मैंने अब तक अपने करियर में गलत विकल्प चुने और मेरे साथी मुझसे आगे निकल गए हैं। उनके पास एक अच्छी नौकरी है। मुझे अपने फ़ैसले पर खेद हो रहा है। मैं क्या करूँ?...


user

Yogender Dhillon

Law Educator , Advocate,RTI Activist , Motivational Coach

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखो आज इस बात का कोई औचित्य नहीं है कि अपने करियर को गलत सुना कई बार आदमी की नसीब नहीं होता है उस तरह का होना बस आपने तो अपने करियर में अच्छे से काम किया इतना ही अलग है और कोई आदमी ऐसा होता 2 घंटे पढ़ के नब्बे परसेंट के लेता है कोई आदमी 6 घंटे पढ़ कर भी नहीं लेता तो यह मत देखो कि दूसरे से आगे निकल गए खेत मत करो कि आपका फैसला गलत था लेकिन आज आप अपने स्कूल को पहचानो कि आप किस ने करिए अगर बनाते हो तो आगे निकल जाते हो आज उस चीज को पहचान हो आप और आज सिर्फ नए सिरे से काम करो कौन कब कामयाब होता है कितना कामयाब होता है इस बात पर सोचना बंद करो यह किस कोई किसी का पैमाना नहीं है जी कोई किस साल में भी आईएस बन गया है कोई 32 में भी तू कब कोई कामयाब हो गया इस बात को छोड़ आप मत देखो सब कुछ अलग अपने लाइफ के स्टार लेकर पैदा होते हैं सब अपनी लाइफ के अलग से

dekho aaj is baat ka koi auchitya nahi hai ki apne career ko galat suna kai baar aadmi ki nasib nahi hota hai us tarah ka hona bus aapne toh apne career me acche se kaam kiya itna hi alag hai aur koi aadmi aisa hota 2 ghante padh ke nabbe percent ke leta hai koi aadmi 6 ghante padh kar bhi nahi leta toh yah mat dekho ki dusre se aage nikal gaye khet mat karo ki aapka faisla galat tha lekin aaj aap apne school ko pehchano ki aap kis ne kariye agar banate ho toh aage nikal jaate ho aaj us cheez ko pehchaan ho aap aur aaj sirf naye sire se kaam karo kaun kab kamyab hota hai kitna kamyab hota hai is baat par sochna band karo yah kis koi kisi ka paimaana nahi hai ji koi kis saal me bhi ias ban gaya hai koi 32 me bhi tu kab koi kamyab ho gaya is baat ko chhod aap mat dekho sab kuch alag apne life ke star lekar paida hote hain sab apni life ke alag se

देखो आज इस बात का कोई औचित्य नहीं है कि अपने करियर को गलत सुना कई बार आदमी की नसीब नहीं हो

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  135
KooApp_icon
WhatsApp_icon
15 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!