अगर सच्चा बचपन का दोस्त धोखा दे दे तो क्या करना चाहिए, उसे माफ़ कर देना चाहिए या सज़ा देनी चाहिए?...


user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम जी की आपका प्रश्न का सच्चा बचपन का दोस्त धोखा दे दे तो क्या करना चाहते माफ कर देना चाहिए या सजा तू मेरी राय तो जो है उससे जो है अगर माफी मांगता है उसमें किस वजह से चलती थी अगर आप उसको सुनोगे समझेंगे अगर उसमें लॉजिक है कोई तो आपसे माफी कर सके उसने सही बोला है अगर आपको लगता है कि वह सही करना है तो एक बार माफ़ी देने में कोई बुराई नहीं एक बार तो भगवान भी माफ कर देता अगर दूसरी बार होगा अगर कुछ ऐसी हरकत करता है या आपके बारे में कुछ बोलता है आपको सुनने में आता है और आप सीधे उससे बात करें और उसकी राय जाना है तभी आप उसे देखे रखे माफ कर दो थोड़े दिन बाद दिखे उसे लेकिन फिर उसके अच्छा बहुत अच्छा व्यवहार करें अजूबी भर जो है उससे दुश्मनी निभाते मेरी राय से दुश्मनी निभाना किसी से अच्छी बात नहीं है अगर अपने मन की मैल साफ हो जाए तो इससे ज्यादा अच्छी दुनिया में कितने दिन के लिए आए क्या फायदा लड़ाई झगड़े से प्रेम पूर्वक रखो यही जो है अच्छा ही है और कुछ नहीं आप समझने उसको क्या है वह किस टाइप का है क्या क्या कर सकता है आगे इस टाइम थोड़ा सोचे समझे और भी देख समझ पाते अगर उसे माफ कर देते हैं अगर आपको सच तो आपके लिए अच्छा आप इमो

ram ji ki aapka prashna ka saccha bachpan ka dost dhokha de de toh kya karna chahte maaf kar dena chahiye ya saza tu meri rai toh jo hai usse jo hai agar maafi mangta hai usme kis wajah se chalti thi agar aap usko sunoge samjhenge agar usme logic hai koi toh aapse maafi kar sake usne sahi bola hai agar aapko lagta hai ki vaah sahi karna hai toh ek baar maafee dene me koi burayi nahi ek baar toh bhagwan bhi maaf kar deta agar dusri baar hoga agar kuch aisi harkat karta hai ya aapke bare me kuch bolta hai aapko sunne me aata hai aur aap sidhe usse baat kare aur uski rai jana hai tabhi aap use dekhe rakhe maaf kar do thode din baad dikhe use lekin phir uske accha bahut accha vyavhar kare ajubi bhar jo hai usse dushmani nibhate meri rai se dushmani nibhana kisi se achi baat nahi hai agar apne man ki mail saaf ho jaaye toh isse zyada achi duniya me kitne din ke liye aaye kya fayda ladai jhagde se prem purvak rakho yahi jo hai accha hi hai aur kuch nahi aap samjhne usko kya hai vaah kis type ka hai kya kya kar sakta hai aage is time thoda soche samjhe aur bhi dekh samajh paate agar use maaf kar dete hain agar aapko sach toh aapke liye accha aap imo

राम जी की आपका प्रश्न का सच्चा बचपन का दोस्त धोखा दे दे तो क्या करना चाहते माफ कर देना चाह

Romanized Version
Likes  440  Dislikes    views  5510
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
bachpan ka dost ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!