आपके अनुसार भारत में कितने लोग भगवान में विश्वास रखते हैं?...


user

Ravi Sharma

Advocate

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस प्रकार चीन विश्व का सबसे बड़ा नास्तिक देश है उसी प्रकार से भारत सबसे अधिक आर्थिक भविष्य आज भी भारत में तकरीबन 80 से बयान भी प्रतिशत लोग यानी कि एट्टीटुड 90% लोग आज तक है तथा भगवान में आस्था व विश्वास रखते हैं साथ ही साथ में कर्मकांडी है चाहे वह हिंदू हो चाहे मुस्लिम हो जाएगी सही हो जाए ऐसी खो जाए अन्य धर्म के लोगों का आज भी वफ़ा ने पूर्ण रूप से आस्था रखते हैं अपने सभी सुख दुख में भगवान की प्रार्थना करते हैं तथा भगवान को याद करते हैं यह किसी भी धर्म से संबंधित ना होकर एक प्रकार से एक भारतीय संस्कृति की आधारभूत शीला है जिसको हमने बहुत वर्षों तक हजारों वर्षों तक संभाल के रख कर सहित के रखा तथा यही एक बहुत बड़ा कारण है भगवान में आस्था तथा भगवान में विश्वास जिसकी वजह से भारत आज तक एकत्रित है उसमें एकता है तथा भारत के टुकड़े नहीं हो पाए एक एक एक समय के बाद आज भी भारत में बहुत से लोग आस्तिक है तथा उनका यह मानना है कि हे भगवान किसी भी रूप में पूजे जाए परंतु भगवान की पूजा का नाम का परम कर्तव्य है तथा एक प्रकार से मुझे ऐसा लगता है यही विश्वास भारत के लोगों को आगे बढ़ने की तथा हर प्रकार की मुसीबतों का सामना करने की प्रेरणा देता है उन्हें शिक्षा देता है कि वह चाहे किसी को भूल जाए अपने भगवान को ना भूलें और यही कारण है कि भारत में आज भी बहुत से लोग कर्मकांडी हैं मंदिर जाते हैं मस्जिद जाते हैं नमाज पढ़ते हैं तथा गिरिजाघर जाते हैं मांस अथवा पीरियड्स का अनुपालन करते हैं तो मुझे ऐसा लगता है कि भारतीय लोग आज विश्वास रखते हैं ईश्वर में तथा ईश्वर की शक्तियों में तथा यही चीज है जो भारत को हमेशा हर प्रकार के खतरे से तथा एक दुख से बचाती है धन्यवाद

jis prakar china vishwa ka sabse bada nastik desh hai usi prakar se bharat sabse adhik aarthik bhavishya aaj bhi bharat mein takareeban 80 se bayan bhi pratishat log yani ki ettitud 90 log aaj tak hai tatha bhagwan mein astha va vishwas rakhte hai saath hi saath mein karmakandi hai chahen vaah hindu ho chahen muslim ho jayegi sahi ho jaaye aisi kho jaaye anya dharm ke logo ka aaj bhi wafa ne purn roop se astha rakhte hai apne sabhi sukh dukh mein bhagwan ki prarthna karte hai tatha bhagwan ko yaad karte hai yah kisi bhi dharm se sambandhit na hokar ek prakar se ek bharatiya sanskriti ki adharbhut shila hai jisko humne bahut varshon tak hazaro varshon tak sambhaal ke rakh kar sahit ke rakha tatha yahi ek bahut bada karan hai bhagwan mein astha tatha bhagwan mein vishwas jiski wajah se bharat aaj tak ekatrit hai usme ekta hai tatha bharat ke tukde nahi ho paye ek ek ek samay ke baad aaj bhi bharat mein bahut se log astik hai tatha unka yah manana hai ki hai bhagwan kisi bhi roop mein puje jaaye parantu bhagwan ki puja ka naam ka param kartavya hai tatha ek prakar se mujhe aisa lagta hai yahi vishwas bharat ke logo ko aage badhne ki tatha har prakar ki musibaton ka samana karne ki prerna deta hai unhe shiksha deta hai ki vaah chahen kisi ko bhool jaaye apne bhagwan ko na bhoolein aur yahi karan hai ki bharat mein aaj bhi bahut se log karmakandi hai mandir jaate hai masjid jaate hai namaz padhte hai tatha girijaghar jaate hai maas athva periods ka anupaalan karte hai toh mujhe aisa lagta hai ki bharatiya log aaj vishwas rakhte hai ishwar mein tatha ishwar ki shaktiyon mein tatha yahi cheez hai jo bharat ko hamesha har prakar ke khatre se tatha ek dukh se bachati hai dhanyavad

जिस प्रकार चीन विश्व का सबसे बड़ा नास्तिक देश है उसी प्रकार से भारत सबसे अधिक आर्थिक भविष्

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  905
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ruchi Garg

Counsellor and Psychologist(Gold MEDALIST)

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य अगर हम सूत्रों के हिसाब से जाएं अगर हम और सर्वे के हिसाब से जाएं तो अब भारत में 2013 का यह सर्वे कहता है कि 1% लोग जो है वह किसी ना किसी भगवान को मानते हैं और उन्हें फॉलो करते हैं 30% किसी भगवान को फॉलो नहीं कर रहे हैं 3% ही कहते हैं कि भगवान होते हैं वह है और जो बचा तीन पर्सेंट है उन्होंने वह शेयर नहीं है या उन्होंने 10 को नहीं किया है तू 2013 का तो सर मैं यह कहता है तो इस हिसाब से आप अपना अनुमान लगा सकते हैं कि कितना बड़ा जो पॉपुलेशन है इंडिया का वह भगवान में विश्वास रखता है

aditya agar hum sootron ke hisab se jayen agar hum aur survey ke hisab se jayen toh ab bharat mein 2013 ka yah survey kahata hai ki 1 log jo hai vaah kisi na kisi bhagwan ko maante hain aur unhe follow karte hain 30 kisi bhagwan ko follow nahi kar rahe hain 3 hi kehte hain ki bhagwan hote hain vaah hai aur jo bacha teen percent hai unhone vaah share nahi hai ya unhone 10 ko nahi kiya hai tu 2013 ka toh sir main yah kahata hai toh is hisab se aap apna anumaan laga sakte hain ki kitna bada jo population hai india ka vaah bhagwan mein vishwas rakhta hai

आदित्य अगर हम सूत्रों के हिसाब से जाएं अगर हम और सर्वे के हिसाब से जाएं तो अब भारत में 201

Romanized Version
Likes  132  Dislikes    views  9147
WhatsApp_icon
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:59

Likes  114  Dislikes    views  6692
WhatsApp_icon
user

Delete

Delete

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कितने लोग भगवान में विश्वास रखते हैं यह बहुत ही मुश्किल क्वेश्चन आंसर करना कारण किसी भी एक इंसान के लिए विश्वास की टीम स्टेटस होती है भगवान में पहली स्टेज होती है जो बोले थे कोई नया काम शुरू कर रहा है या उसको कोई ऑप्शन नजर नहीं आ रहा तो पूरे पेट के साथ बोल दे कि भगवान सब कुछ आपके हाथ में जो करना है आप देख लो ठीक है तो वहां पर वह विश्वास करता भगवान पर एक चीज होती है जब कहीं से वह लकी से दो जाता है उसके फल शादी डायरेक्शन में नहीं होता है बट समभाव उसको रिजल्ट मिलता है तो वह भगवान को बता भगवान थैंक यू सो मच आपने मेरा इतना ख्याल रखा तीसरे स्टेज में उसका काम नहीं निकलता तो बताया भगवान भगवान कुछ नहीं है भगवान कभी मदद नहीं करते हम कुछ नहीं कर सकते इस पर तो उसे विश्वास कम होता है वहां पर बहुत ही फ्लिप फ्लॉप की तरह भगवान में विश्वास चलता है मेरे हिसाब से भगवान विश्वास करना है तो सिर्फ एक भगवान में गुरु जिसमें भगवान को पिक्चर को या किसी को भी आप मानते हैं आप सोचिए कि वह आपके अंदर है और अपने अंदर बैठे हुए भगवान पर विश्वास करें बस बाकी से कोई फर्क नहीं पड़ता कि कितने लोग भगवान को मानते हैं नहीं मानते हैं सिर्फ एक एग्जांपल कोर्ट करूंगा कि सबसे ज्यादा सक्सेसफुल कंट्रीज बहुत छोटी कंट्री है स्वीडन जहां पर अस्सी परसेंट से ऊपर लोग जो है वह नास्तिक है जो भगवान के नाम को ही नहीं मानते फिर चाइना है बहुत बड़ी कंट्रीज में से है जिसमें बहुत से लोग जब जहां पर कि बल्कि कोई प्रेत फॉलो ही नहीं किया जाता ह ट ड स इन टाइम हिंदुस्तान है जहां पर इतने सारे फेट हैं और हिंदुस्तान भी सक्सेसफुल हो रही है फ्रैंकली स्पीकिंग इससे फर्क नहीं पड़ता है कि आप कौन से भगवान को मानते हैं या कितने प्रतिशत लोग भगवान को मानते हैं विश्वास करते हैं तो पूर्ण विश्वास कीजिए और नाना कीजिए दैट इज द स्टेटमेंट बाय

kitne log bhagwan mein vishwas rakhte hai yah bahut hi mushkil question answer karna karan kisi bhi ek insaan ke liye vishwas ki team status hoti hai bhagwan mein pehli stage hoti hai jo bole the koi naya kaam shuru kar raha hai ya usko koi option nazar nahi aa raha toh poore pet ke saath bol de ki bhagwan sab kuch aapke hath mein jo karna hai aap dekh lo theek hai toh wahan par vaah vishwas karta bhagwan par ek cheez hoti hai jab kahin se vaah lucky se do jata hai uske fal shadi direction mein nahi hota hai but sambhav usko result milta hai toh vaah bhagwan ko bata bhagwan thank you so match aapne mera itna khayal rakha teesre stage mein uska nahi nikalta toh bataya bhagwan bhagwan kuch nahi hai bhagwan kabhi madad nahi karte hum kuch nahi kar sakte is par toh use vishwas kam hota hai wahan par bahut hi flip flop ki tarah bhagwan mein vishwas chalta hai mere hisab se bhagwan vishwas karna hai toh sirf ek bhagwan mein guru jisme bhagwan ko picture ko ya kisi ko bhi aap maante hai aap sochiye ki vaah aapke andar hai aur apne andar baithe hue bhagwan par vishwas kare bus baki se koi fark nahi padta ki kitne log bhagwan ko maante hai nahi maante hai sirf ek example court karunga ki sabse zyada successful countries bahut choti country hai Sweden jaha par assi percent se upar log jo hai vaah nastik hai jo bhagwan ke naam ko hi nahi maante phir china hai bahut baadi countries mein se hai jisme bahut se log jab jaha par ki balki koi pret follow hi nahi kiya jata h t d s in time Hindustan hai jaha par itne saare fate hai aur Hindustan bhi successful ho rahi hai frainkali speaking isse fark nahi padta hai ki aap kaunsi bhagwan ko maante hai ya kitne pratishat log bhagwan ko maante hai vishwas karte hai toh purn vishwas kijiye aur nana kijiye that is the statement bye

कितने लोग भगवान में विश्वास रखते हैं यह बहुत ही मुश्किल क्वेश्चन आंसर करना कारण किसी भी एक

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1593
WhatsApp_icon
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी यानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं भारत में परसेंटेज तो छोड़िए मैं आपको एक बात बता देती हूं ऐसा कोई बंदा या बंदी नहीं है जिसने लाइफ में जिसने लाइफ में कभी भी भगवान को याद नहीं किया अब बोलने के लिए यह जरूर बोल सकते हो कि मैं भगवान में विश्वास नहीं करता या मैं भगवान में विश्वास नहीं करती यह सब जो इमोशन से उसका टाइम जो है उसका जो जोड़े को बहुत ही दुख भरे कंडीशन से आता है जिन लोगों को बहुत चोट पहुंची होती है लाइफ में और जिनके साथ बहुत ही बुरा हुआ होता है उनके अनुसार उनके अपने अनुसार और जो अब फाइट करके यानी की परिस्थितियों से लड़के थक गए हैं निराश हो गए हैं वह कहते हैं कि मुझे विश्वास नहीं है मैं अपना काम खुद कर लूंगा या खुद कर लूंगी बट रश्मि एम टेलिंग यू 10 क्योंकि मैंने आप जॉब किया है यह बचपन से ऐसा कोई भी इंसान नहीं है जिसने कभी ना कभी भगवान को मन में याद नहीं किया हो आप जरूर दुनिया को बता सकते हो कि मुझे विश्वास नहीं है इन चीजों पे जो भी है लेकिन अंदर से हम सब में एक सिस्टम है जो यह मानना चाहता है कि कुछ है जो चीजें चला रहा है जो संसार चला रहा है या फलाना ठिकाना तो कहने का यह मतलब है कि परसेंटेज तो छोड़ी है मेरा पर्सपेक्टिव और मेरा थिंकिंग बहुत ही फैला हुआ और काफी लार्ज एक्सटेंट तक नहीं है मानती हूं कि बहुत सारे लोग पूरी दुनिया में एक एंटिटी पर विश्वास रखते हैं लेकिन खुलकर के एक्सेप्ट नहीं करते हैं कि वह मानते हैं कि कुछ है या भगवान है थैंक यू

namaste doston meri yani doctor priya jha ke taraf se aap sab ko din ki bahut saree subhkamnaayain bharat mein percentage toh chodiye main aapko ek baat bata deti hoon aisa koi banda ya bandi nahi hai jisne life mein jisne life mein kabhi bhi bhagwan ko yaad nahi kiya ab bolne ke liye yah zaroor bol sakte ho ki main bhagwan mein vishwas nahi karta ya main bhagwan mein vishwas nahi karti yah sab jo emotion se uska time jo hai uska jo jode ko bahut hi dukh bhare condition se aata hai jin logo ko bahut chot pahuchi hoti hai life mein aur jinke saath bahut hi bura hua hota hai unke anusaar unke apne anusaar aur jo ab fight karke yani ki paristhitiyon se ladke thak gaye hai nirash ho gaye hai vaah kehte hai ki mujhe vishwas nahi hai apna kaam khud kar lunga ya khud kar lungi but rashmi M telling you 10 kyonki maine aap job kiya hai yah bachpan se aisa koi bhi insaan nahi hai jisne kabhi na kabhi bhagwan ko man mein yaad nahi kiya ho aap zaroor duniya ko bata sakte ho ki mujhe vishwas nahi hai in chijon pe jo bhi hai lekin andar se hum sab mein ek system hai jo yah manana chahta hai ki kuch hai jo cheezen chala raha hai jo sansar chala raha hai ya falana thikana toh kehne ka yah matlab hai ki percentage toh chodi hai mera parsapektiv aur mera thinking bahut hi faila hua aur kaafi large extent tak nahi hai maanati hoon ki bahut saare log puri duniya mein ek entity par vishwas rakhte hai lekin khulkar ke except nahi karte hai ki vaah maante hai ki kuch hai ya bhagwan hai thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी यानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं

Romanized Version
Likes  218  Dislikes    views  1923
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे अनुसार भारत में 99.9% लोग भगवान में विश्वास रखते हैं और कौन रखता है कौन नहीं रखता है यह तो मुझे नहीं पता है लेकिन मैं भगवान के ऊपर बहुत भरोसा करता हूं देखिए भगवान की एक ऐसी शक्ति है जिसके माध्यम से पूरी दुनिया चल रही है देखिए आत्मा को साइंटिस्ट ओं ने कैद करने की कोशिश की लेकिन जब आत्मा निकलती है तो उसका कुछ पता नहीं चलता है आज तक इसका कोई पता नहीं लगा पाया है तो भगवान ने भगवान की एक सकती है जिसके माध्यम से पूरी दुनिया चल रही है अगर आप भगवान में आस्था रखते हो अगर आपकी आस्था सच्ची है आपको विश्वास है भगवान में तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है मैं आप सभी विश्व के लोगों से निवेदन करना चाहता हूं आप भगवान के ऊपर भरोसा रखें आप अपने सनातन धर्म की परंपरा के ऊपर विश्वास करें पूजा पाठ करें अंधविश्वास मत करें लेकिन हां भगवान में आस्था रखिए जब आप भगवान में आस्था रखेंगे तो आपको जीवन में बहुत सुखी बहुत खुशी मिलेगी आप बहुत आगे बढ़ो गे धन्यवाद

hamare anusaar bharat mein 99 9 log bhagwan mein vishwas rakhte hain aur kaun rakhta hai kaun nahi rakhta hai yah toh mujhe nahi pata hai lekin main bhagwan ke upar bahut bharosa karta hoon dekhiye bhagwan ki ek aisi shakti hai jiske madhyam se puri duniya chal rahi hai dekhiye aatma ko scientist on ne kaid karne ki koshish ki lekin jab aatma nikalti hai toh uska kuch pata nahi chalta hai aaj tak iska koi pata nahi laga paya hai toh bhagwan ne bhagwan ki ek sakti hai jiske madhyam se puri duniya chal rahi hai agar aap bhagwan mein astha rakhte ho agar aapki astha sachi hai aapko vishwas hai bhagwan mein toh aapko safal hone se koi nahi rok sakta hai aap sabhi vishwa ke logo se nivedan karna chahta hoon aap bhagwan ke upar bharosa rakhen aap apne sanatan dharm ki parampara ke upar vishwas kare puja path kare andhavishvas mat kare lekin haan bhagwan mein astha rakhiye jab aap bhagwan mein astha rakhenge toh aapko jeevan mein bahut sukhi bahut khushi milegi aap bahut aage badho gay dhanyavad

हमारे अनुसार भारत में 99.9% लोग भगवान में विश्वास रखते हैं और कौन रखता है कौन नहीं रखता है

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  384
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में कितने लोग भगवान में विश्वास रखते हैं यहां आपका तात्पर्य संख्या से है शायद मैं सोच रहा हूं हर इंसान इस पृथ्वी पर जन्म लेता है वह किसी न किसी रीजन को मानता है चाहे वह इसाई धर्म और चाहे भोजन धर्म जय विश्वकर्मा जय हो इस्लाम वॉच हिंदू धर्म और धर्म में एक ईश्वर होता है उसके नाम अलग-अलग हो सकते हैं बाकी हर व्यक्ति आवश्यकता है और जहां तक मेरी फिर मेरी राय के अनुसार है तो मेरी फ्री के अनुसार यह है कि सर एक आस्था का विषय है एक व्याख्या का विषय नहीं जैसे कि हम एक ग्लास पानी में नमक डालते तो जब तक नमक मुरली जाता है तब तक पर नमक का अस्तित्व अलग है पानी का स्थिति लगे शादी के बाद उसका कोई वजूद अलग अलग नहीं रहता है दोनों एक हो जाते हैं ठीक इसी प्रकार से ईश्वर का भी यह आंतरिक शांति महसूस करने के लिए मानसिक शांति प्राप्त करने का एक साधन है जिससे कि मानव पाप कर्मों से दूर हो जाए जरा तुझे और अच्छे कर्मों की और लगे यह स्वर्ग नर्क की व्याख्या भी शामिल हैं तो ईश्वर एक अंदर का विषय है ईश्वर एक आस्था का विषय है ईश्वरी भावनाओं से संबंधित है तो मैं सोचता हूं शायद अधिकांश लोग ईश्वर के वजूद में विश्वास रखते हैं ईश्वर में विश्वास रखते हैं और यही कारण है कि बहुत से लोग नित्य कर्म भी करते हैं सा का निराकार रूप के दो रूप अलग-अलग है बाकी हम यह नहीं कह सकते कि अच्छा ही हो रहा है सभी में ईश्वर का रूप है

bharat mein kitne log bhagwan mein vishwas rakhte hain yahan aapka tatparya sankhya se hai shayad main soch raha hoon har insaan is prithvi par janam leta hai vaah kisi na kisi reason ko manata hai chahen vaah isai dharm aur chahen bhojan dharm jai vishvakarma jai ho islam watch hindu dharm aur dharm mein ek ishwar hota hai uske naam alag alag ho sakte hain baki har vyakti avashyakta hai aur jaha tak meri phir meri rai ke anusaar hai toh meri free ke anusaar yah hai ki sir ek astha ka vishay hai ek vyakhya ka vishay nahi jaise ki hum ek glass paani mein namak daalte toh jab tak namak murli jata hai tab tak par namak ka astitva alag hai paani ka sthiti lage shadi ke baad uska koi wajood alag alag nahi rehta hai dono ek ho jaate hain theek isi prakar se ishwar ka bhi yah aantarik shanti mehsus karne ke liye mansik shanti prapt karne ka ek sadhan hai jisse ki manav paap karmon se dur ho jaaye zara tujhe aur acche karmon ki aur lage yah swarg nark ki vyakhya bhi shaamil hain toh ishwar ek andar ka vishay hai ishwar ek astha ka vishay hai ISHWARI bhavnao se sambandhit hai toh main sochta hoon shayad adhikaansh log ishwar ke wajood mein vishwas rakhte hain ishwar mein vishwas rakhte hain aur yahi karan hai ki bahut se log nitya karm bhi karte hain sa ka nirakaar roop ke do roop alag alag hai baki hum yah nahi keh sakte ki accha hi ho raha hai sabhi mein ishwar ka roop hai

भारत में कितने लोग भगवान में विश्वास रखते हैं यहां आपका तात्पर्य संख्या से है शायद मैं सोच

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  439
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मिस्टर आपका प्रश्न है भारत में आपके अनुसार कितने लोग भगवान में विश्वास करते हैं देखिए इस चीज का कोई निश्चित आकलन या कोई रिसर्च नहीं निकाली जा सकती है कि कितने लोग ईश्वर में विश्वास करते हैं यह सभी की धर्म के अनुसार अपने विचारों के अनुसार अपनी भावनाओं के अनुसार अलग-अलग मान्यताएं हैं अलग-अलग विचार हैं तो जो ईश्वर विश्वास करते हैं वह उनको मानते हैं और जो नहीं करते हैं वह ईश्वर को नहीं मानते हैं धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

mister aapka prashna hai bharat mein aapke anusaar kitne log bhagwan mein vishwas karte hain dekhiye is cheez ka koi nishchit aakalan ya koi research nahi nikali ja sakti hai ki kitne log ishwar mein vishwas karte hain yah sabhi ki dharm ke anusaar apne vicharon ke anusaar apni bhavnao ke anusaar alag alag manyatae hain alag alag vichar hain toh jo ishwar vishwas karte hain vaah unko maante hain aur jo nahi karte hain vaah ishwar ko nahi maante hain dhanyavad aapka din shubha ho

मिस्टर आपका प्रश्न है भारत में आपके अनुसार कितने लोग भगवान में विश्वास करते हैं देखिए इस च

Romanized Version
Likes  161  Dislikes    views  1217
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है आपके अनुसार भारत में कितने लोग भगवान में विश्वास रखते हैं भगवान में हर बंदा विश्वास रखता है जी हां अनजाने जाने अनजाने में हर इंसान हंड्रेड परसेंट में विश्वास रखता है उसको सही तरीके से विश्वास करता है उसको मुसीबत आने पर विश्वास करता है जब लोग भगवान के पास जाते हैं तो हंड्रेड परसेंट यह वैल्यू है और लोग करते हैं सिर्फ दिखावा करके हम नहीं करते जो उन पर मुसीबत आती तो ऊपर वाले को भी याद कर लेता है तो सब का फंडा अलग अलग है

aapka prashna hai aapke anusaar bharat mein kitne log bhagwan mein vishwas rakhte hain bhagwan mein har banda vishwas rakhta hai ji haan anjaane jaane anjaane mein har insaan hundred percent mein vishwas rakhta hai usko sahi tarike se vishwas karta hai usko musibat aane par vishwas karta hai jab log bhagwan ke paas jaate hain toh hundred percent yah value hai aur log karte hain sirf dikhawa karke hum nahi karte jo un par musibat aati toh upar waale ko bhi yaad kar leta hai toh sab ka fanda alag alag hai

आपका प्रश्न है आपके अनुसार भारत में कितने लोग भगवान में विश्वास रखते हैं भगवान में हर बंदा

Romanized Version
Likes  562  Dislikes    views  4821
WhatsApp_icon
user
2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस सवाल का जवाब जानने के लिए हमें अपने रोजमर्रा के जीवन में जाना होगा हमेशा एक शब्द हम लोग हमेशा सुनते हैं हे भगवान गॉड प्लीज हेल्प मी अलार्म करो हर व्यक्ति को अपने भगवान पर बहुत दास्तां है और भारत में तो लोग धार्मिक मामले में सदैव धार्मिक मामले को सदैव ऊपर ही रखते हैं और इस मामले पर किसी भी तरह का विवाद भी नहीं करते और बहस को इससे दूर रखा जाता है तो भारत में लोग भगवान पर बहुत अधिक विश्वास रखते हैं हम अक्सर यह सुनते हैं धीरज रखो भगवान तुम्हारी मदद करेगा गॉड विल्सन क्योंकि वह विश्वास है कहने वाले के अंदर और सुनने वाले के अंदर कि हां अगर कोई एक शक्ति है तो वह भगवान है जो हमारी मदद करेंगे जो हमें प्रोटेक्ट करते हैं और इसीलिए हम लोग भगवान में विश्वास रखते हैं हम लोग मंदिर जाते हैं व्रत रखते हैं त्यौहार मनाते हैं ईश्वर की आस्था को सर्वोपरि मानकर हमें मानते हैं कि यह जो हमारा जीवन मिला है ईश्वर की देन है इस जीवन में जो सुखा रहे हैं ईश्वर की के आने वाले लोगों को भी ईश्वर कम करेगा हम लोग स्वयं को ईश्वर की संतान ही मानते हैं तो इस सवाल का जवाब नहीं होना चाहिए कि हां भारत में लगभग लगभग 90% लोग भगवान पर विश्वास रखते हैं

is sawaal ka jawab jaanne ke liye hamein apne rozmarra ke jeevan mein jana hoga hamesha ek shabd hum log hamesha sunte hain hai bhagwan god please help me alarm karo har vyakti ko apne bhagwan par bahut dastan hai aur bharat mein toh log dharmik mamle mein sadaiv dharmik mamle ko sadaiv upar hi rakhte hain aur is mamle par kisi bhi tarah ka vivaad bhi nahi karte aur bahas ko isse dur rakha jata hai toh bharat mein log bhagwan par bahut adhik vishwas rakhte hain hum aksar yah sunte hain dheeraj rakho bhagwan tumhari madad karega god Wilson kyonki vaah vishwas hai kehne waale ke andar aur sunne waale ke andar ki haan agar koi ek shakti hai toh vaah bhagwan hai jo hamari madad karenge jo hamein protect karte hain aur isliye hum log bhagwan mein vishwas rakhte hain hum log mandir jaate hain vrat rakhte hain tyohar manate hain ishwar ki astha ko sarvopari maankar hamein maante hain ki yah jo hamara jeevan mila hai ishwar ki then hai is jeevan mein jo sukha rahe hain ishwar ki ke aane waale logo ko bhi ishwar kam karega hum log swayam ko ishwar ki santan hi maante hain toh is sawaal ka jawab nahi hona chahiye ki haan bharat mein lagbhag lagbhag 90 log bhagwan par vishwas rakhte hain

इस सवाल का जवाब जानने के लिए हमें अपने रोजमर्रा के जीवन में जाना होगा हमेशा एक शब्द हम लोग

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  514
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी सर हमारे भारत में ज्यादातर लोग आर्थिक ही हैं और बहुत कम लोग हैं जो नाश्ते की तो सर सत्तर से अस्सी परसेंट लोग ऐसे हैं जो भगवान में विश्वास रखते हैं और सर्व शिक्षित होते जा रहे हैं जो लोग बिना नंबरों से बाहर निकल रहे हैं अभी नहीं मानता सर भगवान को पिक इन साइंस का भी कहना है कि दुनिया में सिर्फ 4% एनर्जी 90% का है तो यह कुछ लगता है जब तुम आना पड़ता है कि हां कहीं ना कहीं भगवान तो है तो सर मैं कहूंगा सत्तर से अस्सी परसेंट लोग हैं हिंदुस्तान में जो भगवान को मानते हैं जय हिंद

vicky sir hamare bharat mein jyadatar log aarthik hi hain aur bahut kam log hain jo naste ki toh sir sattar se assi percent log aise hain jo bhagwan mein vishwas rakhte hain aur surv shikshit hote ja rahe hain jo log bina numberon se bahar nikal rahe hain abhi nahi manata sir bhagwan ko pic in science ka bhi kehna hai ki duniya mein sirf 4 energy 90 ka hai toh yah kuch lagta hai jab tum aana padta hai ki haan kahin na kahin bhagwan toh hai toh sir main kahunga sattar se assi percent log hain Hindustan mein jo bhagwan ko maante hain jai hind

विकी सर हमारे भारत में ज्यादातर लोग आर्थिक ही हैं और बहुत कम लोग हैं जो नाश्ते की तो सर सत

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  420
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कितने प्रतिशत लोग जो है भगवान को मानते हैं तो एक सर्वेक्षण किया गया था वह रिलीजियस एक किस चीज़ की स्टडी कल जो ग्राफी चर्च स्टेटिस्टिक्स संस्था है उसको देख कर भी किया गया जिसमें पाया गया कि 14 प्रश्न जो वर्ल्ड पॉपुलेशन उसके लोग जो है वह अतीक अहमद भगवान को नहीं मानते हैं 24 + 7 बिलियन लोग पूरे वर्ल्ड पर है तो 980 मिनट होते और साथ में लेने से 907 मिलियन में से 980 मिलियन हटा दीजिए बाकी के लोग बसते हैं भगवान को मानते हैं तो इनमे से अप्रसन्नता दीजिए मतलब 8:30 पर्सेंट लोग जो है भगवान को कि सब लोगों का मत है इसलिए चेंज और हो भी सकता है ऐसी पिक मत है लोगों का एक आकलन किया गया है

aapne poocha hai kitne pratishat log jo hai bhagwan ko maante hain toh ek sarvekshan kiya gaya tha vaah rilijiyas ek kis cheez ki study kal jo graafi church statistics sanstha hai usko dekh kar bhi kiya gaya jisme paya gaya ki 14 prashna jo world population uske log jo hai vaah atik ahmad bhagwan ko nahi maante hain 24 7 billion log poore world par hai toh 980 minute hote aur saath mein lene se 907 million mein se 980 million hata dijiye baki ke log baste hain bhagwan ko maante hain toh inme se aprasannata dijiye matlab 8 30 percent log jo hai bhagwan ko ki sab logo ka mat hai isliye change aur ho bhi sakta hai aisi pic mat hai logo ka ek aakalan kiya gaya hai

आपने पूछा है कितने प्रतिशत लोग जो है भगवान को मानते हैं तो एक सर्वेक्षण किया गया था वह रिल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!