कहीं फंस रहे हो, तो निकलने का तरीका बताएं?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहीं फस रहे हो तो निकलने का तरीका भी अपनी सूझबूझ और बुद्धि से वहां से निकला जा सकता है अब किसी परिस्थिति में प्रसिद्ध है उसका जिक्र होना जरूरी है लेकिन स्थिति में आप हंसते हैं उसके लिए जरूरी है कि आप जरूर

kahin fas rahe ho toh nikalne ka tarika bhi apni sujhbujh aur buddhi se wahan se nikala ja sakta hai ab kisi paristhiti me prasiddh hai uska jikarr hona zaroori hai lekin sthiti me aap hansate hain uske liye zaroori hai ki aap zaroor

कहीं फस रहे हो तो निकलने का तरीका भी अपनी सूझबूझ और बुद्धि से वहां से निकला जा सकता है अब

Romanized Version
Likes  358  Dislikes    views  3140
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

सुरेश चंद आचार्य

Social Worker ( Self employed )

0:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए प्रत्येक फंसे हुए मनुष्य को चाहे वह कहीं भी किसी भी प्रकार से किसी भी हाल में किन्हीं परिस्थितियों में इन्हीं लोगों के बीच फंस जाए तो उसे निकालने का एक अवसर अवश्य प्रदान होता है और उस अवसर की पहचान वे लोग करते हैं जो धैर्यवान होते हैं इसलिए फंसे हुए मनुष्य को धैर्य रखते हुए शांति बनाए रखे हुए उस मौके का इंतजार करना चाहिए जो उसे बाहर निकालेगा यही मेरा कहना है

dekhiye pratyek fanse hue manushya ko chahen vaah kahin bhi kisi bhi prakar se kisi bhi haal me kinhi paristhitiyon me inhin logo ke beech fans jaaye toh use nikalne ka ek avsar avashya pradan hota hai aur us avsar ki pehchaan ve log karte hain jo dhairyavan hote hain isliye fanse hue manushya ko dhairya rakhte hue shanti banaye rakhe hue us mauke ka intejar karna chahiye jo use bahar nikalega yahi mera kehna hai

देखिए प्रत्येक फंसे हुए मनुष्य को चाहे वह कहीं भी किसी भी प्रकार से किसी भी हाल में किन्ही

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  1486
WhatsApp_icon
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहीं कानून में फस गए हो तो हम कानून भी दी है अब हमारा उपयोग करें हमारी सहायता लेकर के कानून के अंदर फस गए हो तो कहां से देंगे और आप कोई पेड़ पौधों में कहीं कीचड़ के अंदर फस गए हो तो आप ऐसी जगह पर जाते हैं तो 15 शिवपुर की लकड़ी रखी है 10 12 फुट की दूरी भी रखी है और लकड़ी के साथ मिस्टर दूरी बांध दिए लकड़ी को कहीं खास करके आप लोग कहीं कालो कीचड़ में उतरने का साहस करिए या तो कहीं फस चुके हो तो आपका शरीर को बहुत बढ़ साली और व्यायाम सेल हमेशा बनाते रहिए अच्छे गेम साली बंद करके आप किसी भी आपदा से बच सकते हैं और किसी भी प्रकार की साहस की प्रवृत्ति भी कर सकते हैं और आप पर हल्दी भी कर सकते हैं धन्यवाद

kahin kanoon me fas gaye ho toh hum kanoon bhi di hai ab hamara upyog kare hamari sahayta lekar ke kanoon ke andar fas gaye ho toh kaha se denge aur aap koi ped paudho me kahin kichad ke andar fas gaye ho toh aap aisi jagah par jaate hain toh 15 shivpur ki lakdi rakhi hai 10 12 feet ki doori bhi rakhi hai aur lakdi ke saath mister doori bandh diye lakdi ko kahin khas karke aap log kahin kalo kichad me utarane ka saahas kariye ya toh kahin fas chuke ho toh aapka sharir ko bahut badh saali aur vyayam cell hamesha banate rahiye acche game saali band karke aap kisi bhi aapda se bach sakte hain aur kisi bhi prakar ki saahas ki pravritti bhi kar sakte hain aur aap par haldi bhi kar sakte hain dhanyavad

कहीं कानून में फस गए हो तो हम कानून भी दी है अब हमारा उपयोग करें हमारी सहायता लेकर के कानू

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  835
WhatsApp_icon
user
0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रस्थापित वाले कि कहीं फस रहे हो तो निकालने का तरीका बताएं सबसे पहले दोस्तों तुझे जानना जरूरी है कि आप हंस रहे थे किस चीज में फसने हैं उसी हिसाब से आपको तरीका बताया जाए अगर आप निकलना चाह रहे हैं तो कोई भी बहाना बना कर के वहां से नहीं कर सकते हैं अगर आपके अपने लोग हैं तो बहाना बना सकते हैं तो निकलने के लिए तो सबसे पहले सबसे जरूरी चीज यही है कि अब मुंह पर चेहरे पर एक्सप्रेस नहीं आनी चाहिए जो हम बना ना बहाना बना रहे हैं उसका और तब आप आराम से निकल

prasthapit waale ki kahin fas rahe ho toh nikalne ka tarika bataye sabse pehle doston tujhe janana zaroori hai ki aap hans rahe the kis cheez me fasne hain usi hisab se aapko tarika bataya jaaye agar aap nikalna chah rahe hain toh koi bhi bahana bana kar ke wahan se nahi kar sakte hain agar aapke apne log hain toh bahana bana sakte hain toh nikalne ke liye toh sabse pehle sabse zaroori cheez yahi hai ki ab mooh par chehre par express nahi aani chahiye jo hum bana na bahana bana rahe hain uska aur tab aap aaram se nikal

प्रस्थापित वाले कि कहीं फस रहे हो तो निकालने का तरीका बताएं सबसे पहले दोस्तों तुझे जानना ज

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  392
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!