कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है हां या ना?...


user

Dr Anshita Balwani Rathore

Homeopath, Nutritionist, Counselor

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पेट का साफ होना या ना होना यह आपकी डाइट पर निर्भर करता है उससे कपालभाति करके आप सबकी करने की बात नहीं कर सकते दिन भर में आप क्या खाते हैं कितना पानी पीते हैं आपके एक्सरसाइज एक्टिविटी कैसी है दिन भर आप कुर्सी पर बैठते हैं काम करते हैं बहुत कुछ उस पर डिपेंड करता है तो इन सारी चीजों पर ध्यान देना जरूरी है

pet ka saaf hona ya na hona yah aapki diet par nirbhar karta hai usse kapalbhati karke aap sabki karne ki baat nahi kar sakte din bhar me aap kya khate hain kitna paani peete hain aapke exercise activity kaisi hai din bhar aap kursi par baithate hain kaam karte hain bahut kuch us par depend karta hai toh in saari chijon par dhyan dena zaroori hai

पेट का साफ होना या ना होना यह आपकी डाइट पर निर्भर करता है उससे कपालभाति करके आप सबकी करने

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Raj Kumar Kochar

Ayurvedic Doctors ( Researcher )

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कभी नहीं कपालभाती से कब्ज पूरी तरह ठीक नहीं हो सकता कब जी का जो सबसे सुंदर इलाज है वह टीचर रेगुलर सेवन करें

kabhi nahi kapalbhati se kabz puri tarah theek nahi ho sakta kab ji ka jo sabse sundar ilaj hai vaah teacher regular seven kare

कभी नहीं कपालभाती से कब्ज पूरी तरह ठीक नहीं हो सकता कब जी का जो सबसे सुंदर इलाज है वह टीचर

Romanized Version
Likes  367  Dislikes    views  3624
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रमन जी की आप सभी उसके लिए आपको इसके लिए कब उठी करने के लिए आपको भोजन जो है पौष्टिक खाना लेना होगा हरी सब्जियां हैं और अगर आपको ज्यादा दिक्कत है त्रिफला का चूर्ण खाना खाता है रोटी हुई और पानी ज्यादा से ज्यादा कीजिएगा तो आपका कब से बचेगा और क्या फायदा

raman ji ki aap sabhi uske liye aapko iske liye kab uthi karne ke liye aapko bhojan jo hai paushtik khana lena hoga hari sabjiyan hain aur agar aapko zyada dikkat hai Triphala ka churn khana khaata hai roti hui aur paani zyada se zyada kijiega toh aapka kab se bachega aur kya fayda

रमन जी की आप सभी उसके लिए आपको इसके लिए कब उठी करने के लिए आपको भोजन जो है पौष्टिक खाना ले

Romanized Version
Likes  444  Dislikes    views  3894
WhatsApp_icon
user
1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मित्रों नमस्कार आपका सवाल है कि कपालभाति से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है या नहीं हां तो बताओ आपको कि बिल्कुल कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है इसको नियमित रूप से आप रोज करिए और 5 मिनट से लेकर के 30 मिनट तक उसको किया जा सकता है और इसको दिलजले बढ़ाते हैं एक शादी नहीं बढ़ाते हैं तो कपालभाती से अब से ठीक होता ही है वर्ल्ड के साथ में अन्य वीर बीमारियां भी ऐसी होती है कपालभाति प्राणायाम से शरीर में और और भैया का निर्माण होता है उसे शरीर में अनेक प्रकार की ऊर्जा प्राप्त होती है कपालभाति प्राणायाम नियमित 515 में हर व्यक्ति करें तो निश्चित तौर पर उसकी कविता मिट जाती है 9 साल

mitron namaskar aapka sawaal hai ki kapalbhati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai ya nahi haan toh batao aapko ki bilkul kapalbhati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai isko niyamit roop se aap roj kariye aur 5 minute se lekar ke 30 minute tak usko kiya ja sakta hai aur isko diljale badhate hain ek shaadi nahi badhate hain toh kapalbhati se ab se theek hota hi hai world ke saath me anya veer bimariyan bhi aisi hoti hai kapalbhati pranayaam se sharir me aur aur bhaiya ka nirmaan hota hai use sharir me anek prakar ki urja prapt hoti hai kapalbhati pranayaam niyamit 515 me har vyakti kare toh nishchit taur par uski kavita mit jaati hai 9 saal

मित्रों नमस्कार आपका सवाल है कि कपालभाति से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है या नही

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  700
WhatsApp_icon
user

Pradeep Solanki

Corporate Yoga Consultant

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाति कब्ज में थोड़ा आराम जरूर देगी लेकिन यह नहीं है कि को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है कपालभाति एक शर्ट कर्म है कब्ज दूर करने के लिए आप पहले ही काम करें तीन से चार गिलास गर्म पानी में तांबे के बर्तन में रखा हुआ गर्म पानी जरूर पीएं रात को सोते हुए आंवले का पाउडर पेट साफ रहेगा इसके अलावा दिन में भी पानी की मात्रा ठीक-ठाक है बहुत ज्यादा भी नहीं बहुत कम भी नहीं और हाइब्रोस चीजें हैं फल है फ्रूट है अपना साथ ही भोजन करें बहुत तला हुआ भोजन है और इसके अलावा जो पसंद है रिफाइंड है वह सब की कब्ज दूर हो जाएगी

kapalbhati kabz me thoda aaram zaroor degi lekin yah nahi hai ki ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai kapalbhati ek shirt karm hai kabz dur karne ke liye aap pehle hi kaam kare teen se char gilas garam paani me tambe ke bartan me rakha hua garam paani zaroor pien raat ko sote hue aanvale ka powder pet saaf rahega iske alava din me bhi paani ki matra theek thak hai bahut zyada bhi nahi bahut kam bhi nahi aur haibros cheezen hain fal hai fruit hai apna saath hi bhojan kare bahut tala hua bhojan hai aur iske alava jo pasand hai Refined hai vaah sab ki kabz dur ho jayegi

कपालभाति कब्ज में थोड़ा आराम जरूर देगी लेकिन यह नहीं है कि को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  670
WhatsApp_icon
user

Kailash Babu

Yoga Trainer

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपाल भारती से हमारे पेट की कब्जी सही हो सकती है यह है या नहीं पहली बात तो यह है कि कपाल भारती हमारे पेट की क्रिया नहीं है हमारे मस्तिष्क की हमारे कपाल क्रिया है हट योग ग्रंथ में छह क्रियाएं बताएं कि हमारे शरीर शुद्धि के लिए इसमें से कपाल भारती एक है जो हमारे कपाल को शुद्ध करती है आप अपने कब्ज को दूर करने के लिए दूसरी क्रियाओं का अभ्यास कर सकते हैं जैसे कुंजल क्रिया है धोती क्रिया है जो हमारे पेट के लिए काम आती है अगर हम कपालभाती से कब्ज की बात करें तो सबसे पहले आप कुंजल क्रिया कर ले या वस्तु धोती का अभ्यास सीख लें उसके बाद अग्निसार क्रिया जरूर करें अगर आप वस्त्र धौति नहीं कर पाते हैं तो खाली कुंजल के लिए अभी कर सकते हैं कुंजल क्रिया बहुत ही आसान क्रिया है गुनगुना पानी को पीकर के 1001 लीटर से 2 लीटर पानी पिए और उसको बमन कर दें 90 डिग्री पर मंगल बनाए और 3 उंगली बीच वाली गली तक ले जाएं छोटी जी कोई लाइन जिससे सारा पानी आपका बाहर निकल जाएगा उसके बाद अग्निसार क्रिया का अभ्यास करें पांच से सात बार आप इसका अभ्यास कर सकते हैं शुरुआत में एक या दो बार इस क्रिया का अभ्यास करें नहीं तो आपके पेट की जो मसल से वह देखेंगे उसके बाद कपाल भारती क्रिया का अभ्यास करें आपको बहुत ज्यादा लाभ होगा और आपकी काव्य जो है सो प्रतिशत सही हो सकती है

kapal bharati se hamare pet ki kabji sahi ho sakti hai yah hai ya nahi pehli baat toh yah hai ki kapal bharati hamare pet ki kriya nahi hai hamare mastishk ki hamare kapal kriya hai hut yog granth me cheh kriyaen bataye ki hamare sharir shudhi ke liye isme se kapal bharati ek hai jo hamare kapal ko shudh karti hai aap apne kabz ko dur karne ke liye dusri kriyaon ka abhyas kar sakte hain jaise kunjal kriya hai dhoti kriya hai jo hamare pet ke liye kaam aati hai agar hum kapalbhati se kabz ki baat kare toh sabse pehle aap kunjal kriya kar le ya vastu dhoti ka abhyas seekh le uske baad agnisar kriya zaroor kare agar aap vastra dhauti nahi kar paate hain toh khaali kunjal ke liye abhi kar sakte hain kunjal kriya bahut hi aasaan kriya hai gunguna paani ko peekar ke 1001 litre se 2 litre paani piye aur usko baman kar de 90 degree par mangal banaye aur 3 ungli beech wali gali tak le jayen choti ji koi line jisse saara paani aapka bahar nikal jaega uske baad agnisar kriya ka abhyas kare paanch se saat baar aap iska abhyas kar sakte hain shuruat me ek ya do baar is kriya ka abhyas kare nahi toh aapke pet ki jo masal se vaah dekhenge uske baad kapal bharati kriya ka abhyas kare aapko bahut zyada labh hoga aur aapki kavya jo hai so pratishat sahi ho sakti hai

कपाल भारती से हमारे पेट की कब्जी सही हो सकती है यह है या नहीं पहली बात तो यह है कि कपाल भा

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user

Brijpal Singh Chouhan

Social Worker, journalist

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है देखे कपालभाती से पूर्णतया कब्ज को ठीक नहीं किया जा सकता हां कपालभाती सहयोगी है और कब्ज को ठीक करने में मदद मिलती है और इसके साथ ही अन्य दूसरी क्रियाएं भी करनी पड़ेगी योग के अन्य सूत्र भी अपनाने पड़ेंगे तभी आपको अपने खान-पान में भी सुधार करना पड़ेगा कब से तभी छुटकारा मिल सकता है

aapka prashna hai kapalbhati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai dekhe kapalbhati se purnataya kabz ko theek nahi kiya ja sakta haan kapalbhati sahyogi hai aur kabz ko theek karne me madad milti hai aur iske saath hi anya dusri kriyaen bhi karni padegi yog ke anya sutra bhi apnane padenge tabhi aapko apne khan pan me bhi sudhaar karna padega kab se tabhi chhutkara mil sakta hai

आपका प्रश्न है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है देखे कपालभाती से पूर्ण

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  251
WhatsApp_icon
user

Ajay Kumar Singh

Pharmacist

1:29
Play

Likes  14  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
user

Dr Anil Kumar Agarwal

Physician &Laser Acupuncture specialist

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाति प्राणायाम का एक अच्छा प्रकार है कपालभाति करने से पूरा शरीर का वेट खेलता है और कवच को शुरू किया जा सकता है इसमें दो राय नहीं है अपने मतलब से कपार बातें कीजिए और पेट संबंधी की बार को दोपहर में करने में कामयाब हो पाएंगे

kapalbhati pranayaam ka ek accha prakar hai kapalbhati karne se pura sharir ka wait khelta hai aur kavach ko shuru kiya ja sakta hai isme do rai nahi hai apne matlab se kapaar batein kijiye aur pet sambandhi ki baar ko dopahar me karne me kamyab ho payenge

कपालभाति प्राणायाम का एक अच्छा प्रकार है कपालभाति करने से पूरा शरीर का वेट खेलता है और कवच

Romanized Version
Likes  166  Dislikes    views  1451
WhatsApp_icon
user

Raushan Kumar

Founder of Yoganta

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाति बहुत हेल्प करता है कब्ज को दूर करने में लेकिन आप उसके जरिए अब पूरा का पूरा विश्व छुटकारा नहीं ले सकते इसके लिए आपको खाना पीना सब ठीक करना पड़ेगा कपालभाति बस आपको हेल्प कर सकता है और शिल्प क्या अगर आपका लाइफ स्टाइल सही रहेगा ना जिसमें खाना डाइट बहुत जरूरी है तो आपको व्यस्त दूर कर सकता है कपालभाति बहुत हेल्प करता है खाने के साथ में एक्सरसाइज के साथ में आप करिए बहुत हेल्प करेगा अगर खाली डिपेंडेंट रहेंगे कि कपालभाति कर लो यह हो जाएगा वेट लॉस हो जाएगा कभी दूर हो जाएगा उसके हजारों फायदे बता देंगे कपालभाति के तो नहीं सर ऐसा बिल्कुल भी नहीं होगा अकेला कपालभाति नहीं कर पाएगा पूरी लाइफ इस सलमा को चेंज करना पड़ेगा कपालभाति के साथ एक्सरसाइज जोरदार नॉर्मल वाले खाना डाइट सब ठीक करना पड़ेगा तभी ठीक होगा

kapalbhati bahut help karta hai kabz ko dur karne me lekin aap uske jariye ab pura ka pura vishwa chhutkara nahi le sakte iske liye aapko khana peena sab theek karna padega kapalbhati bus aapko help kar sakta hai aur shilp kya agar aapka life style sahi rahega na jisme khana diet bahut zaroori hai toh aapko vyast dur kar sakta hai kapalbhati bahut help karta hai khane ke saath me exercise ke saath me aap kariye bahut help karega agar khaali dependent rahenge ki kapalbhati kar lo yah ho jaega wait loss ho jaega kabhi dur ho jaega uske hazaro fayde bata denge kapalbhati ke toh nahi sir aisa bilkul bhi nahi hoga akela kapalbhati nahi kar payega puri life is salma ko change karna padega kapalbhati ke saath exercise jordaar normal waale khana diet sab theek karna padega tabhi theek hoga

कपालभाति बहुत हेल्प करता है कब्ज को दूर करने में लेकिन आप उसके जरिए अब पूरा का पूरा विश्व

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  977
WhatsApp_icon
user

Naresh Kumar

Sports Coach and Ayurveda Treatment

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं आपको बताना बताऊंगा कि योग एक ऐसी चीज है जो शरीर को पूरी तरह से ठीक कर सकता है लेकिन यह थोड़ा लंबे टाइम तक करना होता है तो आप दूसरे की इससे ठीक हो सकता है हो सकता है लेकिन इसके साथ आपको और भी होगा करनी होगी और सुबह उठकर के आप गर्म पानी का सेवन जरूर करें ताकि कबीर की जल्दी ठीक हो सके

dekhiye main aapko batana bataunga ki yog ek aisi cheez hai jo sharir ko puri tarah se theek kar sakta hai lekin yah thoda lambe time tak karna hota hai toh aap dusre ki isse theek ho sakta hai ho sakta hai lekin iske saath aapko aur bhi hoga karni hogi aur subah uthakar ke aap garam paani ka seven zaroor kare taki kabir ki jaldi theek ho sake

देखिए मैं आपको बताना बताऊंगा कि योग एक ऐसी चीज है जो शरीर को पूरी तरह से ठीक कर सकता है ले

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  243
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पसंद है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है देखिए कपालभाति के बहुत ही लाभ है इससे पेट को बहुत लाभ होता है और खासकर कब जो है वह काफी हद तक ठीक हो जाती है पुरानी से पुरानी कब्ज भी आपकी दूर हो जाती है परंतु आप पानी का सेवन ज्यादा करें और साथ में थोड़ा सा अपने आप को खुश रखें क्योंकि तनाव से भी कब्ज होती है अगर आप कपालभाति कर रहे हैं तो हम आपको एक सुझाव देना चाहेंगे कि यदि आपका ब्लड प्रेशर ज्यादा रहता है तो आप कपालभाति बहुत तेजी से और बहुत ज्यादा मत कीजिएगा क्योंकि कभी-कभी कपालभाती से आपका ब्लड प्रेशर और अधिक हो जाता है जो आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है इसलिए ब्लड प्रेशर के मरीजों को हम लोग कभी भी कपालभाती ज्यादा करने की एडवाइस नहीं देते धन्यवाद

namaskar aapka pasand hai kapalbhati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai dekhiye kapalbhati ke bahut hi labh hai isse pet ko bahut labh hota hai aur khaskar kab jo hai vaah kaafi had tak theek ho jaati hai purani se purani kabz bhi aapki dur ho jaati hai parantu aap paani ka seven zyada kare aur saath me thoda sa apne aap ko khush rakhen kyonki tanaav se bhi kabz hoti hai agar aap kapalbhati kar rahe hain toh hum aapko ek sujhaav dena chahenge ki yadi aapka blood pressure zyada rehta hai toh aap kapalbhati bahut teji se aur bahut zyada mat kijiega kyonki kabhi kabhi kapalbhati se aapka blood pressure aur adhik ho jata hai jo aapke liye nukasanadayak ho sakta hai isliye blood pressure ke marizon ko hum log kabhi bhi kapalbhati zyada karne ki advice nahi dete dhanyavad

नमस्कार आपका पसंद है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है देखिए कपालभाति के

Romanized Version
Likes  83  Dislikes    views  2139
WhatsApp_icon
user

Rekha Agarwal

Yoga Teacher

0:44
Play

Likes  5  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
user

Dr.Mohan Kumar

Natrupathy Doctor and Nutritionist

1:27
Play

Likes  11  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
user

Jitendra Singh

Yoga Teacher

2:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रणाम कपालभाति से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है हां अथवा ना यह प्रश्न रखा है करता ने यहां पर एक बहुत आवश्यक बात यह जो सबसे पहले मैं कह दूं कि हां कपालभाति से कब्ज को पूरी तरह ठीक किया जा सकता है ना कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह ठीक नहीं किया जा सकता है गीता के अंतर्गत 1 लोग हैं युक्त आहार विहार से युक्त चेस्टर से कर्म से युक्त स्वप्ना बोधिसत्व योगो भवति दुखा योग उसके समस्त दुखों को हर लेता है जो युक्त आहार आईटी प्रॉपर्ली एप्रोप्रियेट डाइट एंड द एप्रोप्रियेट टाइम कि कब खाना है किस विचार के साथ में खाना खाने को चबा चबा कर खाना है कौन सा भोजन किस उम्र में किस समय पर खाना है कितनी मात्रा में खाना एवरीथिंग इंक्लूड्स सब कुछ अकाउंट होता है आहार के अंतर्गत वैसे ही विहार कब सोते हैं कब जाते हैं किस करवट सोते हैं कितनी देर सोते हैं हम सोते हैं तो भी उससे प्रॉब्लम होगी या अधिक सोते हैं तो उससे भी प्रॉब्लम होगी यानी कि बहुत कुछ डिपेंड करता है कि आप कब जी होंगे अथवा नहीं होंगे आपके भीतर कैसे विचार उत्पन्न होते आपके कर्म कैसे हैं आप पानी की मात्रा कितनी लेते हैं एवरीथिंग बहुत कुछ और इतना सब कुछ यदि आप करते हैं जैसा इस गीता के श्लोक में बोला गया है अंत में कहां गया योगो भवति दुखा के समस्त दुखों को हर लेता है तो कपालभाति एक ही योगी की क्रिया है तो उत्तर हुआ कि हां कपालभाति से कब पूरी तरह से ठीक होता है यानी योग के द्वारा कब पूरी तरह से ठीक हो सकता है परंतु हमारा भोजन वैसा हो हमारी दिनचर्या वैसी हो हमारा आहार-विहार हमारी सोच हमारे कर्म बहुत कुछ डिपेंड करता है आशा करता हूं आपको उत्तर आपका प्राप्त हो गया होगा धन्यवाद

pranam kapalbhati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai haan athva na yah prashna rakha hai karta ne yahan par ek bahut aavashyak baat yah jo sabse pehle main keh doon ki haan kapalbhati se kabz ko puri tarah theek kiya ja sakta hai na kapalbhati se kabz ko puri tarah theek nahi kiya ja sakta hai geeta ke antargat 1 log hain yukt aahaar vihar se yukt chester se karm se yukt swapna Bodhisatva bhavati dukha yog uske samast dukhon ko har leta hai jo yukt aahaar it properly epropriyet diet and the epropriyet time ki kab khana hai kis vichar ke saath me khana khane ko chaba chaba kar khana hai kaun sa bhojan kis umar me kis samay par khana hai kitni matra me khana everything inkluds sab kuch account hota hai aahaar ke antargat waise hi vihar kab sote hain kab jaate hain kis karavat sote hain kitni der sote hain hum sote hain toh bhi usse problem hogi ya adhik sote hain toh usse bhi problem hogi yani ki bahut kuch depend karta hai ki aap kab ji honge athva nahi honge aapke bheetar kaise vichar utpann hote aapke karm kaise hain aap paani ki matra kitni lete hain everything bahut kuch aur itna sab kuch yadi aap karte hain jaisa is geeta ke shlok me bola gaya hai ant me kaha gaya bhavati dukha ke samast dukhon ko har leta hai toh kapalbhati ek hi yogi ki kriya hai toh uttar hua ki haan kapalbhati se kab puri tarah se theek hota hai yani yog ke dwara kab puri tarah se theek ho sakta hai parantu hamara bhojan waisa ho hamari dincharya vaisi ho hamara aahaar vihar hamari soch hamare karm bahut kuch depend karta hai asha karta hoon aapko uttar aapka prapt ho gaya hoga dhanyavad

प्रणाम कपालभाति से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है हां अथवा ना यह प्रश्न रखा है कर

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  520
WhatsApp_icon
user

Dr.Shyonand

Naturopathy And Yogic Chikitsa

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाति एक्सर्ट कर्म क्रिया है इससे हमारे से बार-बार स्टॉप लगने से हमारी इंटेस्टाइन भी एक्टिवेट होती है और उनकी ताकत अधिक होती है मजबूत बनती है और वह हमारे शरीर की क्रिया कलाप गतिविधियां बिल्कुल सही हो जाती है कैसे कबड्डी भी ठीक हो जाती है

kapalbhati eksart karm kriya hai isse hamare se baar baar stop lagne se hamari intestine bhi activate hoti hai aur unki takat adhik hoti hai majboot banti hai aur vaah hamare sharir ki kriya kalap gatividhiyan bilkul sahi ho jaati hai kaise kabaddi bhi theek ho jaati hai

कपालभाति एक्सर्ट कर्म क्रिया है इससे हमारे से बार-बार स्टॉप लगने से हमारी इंटेस्टाइन भी एक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
user

Akash Mishra

Yoga Expert | Author | Naturopathist | Acupressure Specialist |

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

up50 कपालभाती से कब्ज को पूरी तरीके से ठीक किया जा सकता है या हां या नहीं पहली बार भक्ति का वास्तव में संबंध पेट से है कपालभाति घेरंड संहिता और हठयोग प्रदीपिका में बताए गए सेट कर्मों की श्रेणी में आता है और शक्कर में कपालभाति का कार्य मस्तिष्क का शोधन करना होता है उसका रिपीट से जुड़ा हुआ नहीं है पेट से संबंधित नहीं है हालांकि कुछ चिकित्सीय परिवर्धन के बाद में उससे पेट से जोड़ा गया है लेकिन वास्तव में उसका पेट से जुड़ाव नहीं है और जो कपालभाति के अन्य कुछ रूप है जैसे किसी धर्म युद्ध कर्म तो इन सारे कपालभाति में पेट से संबंधित क्रिया की जाती है पेट से जोड़कर कहता है लेकिन कब्ज में कपालभाति को कोई भूत ज्यादा लाभ नहीं है कब कुछ अच्छे से ठीक नहीं कर सकती है तो कपालभाति कब को पूरी तरीके से नहीं ठीक धन्यवाद

up50 kapalbhati se kabz ko puri tarike se theek kiya ja sakta hai ya haan ya nahi pehli baar bhakti ka vaastav me sambandh pet se hai kapalbhati gherand sanhita aur hathyog pradipika me bataye gaye set karmon ki shreni me aata hai aur shakkar me kapalbhati ka karya mastishk ka sodhan karna hota hai uska repeat se juda hua nahi hai pet se sambandhit nahi hai halaki kuch chikitsiya parivardhan ke baad me usse pet se joda gaya hai lekin vaastav me uska pet se judav nahi hai aur jo kapalbhati ke anya kuch roop hai jaise kisi dharm yudh karm toh in saare kapalbhati me pet se sambandhit kriya ki jaati hai pet se jodkar kahata hai lekin kabz me kapalbhati ko koi bhoot zyada labh nahi hai kab kuch acche se theek nahi kar sakti hai toh kapalbhati kab ko puri tarike se nahi theek dhanyavad

up50 कपालभाती से कब्ज को पूरी तरीके से ठीक किया जा सकता है या हां या नहीं पहली बार भक्ति क

Romanized Version
Likes  214  Dislikes    views  1756
WhatsApp_icon
user

J P Singh

Principal

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नमस्कार आपका प्रश्न है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरीके से ठीक किया जा सकता है हां या नहीं मुझे बिल्कुल यदि आप नियमित और समय अनुसार कपालभाति करते हैं तो निश्चित तौर पर यह कब्ज को दूर करेगा कपालभाति कब्ज के साथ-साथ गैस एसिडिटी और अन्य पेट से संबंधित समस्याओं को दूर करने में मददगार साबित होता है कपालभाती से हम पेट की चर्बी को भी कम कर सकते हैं और एक कपालभाति प्राणायाम दोनों ही दांत बाल और पेट संबंधी रोग को दूर करते हैं

ji namaskar aapka prashna hai kapalbhati se kabz ko puri tarike se theek kiya ja sakta hai haan ya nahi mujhe bilkul yadi aap niyamit aur samay anusaar kapalbhati karte hain toh nishchit taur par yah kabz ko dur karega kapalbhati kabz ke saath saath gas acidity aur anya pet se sambandhit samasyaon ko dur karne me madadgaar saabit hota hai kapalbhati se hum pet ki charbi ko bhi kam kar sakte hain aur ek kapalbhati pranayaam dono hi dant baal aur pet sambandhi rog ko dur karte hain

जी नमस्कार आपका प्रश्न है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरीके से ठीक किया जा सकता है हां या नही

Romanized Version
Likes  177  Dislikes    views  1230
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फेसबुक चला कपालभाति अपने जीवन में एक कैबिनेट मां बाप की जो कब्ज की समस्या है आपका जो पेट है आपका जो करेगा और आप किसी से कर लेते हैं तो अच्छे लाइसेंस हो पाएगा तो आपका जो कब किस समय उपयुक्त रिलीज हो जाएगा पेट और तेरे कार्य करेगा और मैडम रेखा के जीवन में

facebook chala kapalbhati apne jeevan me ek cabinet maa baap ki jo kabz ki samasya hai aapka jo pet hai aapka jo karega aur aap kisi se kar lete hain toh acche license ho payega toh aapka jo kab kis samay upyukt release ho jaega pet aur tere karya karega aur madam rekha ke jeevan me

फेसबुक चला कपालभाति अपने जीवन में एक कैबिनेट मां बाप की जो कब्ज की समस्या है आपका जो पेट ह

Romanized Version
Likes  261  Dislikes    views  1223
WhatsApp_icon
user

Radha Mohan

Yoga & Naturopathy Expert

7:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों कपालभाती से कम को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है क्या दोस्तों इस प्रश्न का सही और तर्कसंगत जवाब जानने से पहले हमें समझना होगा कि कपालभाति क्या है और कब क्या है जब इन दोनों का कॉन्सेप्ट हमें क्लियर होगा तो हम बड़े आसानी से इस प्रश्न का जवाब को समझ सकते हैं दोस्तों सबसे पहले हम जानते हैं कि कपालभाति क्या है तो सो कपालभाति एक शुद्ध क्रियाओं पाठ है जिसका वर्णन हमें स्वामी आत्माराम जी की बुक हठ प्रदीपिका में मिलता है और इस बुक में दोस्तों स्वामी स्वप्ना राम जी ने यह बताया है कि यदि मनुष्य शोधन क्रियाओं का अपने शरीर में अधिक प्रयोग करता है यदि इनको इनका अभ्यास किया जाता है तो हम अपने शरीर की आंतरिक शुद्धि कर सकते हैं उसे सुदीप्त राय होती है धोती बस्ती नैतिक नाटक 9 लीवर कपालभाति तो कपालभाति का अभ्यास करने का पीछे जो उद्देश्य होता है वह हमारे कपाल की शुद्धि करना होता है जब इसका में बात करते हैं तो हमारे मस्तिष्क की शुद्धि होती है यहां पर जितने भी टॉक्सिंस दूर होते हमारे जो ललाट में विशेष प्रकार की चमक आती नेचुरल ग्लो इसमें बढ़ता है और इससे हमारा पूरा शरीर धीरे-धीरे यूट्यूब से काय होता है तो हमारा जो चेहरे की चमक हो बढ़ती है तो मैं उद्देश्य तो उसका दोस्तों यही है अभी अभी हम बात करें कि भाई इसके मतलब इसके बाय प्रोडक्ट के रूप में हमें साइड में और क्या क्या बेनिफिट हो सकते हैं तो दोस्तों कपालभाति है जैसा कि हम जानते हैं मैन उद्देश्य किसका था मस्तिष्क की शुद्धि के लिए परंतु जब इसका हम अभ्यास करते हैं तो शरीर के सभी अंग पर कुछ न कुछ ऐसा रिश्ता आता ही है अब मैनपाट सर्विस का असर आता है जब इसकी हम अभ्यास करते हैं तो इससे हमारे जो स्टमक में है उस पर भी खिंचाव आता है यहां की जितनी मांसपेशियां हैं उनकी मसाज होती है इंटरनल ऑर्गन की मसाज होती है दोस्तों जो इसका असर हमारे डाइजेशन सिस्टम पर भी एक हद तक पड़ता है परंतु यह कहना कि कपालभाति करने से कभी पूरी तरह से ठीक हो जाएगा दोस्तों यह सही नहीं है क्योंकि कब्ज के बहुत से कारण हैं हम कब के बारे में ज्यादा जानकारी हम थोड़ी देर बाद में जाएंगे लेकिन हम क्योंकि अभी कपालभाति के बारे में बात तू कपालभाति कैसे मैंने कहा कि कपालभाति एक सुधि क्रिया है और इसका कपालभाति को कभी भी ऐसी पतंजलि ने अपने योग सूत्र में शामिल नहीं किया है ना इसका हमें पतंजलि योग सूत्र में कहीं उल्लेख मिलता है कि कपालभाति काय प्रणब की तरह व्यक्त किया जाना चाहिए बहुत से लोग जो योग के बारे में जानकारी नहीं रखते हैं वह शायद यही समझते हैं कि कपालभाति प्राणायाम है और प्राणायाम के बाद इसका अभ्यास करते रहते हैं बड़े दुख की बात यह भी है कि बहुत सारे योग शिक्षक जो योग विशेषज्ञ रूप के रूप में काम कर रहे हैं वह भी कपालभाति को हटाने की तरह व्यस्त करवाते रहते हैं जिससे सही प्रकार से लाभ नहीं मिल पाते हैं दोस्तों कपालभाति क्योंकि एक की शुद्धि क्रिया है एक टी-शर्ट कर्म का हिस्सा है तो इसके कुछ लिमिटेशंस होती है ऐसा नहीं है कि सभी व्यक्तियों को समान रूप से कपालभाति काव्य करवा दिया जाना चाहिए बहुत ही गलत असर हो सकते हैं फॉर एग्जांपल यदि किसी का हार्ट की प्रॉब्लम है या अगर किसी के ब्लड प्रेशर हाई है या फिर पेट में अल्सर है या हार नहीं है तो इन केसेस में व्यक्ति को कपालभाति क्रिया का अभ्यास बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि यदि इस प्रकार की परिस्थिति में कपालभाति क्रिया का अभ्यास किया जाता है तो उसके जो है परिणाम बुरे हो सकता है नुकसान भी हो सकता है उसके हमें अच्छी तरह समझ कर इस कारण कपालभाति क्रिया का अभ्यास करवाया जाना चाहिए इसको प्राणायाम की भांति अभ्यास नहीं करना चाहिए कि ठीक है एक ही बार में 20 20 15 15 30 स्ट्रांग कर रहे हैं जैसा कि अक्सर लोग बताते हैं कि नहीं इसको अभ्यास करते रहो करते रहो दोस्तों इससे हमारे जो ब्लड की प्रेशर है वह काफी बढ़ सकता है तो इसका अभ्यास करें तो किसी अच्छे योग शिक्षक के सानिध्य में करें उसका कौन सा समझ सकता है तो यह बात रही अब अगर हम बात करें कि कब्ज क्या है तो उसमें कब के भी पहुंचे कारण हो सकते हैं कभी इसलिए भी हो सकता है कि यदि आप बहुत ज्यादा तलावली स्पाइसी फूड जंक फूड का सेवन करते हैं वह ज्यादा गरिष्ठ मात्रा में भोजन करते हैं या फिर ऐसा भोजन करते हैं जो फ्रेश नहीं है बाकी है तो ऐसा भोजन आपके स्टमक में जाकर एसिड की मात्रा बढ़ाने लगता है आपके स्टमक के अंदर किले पर दोस्तों क्या होता है कि एसिडिटी की मात्रा बढ़ने लगती हैं गैस्ट्रिक प्रॉब्लम हो जाती है और ऐसा होने से कुछ खट्टी डकार आना पेट में जलन होना गैस एसिडिटी की समस्या हो जाती है इसके पीछे सबसे बड़ा कारण होता है हमारे खान-पान से जुड़ी हुई तब से जो बुरी आदत है वह तो अब यदि हम यह बात करें दोनों को अगर मिला कर देखें कि क्या कपालभाति कब्ज को पूरी तरह से ठीक कर सकता है तो दोस्तों यह हंड्रेड परसेंट सही नहीं है क्योंकि कपालभाति का उद्देश्य मारी मस्तिष्क की शुद्धि करना होता है आवश्यक इसका एक कुछ ना कुछ प्रभाव हमारे डाइजेशन सिस्टम पर पड़ता है लेकिन यह कहना कि कपालभाति का व्यास करने से कभी को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है बिल्कुल गलत है आप अगर कम को ठीक करना चाहते हैं तो इसके लिए दूसरे अभ्यास करें आसनों का अभ्यास करें ऐसे आसनों का अभ्यास करें जिस दिन का असर आपके स्टमक पर पड़ता है भुजंगासन का प्रयास कर सकते हैं ताड़ासन का अभ्यास करें पश्चिमोत्तानासन का अभ्यास करें उसने चक्रासन प्रदर्शन है पवनमुक्तासन ऐसे बहुत सारे ऐसे ऐसे हैं जो स्ट्रेचेबल आसन का अभ्यास करने से मरा डाइजेशन सिस्टम पर बहुत ही असर पड़ता है यहां पर खून और लड़की और शासन की सप्लाई इंटरनल जितने भी ऑफर और ज्ञान से हमारे जो डाइजेशन सिस्टम में है उनके पास होती है तो उनकी कार्यप्रणाली बेहतर बनती है इससे आपकी कब्ज की समस्या धीरे-धीरे समाप्त होने लगी है दूसरा प्राणायाम का अभ्यास कर सकते हैं प्राणायाम अनुलोम विलोम प्राणायाम का अभ्यास करें जब आप अनुलोम विलोम प्राणायाम का अभ्यास करते हैं तो इससे आपके शरीर की सभी नाड़ियों की शुद्धि होती है और नारी को सर्दी होने का मतलब यह है कि आपकी जो चाहे फिर आपकी इंटेस्टाइनल पहले रिया हो फिर या फिर कोई भी इंटरनल ऑर्गन उत्सव की जो है समान मात्रा में वह एक्टिवेट होते रहते हैं उसमें जब हम प्रणाम करते हैं सूर्य और चंद्र नाड़ी का बैलेंस स्थापित होता है और जब ऐसा होता है तो हमारी जितने भी वात पित्त और कफ से संबंधित जो रोग वह शांत होते हैं एसिड की मात्रा जो बढ़ रही है हमारे स्टमक में धीरे-धीरे ठीक होने लगती है और हमारी कब्ज की समस्या भी दूर होने लगती है इसके साथ-साथ कुछ और भी आप प्राणायाम का अभ्यास करते हैं आप सूर्य भजन प्रणाम कर दिया कह सकते हैं जवाब सूर्यभेदन प्राणायाम का अभ्यास करते हैं तो इससे आपकी बॉडी में कीट की जनरल जनरेट होती रहती है और जब हिट बढ़ती है तो यह आप इतने में टॉक्सिन से हैं आपके स्टमक में एसिड है उनको धीरे-धीरे दूर करती रहती है जिससे आपकी कल की समस्या दूर होने लगती है तो कब की समस्या होने का सबसे बड़ा कारण यह है कि आपको कॉन्स्टिपेशन या फिर इनडाइजेशन हो रहा है और इनडाइजेशन होना इसका मतलब यह जैसा अभी हमने बात करी जो बहुत ज्यादा गरिष्ठ भोजन आप कर रहे हैं तो आप नेचुरल इसको ठीक करने के लिए आपको शुद्ध साथी को हल्के भोजन का सेवन करना चाहिए खाने में आप अधिक से अधिक श्रेष्ठ उपसौर वेजिटेबल को शामिल करें फाइबर की मात्रा बढ़ाएं नारियल पानी का सेवन करें आप जितने भी मोटा अनाज है उसका सेवन करें खाने में जवाब चपाती बनाते हैं तो उसको मोटे आटे की बनाकर बनाकर और उसको खाएं तो जब मोटा आटा जाएंगे तो चोकर युक्त आटे की रोटी जवाब के स्टमक में जाएगी तो वह फाइबर काम करेगी और आपकी जो मर्जी निष्कासन की प्रक्रिया उसको तेज करेगी तो इसके साथ आता है जमा कर सकते हैं आपके इनडाइजेशन में बहुत ही अच्छी काम कारगर होती है जब मन करे आप जब करते हैं कुंजल क्रिया जैसे हम बोलते हैं तो इसकी जो आपकी स्टमक में जो ऐसे नमक की मात्रा बढ़ रही है वह धीरे-धीरे ठीक होने लगती है तो इस प्रकार आप कपालभाति के अलावा और भी बहुत सारे ऐसे प्रैक्टिसेज इन का अभ्यास करके आप एक सटीक उपचार आप कर सकते हैं अपनी कब्ज की समस्या का पुरुषों अब आपको दो स्वयं यह समझ सकते हैं कि क्या कब्ज का इलाज कपालभाति तरफ से पूरी तरह संभव है मेरे हिसाब से तो दोस्तों से संभव नहीं है कपालभाति हमारे मस्तिष्क शुद्धि के लिए है और सब कुछ साहस असर हमारे राजस्थान पर आता है लेकिन यह कहना कि कपालभाति का अभ्यास करने से हमें कब की समस्या से पूरी तरह से छुटकारा मिल जाएगा दोस्तों यह बिल्कुल गलत है धन्यवाद

namaskar doston kapalbhati se kam ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai kya doston is prashna ka sahi aur tarksangat jawab jaanne se pehle hamein samajhna hoga ki kapalbhati kya hai aur kab kya hai jab in dono ka concept hamein clear hoga toh hum bade aasani se is prashna ka jawab ko samajh sakte hain doston sabse pehle hum jante hain ki kapalbhati kya hai toh so kapalbhati ek shudh kriyaon path hai jiska varnan hamein swami atmarama ji ki book hath pradipika me milta hai aur is book me doston swami swapna ram ji ne yah bataya hai ki yadi manushya sodhan kriyaon ka apne sharir me adhik prayog karta hai yadi inko inka abhyas kiya jata hai toh hum apne sharir ki aantarik shudhi kar sakte hain use sudipt rai hoti hai dhoti basti naitik natak 9 liver kapalbhati toh kapalbhati ka abhyas karne ka peeche jo uddeshya hota hai vaah hamare kapal ki shudhi karna hota hai jab iska me baat karte hain toh hamare mastishk ki shudhi hoti hai yahan par jitne bhi taksins dur hote hamare jo lalaat me vishesh prakar ki chamak aati natural glow isme badhta hai aur isse hamara pura sharir dhire dhire youtube se kya hota hai toh hamara jo chehre ki chamak ho badhti hai toh main uddeshya toh uska doston yahi hai abhi abhi hum baat kare ki bhai iske matlab iske bye product ke roop me hamein side me aur kya kya benefit ho sakte hain toh doston kapalbhati hai jaisa ki hum jante hain man uddeshya kiska tha mastishk ki shudhi ke liye parantu jab iska hum abhyas karte hain toh sharir ke sabhi ang par kuch na kuch aisa rishta aata hi hai ab mainpat service ka asar aata hai jab iski hum abhyas karte hain toh isse hamare jo stomach me hai us par bhi khinchav aata hai yahan ki jitni manspeshiya hain unki Massage hoti hai internal organ ki Massage hoti hai doston jo iska asar hamare digestion system par bhi ek had tak padta hai parantu yah kehna ki kapalbhati karne se kabhi puri tarah se theek ho jaega doston yah sahi nahi hai kyonki kabz ke bahut se karan hain hum kab ke bare me zyada jaankari hum thodi der baad me jaenge lekin hum kyonki abhi kapalbhati ke bare me baat tu kapalbhati kaise maine kaha ki kapalbhati ek sudhi kriya hai aur iska kapalbhati ko kabhi bhi aisi patanjali ne apne yog sutra me shaamil nahi kiya hai na iska hamein patanjali yog sutra me kahin ullekh milta hai ki kapalbhati kya pranab ki tarah vyakt kiya jana chahiye bahut se log jo yog ke bare me jaankari nahi rakhte hain vaah shayad yahi samajhte hain ki kapalbhati pranayaam hai aur pranayaam ke baad iska abhyas karte rehte hain bade dukh ki baat yah bhi hai ki bahut saare yog shikshak jo yog visheshagya roop ke roop me kaam kar rahe hain vaah bhi kapalbhati ko hatane ki tarah vyast karwaate rehte hain jisse sahi prakar se labh nahi mil paate hain doston kapalbhati kyonki ek ki shudhi kriya hai ek T shirt karm ka hissa hai toh iske kuch Limitations hoti hai aisa nahi hai ki sabhi vyaktiyon ko saman roop se kapalbhati kavya karva diya jana chahiye bahut hi galat asar ho sakte hain for example yadi kisi ka heart ki problem hai ya agar kisi ke blood pressure high hai ya phir pet me Ulcer hai ya haar nahi hai toh in cases me vyakti ko kapalbhati kriya ka abhyas bilkul bhi nahi karna chahiye kyonki yadi is prakar ki paristhiti me kapalbhati kriya ka abhyas kiya jata hai toh uske jo hai parinam bure ho sakta hai nuksan bhi ho sakta hai uske hamein achi tarah samajh kar is karan kapalbhati kriya ka abhyas karvaya jana chahiye isko pranayaam ki bhanti abhyas nahi karna chahiye ki theek hai ek hi baar me 20 20 15 15 30 strong kar rahe hain jaisa ki aksar log batatey hain ki nahi isko abhyas karte raho karte raho doston isse hamare jo blood ki pressure hai vaah kaafi badh sakta hai toh iska abhyas kare toh kisi acche yog shikshak ke sanidhya me kare uska kaun sa samajh sakta hai toh yah baat rahi ab agar hum baat kare ki kabz kya hai toh usme kab ke bhi pahuche karan ho sakte hain kabhi isliye bhi ho sakta hai ki yadi aap bahut zyada talavali spicy food junk food ka seven karte hain vaah zyada garishth matra me bhojan karte hain ya phir aisa bhojan karte hain jo fresh nahi hai baki hai toh aisa bhojan aapke stomach me jaakar acid ki matra badhane lagta hai aapke stomach ke andar kile par doston kya hota hai ki acidity ki matra badhne lagti hain gastric problem ho jaati hai aur aisa hone se kuch khatti dakar aana pet me jalan hona gas acidity ki samasya ho jaati hai iske peeche sabse bada karan hota hai hamare khan pan se judi hui tab se jo buri aadat hai vaah toh ab yadi hum yah baat kare dono ko agar mila kar dekhen ki kya kapalbhati kabz ko puri tarah se theek kar sakta hai toh doston yah hundred percent sahi nahi hai kyonki kapalbhati ka uddeshya mari mastishk ki shudhi karna hota hai aavashyak iska ek kuch na kuch prabhav hamare digestion system par padta hai lekin yah kehna ki kapalbhati ka vyas karne se kabhi ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai bilkul galat hai aap agar kam ko theek karna chahte hain toh iske liye dusre abhyas kare aasanon ka abhyas kare aise aasanon ka abhyas kare jis din ka asar aapke stomach par padta hai bhujangasan ka prayas kar sakte hain tadasan ka abhyas kare pashchimottanasan ka abhyas kare usne chakrasan pradarshan hai pavanamuktasan aise bahut saare aise aise hain jo strechebal aasan ka abhyas karne se mara digestion system par bahut hi asar padta hai yahan par khoon aur ladki aur shasan ki supply internal jitne bhi offer aur gyaan se hamare jo digestion system me hai unke paas hoti hai toh unki Karya Pranali behtar banti hai isse aapki kabz ki samasya dhire dhire samapt hone lagi hai doosra pranayaam ka abhyas kar sakte hain pranayaam anulom vilom pranayaam ka abhyas kare jab aap anulom vilom pranayaam ka abhyas karte hain toh isse aapke sharir ki sabhi nadiyon ki shudhi hoti hai aur nari ko sardi hone ka matlab yah hai ki aapki jo chahen phir aapki intestainal pehle riya ho phir ya phir koi bhi internal organ utsav ki jo hai saman matra me vaah activate hote rehte hain usme jab hum pranam karte hain surya aur chandra naadi ka balance sthapit hota hai aur jab aisa hota hai toh hamari jitne bhi vaat pitt aur cough se sambandhit jo rog vaah shaant hote hain acid ki matra jo badh rahi hai hamare stomach me dhire dhire theek hone lagti hai aur hamari kabz ki samasya bhi dur hone lagti hai iske saath saath kuch aur bhi aap pranayaam ka abhyas karte hain aap surya bhajan pranam kar diya keh sakte hain jawab suryabhedan pranayaam ka abhyas karte hain toh isse aapki body me kit ki general generate hoti rehti hai aur jab hit badhti hai toh yah aap itne me toxin se hain aapke stomach me acid hai unko dhire dhire dur karti rehti hai jisse aapki kal ki samasya dur hone lagti hai toh kab ki samasya hone ka sabse bada karan yah hai ki aapko constipation ya phir inadaijeshan ho raha hai aur inadaijeshan hona iska matlab yah jaisa abhi humne baat kari jo bahut zyada garishth bhojan aap kar rahe hain toh aap natural isko theek karne ke liye aapko shudh sathi ko halke bhojan ka seven karna chahiye khane me aap adhik se adhik shreshtha upasaur vegetable ko shaamil kare fiber ki matra badhaye nariyal paani ka seven kare aap jitne bhi mota anaaj hai uska seven kare khane me jawab chapati banate hain toh usko mote aate ki banakar banakar aur usko khayen toh jab mota atta jaenge toh choker yukt aate ki roti jawab ke stomach me jayegi toh vaah fiber kaam karegi aur aapki jo marji nishkasan ki prakriya usko tez karegi toh iske saath aata hai jama kar sakte hain aapke inadaijeshan me bahut hi achi kaam kargar hoti hai jab man kare aap jab karte hain kunjal kriya jaise hum bolte hain toh iski jo aapki stomach me jo aise namak ki matra badh rahi hai vaah dhire dhire theek hone lagti hai toh is prakar aap kapalbhati ke alava aur bhi bahut saare aise practices in ka abhyas karke aap ek sateek upchaar aap kar sakte hain apni kabz ki samasya ka purushon ab aapko do swayam yah samajh sakte hain ki kya kabz ka ilaj kapalbhati taraf se puri tarah sambhav hai mere hisab se toh doston se sambhav nahi hai kapalbhati hamare mastishk shudhi ke liye hai aur sab kuch saahas asar hamare rajasthan par aata hai lekin yah kehna ki kapalbhati ka abhyas karne se hamein kab ki samasya se puri tarah se chhutkara mil jaega doston yah bilkul galat hai dhanyavad

नमस्कार दोस्तों कपालभाती से कम को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है क्या दोस्तों इस प्रश्न क

Romanized Version
Likes  251  Dislikes    views  1797
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका वजन कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है हां या ना देखे कपालभाति आपके अंडरस्टैंड पार्ट को एक्टिव करता है इंडक्शन में जैसा कि इंटेस्टाइन वीक हो जाती है उसी स्थिति में आते हैं उतनी अच्छी तरह से भोजन को पचा नहीं पाते और आंतों के साथ-साथ आप के कब्जे में और भी ऑर्गन जैसे लिवर का भी बहुत बड़ा रोल होता है तो इसलिए कपालभाति बहुत अधिक इफेक्टिव है कब्ज वालों के लिए जरूर उन्हें सुबह-शाम 15 मिनट कपालभाति करना चाहिए और कपालभाति के साथ-साथ और भी बहुत चीजें महत्वपूर्ण है इस पर मैंने कुछ वीडियोस बनाई है आप मेरे यूट्यूब चैनल पर जाइए प्रोफाइल में लिंक दिया है चैनल को सब्सक्राइब करिए और वहां से आप कब्ज का संपूर्ण समाधान पा सकते हैं हरि ओम

aapka wajan kapalbhati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai haan ya na dekhe kapalbhati aapke understand part ko active karta hai induction me jaisa ki intestine weak ho jaati hai usi sthiti me aate hain utani achi tarah se bhojan ko pacha nahi paate aur anton ke saath saath aap ke kabje me aur bhi organ jaise liver ka bhi bahut bada roll hota hai toh isliye kapalbhati bahut adhik effective hai kabz walon ke liye zaroor unhe subah shaam 15 minute kapalbhati karna chahiye aur kapalbhati ke saath saath aur bhi bahut cheezen mahatvapurna hai is par maine kuch videos banai hai aap mere youtube channel par jaiye profile me link diya hai channel ko subscribe kariye aur wahan se aap kabz ka sampurna samadhan paa sakte hain hari om

आपका वजन कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है हां या ना देखे कपालभाति आपके

Romanized Version
Likes  436  Dislikes    views  4912
WhatsApp_icon
user

Ashish Lavania

Yoga Trainer

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाती से कब्जे पूरी तरीके से ठीक किया जा सकता है हां या नहीं जी बिल्कुल पूरी तरीके से ठीक किया जा सकता है पर उसके साथ-साथ आपको डाइट भी प्रॉपर लेनी होती है ऐसा नहीं है कि आप कपालभाति कर रहे हैं प्रॉपर वे में बरखा कुछ भी रहे हैं तो उसकी वजह से अब फिर कह रहे हैं कि आप यह प्राणायाम की वैसे ठीक नहीं हो पा रहा है लेकर गर्म पानी का सेवन शुरू करिए खाने से आधा घंटा पहले और 1 घंटे बाद पानी मत कीजिए रात को बहुत भारी खाना बताइए बहुत दुख हो तभी खाइए लीटर दूध पीकर सोइए ठीक है खाने को चबा चबा कर खाए कपालभाति करिए कोई परेशानी नहीं आएगी खाने के बाद फोन करिए ठीक है बस इतना करिए खाली पेट पपीता कब कब कब जी जो है वह पूरी तरीके से ठीक हो जाएगी

kapalbhati se kabje puri tarike se theek kiya ja sakta hai haan ya nahi ji bilkul puri tarike se theek kiya ja sakta hai par uske saath saath aapko diet bhi proper leni hoti hai aisa nahi hai ki aap kapalbhati kar rahe hain proper ve me barkha kuch bhi rahe hain toh uski wajah se ab phir keh rahe hain ki aap yah pranayaam ki waise theek nahi ho paa raha hai lekar garam paani ka seven shuru kariye khane se aadha ghanta pehle aur 1 ghante baad paani mat kijiye raat ko bahut bhari khana bataiye bahut dukh ho tabhi khaiye litre doodh peekar soiye theek hai khane ko chaba chaba kar khaye kapalbhati kariye koi pareshani nahi aayegi khane ke baad phone kariye theek hai bus itna kariye khaali pet papita kab kab kab ji jo hai vaah puri tarike se theek ho jayegi

कपालभाती से कब्जे पूरी तरीके से ठीक किया जा सकता है हां या नहीं जी बिल्कुल पूरी तरीके से ठ

Romanized Version
Likes  235  Dislikes    views  3716
WhatsApp_icon
user

Sapna

Social Worker

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कपाल भारती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है हां या नहीं आंसर ग्रुप में मैं आपको बताना चाहूंगी कि कपालभाति कब्ज के रोगियों के लिए फायदेमंद तो है मगर पूरी तरह से कब्ज को ठीक नहीं किया जा सकता उसके लिए कुछ खाद्य पदार्थों का भी उपयोग किया जाता है दिल से कभी ना हो जैसे जितना अधिक गुनगुना पानी पिया जाएगा तो कब ठीक होगी और उसके अलावा हरी सब्जियों का प्रयोग और जिन सब्जियों में जल की मात्रा अधिक होती है ऐसी सब्जियों का प्रयोग करें ऐसी फलों का प्रयोग करें जिनमें रस होता तो कब्ज पूर्ण रूप से नष्ट हो जाएगी सपना शर्मा

aapka prashna hai kapal bharati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai haan ya nahi answer group me main aapko batana chahungi ki kapalbhati kabz ke rogiyon ke liye faydemand toh hai magar puri tarah se kabz ko theek nahi kiya ja sakta uske liye kuch khadya padarthon ka bhi upyog kiya jata hai dil se kabhi na ho jaise jitna adhik gunguna paani piya jaega toh kab theek hogi aur uske alava hari sabjiyon ka prayog aur jin sabjiyon me jal ki matra adhik hoti hai aisi sabjiyon ka prayog kare aisi falon ka prayog kare jinmein ras hota toh kabz purn roop se nasht ho jayegi sapna sharma

आपका प्रश्न है कपाल भारती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है हां या नहीं आंसर ग्रु

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  744
WhatsApp_icon
play
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाति कब्ज को पूरी तरह से ठीक कर सकते हैं जहां आप ऐसा कर सकते हैं और आप ध्यान रखें कि आपकी सशन प्रक्रिया भी बहुत अच्छी हो जाएगी और जिससे आपके कई समस्याएं दूर होंगे ऐसे योगा योगा करना बहुत जरूरी है जीवन में

kapalbhati kabz ko puri tarah se theek kar sakte hain jaha aap aisa kar sakte hain aur aap dhyan rakhen ki aapki sashan prakriya bhi bahut achi ho jayegi aur jisse aapke kai samasyaen dur honge aise yoga yoga karna bahut zaroori hai jeevan me

कपालभाति कब्ज को पूरी तरह से ठीक कर सकते हैं जहां आप ऐसा कर सकते हैं और आप ध्यान रखें कि आ

Romanized Version
Likes  224  Dislikes    views  3227
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाती से कब्जे को पूरी तरह ठीक किया जा सकता है इसके नियमों का भी पालन करना पड़ेगा योग करना है तो हम खा रहे हैं या फिर कोई ऐसा मानता हर भी कर रहे हैं और तेल मसाला भी खा कर रहे हो कल भी कर रहे हैं ऐसा नहीं होता है पानी भी अधिक मात्रा में पीना होगा अब तो ऐसे तरीके से भोजन के नियम का पालन करना पड़ेगा करना पड़ेगा और जो भी आदत है

kapalbhati se kabje ko puri tarah theek kiya ja sakta hai iske niyamon ka bhi palan karna padega yog karna hai toh hum kha rahe hain ya phir koi aisa maanta har bhi kar rahe hain aur tel masala bhi kha kar rahe ho kal bhi kar rahe hain aisa nahi hota hai paani bhi adhik matra me peena hoga ab toh aise tarike se bhojan ke niyam ka palan karna padega karna padega aur jo bhi aadat hai

कपालभाती से कब्जे को पूरी तरह ठीक किया जा सकता है इसके नियमों का भी पालन करना पड़ेगा योग क

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  545
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह ठीक किया जा सकता है कपालभाति योग की एक ऐसी क्रिया है जिसमें हम पांच को बहुत राष्ट्र के साथ बाहर निकालते हैं और इस क्रिया को हम लगातार 15 मिनट तक करते हैं 1 मिनट में हमको साथ बात करना होता है 900 बार इसको निक्के सुबह उठ 912 शाम को स्टॉप देने पर निश्चय से ही कब्ज का निवारण हो सकता है धन्यवाद

kapalbhati se kabz ko puri tarah theek kiya ja sakta hai kapalbhati yog ki ek aisi kriya hai jisme hum paanch ko bahut rashtra ke saath bahar nikalate hain aur is kriya ko hum lagatar 15 minute tak karte hain 1 minute me hamko saath baat karna hota hai 900 baar isko nikke subah uth 912 shaam ko stop dene par nishchay se hi kabz ka nivaran ho sakta hai dhanyavad

कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह ठीक किया जा सकता है कपालभाति योग की एक ऐसी क्रिया है जिसमें ह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  374
WhatsApp_icon
user
2:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां कपालभाती से कब्ज को दूर किया जा सकता है और इसके लिए कुछ और आसन भी है जैसे मकरासन दाएं बाएं तरफ घुटनों को टर्न करना कटी मकरासन और अर्ध चक्रासन पैरों को मोड़कर कमर को धीरे-धीरे ऊपर उठाना इसका दूसरा नाम सेतुबंध भी है यह भी आप कर सकते हैं आप पानी भी खूब पिए कम से कम दो-तीन गिलास पानी पिए आपके और लाभ भी हैं आपका पेट भी साफ होगा तो इसलिए आप पानी खूब पीएं इसका साइंटिफिक रीजन है कि अगर आप टॉयलेट में पानी कम डालेंगे तो वहां गंदगी रहेगी और अगर आप पानी आपको खूब डालेंगे तो वहां पर सफाई रहेगी तो आप भी अपने पेट को खूब पानी देने से क्या ब्लड प्रेशर भी सही रहे आपरेशन भी सही रहे भोजन भी अच्छा बच्चे ब्लड भी आपका पतला रहे फिर भी आपका साथ होगा पथरी की समस्या नहीं होगी तो कम से कम आप ढाई से तीन गिलास तक अगर आप अभी कंपनी पाते तो तो धीरे-धीरे बढ़ाते हुए इतराती है इसका एक फायदा आपको और यह भी होगा अगर आप दिन में न पीता है तो आपके तीन गिलास काफी हो गया तो इससे जैसन सुबह प्लांट को पानी देते हैं आपकी आंखों को भी पानी मिलेगा तो उनकी सिंचाई होगी और वह अच्छे बनेंगे प्रारंभ में क्या करें कुछ दिन आप रात को एक चम्मच त्रिफला भीगा दे पानी में उसको रात को खाना खाने के बाद लेले दस 12 दिन आप इसको करें फिर उसको बंद कर दें आपको बिल्कुल फायदा मिलेगा और अपने सोने और उठने के समय को थोड़ा सा आप सही करें कभी-कभी बहुत सारे लोग जैसे 5:00 बजे उठ गए तभी 6:00 बजे कभी 9:00 बजे इससे भी हमारा है सोने का जो वह है मोशन का वह भी डिस्टर्ब हो जाता है इसको भी आपने कोशिश करना है कि कभी कबार हो अलग बात है पर बार-बार लो 8:00 टाइम फिक्स रखे अपने उठने का था कि मुझे 7:00 बजे उठना है तो 7:00 ही उठना है तो आपका जो फ्रेश होने का टाइम फिक्स हो जाएगा आप यह सब क्रिया है करें आपको जरूर लाभ मिलेगा

haan kapalbhati se kabz ko dur kiya ja sakta hai aur iske liye kuch aur aasan bhi hai jaise makarasan dayen baen taraf ghutno ko turn karna katee makarasan aur ardh chakrasan pairon ko modakar kamar ko dhire dhire upar uthana iska doosra naam setubandh bhi hai yah bhi aap kar sakte hain aap paani bhi khoob piye kam se kam do teen gilas paani piye aapke aur labh bhi hain aapka pet bhi saaf hoga toh isliye aap paani khoob pien iska scientific reason hai ki agar aap toilet me paani kam daalenge toh wahan gandagi rahegi aur agar aap paani aapko khoob daalenge toh wahan par safaai rahegi toh aap bhi apne pet ko khoob paani dene se kya blood pressure bhi sahi rahe operation bhi sahi rahe bhojan bhi accha bacche blood bhi aapka patla rahe phir bhi aapka saath hoga pathari ki samasya nahi hogi toh kam se kam aap dhai se teen gilas tak agar aap abhi company paate toh toh dhire dhire badhate hue itraati hai iska ek fayda aapko aur yah bhi hoga agar aap din me na pita hai toh aapke teen gilas kaafi ho gaya toh isse jaisan subah plant ko paani dete hain aapki aakhon ko bhi paani milega toh unki sinchai hogi aur vaah acche banenge prarambh me kya kare kuch din aap raat ko ek chammach Triphala bhiga de paani me usko raat ko khana khane ke baad lele das 12 din aap isko kare phir usko band kar de aapko bilkul fayda milega aur apne sone aur uthane ke samay ko thoda sa aap sahi kare kabhi kabhi bahut saare log jaise 5 00 baje uth gaye tabhi 6 00 baje kabhi 9 00 baje isse bhi hamara hai sone ka jo vaah hai motion ka vaah bhi disturb ho jata hai isko bhi aapne koshish karna hai ki kabhi kabar ho alag baat hai par baar baar lo 8 00 time fix rakhe apne uthane ka tha ki mujhe 7 00 baje uthna hai toh 7 00 hi uthna hai toh aapka jo fresh hone ka time fix ho jaega aap yah sab kriya hai kare aapko zaroor labh milega

हां कपालभाती से कब्ज को दूर किया जा सकता है और इसके लिए कुछ और आसन भी है जैसे मकरासन दाएं

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  624
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है या नहीं इसके उत्तर में कहा जा सकता है पेट के कब्ज को कपालभाती से पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है और इसके साथ-साथ आपको पवनमुक्तासन करना उचित और से कभी जो है उस जड़ से उखड़ जाएगा

prashna hai kapalbhati se kabz ko puri tarah se theek kiya ja sakta hai ya nahi iske uttar me kaha ja sakta hai pet ke kabz ko kapalbhati se puri tarah se theek kiya ja sakta hai aur iske saath saath aapko pavanamuktasan karna uchit aur se kabhi jo hai us jad se ukhar jaega

प्रश्न है कपालभाती से कब्ज को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है या नहीं इसके उत्तर में कहा ज

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राम संदीप योग से बात करते हैं आपके सवाल कि आपका सवाल एक कपालभाती से कब को पूरी तरह से ही किया जा सकता है या नहीं दिल्ली सेक्स कपालभाती ही नहीं मैं आपको एक और चीज ऐड करने को कहूंगा वह होगा वज्रासन जब आप खाना खाते हैं उसके बाद करीब 3 से 4 मिनट वज्रासन में बैठते हैं तो आपको कब की दिक्कत नहीं होना चाहिए और रही बात कपालभाति तो कपालभाति तो काफी चीजों के अलावा को पहुंचाता है ओन्ली फोर का कपालभाति भी की थी लेकिन अगर आप वज्रासन में बैठने की आदत डाल लेते हैं तो आपको बहुत फायदा जय श्री राम

jai shri ram sandeep yog se baat karte hain aapke sawaal ki aapka sawaal ek kapalbhati se kab ko puri tarah se hi kiya ja sakta hai ya nahi delhi sex kapalbhati hi nahi main aapko ek aur cheez aid karne ko kahunga vaah hoga vajrasan jab aap khana khate hain uske baad kareeb 3 se 4 minute vajrasan me baithate hain toh aapko kab ki dikkat nahi hona chahiye aur rahi baat kapalbhati toh kapalbhati toh kaafi chijon ke alava ko pohchta hai only four ka kapalbhati bhi ki thi lekin agar aap vajrasan me baithne ki aadat daal lete hain toh aapko bahut fayda jai shri ram

जय श्री राम संदीप योग से बात करते हैं आपके सवाल कि आपका सवाल एक कपालभाती से कब को पूरी तरह

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user

Yogacharya Shubham

Yoga Instructor

3:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कपालभाती से कब्ज पूरी तरह ठीक किया जा सकता है या नहीं किसी भी बीमारी के बहुत सारे सिम्टम्स होते हैं किसी एक कारण नहीं होता है चाहे वह सिर दर्द हो चाहे योग कब्ज कब्ज के अनेक कारण हैं पहला तो हमारा खान-पान कैसा है हमारा उठना बैठना सोना जागना हमारे इंटेस्टाइन की क्या कैपेसिटी है तो आपका कपालभाति का प्रश्न है कपालभाति संस्कृत में कपाल मस्तिष्क प्रदेश तो मस्तिष्क प्रदेश की सिद्धि के लिए कपालभाति का प्रयोग किया जाता है लेकिन कहीं ना कहीं कपालभाति से पूरे शरीर का शोधन होता है इसमें निसंदेह और उसमें परेड भी आता है और पेट ओबेसिटी के बाद ही कपालभाति ही अभ्यास करने से काफी फायदा मिलता है पूरे शरीर के ब्लड सेल्स को एनर्जी देता है कपालभाति कब जो हमारे इंटरनल ऑर्गन हमको कम से कम होता है जमाले इंटरनल ऑर्गन कुछ वीक हो इसलिए तो हम प्रतिदिन कपालभाति ब्रह्म मुहूर्त में सुबह उठते ही करते हैं स्टार्टिंग में 5 मिनट से स्टार्ट करके 10:15 मिनट पर सोच बनी हो तो क्या आपके पास भर्ती कीजिए तो कब्ज क्या जिओ शरीर की हर समस्या का निदान हो सकता है मजबूत रहेंगे तो आपको कुछ नहीं होगा यह कब नहीं हो सकता मतलब गलत प्रतिदिन कपालभाति करे तो कब्ज नहीं हो सकता लेकिन एक बार कब जो आपको हो गया तो आपको कुछ घरेलू उपाय का भी प्रयोग करना चाहिए जिससे हमें प्रतिदिन 1 दिन में ढाई सौ 3 लीटर पानी पीना किया अब हम पानी इतना भी नहीं रहे और कपालभाति बस एक चीज पकड हम तंत्रिका लेने फास्ट फूड लेने और कपालभाति करेंगे तो इसने थकने आएगा हमारा जुटाए थे वह सात्विक आहार भी होना चाहिए तो साथी का हार के साथ अब कपालभाति करेंगे तो निश्चित ही ना आपको कब जाओगे तो कब gp2 होगी और कुछ दिन करेंगे तो कभी भी नहीं होगी तो मैं आपको एक टाइट शेड्यूल बताता हूं भाई सिटी के लिए या कब्ज के लिए आप ब्रह्म मुहूर्त जैसे ही उठे माता पृथ्वी को प्रणाम करें ईश्वर को धन्यवाद दिया नया जीवन केवल बिना कुल्ला किए जो हमारे मुंह में लार होती स्लाइवर होता है वह डायलॉग सिस्टम के सबसे बेस्ट है बेचारी होता है लेकिन हमारे पेट में गैस छोड़ते हैं हमारे तो जो मुंह में जो याद में जो लाल जमा होती है वह बिना कुल्ला किया गुनगुना पानी पीएं एक गिलास से स्टार्ट करके भेज दिया बेटा नहीं तो पानी पी सकते हैं पानी हमेशा बैठ कर पिए और मॉर्निंग में केवल आप फटाफट जल्दी जल्दी पी सकते दिन में कभी भी अब जल्दी-जल्दी ना कि अब घूंट घूंट करके पानी पिया आप मॉर्निंग में एक प्लेट गिलास पानी पर जो उसके बाद 3 आसन के जटाशंकर जटाशंकर एजुकेशन उसके पश्चात आप बिल्कुल फ्रेश हो जाएंगे और भोजन में पाता का भोजन ऑफ हेल्थी में हल्दी पर भड़के खाइए दोपहर में थोड़ा कम रात में थोड़ा सा और मॉर्निंग में आप जोश ले सकते हैं दोपहर में छाछ या दही और रात्रि में भोजन के 1 घंटे बाद आप दूध ले सकते हैं और भोजन चला चला कि कभी इन नियमों को फॉलो कीजिए आप निश्चित ही इस में कपालभाति बहुत ही फायदेमंद थे आप कब्ज को दूर कर सकते हैं धन्यवाद

kapalbhati se kabz puri tarah theek kiya ja sakta hai ya nahi kisi bhi bimari ke bahut saare Symptoms hote hain kisi ek karan nahi hota hai chahen vaah sir dard ho chahen yog kabz kabz ke anek karan hain pehla toh hamara khan pan kaisa hai hamara uthna baithana sona jagana hamare intestine ki kya capacity hai toh aapka kapalbhati ka prashna hai kapalbhati sanskrit me kapal mastishk pradesh toh mastishk pradesh ki siddhi ke liye kapalbhati ka prayog kiya jata hai lekin kahin na kahin kapalbhati se poore sharir ka sodhan hota hai isme nisandeh aur usme parade bhi aata hai aur pet obesity ke baad hi kapalbhati hi abhyas karne se kaafi fayda milta hai poore sharir ke blood sales ko energy deta hai kapalbhati kab jo hamare internal organ hamko kam se kam hota hai jamale internal organ kuch weak ho isliye toh hum pratidin kapalbhati Brahma muhurt me subah uthte hi karte hain starting me 5 minute se start karke 10 15 minute par soch bani ho toh kya aapke paas bharti kijiye toh kabz kya jio sharir ki har samasya ka nidan ho sakta hai majboot rahenge toh aapko kuch nahi hoga yah kab nahi ho sakta matlab galat pratidin kapalbhati kare toh kabz nahi ho sakta lekin ek baar kab jo aapko ho gaya toh aapko kuch gharelu upay ka bhi prayog karna chahiye jisse hamein pratidin 1 din me dhai sau 3 litre paani peena kiya ab hum paani itna bhi nahi rahe aur kapalbhati bus ek cheez pakad hum tantrika lene fast food lene aur kapalbhati karenge toh isne thakane aayega hamara jutaye the vaah Satvik aahaar bhi hona chahiye toh sathi ka haar ke saath ab kapalbhati karenge toh nishchit hi na aapko kab jaoge toh kab gp2 hogi aur kuch din karenge toh kabhi bhi nahi hogi toh main aapko ek tight schedule batata hoon bhai city ke liye ya kabz ke liye aap Brahma muhurt jaise hi uthe mata prithvi ko pranam kare ishwar ko dhanyavad diya naya jeevan keval bina kulla kiye jo hamare mooh me laar hoti slaivar hota hai vaah dialogue system ke sabse best hai bechari hota hai lekin hamare pet me gas chodte hain hamare toh jo mooh me jo yaad me jo laal jama hoti hai vaah bina kulla kiya gunguna paani pien ek gilas se start karke bhej diya beta nahi toh paani p sakte hain paani hamesha baith kar piye aur morning me keval aap phataphat jaldi jaldi p sakte din me kabhi bhi ab jaldi jaldi na ki ab ghunt ghunt karke paani piya aap morning me ek plate gilas paani par jo uske baad 3 aasan ke jatashankar jatashankar education uske pashchat aap bilkul fresh ho jaenge aur bhojan me pata ka bhojan of healthy me haldi par bhadake khaiye dopahar me thoda kam raat me thoda sa aur morning me aap josh le sakte hain dopahar me chhachh ya dahi aur ratri me bhojan ke 1 ghante baad aap doodh le sakte hain aur bhojan chala chala ki kabhi in niyamon ko follow kijiye aap nishchit hi is me kapalbhati bahut hi faydemand the aap kabz ko dur kar sakte hain dhanyavad

कपालभाती से कब्ज पूरी तरह ठीक किया जा सकता है या नहीं किसी भी बीमारी के बहुत सारे सिम्टम्स

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!