क्या 22 मार्च को किसान भी अपने खेत में नहीं जाएंगे अभी तो गेहूं की सीजन चल रही है क्यों कार्ड यह नहीं जाएंगे?...


play
user

N. K. SINGH 'Nitesh'

Educator, Life Coach, Writer and Expert in British English Language, Author of Book/Fiction Lucky Girl (Love vs Marriage)

1:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन आपने पूछा है कि 22 मार्च को किसान खेतों में नहीं जाएंगे और आजकल तो गेहूं का सीजन चल रहा बिल्कुल ना जाए तो इससे अच्छी कोई बात नहीं हो सकती हालांकि मोदी जी ने कुछ भी नहीं कहा है कि जरूरी काम नहीं किए जा सकते हैं लेकिन यह जिम्मेदारी बनती है कम से कम 1 दिन के जनता करती में शामिल होकर के इस संक्रमण से खुद को भी बचा सकते हैं दूसरों को भी बचा सकते हैं तोड़ने के लिए किया जा रहा है ताकि जो वायरस है वह एक इंसान से दूसरे इंसान के शरीर में ना पहुंचे और उसे जिंदा रहने के लिए क्या दे सकते ना मिले तो हमें इसमें शामिल होना चाहिए और किसान को भी चाहिए कि उसका मिलना 7:00 बजे सुबह से पहले बजा कर के अपने खेतों का निरीक्षण कर सकता है और यदि उसको तो वह 1 दिन पहले 1 दिन बाद में कर सकता है क्योंकि मुझे लगता है कि वह कार्य जो गेहूं का कार्य बता रहे हैं उसे एक भी नहीं रोका जा सकता हूं और कोई ऐसी सर्जरी नहीं है आवश्यक सर्जरी के उसके बिना काम नहीं चल सकता तो ऐसा कहा जा रहा है कि हम सब शामिल हो और यह सब हम सब जनता के लिए पूरा हम जनता के लिए खुद है इसलिए हम सभी को इसमें शामिल होना चाहिए किसान भी इससे अलग नहीं है वह भी एक में शामिल है आम जनता में भी सरकार के इस कदम का उपयोग में शामिल होना चाहिए धन्यवाद

lekin aapne poocha hai ki 22 march ko kisan kheton me nahi jaenge aur aajkal toh gehun ka season chal raha bilkul na jaaye toh isse achi koi baat nahi ho sakti halaki modi ji ne kuch bhi nahi kaha hai ki zaroori kaam nahi kiye ja sakte hain lekin yah jimmedari banti hai kam se kam 1 din ke janta karti me shaamil hokar ke is sankraman se khud ko bhi bacha sakte hain dusro ko bhi bacha sakte hain todne ke liye kiya ja raha hai taki jo virus hai vaah ek insaan se dusre insaan ke sharir me na pahuche aur use zinda rehne ke liye kya de sakte na mile toh hamein isme shaamil hona chahiye aur kisan ko bhi chahiye ki uska milna 7 00 baje subah se pehle baja kar ke apne kheton ka nirikshan kar sakta hai aur yadi usko toh vaah 1 din pehle 1 din baad me kar sakta hai kyonki mujhe lagta hai ki vaah karya jo gehun ka karya bata rahe hain use ek bhi nahi roka ja sakta hoon aur koi aisi surgery nahi hai aavashyak surgery ke uske bina kaam nahi chal sakta toh aisa kaha ja raha hai ki hum sab shaamil ho aur yah sab hum sab janta ke liye pura hum janta ke liye khud hai isliye hum sabhi ko isme shaamil hona chahiye kisan bhi isse alag nahi hai vaah bhi ek me shaamil hai aam janta me bhi sarkar ke is kadam ka upyog me shaamil hona chahiye dhanyavad

लेकिन आपने पूछा है कि 22 मार्च को किसान खेतों में नहीं जाएंगे और आजकल तो गेहूं का सीजन चल

Romanized Version
Likes  331  Dislikes    views  3738
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!