कहीं फंस रहे हो, तो निकलने का तरीका बताएं?...


play
user

सुरेश चंद आचार्य

Social Worker ( Self employed )

0:58

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए प्रत्येक फंसे हुए मनुष्य को चाहे वह कहीं भी किसी भी प्रकार से किसी भी हाल में किन्हीं परिस्थितियों में इन्हीं लोगों के बीच फंस जाए तो उसे निकालने का एक अवसर अवश्य प्रदान होता है और उस अवसर की पहचान वे लोग करते हैं जो धैर्यवान होते हैं इसलिए फंसे हुए मनुष्य को धैर्य रखते हुए शांति बनाए रखे हुए उस मौके का इंतजार करना चाहिए जो उसे बाहर निकालेगा यही मेरा कहना है

dekhiye pratyek fanse hue manushya ko chahen vaah kahin bhi kisi bhi prakar se kisi bhi haal me kinhi paristhitiyon me inhin logo ke beech fans jaaye toh use nikalne ka ek avsar avashya pradan hota hai aur us avsar ki pehchaan ve log karte hain jo dhairyavan hote hain isliye fanse hue manushya ko dhairya rakhte hue shanti banaye rakhe hue us mauke ka intejar karna chahiye jo use bahar nikalega yahi mera kehna hai

देखिए प्रत्येक फंसे हुए मनुष्य को चाहे वह कहीं भी किसी भी प्रकार से किसी भी हाल में किन्ही

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  1486
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!