होता है इसीलिए हम दोनों को ही बल देंगे और दोनों से ही आगे बढ़ना जरूरी है क्योंकि मेहनत और दिमाग दोनों से आगे बढ़ते हैं तो उस इंसान को कभी भी जीवन में नीचे गिरने का जरूरत नहीं होता है वह आगे बढ़ते ही जाता है पीछे हटने की जरूरत नहीं होती है धन्यवाद
bahut accha prashna kiya hai insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se dekhiye kai kai jagah me koi koi field me aisa hai ki parishram se hi hum aage badhte hain aur koi koi phir dalta hai jisme hamein buddhi ka upyog dimag ka upyog karna padta hai isliye hamein field ke anusaar jagah ke anusaar hum mehnat se bhi aage badhte aur dimag se bhi par kabhi kabhi dono hi ek zaroori hoti hai mehnat bhi karna hota hai dimag bhi lagana hota hai isliye hum dono ko hi bal denge aur dono se hi aage badhana zaroori hai kyonki mehnat aur dimag dono se aage badhte hain toh us insaan ko kabhi bhi jeevan me niche girne ka zarurat nahi hota hai vaah aage badhte hi jata hai peeche hatane ki zarurat nahi hoti hai dhanyavad
बहुत अच्छा प्रश्न किया है इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से देखिए कई कई जगह में कोई
...
Likes  155  Dislikes    views  3146
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:44
Play

आपका प्रश्न इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो बहुत अच्छा प्रश्न पूछा है आपने एक छोटा सा उदाहरण दूंगा कि मैंने तो देखे वह भी होती है कि रोज आप एक घंटा को दें और उसमें मिट्टी डाल दें फिर सुबह उठकर फिर द्वारा घंटा कूदे श्याम को फिर मिट्टी से भर दे कोई यह नहीं कह सकता कि आपने मेहनत नहीं करी बिल्कुल आपने पूरे दिन मेहनत करी आपने करना खुदा है और फिर शाम को आपने उसमें मिट्टी भरी है तो जब तक हम अपनी मेहनत को एक सकारात्मक दिशा में नहीं बनाते हैं हम पहुंचते पीटी की तरफ नहीं आते हैं हम एक लक्ष्य की और नहीं बढ़ते हैं जहां पर हमारे दिमाग लगाना होता है तो अगर बिना किसी दिमाग लगाए आप मेहनत करते रहेंगे तो उससे आपको कोई भी सफलता अपने जीवन में प्राप्त नहीं हो पाएगी मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
aapka prashna insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se toh bahut accha prashna poocha hai aapne ek chota sa udaharan dunga ki maine toh dekhe vaah bhi hoti hai ki roj aap ek ghanta ko de aur usme mitti daal de phir subah uthakar phir dwara ghanta kude shyam ko phir mitti se bhar de koi yah nahi keh sakta ki aapne mehnat nahi kari bilkul aapne poore din mehnat kari aapne karna khuda hai aur phir shaam ko aapne usme mitti bhari hai toh jab tak hum apni mehnat ko ek sakaratmak disha me nahi banate hain hum pahunchate PT ki taraf nahi aate hain hum ek lakshya ki aur nahi badhte hain jaha par hamare dimag lagana hota hai toh agar bina kisi dimag lagaye aap mehnat karte rahenge toh usse aapko koi bhi safalta apne jeevan me prapt nahi ho payegi main subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad
आपका प्रश्न इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो बहुत अच्छा प्रश्न पूछा है आपने एक छ
...
Likes  757  Dislikes    views  7479
WhatsApp_icon
user
Play

इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से दोनों चीज चाहिए आपका दिमाग खूब चलता है लेकिन शरीर नहीं चलता तो आप उसी चौराहे पर खड़े जहां से चले थे और शरीर चलता है और दिमाग नहीं चलता टॉप घूम फिर कर फिर चौराहे पर आ गए हम दोनों बातों का एक करते हैं आदमी का शरीर यानी क्रिया से लेना चाहिए परिश्रमी होना चाहिए और मस्जिद शुक्रिया छीन लेगा यानी क्रियान्वित आएगा तो वह समस्त योजनाओं में सफल होगा क्योंकि किसी भी मस्जिद की योजना को साकार करने के लिए शारीरिक श्रम की जरूरत पड़ती है मस्जिद मानसिक श्रम करता है शरीर शारीरिक श्रम करते हैं और इन दोनों से ही इंसान के लक्ष्य की प्राप्त होती हैं
insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se dono cheez chahiye aapka dimag khoob chalta hai lekin sharir nahi chalta toh aap usi chauraahe par khade jaha se chale the aur sharir chalta hai aur dimag nahi chalta top ghum phir kar phir chauraahe par aa gaye hum dono baaton ka ek karte hain aadmi ka sharir yani kriya se lena chahiye parishrami hona chahiye aur masjid shukriya cheen lega yani kriyanwit aayega toh vaah samast yojnao me safal hoga kyonki kisi bhi masjid ki yojana ko saakar karne ke liye sharirik shram ki zarurat padti hai masjid mansik shram karta hai sharir sharirik shram karte hain aur in dono se hi insaan ke lakshya ki prapt hoti hain
इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से दोनों चीज चाहिए आपका दिमाग खूब चलता है लेकिन शरीर
...
Likes  394  Dislikes    views  4654
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:12
Play

इंसान मेहनत से आगे बताया दिमाग की मेरे हिसाब से कुछ इंसान बहुत मेहनत करते बहुत पसीना बात है लेकिन मूवीस ना आगे नहीं पढ़ पाते हैं अपनी जिंदगी में हरे क्षेत्र में और कुछ इंसान उसकी विधायक कब मिला करते हैं और फिर भी आगे बढ़ जाते हैं और लोग कहते हैं कि नसीब वाला है या ऐसे कुछ बातें की जाती लेकिन देखने वाली बात यह है कि इंसान अगर दिमाग का इस्तेमाल करते मेहनत करें तो जिंदगी में वह काफी आगे तक जा सकता है अपनी कार्यक्षमता से मालूम रहती है लेकिन उसका उपयोग नहीं करता है दिमाग की कार्य क्षमता वह अपने शरीर की दोनों का समन्वय करके अगर वह प्रयास करता है तो जब वह आगे बढ़ता है और सफल भी होता है बहुत-बहुत शुभकामना धन्यवाद
insaan mehnat se aage bataya dimag ki mere hisab se kuch insaan bahut mehnat karte bahut paseena baat hai lekin Movies na aage nahi padh paate hain apni zindagi me hare kshetra me aur kuch insaan uski vidhayak kab mila karte hain aur phir bhi aage badh jaate hain aur log kehte hain ki nasib vala hai ya aise kuch batein ki jaati lekin dekhne wali baat yah hai ki insaan agar dimag ka istemal karte mehnat kare toh zindagi me vaah kaafi aage tak ja sakta hai apni karyakshamata se maloom rehti hai lekin uska upyog nahi karta hai dimag ki karya kshamta vaah apne sharir ki dono ka samanvay karke agar vaah prayas karta hai toh jab vaah aage badhta hai aur safal bhi hota hai bahut bahut shubhkamna dhanyavad
इंसान मेहनत से आगे बताया दिमाग की मेरे हिसाब से कुछ इंसान बहुत मेहनत करते बहुत पसीना बात ह
...
Likes  254  Dislikes    views  4113
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor

0:22
Play

इंसान मेहनत में आगे बढ़ता है दिमाग होता है और दिमाग से आगे बढ़ सकती है और सही ढंग से मानसिक ताना-बाना जानते हैं इस तरह दिमाग का इस्तेमाल करके आगे
insaan mehnat me aage badhta hai dimag hota hai aur dimag se aage badh sakti hai aur sahi dhang se mansik tana bana jante hain is tarah dimag ka istemal karke aage
इंसान मेहनत में आगे बढ़ता है दिमाग होता है और दिमाग से आगे बढ़ सकती है और सही ढंग से मानसि
...
Likes  293  Dislikes    views  3838
WhatsApp_icon
play
user

RAJKUMAR

Sharp Astrology

3:44

Likes  50  Dislikes    views  835
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

0:43
Play

जी देखे बिना दिमाग लगाए तो कुछ होगा नहीं और बिना मेहनत के भी कुछ नहीं बन सकता तो भाई दोनों चीजें बहुत इंपॉर्टेंट होती है इंसान किस तरीके से सोचता है क्या देखता है क्या रास्ता प्यार करता है क्या उसने मंजिल बनाई है किस पद पर वह चलता है कितना कमिटेड होता है कितना मेहनत करता है कितना सहनशीलता को आगे बढ़ता है अगर उसे कुछ नहीं आता तो क्या करते हैं वह सीखता है या के वर्क कर देता है तो जैसे इंसान को आगे बढ़ने के लिए पूरे दिमाग की जरूरत पड़ती है साथ में बहुत सारे आदर्श स्कूल की भी जरूरत पड़ती है बिहेवियर की जरूरत पड़ती है एटीट्यूट की जरूरत पड़ती है नजरिए की जरूरत पड़ती है तब जाके इंसान कुछ हासिल कर सकता है
ji dekhe bina dimag lagaye toh kuch hoga nahi aur bina mehnat ke bhi kuch nahi ban sakta toh bhai dono cheezen bahut important hoti hai insaan kis tarike se sochta hai kya dekhta hai kya rasta pyar karta hai kya usne manjil banai hai kis pad par vaah chalta hai kitna committed hota hai kitna mehnat karta hai kitna sahansheelta ko aage badhta hai agar use kuch nahi aata toh kya karte hain vaah sikhata hai ya ke work kar deta hai toh jaise insaan ko aage badhne ke liye poore dimag ki zarurat padti hai saath me bahut saare adarsh school ki bhi zarurat padti hai behaviour ki zarurat padti hai etityut ki zarurat padti hai nazariye ki zarurat padti hai tab jake insaan kuch hasil kar sakta hai
जी देखे बिना दिमाग लगाए तो कुछ होगा नहीं और बिना मेहनत के भी कुछ नहीं बन सकता तो भाई दोनों
...
Likes  655  Dislikes    views  8338
WhatsApp_icon
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:20
Play

इंसान दिमाग से आगे बढ़ता है तो गांव में किसान लोग भी करते हैं वह पूरी जिंदगी भर खेत में किसानी करते रह जाते हैं दिमाग से काम ले तो आप किसानी भी कॉल ढंग से कर सकते हैं आप किसी भी क्षेत्र में बहुत आगे जा सकते हैं
insaan dimag se aage badhta hai toh gaon me kisan log bhi karte hain vaah puri zindagi bhar khet me kisaani karte reh jaate hain dimag se kaam le toh aap kisaani bhi call dhang se kar sakte hain aap kisi bhi kshetra me bahut aage ja sakte hain
इंसान दिमाग से आगे बढ़ता है तो गांव में किसान लोग भी करते हैं वह पूरी जिंदगी भर खेत में कि
...
Likes  190  Dislikes    views  1308
WhatsApp_icon
user

Jitendra Goswami

Meditation Expert

0:41
Play

इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो आपको बता दूं अगर आप किसी भी कार्य में कोई एक चीज लगाएंगे तो आप आगे नहीं बढ़ सकते आप जहां अपना मेहनत लगा रहे हैं वह आपको दिमाग भी लगाना जरूरी और जहां अब दिमाग लगा रहा है वहां आपको मेहनत भी लगाना जरूरी जब तक इन दोनों का कॉन्बिनेशन आप एक जगह नहीं लेकर आएंगे आप आगे नहीं बढ़ सकते यदि आप एक चीज लगाकर आगे बढ़ना चाहते हैं तो यह संभव नहीं है आपको दोनों ही चीज लगानी पड़ेगी
insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se toh aapko bata doon agar aap kisi bhi karya me koi ek cheez lagayenge toh aap aage nahi badh sakte aap jaha apna mehnat laga rahe hain vaah aapko dimag bhi lagana zaroori aur jaha ab dimag laga raha hai wahan aapko mehnat bhi lagana zaroori jab tak in dono ka kanbineshan aap ek jagah nahi lekar aayenge aap aage nahi badh sakte yadi aap ek cheez lagakar aage badhana chahte hain toh yah sambhav nahi hai aapko dono hi cheez lagani padegi
इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो आपको बता दूं अगर आप किसी भी कार्य में कोई एक ची
...
Likes  21  Dislikes    views  327
WhatsApp_icon
play
user

MANIK CHAND PATEL

Business Owner

2:30

Likes  7  Dislikes    views  146
WhatsApp_icon
user

Uma Dubey

Astrologer

0:40
Play

नमस्कार आपका सवाल है कि इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो देखिए दोनों का ही बहुत अहम रोल है दोनों का संतुलन चाहिए मेहनत भी चाहिए और दिमाग भी चाहिए दोनों के संतुलन से ही इंसान आगे बढ़ता है किसी एक पीस से नहीं बढ़ता है अगर आप मेहनत ही कर रहे हैं लेकिन वहां पर दिमाग के सहारे नहीं कर रहे हैं तो उस मेहनत तो कोई रिजल्ट नहीं आएगा तो वह बेकार हो जाएगा और अगर आप दिमाग ही लगा रहे हैं और मेहनत नहीं कर रहे हैं तो उसका भी कोई रिजल्ट नहीं आएगा वह भी बेकार हो जाएगा इसलिए दोनों का संतुलन ही इंसान को आगे बढ़ाता है और कामयाब बनाता है धन्यवाद
namaskar aapka sawaal hai ki insaan mehnat se aage badhta hai ya dimag se toh dekhiye dono ka hi bahut aham roll hai dono ka santulan chahiye mehnat bhi chahiye aur dimag bhi chahiye dono ke santulan se hi insaan aage badhta hai kisi ek peace se nahi badhta hai agar aap mehnat hi kar rahe hain lekin wahan par dimag ke sahare nahi kar rahe hain toh us mehnat toh koi result nahi aayega toh vaah bekar ho jaega aur agar aap dimag hi laga rahe hain aur mehnat nahi kar rahe hain toh uska bhi koi result nahi aayega vaah bhi bekar ho jaega isliye dono ka santulan hi insaan ko aage badhata hai aur kamyab banata hai dhanyavad
नमस्कार आपका सवाल है कि इंसान मेहनत से आगे बढ़ता है या दिमाग से तो देखिए दोनों का ही बहुत
...
Likes  24  Dislikes    views  281
WhatsApp_icon
user

Alfaiz

Assistant Director In Bollywood | Motivational Speaker | Philosopher

1:53
Play

शांताबाई सब्जी से आगे बढ़ सकता है मेहनत से आगे बढ़ सकता है दिमाग से आगे बढ़ सकता है पैसे से आगे बढ़ सकता है किसी के आगे बढ़ सकता है तो भेज दी कली तो अपने देखने जाएंगे तो दिमाग की चाहिए मेहनत भी चाहिए पैसा भी चाहिए यह दो चीज नहीं चाहिए कभी-कभी लोगों के पास दिमाग होता है तो वेस्टमेंट नहीं है जैसे कि आज मैं हूं तो मेरे पास बहुत सारे बिजनेस आइडिया से बहुत सारे लिमिटेड है और जो मुझे इन्वेस्टमेंट चाहिए इतना नहीं है मेरे को कोई ऐसा है कि उसके पास पैसा बहुत सारे दिमाग नहीं होगा यह पैसे को आज जहां लगाएंगे तो वह पैसा आएगा तो मुझे बिजनेस में प्रॉफिट है इतना इतना पैसा मेरे पास होता जो फालतू में बिगड़ रहा है तो कितना पैसा मेरे पास होता तो मैं यह कर लेता मैं खुद के बिजनेस में बढ़ाता में 45 लाख और बना लेता तो मेहनत से भी आगे बढ़ा जा सकता है ऐसा नहीं होता होता जो लेबर है जो काम कर रखो उनके पास कोई भी होती है मर्सिडीज भी होती कि वह सिर्फ मेहनत कर रहा है वह मेहनत नहीं है पर दिमाग दिमाग से भी कुछ नहीं होता क्योंकि लोगों के पास दिमाग आज सबके पास है छोटे बच्चे के पास भी दिमाग है और उसको कहां यूज करना कैसे स्ट्रैटेजी यूज करने कैसे बिजनेस करना तो यह सब चीजें के दिमाग चाहिए मेहनत चाहिए सब चीज चाहिए हमको पैसा भी चाहिए तभी हम लोग कुछ आगे बढ़ सकते हैं
shantabai sabzi se aage badh sakta hai mehnat se aage badh sakta hai dimag se aage badh sakta hai paise se aage badh sakta hai kisi ke aage badh sakta hai toh bhej di kalee toh apne dekhne jaenge toh dimag ki chahiye mehnat bhi chahiye paisa bhi chahiye yah do cheez nahi chahiye kabhi kabhi logo ke paas dimag hota hai toh vestament nahi hai jaise ki aaj main hoon toh mere paas bahut saare business idea se bahut saare limited hai aur jo mujhe investment chahiye itna nahi hai mere ko koi aisa hai ki uske paas paisa bahut saare dimag nahi hoga yah paise ko aaj jaha lagayenge toh vaah paisa aayega toh mujhe business me profit hai itna itna paisa mere paas hota jo faltu me bigad raha hai toh kitna paisa mere paas hota toh main yah kar leta main khud ke business me badhata me 45 lakh aur bana leta toh mehnat se bhi aage badha ja sakta hai aisa nahi hota hota jo labour hai jo kaam kar rakho unke paas koi bhi hoti hai mercedes bhi hoti ki vaah sirf mehnat kar raha hai vaah mehnat nahi hai par dimag dimag se bhi kuch nahi hota kyonki logo ke paas dimag aaj sabke paas hai chote bacche ke paas bhi dimag hai aur usko kaha use karna kaise straiteji use karne kaise business karna toh yah sab cheezen ke dimag chahiye mehnat chahiye sab cheez chahiye hamko paisa bhi chahiye tabhi hum log kuch aage badh sakte hain
शांताबाई सब्जी से आगे बढ़ सकता है मेहनत से आगे बढ़ सकता है दिमाग से आगे बढ़ सकता है पैसे स
...
Likes  4  Dislikes    views  57
WhatsApp_icon
अपने सवाल पूछें और एक्स्पर्ट्स के जवाब सुने
qIconask

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!