हमारे भारत में ही रेप केस क्यों होते हैं, आउट ऑफ कंट्री में क्यों नहीं होते?...


play
user
1:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न हमारे भारत देश में ही रेप क्यों होते हैं आउट ऑफ कंट्री में क्यों नहीं होते दोस्तों सबसे ज्यादा रेप का तो सही में घटना जो भी हमारे भारत देश में आता है असल में क्या है कि जो पर्दे की चीज है उसे लोग ज्यादा देखना चाहते हैं यहां तो सेक्स एजुकेशन की कोई भी पढ़ाई नहीं है सबसे पहले भारत में अगर उसकी पढ़ाई होती तो लोगों का उस पर इंटरेस्ट कुछ कविता भी लगे सेक्सी हुए और अदर कंट्री में खुली हुई चीजें किसी लोगों के लिए बहुत बड़ा मैटर नहीं है किसी एक प्राचीन है क्या क्या है मतलब कि उसके मन में किसी तरह का कोई गलत विचार नहीं आता तो उसके लिए सेक्स एजुकेशन भी जरूरी होता है क्या मैं अपने बच्चों को यह शिक्षा देखिए ऐसे-ऐसे यह बताइए फलाना ढिकाना इससे यह बुरी चीजें अच्छी चीज है जब तक उनको शिक्षा नहीं मिलेंगे तब तक उनके मन में यह बात करता रहेगा कि आखिर यह कौन सा चीज है जिसके प्रति चले सभी लोग पागल हैं और परदे में रहते हैं यह फलाना ढिकाना तो मैं यह चाहूंगा मेरे ख्याल से तो यही मतलब बन रहा है कि सेक्स एजुकेशन की भाई हर जगह होनी चाहिए जिससे सेक्स की घटनाएं कम हो धन्यवाद

aapka prashna hamare bharat desh me hi rape kyon hote hain out of country me kyon nahi hote doston sabse zyada rape ka toh sahi me ghatna jo bhi hamare bharat desh me aata hai asal me kya hai ki jo parde ki cheez hai use log zyada dekhna chahte hain yahan toh sex education ki koi bhi padhai nahi hai sabse pehle bharat me agar uski padhai hoti toh logo ka us par interest kuch kavita bhi lage sexy hue aur other country me khuli hui cheezen kisi logo ke liye bahut bada matter nahi hai kisi ek prachin hai kya kya hai matlab ki uske man me kisi tarah ka koi galat vichar nahi aata toh uske liye sex education bhi zaroori hota hai kya main apne baccho ko yah shiksha dekhiye aise aise yah bataiye falana dhikana isse yah buri cheezen achi cheez hai jab tak unko shiksha nahi milenge tab tak unke man me yah baat karta rahega ki aakhir yah kaun sa cheez hai jiske prati chale sabhi log Pagal hain aur parde me rehte hain yah falana dhikana toh main yah chahunga mere khayal se toh yahi matlab ban raha hai ki sex education ki bhai har jagah honi chahiye jisse sex ki ghatnaye kam ho dhanyavad

आपका प्रश्न हमारे भारत देश में ही रेप क्यों होते हैं आउट ऑफ कंट्री में क्यों नहीं होते दोस

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  391
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mohit

Legal Expert/ Career Guide/ Motivational Speaker/Enterpreneur Coach

5:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं मोहित और आपका प्रश्न है हमारे भारत में ही रेप क्यों होते हैं आउट ऑफ कंट्री में क्यों नहीं होते आदत ही आउट पर टीवी रेप होते हैं लेकिन उनका आप बिल्कुल सही कह रहे हैं बहुत कम है बहुत कम संख्या में सबसे भारत में बहुत ज्यादा होते हैं और भारत में रिपोर्टेड केसेस की तुलना में तो अनरिपोर्टेड कैसे कई गुना ज्यादा होते हैं सोचिए अगर एक महीने में अगर 50 केस रिपोर्टेड है तो अब मान के चलिए कि कम से कम 500 केस ऐसे होंगे जो कि रिपोर्ट नहीं हुए होंगे जो लोग शर्मिंदगी के मारे पुलिस में रिपोर्ट ही नहीं देते हैं बहुत सारे केस तो ऐसे हैं इसके बहुत सारे कारण हैं जो हमारे भारत में रेप केसेस ज्यादा होते हैं सबसे पहला कारण जो मैं समझता हूं कि एक तो हम लोगों में जो कि भारत एक प्यूरिस्टिक कंट्री आपस में भाईचारा नहीं है बात तो यह है यहां हम लोग धर्म धर्म पर ज्यादा फोकस करते हैं हम लोग अपने भाईचारे पर फोकस नहीं करते तो आपस में प्रेम कम है इन लोगों में तो इसी वजह से नागरिकता का भावनागरी खाली पेपर में मान गए लेकिन दिल से हम लोग नागरिक नहीं है और यही सच्चाई है दिल से कर्म लोग नागरिक होंगे तो हम हमेशा वह काम करेंगे जो हमारे देश के लिए अच्छा हो जो हमारे आत्म सम्मान के लिए अच्छा हो और हमारे देश के आदर्श मालिक लक्षण दूसरा एक कारण यह है कि चाइल्ड एजुकेशन में जो रेप सेक्स एजुकेशन इज दी जाती है उस एजुकेशन की बात नहीं करूं जो 9वीं 10वीं 11वीं 12वीं में आपकी पूरा रिप्रोडक्टिव ऑर्गन पढ़ाते हैं बायोलॉजी की क्लास वगैरह में मैं उसकी बात नहीं कर रहा हूं मैं बात कर रहा हूं जो माता-पिता अपने बच्चों को देते हैं जब 9 या 10 साल का बच्चा हो जाता है उसके बाद बहुत जरूरी है उसको एजुकेशन देंगे उसको बताना क्योंकि 10 साल के बाद बच्चे के अंदर हार्मोन चेंज होने शुरू हो जाते हैं तो बच्चे को यह बताना बहुत जरूरी है कि यह सब चीजें नॉर्मल है जो लड़के हैं लड़के जो मैस्टरबेशन करते हैं लड़कियां भेजो मेस्टब्रेशन करती हैं उसके लिए उनको यह बताना बहुत जरूरी है कि यह चीज नॉर्मल है उसको लोग गिल्टी फीलिंग ना करें वह लोग हीन भावना की शिकार ना हो बच्चे अब बड़े बड़े एजुकेटेड फैमिली से मैं देखता हूं कि बच्चों को सेक्स एजुकेशन नहीं देखते हैं पैसे दे दो बात है एक तो बच्चों का माता-पिता से इंटरेक्शन दूसरा बच्चे का सेक्स के प्रति एक खुला दिमाग खुला दिमाग स्कूल की टीचर नहीं देते वह भी तेज शर्मा शर्मा के प्रोडक्ट और कनसुगरा पढ़ाते हैं पता नहीं क्यों हम ओपन सेक्स के बारे में बात करने में शर्मिंदगी महसूस करते हैं कि आउट ऑफ कंट्री में ऐसा नहीं होता बाहर देशों में उनके लिए एक फ्रिज में रखी भी चीज नहीं है ओपन है हम लोग कहते जी बेशर्मी है मैं तो कहता हूं बेशर्मी है तो क्या हुआ कम से कम वहां जिंदगियां बर्बाद तो नहीं हो रही है रेप के चक्कर में एक और कारण भी है एक दो कारण मैंने को बताएं तीसरा कारण जो मैं समझता हूं लोगों में ना एक हीन भावना बहुत होती है अब उसको एजुकेशन कमी पहले हमने मां हॉल की कमी कह लें या अपनी खुद की कमी हम कहने कारण उसमें भी बहुत सारे होते हैं पर बहुत लंबा ऑडी हो जाएगा फिर मेरा उसकी बात करूंगा तो लेकिन लोग भावना होती है भारत में जादू दुनिया में भी मैं मानता हूं जो भी मारपीट के केस होते हैं गाली गलौज के कैसे धोते हैं हत्या के कैसे सोते हैं और रेप के केस होते हैं उनमें अधिकतर के 90% किस गुण होते हैं कि जो व्यक्ति की मानसिकता की पर निर्भर करते हैं लेकिन क्या होता है कि जो आदमी आपको आकर सुबह लड़ने लग जावे घर पर गाली गलौज करने लग जाए ऐसे व्यक्ति आप देखिए वह व्यक्ति खुद परेशान है मानते नारीवाद वह खुद हीन भावना कृषि कार्य कर दी शायद वह जिंदगी नहीं चाहता तो वह कर नहीं पाया और ट्रैक्टर से रेप में केवल हम सेक्स को ही मुद्दा नहीं बना सकते केवल रिप्रोडक्टिव ऑर्गन को केवल उम्र को यह मुद्दा नहीं बना सकते बहुत सारे फैक्टर है जो मिल करके इसको घमंड करते हैं अगर मैंने चोर की बात करूं तो सही एजुकेशन सही एजुकेशन स्कूल एजुकेशन नहीं सही मानसिकता जो मोरालिटी कि हम बात करते हैं जैसे कह देना संस्कार जिनको बोलते हैं का क्या होता है रीति रिवाज नहीं आपके अंदर ही बार डाली जाती है कि हमें अच्छा व्यक्ति बनना है वह चीज हमारी फैमिली करती हमारे साथ में बहुत से लोगों को इसका भाग होता है और हम लोग सोसायटी का मेंबर होते हुए भी हम लोग अपनी तरफ से एक कदम नहीं उठा पाते दोस्त कि हमारा भी कुछ कर्तव्य बनता है हम जाकर के लोगों को बताएं लोगों को पढ़ाएं लोगों को समझाएं कि क्या है असलियत बहुत सारी चीजें हैं अगर यहां मैं समझ तो इस टॉपिक में बात करूंगा तो 1 दिन भी कम पड़ जाएगा लगाता बैरल मैं बहुत लंबी डिस्कशन में नहीं जाऊंगा लेकिन जो मैं समझता हूं देव के जो मैंने आपको मुखी को के कारण बताएं यह मैं समझता हूं कि यह देश के कारण है और भी कोई कुंवारी हो दोस्त बिल्कुल आप मुझे कमेंट सेक्शन में आप मुझे बता सकते आलू वेरी ग्लैड ओके थैंक यू गुड बाय

hello friends main mohit aur aapka prashna hai hamare bharat me hi rape kyon hote hain out of country me kyon nahi hote aadat hi out par TV rape hote hain lekin unka aap bilkul sahi keh rahe hain bahut kam hai bahut kam sankhya me sabse bharat me bahut zyada hote hain aur bharat me reported cases ki tulna me toh anariported kaise kai guna zyada hote hain sochiye agar ek mahine me agar 50 case reported hai toh ab maan ke chaliye ki kam se kam 500 case aise honge jo ki report nahi hue honge jo log sharmindagi ke maare police me report hi nahi dete hain bahut saare case toh aise hain iske bahut saare karan hain jo hamare bharat me rape cases zyada hote hain sabse pehla karan jo main samajhata hoon ki ek toh hum logo me jo ki bharat ek pyuristik country aapas me bhaichara nahi hai baat toh yah hai yahan hum log dharm dharm par zyada focus karte hain hum log apne bhaichare par focus nahi karte toh aapas me prem kam hai in logo me toh isi wajah se nagarikta ka bhavanagri khaali paper me maan gaye lekin dil se hum log nagarik nahi hai aur yahi sacchai hai dil se karm log nagarik honge toh hum hamesha vaah kaam karenge jo hamare desh ke liye accha ho jo hamare aatm sammaan ke liye accha ho aur hamare desh ke adarsh malik lakshan doosra ek karan yah hai ki child education me jo rape sex education is di jaati hai us education ki baat nahi karu jo vi vi vi vi me aapki pura riprodaktiv organ padhate hain biology ki class vagera me main uski baat nahi kar raha hoon main baat kar raha hoon jo mata pita apne baccho ko dete hain jab 9 ya 10 saal ka baccha ho jata hai uske baad bahut zaroori hai usko education denge usko batana kyonki 10 saal ke baad bacche ke andar hormone change hone shuru ho jaate hain toh bacche ko yah batana bahut zaroori hai ki yah sab cheezen normal hai jo ladke hain ladke jo maistarabeshan karte hain ladkiya bhejo mestabreshan karti hain uske liye unko yah batana bahut zaroori hai ki yah cheez normal hai usko log guilty feeling na kare vaah log heen bhavna ki shikaar na ho bacche ab bade bade educated family se main dekhta hoon ki baccho ko sex education nahi dekhte hain paise de do baat hai ek toh baccho ka mata pita se interaction doosra bacche ka sex ke prati ek khula dimag khula dimag school ki teacher nahi dete vaah bhi tez sharma sharma ke product aur kanasugra padhate hain pata nahi kyon hum open sex ke bare me baat karne me sharmindagi mehsus karte hain ki out of country me aisa nahi hota bahar deshon me unke liye ek fridge me rakhi bhi cheez nahi hai open hai hum log kehte ji besharmi hai main toh kahata hoon besharmi hai toh kya hua kam se kam wahan jindagiyan barbad toh nahi ho rahi hai rape ke chakkar me ek aur karan bhi hai ek do karan maine ko bataye teesra karan jo main samajhata hoon logo me na ek heen bhavna bahut hoti hai ab usko education kami pehle humne maa hall ki kami keh le ya apni khud ki kami hum kehne karan usme bhi bahut saare hote hain par bahut lamba audi ho jaega phir mera uski baat karunga toh lekin log bhavna hoti hai bharat me jadu duniya me bhi main maanta hoon jo bhi maar peet ke case hote hain gaali galoj ke kaise dhote hain hatya ke kaise sote hain aur rape ke case hote hain unmen adhiktar ke 90 kis gun hote hain ki jo vyakti ki mansikta ki par nirbhar karte hain lekin kya hota hai ki jo aadmi aapko aakar subah ladane lag jaave ghar par gaali galoj karne lag jaaye aise vyakti aap dekhiye vaah vyakti khud pareshan hai maante narivad vaah khud heen bhavna krishi karya kar di shayad vaah zindagi nahi chahta toh vaah kar nahi paya aur tractor se rape me keval hum sex ko hi mudda nahi bana sakte keval riprodaktiv organ ko keval umar ko yah mudda nahi bana sakte bahut saare factor hai jo mil karke isko ghamand karte hain agar maine chor ki baat karu toh sahi education sahi education school education nahi sahi mansikta jo morality ki hum baat karte hain jaise keh dena sanskar jinako bolte hain ka kya hota hai riti rivaaj nahi aapke andar hi baar dali jaati hai ki hamein accha vyakti banna hai vaah cheez hamari family karti hamare saath me bahut se logo ko iska bhag hota hai aur hum log sociaty ka member hote hue bhi hum log apni taraf se ek kadam nahi utha paate dost ki hamara bhi kuch kartavya banta hai hum jaakar ke logo ko bataye logo ko padhaaein logo ko samjhaye ki kya hai asliyat bahut saari cheezen hain agar yahan main samajh toh is topic me baat karunga toh 1 din bhi kam pad jaega lagaata barrel main bahut lambi discussion me nahi jaunga lekin jo main samajhata hoon dev ke jo maine aapko mukhi ko ke karan bataye yah main samajhata hoon ki yah desh ke karan hai aur bhi koi kuwaari ho dost bilkul aap mujhe comment section me aap mujhe bata sakte aalu very glad ok thank you good bye

हेलो फ्रेंड्स मैं मोहित और आपका प्रश्न है हमारे भारत में ही रेप क्यों होते हैं आउट ऑफ कंट्

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  954
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!