बाइपोलर डिसऑर्डर को दूर करने वाला प्राणायाम?...


user

vikram mani tiwari

Psychologist एवं आध्यात्मिक गुरु

3:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी आप का सवाल है बाइपोलर डिसऑर्डर को दूर कराने वाला प्राणायाम बताइए तो प्राणायाम योग में आपको एक बता दे रहा हूं आपको अनुलोम-विलोम करें इससे जो हमारी 8484 लाख से होती है सब पर प्रभाव पड़ेगा और मैंने मानसिक स्वास्थ्य के लिए ही वैदिक कालीन ध्यान पद्धतियों का आज का आधुनिक उसमें परिवेश में डालना कि जिससे हर मनुष्य मानसिक स्वास्थ्य बेहतर हों खासतौर से हम भारत देश के निवासियों का तो उसको ओम का बाइपोलर डिसऑर्डर के रोगियों के लिए सुबह उठना अत्यंत आवश्यक है वह सुबह प्रातः सो के उठे ओम ओम नाम का जप करें वह भी गले से उन्हें कहना है और पूरे ध्यान करना और और ऐसा करना उनके आखिरी के मां शब्द को बूझना है कि जिससे उनको यह आवासों किन के सर में कंपन हो रो रही है जिससे डूबा में नाम का हार मुंह से बराबर होता है उसका लेबल जोकर कम ज्यादा होता तो वह बराबर होगा और तीसरी में मध्यान्ह पद्धति आपको बता दे रहा हूं वह ध्यान है आप अपनी आंखों के 2 फीट की दूरी पर दीपक जलाएं लेकिन बराबर हो आपकी आंखों से बराबर नीचे ऊपर ना हो तो 15 फुट की दूरी पर दीपक ना हो तो मोमबत्ती ही हो उसकी उसके लव को आप को ध्यान से देखें जलजला देखते देखते हैं फिर उसके बाद आपको करना क्या है कि अपनी आंखों को बंद कर ले और जो शंकर जी का रेट नेत्र होता है जो उनके थर्ड आई होती है अतीत में रोता है या महिलाएं बिंदी लगाती हैं वहां पर आपको वह दीपक आंख बंद करके जलता हुआ देखना है नहीं महसूस करना अपनी आंखों से जलता हुआ देखना मजबूर करना तो यह तीनो चीज़ अगर आप से महाकाल ले गए तो आपका यह बाइपोलर डिसऑर्डर बहुत दूर भाग जाएगा पास नहीं आएगा जीवन में कभी तिवारी अर्थात महापुरुष अगर आप ही की तरह करें योग योग योग की तरह करें उनको जब उनके जब की तरह करें इसको बुखार मत समझो अपने ऊपर यह नहीं कि यह करना है बस यह है नहीं जितनी देर करें चाय आधार मटका रिचा 1 मिनट करें लेकिन मन से करें हां एक चीज में बताना भूल गया था इन तीनों को ने शुरू में नियंता दो-दो मिनट तक के एक 3 दिन फिर उसके बाद इनका समय बढ़ाते जाए 2 मिनट पर एक 1 मिनट करके यह बढ़ाते जाएं और छे माह में आप अपने अंदर खुद ही यह कहेंगे कि मुझे लाल बैंसला बुआ और शायद इतना ज्यादा लाभ आपको दिखेगा भी नहीं मैं विक्रम पर तिवारी हूं अध्यात्मिक गुरु हूं उत्तर प्रदेश से धन्यवाद राम राम

ji aap ka sawaal hai bipolar disorder ko dur karane vala pranayaam bataiye toh pranayaam yog me aapko ek bata de raha hoon aapko anulom vilom kare isse jo hamari 8484 lakh se hoti hai sab par prabhav padega aur maine mansik swasthya ke liye hi vaidik kaleen dhyan paddhatiyon ka aaj ka aadhunik usme parivesh me dalna ki jisse har manushya mansik swasthya behtar ho khaasataur se hum bharat desh ke nivasiyon ka toh usko om ka bipolar disorder ke rogiyon ke liye subah uthna atyant aavashyak hai vaah subah pratah so ke uthe om om naam ka jap kare vaah bhi gale se unhe kehna hai aur poore dhyan karna aur aur aisa karna unke aakhiri ke maa shabd ko bujhna hai ki jisse unko yah avason kin ke sir me kampan ho ro rahi hai jisse dooba me naam ka haar mooh se barabar hota hai uska lebal joker kam zyada hota toh vaah barabar hoga aur teesri me madhyanh paddhatee aapko bata de raha hoon vaah dhyan hai aap apni aakhon ke 2 feet ki doori par deepak jalaen lekin barabar ho aapki aakhon se barabar niche upar na ho toh 15 feet ki doori par deepak na ho toh mombatti hi ho uski uske love ko aap ko dhyan se dekhen jaljala dekhte dekhte hain phir uske baad aapko karna kya hai ki apni aakhon ko band kar le aur jo shankar ji ka rate netra hota hai jo unke third I hoti hai ateet me rota hai ya mahilaye bindi lagati hain wahan par aapko vaah deepak aankh band karke jalta hua dekhna hai nahi mehsus karna apni aakhon se jalta hua dekhna majboor karna toh yah teeno cheez agar aap se mahakal le gaye toh aapka yah bipolar disorder bahut dur bhag jaega paas nahi aayega jeevan me kabhi tiwari arthat mahapurush agar aap hi ki tarah kare yog yog yog ki tarah kare unko jab unke jab ki tarah kare isko bukhar mat samjho apne upar yah nahi ki yah karna hai bus yah hai nahi jitni der kare chai aadhar matka richa 1 minute kare lekin man se kare haan ek cheez me batana bhool gaya tha in tatvo ko ne shuru me niyanta do do minute tak ke ek 3 din phir uske baad inka samay badhate jaaye 2 minute par ek 1 minute karke yah badhate jayen aur che mah me aap apne andar khud hi yah kahenge ki mujhe laal bainsala buaa aur shayad itna zyada labh aapko dikhega bhi nahi main vikram par tiwari hoon adhyatmik guru hoon uttar pradesh se dhanyavad ram ram

जी आप का सवाल है बाइपोलर डिसऑर्डर को दूर कराने वाला प्राणायाम बताइए तो प्राणायाम योग में आ

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  191
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!