corona info
qna

बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए?...


23 जवाब
user
Play

बच्चे अपने बच्चों की बात कर रहे हो उनकी जो व्यवहार करना सीखेंगे भी ऐसी चुके हैं अर्थात समझदार बन चुके हैं बड़े हो चुके हैं किशोरावस्था की लाली अब पंचमणि 10 बरसानी तारीख तक उनका लालन पालन करना चाहिए उनकी हो सके तो हर इच्छा पूरी करनी चाहिए 5 बरस का जब तक हो 5 से उसे सीख देनी चाहिए यदि वह सिर पर गया तो 5:00 बज के बाद उसे उतार आना चाहिए उसे धीरे धीरे धीरे धीरे कांटो पर चलाना सीखना चाहिए या उसे हर प्रकार की परिस्थिति में आ तो गुजर आना चाहिए एकदम सामने तरीके से परिस्थिति में ना लाइव से ताकि वह क्रोध हो सके अमरोहा बच्चों को क्या करना है मैं आपको बताना चाहूंगा कि बच्चों को माता-पिता छत्तीसगढ़ के बच्चे भी बच्चे होते हैं बच्चे के पास अभी व्यवहार का है बड़े हो जाएंगे तो बताना चाहूंगा मित्रों की जब 10 वर्ष है तब तक उसे एक शानदार चीज बतानी चाहिए उसे शानदार 16 चीजे बतानी चाहिए 5 से 10 बरस के पीरियड में दिखानी चाहिए के बच्चे बच्चों को उपदेश देते ना पांच मिनट के बाद उसे फॉलो नहीं करते हैं वह क्या देखते हैं क्या बुक कर देखते हैं उसे फॉलो करते हैं वह तो हमें हमारे माता-पिता का देखिए माता-पिता क्या खत्म है पहले माता-पिता को इस प्रकार से रहना होगा कि बच्चा देखकर बड़ा आश्चर्य चकित हो और थोड़ा कम हीरो ट्रांसपोर्टर विचार करें और लाइन तो लगे आपको सुंदर सुंदर जी देखनी है दिव्य दुबे की देखनी है उसी प्रकार आपका बच्चा हुआ यदि वह देखेगा तुम सबको दिया पैसा ही हो वह बच्चा दिया पैसा दे रहा है लेकिन आप प्रवचन मुझे देर हो तो कोई प्रभाव पड़ने वाला नहीं है ठीक है तो अब मैं बताता हूं आपको कि माता शास्त्रों में माता का आज का पद कहां है मैं बताऊंगा आपको माता का पद का होता शास्त्रों में बताया गया है कि सबसे बड़ा गुरु होता है हमेशा ईश्वर से बड़ा गुरु होता है गुरु को गुरु के समान पिता होता है कौन सा 100 गुरुओं के समान पिता होता है और 10 पदों के समान माता होती है यानी कि हाई लेवल है वह माता का होता है मनुष्य को चाहिए कि यह जरूरी है यह जरूरी है कि वृद्धावस्था जय माता पिता की उनकी सेवा जरूर करनी चाहिए उनकी सेवा जरूर करनी चाहिए लेकिन किस प्रकार का आदेश दे रहे आपको वह आदेश के प्रकृति के अनुकूल हैं या प्रतिकूल है या को देखना होगा लेकिन जो माता पिता का भक्त है परम भक्त वह कुछ नहीं देखता है वह पिता की आज्ञा हो गई दोस्त उसी काम करता है मुझे कुछ भी हो लेकिन रो पड़ी है उसके लिए आज क्या यह भक्ति हो गई भक्ति की बात अलग है भक्ति के लिए आपको पहले पूछना होगा ठीक है तू 10 बरस तक उसको इस प्रकार रखना चाहिए 10 बरस के बाद 16 बरस तक जब तू 16 बरस का हो जाए 15 बरस 16 बरस का हो जाए अब तक उसे नई नई चीजे बतानी चाहिए हाई लेवल तक पहुंचाना होगा उसके लिए माता-पिता भी हाई लेवल होनी चाहिए उसे बताना होगा उसे दिखाना होगा कि माता-पिता या लेवल की नहीं है तो बच्चा कैसे हो पाएगा क्या दिखाओगे आप उसे पहले माता-पिता को गृहस्थ आश्रम जाने से पहले यह सब चीजें करनी होती उसे घर आने से पहले अपने 16 साल के बाद बच्चे के साथ 1 इक्वल मित्र जैसा व्यवहार कर लेना चाहिए माता-पिता को बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए यदि प्रेम करना चाहिए कि माता-पिता ही ऐसे होते हैं जो अपने पुत्र के आतंकवादी क्यों न हो लेकिन उसका भला ही चाहेंगे बुरा नहीं चाहेंगे माता पिता ऐसे होते हैं प्रकृति का चार लाख बुरा हो जाए दुनिया का पहला बुरा हो जाए लेकिन अपने पुत्र का बुरा नहीं चाहेंगे तो माता-पिता ऐसे होते हैं किसी भी पुत्र का बुरा नहीं चाहते हैं कुपुत्रो जायते को सिद्ध पीठ कुमाता न भवति तो मेरे मित्रों बाप को मत तो होते हैं वह अब सिर्फ अपनी भलाई जाएंगे ठीक है तो आपको क्यों रखना चाहिए अपने माता-पिता के साथ प्रेम पूर्वक रहना चाहिए
bacche apne baccho ki baat kar rahe ho unki jo vyavhar karna sikhenge bhi aisi chuke hain arthat samajhdar ban chuke hain bade ho chuke hain kishoraavastha ki laali ab panchamani 10 barsani tarikh tak unka lalan palan karna chahiye unki ho sake toh har iccha puri karni chahiye 5 baras ka jab tak ho 5 se use seekh deni chahiye yadi vaah sir par gaya toh 5 00 baj ke baad use utar aana chahiye use dhire dhire dhire dhire kanton par chalana sikhna chahiye ya use har prakar ki paristhiti me aa toh gujar aana chahiye ekdam saamne tarike se paristhiti me na live se taki vaah krodh ho sake Amroha baccho ko kya karna hai main aapko batana chahunga ki baccho ko mata pita chattisgarh ke bacche bhi bacche hote hain bacche ke paas abhi vyavhar ka hai bade ho jaenge toh batana chahunga mitron ki jab 10 varsh hai tab tak use ek shandar cheez batani chahiye use shandar 16 chije batani chahiye 5 se 10 baras ke period me dikhaani chahiye ke bacche baccho ko updesh dete na paanch minute ke baad use follow nahi karte hain vaah kya dekhte hain kya book kar dekhte hain use follow karte hain vaah toh hamein hamare mata pita ka dekhiye mata pita kya khatam hai pehle mata pita ko is prakar se rehna hoga ki baccha dekhkar bada aashcharya chakit ho aur thoda kam hero transporter vichar kare aur line toh lage aapko sundar sundar ji dekhni hai divya dubey ki dekhni hai usi prakar aapka baccha hua yadi vaah dekhega tum sabko diya paisa hi ho vaah baccha diya paisa de raha hai lekin aap pravachan mujhe der ho toh koi prabhav padane vala nahi hai theek hai toh ab main batata hoon aapko ki mata shastron me mata ka aaj ka pad kaha hai main bataunga aapko mata ka pad ka hota shastron me bataya gaya hai ki sabse bada guru hota hai hamesha ishwar se bada guru hota hai guru ko guru ke saman pita hota hai kaun sa 100 guruon ke saman pita hota hai aur 10 padon ke saman mata hoti hai yani ki high level hai vaah mata ka hota hai manushya ko chahiye ki yah zaroori hai yah zaroori hai ki vriddhavastha jai mata pita ki unki seva zaroor karni chahiye unki seva zaroor karni chahiye lekin kis prakar ka aadesh de rahe aapko vaah aadesh ke prakriti ke anukul hain ya pratikul hai ya ko dekhna hoga lekin jo mata pita ka bhakt hai param bhakt vaah kuch nahi dekhta hai vaah pita ki aagya ho gayi dost usi kaam karta hai mujhe kuch bhi ho lekin ro padi hai uske liye aaj kya yah bhakti ho gayi bhakti ki baat alag hai bhakti ke liye aapko pehle poochna hoga theek hai tu 10 baras tak usko is prakar rakhna chahiye 10 baras ke baad 16 baras tak jab tu 16 baras ka ho jaaye 15 baras 16 baras ka ho jaaye ab tak use nayi nayi chije batani chahiye high level tak pahunchana hoga uske liye mata pita bhi high level honi chahiye use batana hoga use dikhana hoga ki mata pita ya level ki nahi hai toh baccha kaise ho payega kya dikhaoge aap use pehle mata pita ko grihasth ashram jaane se pehle yah sab cheezen karni hoti use ghar aane se pehle apne 16 saal ke baad bacche ke saath 1 equal mitra jaisa vyavhar kar lena chahiye mata pita ko baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye yadi prem karna chahiye ki mata pita hi aise hote hain jo apne putra ke aatankwadi kyon na ho lekin uska bhala hi chahenge bura nahi chahenge mata pita aise hote hain prakriti ka char lakh bura ho jaaye duniya ka pehla bura ho jaaye lekin apne putra ka bura nahi chahenge toh mata pita aise hote hain kisi bhi putra ka bura nahi chahte hain kuputro jayte ko siddh peeth Kumata na bhavati toh mere mitron baap ko mat toh hote hain vaah ab sirf apni bhalai jaenge theek hai toh aapko kyon rakhna chahiye apne mata pita ke saath prem purvak rehna chahiye
बच्चे अपने बच्चों की बात कर रहे हो उनकी जो व्यवहार करना सीखेंगे भी ऐसी चुके हैं अर्थात समझ
...
Likes  51  Dislikes    views  707
WhatsApp_icon
अपने सवाल पूछें और एक्स्पर्ट्स के जवाब सुने
qIconask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

नमस्कार आपका प्रश्न है बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए तो बच्चों को अपने माता-पिता के साथ हमेशा अच्छा प्रेम और स्नेह पूर्वक व्यवहार करना चाहिए माता-पिता अपने बच्चों से कुछ भी नहीं चाहते सिर्फ प्रेम और स्नेह ही चाहते हैं उसके बदले वह अपने बच्चों की हर इच्छाएं हर खुशियों का ध्यान रखते हैं तो हमें हमेशा अपने माता-पिता का ध्यान रखना चाहिए उनकी खुशियों का नाटक छोटी जरूरतों को हमेशा पूरा करना चाहिए धन्यवाद आपका दिन शुभ हो
namaskar aapka prashna hai baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye toh baccho ko apne mata pita ke saath hamesha accha prem aur sneh purvak vyavhar karna chahiye mata pita apne baccho se kuch bhi nahi chahte sirf prem aur sneh hi chahte hain uske badle vaah apne baccho ki har ichhaen har khushiyon ka dhyan rakhte hain toh hamein hamesha apne mata pita ka dhyan rakhna chahiye unki khushiyon ka natak choti jaruraton ko hamesha pura karna chahiye dhanyavad aapka din shubha ho
नमस्कार आपका प्रश्न है बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए तो बच्चों को अपन
...
Likes  192  Dislikes    views  3315
WhatsApp_icon
user

सियाराम दुबे

Tech YouTuber & Spiritual Person

1:48
Play

जय श्रीमन्नारायण आप ने प्रश्न किया कि बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए देखिए बच्चों को माता-पिता के साथ आदर पूर्वक व्यवहार करना चाहिए जिससे बच्चे अपने माता-पिता को हमेशा खुश रख सके खुश रखने का प्रयास कर सके और माता-पिता को भी अपने बच्चों को छोटे-छोटे गलतियों पर गाइड करना चाहिए और उन्हें सिखाना चाहिए कि देखो यह गलत आपकी हो यह सही किए हो अगर सही कर किए हैं तो उन्हें प्रोत्साहित भी करना चाहिए और गलत किए हैं तो वहां पर उन्हें रास्ते को बताना चाहिए कि बेटा देखो यह गलत है यह सही है और बच्चों को उसका फॉलो भी करना चाहिए और बच्चे चाहे कितना भी बड़े हो जाएं अपने मां बाप के सामने बच्चे बच्चे ही होते हैं और हमेशा अपने माता-पिता को आधार से जब भी अगर आप व्यस्त रहते हैं काम में भी तो आपको जब भी समय लगता है अपने माता-पिता को जरूर एक बार याद करना चाहिए अगर दूर भी है तो पास में है तो उनकी सेवा करते रहना चाहिए उनकी कमी को दूर करना चाहिए जो भी उनकी आवश्यकता है उनको पूरी करनी चाहिए
jai shrimannarayan aap ne prashna kiya ki baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye dekhiye baccho ko mata pita ke saath aadar purvak vyavhar karna chahiye jisse bacche apne mata pita ko hamesha khush rakh sake khush rakhne ka prayas kar sake aur mata pita ko bhi apne baccho ko chote chote galatiyon par guide karna chahiye aur unhe sikhaana chahiye ki dekho yah galat aapki ho yah sahi kiye ho agar sahi kar kiye hain toh unhe protsahit bhi karna chahiye aur galat kiye hain toh wahan par unhe raste ko batana chahiye ki beta dekho yah galat hai yah sahi hai aur baccho ko uska follow bhi karna chahiye aur bacche chahen kitna bhi bade ho jayen apne maa baap ke saamne bacche bacche hi hote hain aur hamesha apne mata pita ko aadhar se jab bhi agar aap vyast rehte hain kaam me bhi toh aapko jab bhi samay lagta hai apne mata pita ko zaroor ek baar yaad karna chahiye agar dur bhi hai toh paas me hai toh unki seva karte rehna chahiye unki kami ko dur karna chahiye jo bhi unki avashyakta hai unko puri karni chahiye
जय श्रीमन्नारायण आप ने प्रश्न किया कि बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए
...
Likes  185  Dislikes    views  1346
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:23
Play

आपका प्रश्न है बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए बच्चों को माता-पिता के साथ प्रवर्तन मात्र और मित्रवत व्यवहार रखना चाहिए इन तीनों चीजों का मिश्रण है वह आपके आचरण व्यवहार में रहना चाहिए आपको हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए कि माता और पिता का स्थान इस संसार में ईश्वर के बाद सबसे ऊंचा है क्योंकि उनके कारण ही आप इस संसार में और अस्तित्व में आए हैं तो कभी भी वाणी में मर्यादा आश्रम में अभद्रता व संयम यह कभी नहीं होना चाहिए वाणी से आपको कभी नरेंद्र नहीं अमीर रहना चाहिए यह सुनिश्चित करना चाहिए कैसे होते हैं निर्णय नहीं होने देना चाहिए हर रिश्ते की एक मर्यादा मर्यादा को ध्यान रखते हुए अपने माता-पिता का सम्मान करना
aapka prashna hai baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye baccho ko mata pita ke saath pravartan matra aur mitravat vyavhar rakhna chahiye in tatvo chijon ka mishran hai vaah aapke aacharan vyavhar me rehna chahiye aapko hamesha yah dhyan rakhna chahiye ki mata aur pita ka sthan is sansar me ishwar ke baad sabse uncha hai kyonki unke karan hi aap is sansar me aur astitva me aaye hain toh kabhi bhi vani me maryada ashram me abhadtrata va sanyam yah kabhi nahi hona chahiye vani se aapko kabhi narendra nahi amir rehna chahiye yah sunishchit karna chahiye kaise hote hain nirnay nahi hone dena chahiye har rishte ki ek maryada maryada ko dhyan rakhte hue apne mata pita ka sammaan karna
आपका प्रश्न है बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए बच्चों को माता-पिता के स
...
Likes  264  Dislikes    views  3050
WhatsApp_icon
user

Sachidanand Joshi

Naturopath Yoga Trainer

0:36
Play

बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए ठीक है बच्चों के माता-पिता के माता-पिता सबके की जाति होते हैं तो माता पिता की सेवा करनी चाहिए दूसरी बार बच्चों को जैसा व्यवहार अपने बच्चों से चाहिए वैसा ही उनको अपने मां-बाप से करना चाहिए क्योंकि आगे जाकर उनको भी मां बाप बनना है तो वैसा व्यवहार कीजिए अपने माता-पिता से जैसा कि हम खुद अपने लिए चाहते हैं नमस्कार धन्यवाद मैं सच्चिदानंद जोशी योगाचार्य अरुणाचल पर
baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye theek hai baccho ke mata pita ke mata pita sabke ki jati hote hain toh mata pita ki seva karni chahiye dusri baar baccho ko jaisa vyavhar apne baccho se chahiye waisa hi unko apne maa baap se karna chahiye kyonki aage jaakar unko bhi maa baap banna hai toh waisa vyavhar kijiye apne mata pita se jaisa ki hum khud apne liye chahte hain namaskar dhanyavad main sacchidanand joshi yogacharya arunachal par
बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए ठीक है बच्चों के माता-पिता के माता-पिता
...
Likes  52  Dislikes    views  1038
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

1:12
Play

बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए एक यह बच्चे हैं वह माता-पिता को नेपाल पोस्ट करके बड़ा किया करते हैं उनकी सारी आवश्यकताओं की पूर्ति भी किया करते हैं और उन्हें किसी प्रकार की तकलीफ परेशानी आदि नहीं होने देते हैं और उनकी पूरी सुरक्षा भी किया करते हैं अतः बच्चों का यह दायित्व है कि वह अपने माता-पिता से सुंदर और अच्छा व्यवहार करें और अपने माता-पिता का पूरा सहयोग प्रदान करें धन्यवाद
baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye ek yah bacche hain vaah mata pita ko nepal post karke bada kiya karte hain unki saari avashayaktaon ki purti bhi kiya karte hain aur unhe kisi prakar ki takleef pareshani aadi nahi hone dete hain aur unki puri suraksha bhi kiya karte hain atah baccho ka yah dayitva hai ki vaah apne mata pita se sundar aur accha vyavhar kare aur apne mata pita ka pura sahyog pradan kare dhanyavad
बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए एक यह बच्चे हैं वह माता-पिता को नेपाल प
...
Likes  206  Dislikes    views  1368
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kumar (MATHS GURU)

Motivational Speaker | High Sch.Teacher

0:31
Play

बच्चों को माता-पिता के साथ सनी से रहना चाहिए बच्चों को माता-पिता का सम्मान करना चाहिए झटका नाच अपने से बड़ों का ट्रैक्टर बच्चों को अधिक से अधिक अपने पढ़ाई में ध्यान एनएस 150 उसके अच्छे एजुकेशन से बढ़कर कोई बड़ा ऑफिसर डॉक्टर इंजीनियर प्रोफेसर एसएस बन सके या सैनिक बन सके या बहुत बड़ा राजनीतिक हो सके इसके लिए अच्छे किस्म की जरूरत है अच्छे संस्कार किया था
baccho ko mata pita ke saath sunny se rehna chahiye baccho ko mata pita ka sammaan karna chahiye jhatka nach apne se badon ka tractor baccho ko adhik se adhik apne padhai me dhyan NS 150 uske acche education se badhkar koi bada officer doctor engineer professor SS ban sake ya sainik ban sake ya bahut bada raajnitik ho sake iske liye acche kism ki zarurat hai acche sanskar kiya tha
बच्चों को माता-पिता के साथ सनी से रहना चाहिए बच्चों को माता-पिता का सम्मान करना चाहिए झटका
...
Likes  315  Dislikes    views  3511
WhatsApp_icon
user

Deepaben R.Shimpi

Mind Trainer | Trainer Motivational | Trainer Textbook Writer don't Copy My Answer

0:21
Play

आपका प्रश्न आया है कि बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए बच्चों को माता-पिता के साथ प्यार भरा रिश्ता पूर्वक विनम्रता से व्यवहार करना चाहिए बोलने में भी संयम बरतना चाहिए
aapka prashna aaya hai ki baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye baccho ko mata pita ke saath pyar bhara rishta purvak vinamrata se vyavhar karna chahiye bolne me bhi sanyam bartana chahiye
आपका प्रश्न आया है कि बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए बच्चों को माता-पि
...
Likes  103  Dislikes    views  1384
WhatsApp_icon
user
Play

बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए माता-पिता ने बच्चों के साथ जो प्यार भरा सम्मान भरा अपना क्या है और उनको लाड प्यार जैसा भी उनको आचरण की है हर मां बाप अपने बच्चों से प्यार करते हैं बच्चों को जो जीते हैं गलतियों पर डांटते हैं और उनके लिए चिंता भी करते हैं और मां-बाप अपने बच्चों में अपनी शक्ल देखें अपना भविष्य देखते हैं इसलिए बच्चों पर वह कुछ भी लगाते हैं तो बच्चों को भी मां-बाप के प्रति सम्मानजनक व्यवहार करना चाहिए उनका आदर करना चाहिए उनकी आज्ञा माननी चाहिए उनके दिए हुए निर्देशों का पालन करना चाहिए अगर कभी ऐसी बात लगे कि आपको उनकी बात सही नहीं है तो उसके कान जानी चाहिए कारणों को समझना चाहिए कि नहीं आना चाहिए क्योंकि सबके लिए परिस्थितियां समान नहीं होती हैं और उनको हमेशा आदर और सम्मान काजल करना चाहिए
baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye mata pita ne baccho ke saath jo pyar bhara sammaan bhara apna kya hai aur unko lada pyar jaisa bhi unko aacharan ki hai har maa baap apne baccho se pyar karte hain baccho ko jo jeete hain galatiyon par dantate hain aur unke liye chinta bhi karte hain aur maa baap apne baccho me apni shakl dekhen apna bhavishya dekhte hain isliye baccho par vaah kuch bhi lagate hain toh baccho ko bhi maa baap ke prati sammanjanak vyavhar karna chahiye unka aadar karna chahiye unki aagya maanani chahiye unke diye hue nirdeshon ka palan karna chahiye agar kabhi aisi baat lage ki aapko unki baat sahi nahi hai toh uske kaan jani chahiye karanon ko samajhna chahiye ki nahi aana chahiye kyonki sabke liye paristhiyaann saman nahi hoti hain aur unko hamesha aadar aur sammaan kajal karna chahiye
बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए माता-पिता ने बच्चों के साथ जो प्यार भरा
...
Likes  357  Dislikes    views  4729
WhatsApp_icon
user

Vikas Goswami

Private Tutor

0:41
Play

आप अपने
aap apne
आप अपने
...
Likes  161  Dislikes    views  1632
WhatsApp_icon
play
user

RAJKUMAR

Sharp Astrology

3:03

Likes  48  Dislikes    views  1079
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupucture Therapist

0:32
Play

Likes  99  Dislikes    views  2566
WhatsApp_icon
user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:53
Play

Likes  193  Dislikes    views  1400
WhatsApp_icon
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:17
Play

बच्चों को अपने पैरंट्स के साथ में कैसा व्यवहार करना चाहिए बच्चों को अपने पैरंट्स से हमेशा रिस्पेक्टफुली और उनका आदर सम्मान करते हुए उनसे उनका व्यवहार करना चाहिए जिससे हमारे चरित्र का पहचान होती है
baccho ko apne Parents ke saath me kaisa vyavhar karna chahiye baccho ko apne Parents se hamesha rispektafuli aur unka aadar sammaan karte hue unse unka vyavhar karna chahiye jisse hamare charitra ka pehchaan hoti hai
बच्चों को अपने पैरंट्स के साथ में कैसा व्यवहार करना चाहिए बच्चों को अपने पैरंट्स से हमेशा
...
Likes  221  Dislikes    views  2559
WhatsApp_icon
user

Shwetima Sahay

Social Worker

3:51
Play

नशे में बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए सबसे पहले तो आपको अपने माता-पिता का आदर करना चाहिए उनका सम्मान करें उनका आदर करें और आदर और सम्मान के साथ उनको बहुत सारा प्यार करें क्योंकि आपके माता-पिता ही हैं जो आपको इस धरती पर लेकर आए आपकी मां है जो आपको 9 महीने अपनी कोख में रखती है अभी आप को जन्म देने में वह एक नया जन्म लेती है वह बहुत कष्ट से आपको जन्म देती है एक पिता जो है वह अपनी खुशी ना देकर अपने परिवार की अपने बच्चों की खुशी देखता है जो कमाता है वह अपने परिवार के लिए कमाता है अपने बच्चों के लिए कमाता है अपने बच्चों के एजुकेशन के लिए उनके कपड़े उनकी जो फरमाइशी होती है उनको पूरा करता है तो इसलिए मां-बाप के प्रति हमेशा सम्मान रखिए हमेशा एहसानमंद रहे कि वह आपको इस दुनिया में लेके आए आपको अपना हर कुछ देकर अपना समय अपना पैसा देकर अपनी खुशी देकर भी आप को बड़ा कर रहे हैं दूसरी बात है कि बच्चों को मां पापा दोनों को साथ फ्रेंडली व्यवहार करना चाहिए जब बच्चे बड़े हो जाए ना जब आप किशोरावस्था में पहुंचे तो अपनी जितनी तकलीफ है या जो भी आपके मन में बात चल रही है जो भी अंदर से आनी जब बाहर कॉल जब बड़ा हो जाता है ना तो बहुत सारी बातें मन में आती हैं कभी-कभी स्कूल में या कॉलेज में आप होते हैं तो किसी से लड़ाई झगड़ा हो जाता है तो आपको बहुत अंदर से कभी कभी किसी बात की तकलीफ हो जाती तो सारी बातें अपनी मां से या अपने पापा से जिसे भी ज्यादा क्लोज हो उसे जरूर शेयर करें आपको हमेशा मां-बाप सही राह दिखाएंगे सही एडवाइज देंगे कि आपको क्या करना चाहिए इससे आपके अंदर में जो बेचैनी है ना वह खत्म हो जाती है अगर आप को किसी तरह की मानसिक परेशानी है या पढ़ने में मन नहीं लग रहा है मैं पढ़ नहीं पा रहे हैं कि किसी सब्जेक्ट में प्रॉब्लम है या स्कूल में टीचर से प्रॉब्लम है या फ्रेंड से किसी तरह की प्रॉब्लम है खासकर लड़कों और लड़कियों दोनों के लिए लड़कियों को भी बाहर में जो आपके साथ कुछ गलत अगर किसी ने किया तो अभी से का क्या अपनी मां को बताएं और लड़कियों को भी आजकल लड़के भी सेफ नहीं है तो एक दोस्ती के सभी बिहेवियर अखियां अपने मां-बाप के साथ और मामा पापा को भी चाहिए कि वह अपने बच्चों के साथ बहुत सख्ती के साथ ही पेश आएं उन्हें अपना दोस्त बनाए तभी आपने और माता-पिता में एक बहुत ही अच्छा संबंध होगा जिसे कि आप बहुत बच्चों का ग्रोथ भी काफी अच्छा होता है उसे मैं वैसे भी वह घर परिवार में रहना ज्यादा पसंद करते हैं घर परिवार के लोगों से ज्यादा इंटरेस्ट करते नहीं तो आजकल के बच्चे क्या होते हैं कि मां-बाप से कम बातें करते हैं फोन में ज्यादा लगे रहते हैं तो पूरी तरह से मानसिक रूप से परेशान रहते हैं जब आप अपनी परेशानी मां-बाप को शेयर कर देते हैं ना तो आप देखिए आप कितना लगता है कि आप बहुत लीलीफील्ड कर रहे हैं तो मां बाप से आदर इज्जत के साथ रहिए साथ में उनके साथ बहुत फ्रेंडली भी रही है
nashe me baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye sabse pehle toh aapko apne mata pita ka aadar karna chahiye unka sammaan kare unka aadar kare aur aadar aur sammaan ke saath unko bahut saara pyar kare kyonki aapke mata pita hi hain jo aapko is dharti par lekar aaye aapki maa hai jo aapko 9 mahine apni kokh me rakhti hai abhi aap ko janam dene me vaah ek naya janam leti hai vaah bahut kasht se aapko janam deti hai ek pita jo hai vaah apni khushi na dekar apne parivar ki apne baccho ki khushi dekhta hai jo kamata hai vaah apne parivar ke liye kamata hai apne baccho ke liye kamata hai apne baccho ke education ke liye unke kapde unki jo faramaishi hoti hai unko pura karta hai toh isliye maa baap ke prati hamesha sammaan rakhiye hamesha ehasanamand rahe ki vaah aapko is duniya me leke aaye aapko apna har kuch dekar apna samay apna paisa dekar apni khushi dekar bhi aap ko bada kar rahe hain dusri baat hai ki baccho ko maa papa dono ko saath friendly vyavhar karna chahiye jab bacche bade ho jaaye na jab aap kishoraavastha me pahuche toh apni jitni takleef hai ya jo bhi aapke man me baat chal rahi hai jo bhi andar se aani jab bahar call jab bada ho jata hai na toh bahut saari batein man me aati hain kabhi kabhi school me ya college me aap hote hain toh kisi se ladai jhagda ho jata hai toh aapko bahut andar se kabhi kabhi kisi baat ki takleef ho jaati toh saari batein apni maa se ya apne papa se jise bhi zyada close ho use zaroor share kare aapko hamesha maa baap sahi raah dikhayenge sahi edavaij denge ki aapko kya karna chahiye isse aapke andar me jo bechaini hai na vaah khatam ho jaati hai agar aap ko kisi tarah ki mansik pareshani hai ya padhne me man nahi lag raha hai main padh nahi paa rahe hain ki kisi subject me problem hai ya school me teacher se problem hai ya friend se kisi tarah ki problem hai khaskar ladko aur ladkiyon dono ke liye ladkiyon ko bhi bahar me jo aapke saath kuch galat agar kisi ne kiya toh abhi se ka kya apni maa ko bataye aur ladkiyon ko bhi aajkal ladke bhi safe nahi hai toh ek dosti ke sabhi behaviour akhiyan apne maa baap ke saath aur mama papa ko bhi chahiye ki vaah apne baccho ke saath bahut sakhti ke saath hi pesh aaen unhe apna dost banaye tabhi aapne aur mata pita me ek bahut hi accha sambandh hoga jise ki aap bahut baccho ka growth bhi kaafi accha hota hai use main waise bhi vaah ghar parivar me rehna zyada pasand karte hain ghar parivar ke logo se zyada interest karte nahi toh aajkal ke bacche kya hote hain ki maa baap se kam batein karte hain phone me zyada lage rehte hain toh puri tarah se mansik roop se pareshan rehte hain jab aap apni pareshani maa baap ko share kar dete hain na toh aap dekhiye aap kitna lagta hai ki aap bahut lilifild kar rahe hain toh maa baap se aadar izzat ke saath rahiye saath me unke saath bahut friendly bhi rahi hai
नशे में बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए सबसे पहले तो आपको अपने माता-पित
...
Likes  5  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Birjanand Sen

Sales trainer|Life Coach|Certified Nutrionist

4:24
Play

देखी बच्चों को माता-पिता के के साथ कैसे प्यार करना चाहिए ऐसा ही घर करना चाहिए कि एक या परमात्मा के साथ करते हैं कि भगवान के साथ करते हैं यह हमारे परमात्मा है क्योंकि यह असली चेक जो है जो जन्नत है माता पिता के चरणों में लेकिन काफी बार मैं आपको एक चीज बता देता हूं कि मुझे आपके माता-पिता बहुत अच्छे और हमें अच्छे से उनको देखभाल भी करनी होती तो छुट्टी कम हमको खुशी रखना होता है क्योंकि आपके जो पिता होते हैं वह आपको वह सारी प्रॉब्लम होती है उनको वह आपको घर में आकर नहीं बताते हैं इसलिए नहीं बताते हैं कि अगर मैं घर पर बताऊंगा तो बच्चे बच्चे छोटे बच्चे से टेंशन में रहेंगे तो पिक नहीं देना चाहते तू अब जो पापा आते हैं तो उनको थोड़ा खुश रखने की कोशिश करें उनके पापा को बोलो कि भी आप थोड़ी बातें शेयर करो शेयर करें और हम पापा से उनको उस रजनी तो उनसे बात पापा से बात शेयर करो और वहां पर आपकी माताजी है तो घर पर वर्क करते हैं कि मुझे पता है घर पर और हमको परेशान कर रहे होते तो परेशान करे तभी उनको तकनीकी व थकावट है उनको प्रॉब्लम है और बेहतर ना तू अभी हाल करें हम आप जैसे ज्ञाता आपके साथ नाहटा लगा लिया हमने प्यार करती हूं आप यह करना उस माहौल में शायद वह काम तो सारा क्या ले लेकिन आप उनको ऐसा बोलोगे आप उनके प्यार से बर्ताव करोगे शायद वह अब से और लाइक करें और एक ऐसा आप एक मिसाल बन सकती हो पड़ोस में भी अब तुम मैं अपनी जिंदगी की स्टोरी बताता हूं मैं जाना 4 साल का था तो मेरी मम्मी की डेथ हो गई थी उसके बाद दिए पापा तो खोज में थे तो रिटायरमेंट आए हुए लिखो लिखो गए शराब पीते थे लेकिन मैंने अपने आप को संभाला मैंने अच्छे से पढ़ाई की स्टडी कि सारा बोझ अपने ऊपर लिया पापा उसके बाद कोई नौकरी नहीं कि कोई जॉब नहीं है नौकरी भी छोड़ दिया उन्होंने घर पर लेकिन हम उनको गाली भी देते थे और लेकिन मैं डायरेक्शन रखा मेरे इस बैठा रहा मैं मेरे पापा की आंखों में देखता है वह हमेशा अच्छा फील करते थे कि मेरा बच्चा इस रैली में जा रहा है उनकी आंखों में देखा जब कि मुझे बाहर से गाली दी पिता को गर्म होता है अच्छा फिर प्रीति मेरी शादी हो रही थी तो सारा खर्चा मैं घर का उठा रहा था पापा जी मैंने जो अभी-अभी कोट पैंट के कपड़े दोगे तो अगर बच्चा है यह मेरा मेरा बच्चा है तू ऐसे ऐसे करके फील हो रहा था और वह ऐसे हाथ उठाकर फिर मुझे गाली भी देते थे मार भी देते थे जो छोटा था लेकिन जब भी मैं अपने पापों कभी मैं नहीं लेता कि पापा अब शराब छोड़ दो मैंने क्या पापा आप शराब पियो मैं आपको इस मैच में बदाम जो भी कि जो भी चीजें महंगी शराब हो गई मैं आपको लाकर दूंगा लेकिन आप घर पर बैठकर मेरी कभी बात नहीं मानी लेकिन मैंने हमेशा रिस्पेक्ट की हर सिचुएशन में और आप तो मैं मानता हूं कि होंगे आपके पति पिता बहुत अच्छे होंगे और आप अगर अच्छे हैं ना तो फिर भी हेल्प करो को कुछ रखने की कोशिश कैसे मोमेंट्स करो उस पापा जी से खुश हूं पापा को क्या क्या पसंद नोट डाउन कर पापा को क्या पसंद है सब्जी क्या पसंद है फिर क्या यह पसंद है मम्मी की बारे में पूछो मम्मी की ऑफिस के बारे में पूछो पापा अपने पिता के ऑफिस के बारे में बच्चों को क्या अच्छा लगता था वो क्या करते थे ऐसी अनुसार ईचीनोडर्म करके एक ही कमेंट उनके साथ करो पापा बचपन आप ऐसे करते थे हमारे साथ भी करोगी ना बाहर की ओर इंप्रूवमेंट करेंगे अपने आप में और वह को और खुशियां दे
dekhi baccho ko mata pita ke ke saath kaise pyar karna chahiye aisa hi ghar karna chahiye ki ek ya paramatma ke saath karte hain ki bhagwan ke saath karte hain yah hamare paramatma hai kyonki yah asli check jo hai jo jannat hai mata pita ke charno me lekin kaafi baar main aapko ek cheez bata deta hoon ki mujhe aapke mata pita bahut acche aur hamein acche se unko dekhbhal bhi karni hoti toh chhutti kam hamko khushi rakhna hota hai kyonki aapke jo pita hote hain vaah aapko vaah saari problem hoti hai unko vaah aapko ghar me aakar nahi batatey hain isliye nahi batatey hain ki agar main ghar par bataunga toh bacche bacche chote bacche se tension me rahenge toh pic nahi dena chahte tu ab jo papa aate hain toh unko thoda khush rakhne ki koshish kare unke papa ko bolo ki bhi aap thodi batein share karo share kare aur hum papa se unko us rajni toh unse baat papa se baat share karo aur wahan par aapki mataji hai toh ghar par work karte hain ki mujhe pata hai ghar par aur hamko pareshan kar rahe hote toh pareshan kare tabhi unko takniki va thakawat hai unko problem hai aur behtar na tu abhi haal kare hum aap jaise gyaata aapke saath nahta laga liya humne pyar karti hoon aap yah karna us maahaul me shayad vaah kaam toh saara kya le lekin aap unko aisa bologe aap unke pyar se bartaav karoge shayad vaah ab se aur like kare aur ek aisa aap ek misal ban sakti ho pados me bhi ab tum main apni zindagi ki story batata hoon main jana 4 saal ka tha toh meri mummy ki death ho gayi thi uske baad diye papa toh khoj me the toh retirement aaye hue likho likho gaye sharab peete the lekin maine apne aap ko sambhala maine acche se padhai ki study ki saara bojh apne upar liya papa uske baad koi naukri nahi ki koi job nahi hai naukri bhi chhod diya unhone ghar par lekin hum unko gaali bhi dete the aur lekin main direction rakha mere is baitha raha main mere papa ki aakhon me dekhta hai vaah hamesha accha feel karte the ki mera baccha is rally me ja raha hai unki aakhon me dekha jab ki mujhe bahar se gaali di pita ko garam hota hai accha phir preeti meri shaadi ho rahi thi toh saara kharcha main ghar ka utha raha tha papa ji maine jo abhi abhi coat pant ke kapde doge toh agar baccha hai yah mera mera baccha hai tu aise aise karke feel ho raha tha aur vaah aise hath uthaakar phir mujhe gaali bhi dete the maar bhi dete the jo chota tha lekin jab bhi main apne paapon kabhi main nahi leta ki papa ab sharab chhod do maine kya papa aap sharab piyo main aapko is match me badaam jo bhi ki jo bhi cheezen mehengi sharab ho gayi main aapko lakar dunga lekin aap ghar par baithkar meri kabhi baat nahi maani lekin maine hamesha respect ki har situation me aur aap toh main maanta hoon ki honge aapke pati pita bahut acche honge aur aap agar acche hain na toh phir bhi help karo ko kuch rakhne ki koshish kaise moments karo us papa ji se khush hoon papa ko kya kya pasand note down kar papa ko kya pasand hai sabzi kya pasand hai phir kya yah pasand hai mummy ki bare me pucho mummy ki office ke bare me pucho papa apne pita ke office ke bare me baccho ko kya accha lagta tha vo kya karte the aisi anusaar ichinodarm karke ek hi comment unke saath karo papa bachpan aap aise karte the hamare saath bhi karogi na bahar ki aur improvement karenge apne aap me aur vaah ko aur khushiya de
देखी बच्चों को माता-पिता के के साथ कैसे प्यार करना चाहिए ऐसा ही घर करना चाहिए कि एक या पर
...
Likes  6  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

Prashant dwivedi

Teacher And Yogasan Teacher

0:46
Play

बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए अभी हर उम्र में अलग अलग तरह का व्यवहार होता है देखो जो बच्चे छोटे होते हैं माता-पिता पर डिपेंडेंट होते हैं पूरी तरह तो उनका जवाब माता पिता के साथ कैसा करें उन्हें खुद नहीं पता लेकिन जब मैं बच्चे माता-पिता के बराबर ही क्यों जाते हैं ना तो बच्चों के पहले माता-पिता का बहुत सम्मान करना चाहिए और उनकी आवश्यकताओं को समझना चाहिए वह आवश्यकता है किस कल भी हो सकती है मेंटल भी हो सकते क्रॉनिकल भी हो सकते हैं उन्हें शब्दों की पूर्ति भेजा करनी चाहिए उनसे दोस्ताना लगा रखना चाहिए और ध्यान देना चाहिए कि किसी बात को सुनाना नहीं चाहिए कि हम आपसे इस मैटर कर सकता है होने बुरा थैंक यू
baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye abhi har umar me alag alag tarah ka vyavhar hota hai dekho jo bacche chote hote hain mata pita par dependent hote hain puri tarah toh unka jawab mata pita ke saath kaisa kare unhe khud nahi pata lekin jab main bacche mata pita ke barabar hi kyon jaate hain na toh baccho ke pehle mata pita ka bahut sammaan karna chahiye aur unki avashayaktaon ko samajhna chahiye vaah avashyakta hai kis kal bhi ho sakti hai mental bhi ho sakte chronicle bhi ho sakte hain unhe shabdon ki purti bheja karni chahiye unse dostana laga rakhna chahiye aur dhyan dena chahiye ki kisi baat ko sunana nahi chahiye ki hum aapse is matter kar sakta hai hone bura thank you
बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए अभी हर उम्र में अलग अलग तरह का व्यवहार
...
Likes  6  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
user

Rupesh

Teacher

2:04
Play

चुप हो माता पिता के साथ में पिता-पुत्र जैसा व्यवहार करना चाहिए मित्र पथ होते हुए यदि आपकी कोई भी समस्या हो प्रॉब्लम हो आप अपने माता-पिता को बेझिझक चाहिए बिहा के माता-पिता की बहुत बड़ी भूमिका होती है बच्चा अगर कुछ बता रहा है तो माता-पिता को उसकी बातों को स्वीकार करते हुए उन पर ध्यान देना चाहिए ताकि बच्चे की बात की वैल्यू बच्चों को पहलू मिलती है तू आगे और भी समझते हैं फिर बताते हैं होता क्या कि आज कल की जो निकली फैमिली है और मैं ऐसा होता है कि माता-पिता को इतना वक्त नहीं होता कि बच्चों की बातों को सुन सके तो हमें समस्या होती कि बच्चे किस से कहें तो होता है क्या वह किसी करें संगठन के किसी से दोस्ती करते हैं सिक्किम उसका मिस यूज करता है उसकी बातों को गलत दिशा में ले जाता है नशा है आवारा करती है ऐसे बहुत सारे व्यवहार करना सिखा देता है इसलिए माता-पिता को चाहिए कि बच्चों की समस्याओं को समझें और उस को समझते हुए उनका निदान करें माता-पिता को कभी हिटलर कुरेशी जैसा कि मैं तुम्हारा पिता हूं और मैं ऐसा ही बार करूंगा कि मेरे पुत्र तुम्हारी नीचे सोओगे ऐसी भावना माता-पिता रखते हैं तो कभी भी माता-पिता बच्चों के बीच संबंध नहीं बनेगा एक मित्र करना चाहिए इससे परिणाम यह हुआ कि बच्चे गलत दिशा में निर्देशित और बच्चे कभी भी अपने माता-पिता को इज्जत नहीं देंगे और यही होता है कि ऐसे बच्चे बुढ़ापे में अपने माता पिता को छोड़ देते क्योंकि उनको जो प्यार मिलना चाहिए वह उन्हीं मिलता है उनके स्नेही की भावना नहीं उत्पन्न होती है अपने माता-पिता के प्रति इस कारण उनको कुछ रुपए पड़ता है कि मेरे माता-पिता है या बुरे हो गए उनको भी साथ में रखना चाहिए अपने जीवन में आगे बढ़ जाते हैं और पढ़ते हुए अपने माता-पिता को पीछे छोड़ देते हैं यह सोच कर कि उनका कर्तव्य था पैदा करना पालन पोषण करना इसलिए माता-पिता और बच्चों को मित्र रखना चाहिए और एक दूसरे के साथ सदैव भावनात्मक रूप से जुड़े रहना चाहिए
chup ho mata pita ke saath me pita putra jaisa vyavhar karna chahiye mitra path hote hue yadi aapki koi bhi samasya ho problem ho aap apne mata pita ko bejhijhak chahiye biha ke mata pita ki bahut badi bhumika hoti hai baccha agar kuch bata raha hai toh mata pita ko uski baaton ko sweekar karte hue un par dhyan dena chahiye taki bacche ki baat ki value baccho ko pahaloo milti hai tu aage aur bhi samajhte hain phir batatey hain hota kya ki aaj kal ki jo nikli family hai aur main aisa hota hai ki mata pita ko itna waqt nahi hota ki baccho ki baaton ko sun sake toh hamein samasya hoti ki bacche kis se kahein toh hota hai kya vaah kisi kare sangathan ke kisi se dosti karte hain Sikkim uska miss use karta hai uski baaton ko galat disha me le jata hai nasha hai awaara karti hai aise bahut saare vyavhar karna sikha deta hai isliye mata pita ko chahiye ki baccho ki samasyaon ko samajhe aur us ko samajhte hue unka nidan kare mata pita ko kabhi hitler kureshi jaisa ki main tumhara pita hoon aur main aisa hi baar karunga ki mere putra tumhari niche sooge aisi bhavna mata pita rakhte hain toh kabhi bhi mata pita baccho ke beech sambandh nahi banega ek mitra karna chahiye isse parinam yah hua ki bacche galat disha me nirdeshit aur bacche kabhi bhi apne mata pita ko izzat nahi denge aur yahi hota hai ki aise bacche budhape me apne mata pita ko chhod dete kyonki unko jo pyar milna chahiye vaah unhi milta hai unke snehee ki bhavna nahi utpann hoti hai apne mata pita ke prati is karan unko kuch rupaye padta hai ki mere mata pita hai ya bure ho gaye unko bhi saath me rakhna chahiye apne jeevan me aage badh jaate hain aur padhte hue apne mata pita ko peeche chhod dete hain yah soch kar ki unka kartavya tha paida karna palan poshan karna isliye mata pita aur baccho ko mitra rakhna chahiye aur ek dusre ke saath sadaiv bhavnatmak roop se jude rehna chahiye
चुप हो माता पिता के साथ में पिता-पुत्र जैसा व्यवहार करना चाहिए मित्र पथ होते हुए यदि आपकी
...
Likes  8  Dislikes    views  94
WhatsApp_icon
user
0:48
Play

बच्चा आपके साथ कैसे और करता है यह आप पर डिपेंड करता है क्योंकि बच्चे का सबसे फर्स्ट टीचर उसकी मां होती है उनके पैरंट्स जैसा कहेंगे वैसा बच्चा हमारे धर्म बच्चों को सही तरीके से हैंडल करेंगे बोलना चलना सिखाएंगे तो वह हमें सही तरीका जवाब देगा ऐसा ना है कि बच्चे समझाइए और वह में गलत जवाब देकर तभी तो आपसे डर्टी अगर आप बच्चों से गलत बोलोगे तो बच्चे आपसे भी एक न एक दिन गलत बोलें यह सारी जिम्मेदारी एक मां बाप की होती है पेरेंट्स की होती मुझे बच्चों से प्यार करना चाहिए
baccha aapke saath kaise aur karta hai yah aap par depend karta hai kyonki bacche ka sabse first teacher uski maa hoti hai unke Parents jaisa kahenge waisa baccha hamare dharm baccho ko sahi tarike se handle karenge bolna chalna sikhaenge toh vaah hamein sahi tarika jawab dega aisa na hai ki bacche samjhaiye aur vaah me galat jawab dekar tabhi toh aapse dirty agar aap baccho se galat bologe toh bacche aapse bhi ek na ek din galat bolen yah saari jimmedari ek maa baap ki hoti hai parents ki hoti mujhe baccho se pyar karna chahiye
बच्चा आपके साथ कैसे और करता है यह आप पर डिपेंड करता है क्योंकि बच्चे का सबसे फर्स्ट टीचर उ
...
Likes  6  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
play
user

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग आज का सवाल है बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए जो बिल्कुल अभी के हिसाब से बहुत अच्छा क्वेश्चन है मेरे हिसाब से बिल्कुल सही है और ऐसा पूछना भी जरूरी मेरा जो मानना है बच्चों को अपने माता-पिता के साथ बिल्कुल प्यार से पेश आना चाहिए उनके बातों को सुनना चाहिए उन्हें यूनो नहीं करना चाहिए और वह जो कहे उनको मानना चाहिए क्योंकि कोई भी मां बाप अपने बच्चों का बुरा नहीं चाहते जैसे आप भगवान को मानते हैं या अल्लाह को मानते हैं अगर स्पीड से पर्वत पर परमात्मा का रूप है तो वह के माता-पिता है हमारे माता-पिता के साथ व्यवहार हमेशा प्यार से होना चाहिए और जब भी भी उनके बात का जवाब दो बिल्कुल नर्मदा से दें तेज आवाज में ना बात करें और आप हमेशा कोशिश कीजिए कि आपके किसी काम से या किसी ऐसे सबसे उनके दिल को ठेस न पहुंचे बच्चों को माता-पिता बजे उम्मीद और प्यार से पालते हैं और बच्चों से माथे पर माता-पिता एक अच्छा उम्मीद लगाकर रखते हैं कि वह भी हमें उस तरह से रिस्पेक्ट दें और समाज में बच्चों की वजह से मां-बाप का करना मुद्दों पर बहुत गर्व महसूस करते हैं तो हमेशा बच्चों को इस चीज का ख्याल रखना चाहिए मेरे किसी काम से मेरे मां-बाप का समाज में नाम खराब ना हो मेरे के सबसे मां बाप को दिल को ठेस ना पहुंचे बस इतना ही सुनने के लिए धन्यवाद
hello doston kaise hain aap log aaj ka sawaal hai baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye jo bilkul abhi ke hisab se bahut accha question hai mere hisab se bilkul sahi hai aur aisa poochna bhi zaroori mera jo manana hai baccho ko apne mata pita ke saath bilkul pyar se pesh aana chahiye unke baaton ko sunana chahiye unhe uno nahi karna chahiye aur vaah jo kahe unko manana chahiye kyonki koi bhi maa baap apne baccho ka bura nahi chahte jaise aap bhagwan ko maante hain ya allah ko maante hain agar speed se parvat par paramatma ka roop hai toh vaah ke mata pita hai hamare mata pita ke saath vyavhar hamesha pyar se hona chahiye aur jab bhi bhi unke baat ka jawab do bilkul narmada se de tez awaaz me na baat kare aur aap hamesha koshish kijiye ki aapke kisi kaam se ya kisi aise sabse unke dil ko thes na pahuche baccho ko mata pita baje ummid aur pyar se palate hain aur baccho se mathe par mata pita ek accha ummid lagakar rakhte hain ki vaah bhi hamein us tarah se respect de aur samaj me baccho ki wajah se maa baap ka karna muddon par bahut garv mehsus karte hain toh hamesha baccho ko is cheez ka khayal rakhna chahiye mere kisi kaam se mere maa baap ka samaj me naam kharab na ho mere ke sabse maa baap ko dil ko thes na pahuche bus itna hi sunne ke liye dhanyavad
हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग आज का सवाल है बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चा
...
Likes  8  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

Ayaan

Student Of Jnv

0:42
Play

बच्चों को माता-पिता के प्रति बहुत वफादार होना चाहिए क्योंकि मां-बाप बच्चों को कैसे जन्म देते हैं फिर उनकी किए शिक्षा ग्रहण करने के लिए विद्यालयों में प्रवेश लाते हैं और बहुत कठिनाई सहते हैं वह अपने बच्चों को कुछ देखने के लिए हार कभी एक समय का भोजन ना हो तो वह खुद भूखी रहकर अपने बच्चों को खिलाते हैं इसलिए बच्चों को अपने माता-पिता के प्रति अच्छा एवं सही व्यवहार करना चाहिए ताकि भी हमेशा खुश रह सके धन्यवाद
baccho ko mata pita ke prati bahut vafaadar hona chahiye kyonki maa baap baccho ko kaise janam dete hain phir unki kiye shiksha grahan karne ke liye vidhayalayo me pravesh laate hain aur bahut kathinai sahate hain vaah apne baccho ko kuch dekhne ke liye haar kabhi ek samay ka bhojan na ho toh vaah khud bhukhi rahkar apne baccho ko khilaate hain isliye baccho ko apne mata pita ke prati accha evam sahi vyavhar karna chahiye taki bhi hamesha khush reh sake dhanyavad
बच्चों को माता-पिता के प्रति बहुत वफादार होना चाहिए क्योंकि मां-बाप बच्चों को कैसे जन्म दे
...
Likes  7  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user
Play

बच्चों को माता-पिता के साथ हमेशा अच्छा व्यवहार करना चाहिए उनकी बात माननी चाहिए और उनके कहे अनुसार करना क्योंकि वह आपसे बड़े हैं चाहे आप कितनी भी बड़ी क्यों ना हो जाओ पर आपके माता-पिता आपके लिए सब कुछ होनी चाहिए और बिना माता-पिता की तो कुछ भी नहीं है आज की तारीख में तो इसलिए उनका सम्मान करें उनकी बात माने और नेकी के रास्ते पर चलें और अच्छे विचार अपने मन में लाएं माता पिता की सेवा करें ऐसा बच्चों को बीमार करना चाहिए और वह छोटे हैं तो माता बच्चों को प्यार करें बच्चों को बस
baccho ko mata pita ke saath hamesha accha vyavhar karna chahiye unki baat maanani chahiye aur unke kahe anusaar karna kyonki vaah aapse bade hain chahen aap kitni bhi badi kyon na ho jao par aapke mata pita aapke liye sab kuch honi chahiye aur bina mata pita ki toh kuch bhi nahi hai aaj ki tarikh me toh isliye unka sammaan kare unki baat maane aur neki ke raste par chalen aur acche vichar apne man me laye mata pita ki seva kare aisa baccho ko bimar karna chahiye aur vaah chote hain toh mata baccho ko pyar kare baccho ko bus
बच्चों को माता-पिता के साथ हमेशा अच्छा व्यवहार करना चाहिए उनकी बात माननी चाहिए और उनके कहे
...
Likes  4  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user
0:28
Play

बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए ऐसा आप समझ आए कि बच्चों को हम जोशी खिलाते हैं और उसको हम जिस तरह का ज्ञान देते हैं और जिस तरह के माहौल में हम रखते हैं वही गुनगुन के अंदर आता है और वही हमारे साथ व्यवहार करते हैं इसलिए हमें अपने बच्चों को
baccho ko mata pita ke saath kaisa vyavhar karna chahiye aisa aap samajh aaye ki baccho ko hum joshi khilaate hain aur usko hum jis tarah ka gyaan dete hain aur jis tarah ke maahaul me hum rakhte hain wahi gungun ke andar aata hai aur wahi hamare saath vyavhar karte hain isliye hamein apne baccho ko
बच्चों को माता-पिता के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए ऐसा आप समझ आए कि बच्चों को हम जोशी खिला
...
Likes  27  Dislikes    views  607
WhatsApp_icon
अपने सवाल पूछें और एक्स्पर्ट्स के जवाब सुने
qIconask

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!