बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' जैसे नारे क्या देश की महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए काफी है?...


user

Bhim Singh Kasnia

Acupunctrist,Motivational Speaker

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे नारे का देश की महिलाओं की सुरक्षित रखने के लिए काफी है नहीं ऐसा नहीं है नारों से सुरक्षा नहीं आ सकती है हमें हमारी सोच बदलनी होगी हर भारतीय नागरिक को यह सोच बदलनी होगी कि बेटियां सबकी एक जैसी होती हैं तभी जाकर महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सकती है और बच्चों को मां-बाप खासकर के लड़कों को ऐसे संस्कार दें कि वह हर किसी महिला की इज्जत करें जैसे घर में अपनी मां और बहन की करते हैं तब जाकर यह सुरक्षा की भावना जो है वह जागृत हो सकती है नमस्कार धन्यवाद

namaskar aapka sawaal hai ki beti bachao beti padhao jaise nare ka desh ki mahilaon ki surakshit rakhne ke liye kaafi hai nahi aisa nahi hai naron se suraksha nahi aa sakti hai hamein hamari soch badalni hogi har bharatiya nagarik ko yah soch badalni hogi ki betiyan sabki ek jaisi hoti hain tabhi jaakar mahilaon ki suraksha sunishchit ki ja sakti hai aur baccho ko maa baap khaskar ke ladko ko aise sanskar de ki vaah har kisi mahila ki izzat kare jaise ghar me apni maa aur behen ki karte hain tab jaakar yah suraksha ki bhavna jo hai vaah jagrit ho sakti hai namaskar dhanyavad

नमस्कार आपका सवाल है कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे नारे का देश की महिलाओं की सुरक्षित रखने

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  431
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर नारों से इस देश को उन्नति हो सकती तो आज भारत जो है वह दुनिया के सबसे डेवलप कंट्री स्नेक होता 1970 के दशक में इंदिरा गांधी जी ने नारा दिया था गरीबी हटाओ लेकिन हम जानते हैं कि करीब 50 साल बाद में भी गरीबी हमारे देश से हटी नहीं है इसी तरीके से मालूम कितने नारे दिए जा चुके हैं मुझसे देश का कोई भला नहीं हुआ नारे के साथ जो सबसे जरूरी चीज है अपार मेहनत और वह चीज जो है राजनेता करते नहीं हैं और वह जो है सिर्फ नारे दे कर के अपनी पीछा छुड़ा लेते हैं महिलाओं को अगर सुरक्षित करना है तो महिलाओं के जूते शंकर इंप्रूवमेंट करना पड़ेगा लॉयन ऑर्डर स्टेशन इंप्रूव करनी पड़ेगी पुलिस को जागरुक बनाना पड़ेगा और जो नागरिक हैं उनके अंदर भी जागरूकता लानी पड़ेगी और उसके लिए बहुत सपोर्ट की जरूरत है और जब तक यह सारे एयरपोर्ट नहीं होते हैं तब तक महिलाएं सुरक्षित नहीं रह सकती हैं

dekhie chahiye agar naaron se is desh ko unnati ho sakti to aaj bharat jo hai wah duniya ke sabse develop country snake hota chahiye 1970 ke dashak mein indira gandhi G ne naara diya tha garibi hatao lekin hum jante hain ki karib 50 saal baad mein bhi garibi hamare desh se hetty nahi hai isi tarike se maloom kitne nare diye ja chuke hain mujhse desh ka chahiye koi bhala nahi hua nare ke saath jo sabse zaroori cheez hai apaar mehnat aur wah cheez jo hai raajneta karte nahi hain aur wah jo hai sirf nare de kar ke apni picha chuda lete hain mahilaon ko agar surakshit karna hai to mahilaon ke jute shankar improvement karna padega layan order station improve karni padegi police ko jagaruk banana padega aur jo nagarik hain unke andar bhi jagrukta lani padegi aur uske liye bahut support ki zarurat hai aur jab tak yeh sare airport nahi hote hain tab tak mahilaye surakshit nahi rah sakti hain

देखिए अगर नारों से इस देश को उन्नति हो सकती तो आज भारत जो है वह दुनिया के सबसे डेवलप कंट्र

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  408
WhatsApp_icon
user

KRISHNA KUMAR SINGH

Social Activist

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आगे जा रहे हैं पुरुष के हर वक्त काम कर रही है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ चाहिए क्योंकि अगर दोनों से होता है मगर खाली पुरुष औरत नहीं रहेगी वह कहां होगा जबकि में भागीदारी दे रही है

aage ja rahe hain purush ke har waqt kaam kar rahi hai beti bachao beti padhao chahiye kyonki agar dono se hota hai magar khaali purush aurat nahi rahegi vaah kahaan hoga jabki mein bhagidari de rahi hai

आगे जा रहे हैं पुरुष के हर वक्त काम कर रही है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ चाहिए क्योंकि अगर दोनों

Romanized Version
Likes  168  Dislikes    views  2641
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के माध्यम से आज हमारा देश जागरूक हो चुका है इसके ऊपर सरकार ने भी काफी अच्छा कानून बनाया है आज के डेट में हमारे देश के माता माता पिता सभी लोग जागरूक हो गए हैं हमें लगता है कि प्रधानमंत्री जी का जो बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान है यह सफल है लेकिन बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान चालू कर देने से काम नहीं बनेगा इसमें क्या होगा कि सवा सौ करोड़ जनसंख्या सभी देशवासियों को सभी भारतवासियों को इसमें सहयोग करना होगा अगर सभी लोग जागरूक होंगे तभी जाकर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान हमारा सक्सेस होगा इसलिए प्रधानमंत्री मोदी जी का हमेशा देना चाहिए और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को अपने क्षेत्र में अपने एरिया में अच्छा से उसका प्रचार-प्रसार करना होगा लोगों को बताना होगा घर-घर जाकर गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक करना होगा धन्यवाद

beti bachao beti padhao abhiyan ke maadhyam se aaj hamara desh jagruk ho chuka hai iske upar sarkar ne bhi kaafi accha kanoon banaya hai aaj ke date mein hamare desh ke mata mata pita sabhi log jagruk ho gaye hain hume lagta hai ki pradhanmantri G ka jo beti bachao beti padhao abhiyan hai yeh safal hai lekin beti bachao beti padhao abhiyan chalu kar dene se kaam nahi banega isme kya hoga ki sava sau crore jansankhya sabhi deshvasiyon ko sabhi bharatvasiyon ko isme sahyog karna hoga agar sabhi log jagruk honge tabhi jaakar beti bachao beti padhao abhiyan hamara success hoga isliye pradhanmantri modi G ka hamesha dena chahiye aur beti bachao beti padhao abhiyan ko apne shetra mein apne area mein accha se uska prachar prasaar karna hoga logo ko batana hoga ghar ghar jaakar gav gav jaakar logo ko jagruk karna hoga dhanyavad

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के माध्यम से आज हमारा देश जागरूक हो चुका है इसके ऊपर सरकार ने

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  297
WhatsApp_icon
user

Vivek Shukla

Life coach

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन देश में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कुछ जैसे नारे तो लग रहे हैं लेकिन महिलाओं को सुरक्षित नहीं रखा जा रहा है क्योंकि आज भी बेटियों को उतना ही दबा के रखा जाता है जितना लड़कों का जाप किया जा रहा है मेरी सेक्सी लड़कियों को अभी भी पूरी तरह से छूट नहीं दी गई है उनको किसी हर जगह हर क्षेत्र में दबाया ही जा रहा है उनको लड़कों की तरह स्वच्छंदता नहीं प्राप्त हो रही है ऐसे में मेरे हिसाब से नहीं लगता कि लड़कियों को आज भी आजादी मिल पा रही है तो अभी और आज आदमियों की जरूरत है उनको क्योंकि वह शिक्षित करने में भी अक्सर मां-बाप देख रहा हूं कि ज्यादा से ज्यादा मां-बाप उनको दबाने की कोशिश हो जाते हैं उनकी बेटी से 12 में या पढ़ते या बीएससी करते-करते उनकी शादी कर देते हैं वह शादी के बाद उनके पति उनके बच्चे फिर इसी तरह जिम्मेदारियों बनकर रह जाती है उनका आजाद होना शायद मुश्किल हो पा रहा है कैसे लड़कियों को सेंड करना जरूरी है कि वह अपने खुद ले मन उनको ज्यादा तक हां उनके सलाह दी उनके माता-पिता लेकिन उन पर पूरा अपनी जिम्मेदारी मैंने अपने कर्तव्य को थोपना अभिमान उनको हमेशा दबाके ना रखें उनको भी आजादी चेंज मौका दें अपने बेटों की तरह तभी साथ भी लड़कियों को आजादी मिल पाएगी और इस तरह से नारे लगाने से देश में बेटियों को आजादी नहीं मिल पाएगी ओके बाय

lekin desh mein beti bachao beti padhao kuch jaise nare to lag rahe hain lekin mahilaon ko surakshit nahi rakha ja raha hai kyonki aaj bhi betiyon ko utana hi daba ke rakha jata hai jitna ladko ka jaap kiya ja raha hai meri sexy ladkiyon ko abhi bhi puri tarah se chhut nahi di gayi hai unko kisi har jagah har shetra mein dabaya hi ja raha hai unko ladko ki tarah swacchandata nahi prapt ho rahi hai aise mein mere hisab se nahi lagta ki ladkiyon ko aaj bhi azadi mil pa rahi hai to abhi aur aaj adamiyo ki zarurat hai unko kyonki wah shikshit karne mein bhi aksar maa baap dekh raha hoon ki zyada se zyada maa baap unko dabane ki koshish ho jaate hain unki beti se 12 mein ya padhte ya bsc karte karte unki shadi kar dete hain wah shadi ke baad unke pati unke bacche phir isi tarah jimmedaariyon bankar rah jati hai unka azad hona shayad mushkil ho pa raha hai kaise ladkiyon ko send karna zaroori hai ki wah apne khud le man unko zyada tak haan unke salah di unke mata pita lekin un par pura apni jimmedari maine apne kartavya ko thopana abhimaan unko hamesha dabake na rakhen unko bhi azadi change mauka de apne beto ki tarah tabhi saath bhi ladkiyon ko azadi mil payegi aur is tarah se nare lagane se desh mein betiyon ko azadi nahi mil payegi ok by

लेकिन देश में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कुछ जैसे नारे तो लग रहे हैं लेकिन महिलाओं को सुरक्षित न

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  294
WhatsApp_icon
user

Gyaani Woman lekhika 📚👩

Lekhika Hoon Suchai Likhti Hoo

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ बहुत ही अच्छा नारा है लेकिन मैं बस इतना कहना चाहूंगी कैसे खाओगे रोटियां जब पैदा होने के बाद जिंदा नौजवानों की बेटियां यह नाराजगी अधूरा है तब तक जब तक रेप होने बंद नहीं हो जाते मेरी तो सोच यही है सोच बदलो देश बदलेगा देश बदलेगा तो बेटियां सुरक्षित रहेंगे

beti bachao beti padhao bahut hi accha naara hai lekin main bus itna kehna chahungi kaise khaoge rotiyan jab paida hone ke baad zinda naujavanon ki betiyan yeh narajgi adhura hai tab tak jab tak rape hone band nahi ho jaate meri to soch yahi hai soch badlo desh badlega desh badlega to betiyan surakshit rahenge

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ बहुत ही अच्छा नारा है लेकिन मैं बस इतना कहना चाहूंगी कैसे खाओगे रोटिय

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user

Yk Sahu

Educated Unemployed

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि बेटी बचाने या फिर समाज को बचाने के लिए योजनाओं की जरूरत नहीं है भैया एक कानून की जरूरत है एक अच्छे सिस्टम की जरूरत है एक अच्छे सामाजिक शिक्षा की जरूरत है एक नैतिक शिक्षा की जरूरत है जो कि भारत को इस क्षेत्र में कदम उठाना चाहिए योजना के नाम से पैसे को बर्बाद करने की जरूरत

mujhe lagta hai ki beti bachane ya phir samaj ko bachane ke liye yojnao ki zarurat nahi hai bhaiya ek chahiye kanoon ki zarurat hai ek chahiye acche system ki zarurat hai ek chahiye acche samajik shiksha ki zarurat hai ek chahiye naitik shiksha ki zarurat hai jo ki bharat ko is shetra mein kadam uthana chahiye yojana ke naam se paise ko barbad karne ki zaroorat

मुझे लगता है कि बेटी बचाने या फिर समाज को बचाने के लिए योजनाओं की जरूरत नहीं है भैया एक का

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  156
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मुझे नहीं लगता कि सिर्फ नारे से कुछ काम होने वाला है देश में बदलाव होने वाला है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ देखिए यह भारत में बहुत जरूरी है लेकिन साथ ही साथ वह भी जरूरी है कि हमारे देश की जो महिलाएं वह प्रोटेक्ट नहीं हो पा रही है उनके साथ आए दिन अत्याचार सुनने को मिलते रहते हैं तो यही बोलूंगा कि पढ़ाने के साथ-साथ हमारे देश की बेटियों को बचाना भी है इन सब अत्याचारी लोगों से और यह जो हैरेसमेंट हो रहा है लड़कियों के साथ महिलाओं के साथ वह बहुत ज्यादा गलत है और ऐसा नहीं होना चाहिए तू सिर्फ राजू स्लोगन होता है यह जो यह लाइन होती है यह महिलाओं पर अत्याचार नहीं रोक सकते हैं तो हमारी सरकार को सख्त नियम लेकर आना चाहिए हालांकि सख्त नियम भारत में ऑलरेडी हैं लेकिन क्या उसका सही से फॉलो किया जा रहा है कि हमारा सिस्टम सही से काम कर रहा है क्या हमारे राजनेता सही से काम कर रहे हैं अभी कुछ नहीं पहले हमने देखा कि 8 महीने के बच्चे के साथ भी रेप हो गया और 708 साल की महिलाओं को भी नहीं बख्शा जा रहा क्या लोग ऐसे ही गलत काम करते रहेंगे क्या महिलाएं सुरक्षित रहेंगे क्या सिर्फ नाम ही काफी है इन सब चीजों को रोकने के लिए बिल्कुल नहीं मुझे लगता है कि सरकार को सख्त नियम करने चाहिए शक शक शक फाइट करनी चाहिए और जो पॉलिटिक्स की जाती इन सब चीजों पर उसको रोकना चाहिए साथ के साथ जिन लोगों को डर नहीं लगता जो लोग ही गंदे काम करते हैं उन लोगों के खिलाफ तुरंत एक्शन लिया जाना चाहिए ताकि लोगों के मन में डर बैठे यह सब गंदे काम कर ले कुबूल करने के लिए और वह यह सब काम ना करें तो मुझे लगता है कि आप पुलिस प्रशासन और पूरे एक गवर्नमेंट को सख्त होना चाहिए और कोई भी अगर गलत काम करता है तो उसके खिलाफ तुरंत एक्शन लिया गाना चाहिए और वूमेन को स्पेशल प्रोटेक्शन देनी चाहिए सच नारों से कुछ नहीं होने वाला देश में अभी फिलहाल में हालत काफी खराब है वह मेंस की तो प्रोटेक्शन लेना बहुत जरूरी है

dekhie chahiye mujhe nahi lagta ki sirf nare se kuch kaam hone vala hai desh mein badlav hone vala hai beti bachao beti padhao dekhie chahiye yeh bharat mein bahut zaroori hai lekin saath hi saath wah bhi zaroori hai ki hamare desh ki jo mahilaye wah project nahi ho pa rahi hai unke saath aaye din atyachar sunne ko milte rehte hain to yahi boloonga ki padhane ke saath saath hamare desh ki betiyon ko bachaana bhi hai in sab atyaachaaree logo chahiye se aur yeh jo harassment ho raha hai ladkiyon ke saath mahilaon ke saath wah bahut zyada galat hai aur aisa nahi hona chahiye tu sirf raju slogan hota hai yeh jo yeh line hoti hai yeh mahilaon par atyachar nahi rok sakte hain to hamari sarkar ko sakht niyam lekar aana chahiye halaki sakht niyam bharat mein already hain lekin kya uska sahi se follow kiya chahiye ja raha hai ki hamara system sahi se kaam kar raha hai kya hamare raajneta sahi se kaam kar rahe hain abhi kuch nahi pehle humne dekha ki 8 mahine ke bacche ke saath bhi rape ho gaya aur 708 saal ki mahilaon ko bhi nahi bakhsha ja raha kya log aise hi galat kaam karte rahenge kya mahilaye surakshit rahenge kya sirf naam hi kaafi hai in sab chijon ko rokne ke liye bilkul nahi mujhe lagta hai ki sarkar ko sakht niyam karne chahiye shaq shaq shaq fight karni chahiye aur jo politics ki jati in sab chijon par usko rokna chahiye saath ke saath jin logo chahiye ko dar nahi lagta jo log hi gande kaam karte hain un logo chahiye ke khilaf turant action liya jana chahiye taki logo chahiye ke man mein dar baithey yeh sab gande kaam kar le kubul karne ke liye aur wah yeh sab kaam na kare chahiye to mujhe lagta hai ki aap police prashasan aur poore ek chahiye government ko sakht hona chahiye aur koi bhi agar galat kaam karta hai to uske khilaf turant action liya gaana chahiye aur women ko special protection deni chahiye sach naaron se kuch nahi hone vala desh mein abhi filhal mein halat kaafi kharab hai wah mens ki to protection lena bahut zaroori hai

देखिए मुझे नहीं लगता कि सिर्फ नारे से कुछ काम होने वाला है देश में बदलाव होने वाला है बेटी

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ जैसे नारों से कुछ नहीं होने वाला है जब तक सरकार महिलाओं की सुरक्षा के लिए गंभीरता नहीं दिखाएगी क्योंकि आज हमारे देश में महिलाओं से रिलेटेड लड़कियों से रिलेटेड बहुत सारे स्लोगन बहुत सारे नारे चलते हैं और समय समय पर जो की सरकार बनती है वह अपने हिसाब से नारों में बदलाव करते रहती है लेकिन जब तक सरकार महिलाओं की सुरक्षा के प्रति गंभीरता नहीं दिखाई और कठोर कानून नहीं बनाएगी अपराधियों के प्रति तब तक मुझे नहीं लगता कि हमारे देश में महिलाओं की स्थिति में सुधार हो पाएगा और उन पर जो आपराधिक मामले होते हैं उन्हें कम ही देखने को मिलेगी अभी हाल में ही एक सर्वे में यह रिपोर्ट आई थी कि भारत महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित स्थान है रहने के लिए पूरे विश्व में यह साफ दर्शाता है कि भारत में महिलाओं की स्थिति कितनी खराब हो गई है और इसके लिए पूरे तरीके से सरकार यहां का प्रशासन जिम्मेदार हैं जो कि कानून व्यवस्था सही तरीके से लागू नहीं कर पाता और जो भी आपराधिक मानसिकता वाले या फिर अपराधी लोग हैं उन्हें कड़ी सजा नहीं देना पड़ता क्योंकि अगर हमारे देश में भी कड़े कानून को लागू सही तरीके से किया जाए तो बहुत सारे लोग महिलाओं के खिलाफ अपराध करने में और महिलाएं अपने आप को धीरे-धीरे सुरक्षित महसूस करने लगेंगे

beti bachao aur beti padhao jaise naaron se kuch nahi hone vala hai jab tak sarkar mahilaon ki suraksha ke liye gambhirta nahi dikhaegee kyonki aaj hamare desh mein mahilaon se related ladkiyon se related bahut sare slogan bahut sare nare chalte hain aur samay samay par jo ki sarkar banti hai wah apne hisab se naaron mein badlav karte rehti hai lekin jab tak sarkar mahilaon ki suraksha ke prati gambhirta nahi dikhai aur kathor kanoon nahi banaegi apradhiyon ke prati tab tak mujhe nahi lagta ki hamare desh mein mahilaon ki sthiti mein sudhaar ho payega aur un par jo apradhik mamle hote hain unhen chahiye kam hi dekhne ko milegi abhi haal mein hi ek chahiye survey mein yeh report chahiye I thi ki bharat mahilaon ke liye sabse asurakshit sthan hai rehne ke liye poore vishwa mein yeh saaf darshata hai ki bharat mein mahilaon ki sthiti kitni kharab ho gayi hai aur iske liye poore tarike se sarkar yahan ka chahiye prashasan zimmedar hain jo ki kanoon vyavastha sahi tarike se laagu nahi kar pata aur jo bhi apradhik mansikta wali ya phir apradhi log hain unhen chahiye kadi saja nahi dena padata kyonki agar hamare desh mein bhi kade kanoon ko laagu sahi tarike se kiya chahiye jaye to bahut sare log mahilaon ke khilaf apradh karne mein aur mahilaye apne aap ko dhire chahiye dhire chahiye surakshit mehsus karne lagenge

बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ जैसे नारों से कुछ नहीं होने वाला है जब तक सरकार महिलाओं की सुरक्षा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं मुझे नहीं लगता कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसा ना राही या फिर इस तरह की कोई भी ना रही यह देश की महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए काफी हैं क्योंकि हमारे देश की महिलाओं को सुरक्षित रखना है तो वह सिर्फ इन नारों से नहीं चलेगा आपको खुद से काम भी करना पड़ेगा कुछ से उनको सुरक्षित महसूस कराना पड़ेगा तभी जाकर वह पूरी तरह से सुरक्षित हो पाएंगी दूसरा देखिए हमारे देश में जा कर आएंगे पर इतना ज्यादा बढ़ता जा रहा है महिलाओं के खिलाफ वही है सरकार उन पर कोई एप्स ऐसे कदम नहीं उठा रही है जिससे महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके बहुत सारी चीजें हो रही है लेकिन उसको अनदेखा किया जा रहा है इतनी सारी जगह पर क्राइम बढ़ते चले जा रहे हैं फिर भी उन पर कोई रोक लगाने वाला नहीं है तो कहीं ना कहीं नारे लगाने से कुछ नहीं होगा बल्कि खुद से काम करना पड़ेगा तभी जाकर महिलाएं पूरी तरह से सुरक्षित हो पाएंगे हमारे देश में

ji nahi mujhe nahi lagta ki beti bachao beti padhao jaisa na rahi ya phir is tarah ki koi bhi na rahi yah desh ki mahilaon ko surakshit rakhne ke liye kaafi hain kyonki hamare desh ki mahilaon ko surakshit rakhna hai toh vaah sirf in naron se nahi chalega aapko khud se kaam bhi karna padega kuch se unko surakshit mehsus krana padega tabhi jaakar vaah puri tarah se surakshit ho paayengi doosra dekhiye hamare desh mein ja kar aayenge par itna zyada badhta ja raha hai mahilaon ke khilaf wahi hai sarkar un par koi apps aise kadam nahi utha rahi hai jisse mahilaon ki suraksha sunishchit ki ja sake bahut saree cheezen ho rahi hai lekin usko andekha kiya ja raha hai itni saree jagah par crime badhte chale ja rahe hain phir bhi un par koi rok lagane vala nahi hai toh kahin na kahin nare lagane se kuch nahi hoga balki khud se kaam karna padega tabhi jaakar mahilaye puri tarah se surakshit ho payenge hamare desh mein

जी नहीं मुझे नहीं लगता कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसा ना राही या फिर इस तरह की कोई भी ना रही

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन नाराज है वह बस समझदार लोगों को समझाने के लिए काफी है बाकी किसी चीज को सुरक्षित रखने के लिए काफी नहीं है जब तक आप इसलिए सिर्फ कानून नहीं बनाएंगे कुछ लोग ऐसे लोग होते हैं मतलब कि उस माहौल में निकली थी खुशी जाती है सीट कितना भी बोलते हो समझ में नहीं आता है कि बेटे इंपॉर्टेंट इसके लिए कड़े कानून लाने पड़ेंगे ना समझूं करने से रोकने के लिए

lekin naaraj hai vaah bus samajhdar logo ko samjhane ke liye kaafi hai baki kisi cheez ko surakshit rakhne ke liye kaafi nahi hai jab tak aap isliye sirf kanoon nahi banayenge kuch log aise log hote hain matlab ki us maahaul mein nikli thi khushi jaati hai seat kitna bhi bolte ho samajh mein nahi aata hai ki bete important iske liye kade kanoon lane padenge na samjhu karne se rokne ke liye

लेकिन नाराज है वह बस समझदार लोगों को समझाने के लिए काफी है बाकी किसी चीज को सुरक्षित रखने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  191
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:53
Play

Likes    Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
user

Vanamala

UPSC Educator

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जो प्रोग्राम है बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ एक अच्छा है मतलब एक जो एक सोशल वेलफेयर स्कीम जोक्स सरकार ने लॉन्च किया है क्योंकि हरियाणा में मतलब इतना गर्ल चाइल्ड को यह लोग पसंद नहीं करते YouTube वेरियस हो सीरी सिर्फ यह एक प्रोग्राम कहना गलत है कि महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए काफी बिल्कुल नहीं महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए क्या इंपॉर्टेंट है हमारा जो लोन आर्डर है इससे भी ज्यादा क्या हमारा जो माइंड सच है हमारा माइंड सच को थोड़ा बहुत बदलना चाहिए यह हम लोग ना यह जो सुरक्षा जो है ना सरकार दे सकती है ना पुलिस फोर्स दे सकती है ऐसा क्या मतलब पुलिस फोर्स मतलब जहां पर पुलिस फोर्स में ही लोगों की सोच ऐसी है एक अलग नजरिया नजरिया से देख ना ले अपने मन को तू यहां पर जो कहां पर चीज़ होगा सुरक्षित तभी रहेंगे जब नार्मल जो हमारा हम जैसे लोग नजरिया बदलना चाहिए टुवर्ड्स रिमाइंड संस बदलना है एक बार - जो बदले यह ऑटोमेटिकली जो है अभिमान सुरक्षित रहेंगे यह हम लोग खुदा सोसाइटी के ऊपर है जिस तरह से हम बच्चों को उनको जिस तरह से हम लोग परवरिश करते जिस तरह से हम उनको संस्कार देते हैं तो यह मतलब बहुत ही इंपॉर्टेंट पहले माइंड सोच को बदलिए 2 वर्ड में ऑटोमेटिक लिए जो है सब कुछ बदल जाएगा

yeh jo program hai beti bachao aur beti padhao ek chahiye accha hai matlab ek chahiye jo ek chahiye social welfare scheme jokes sarkar ne launch kiya chahiye hai kyonki haryana mein matlab itna girl child ko yeh log pasand nahi karte YouTube veriyas ho siri sirf yeh ek chahiye program kehna galat hai ki mahilaon ko surakshit rakhne ke liye kaafi bilkul nahi mahilaon ko surakshit rakhne ke liye kya important chahiye hai hamara jo loan order hai isse bhi zyada kya hamara jo mind sach hai hamara mind sach ko thoda bahut badalna chahiye yeh hum log na yeh jo suraksha jo hai na sarkar de sakti hai na police force de sakti hai aisa kya matlab police force matlab jaha par police force mein hi logo chahiye ki soch aisi hai ek chahiye alag najariya najariya se dekh na le apne man ko tu yahan par jo kahaan par cheese hoga surakshit tabhi rahenge jab normal chahiye jo hamara hum jaise log najariya badalna chahiye tuvards remind sans badalna hai ek chahiye baar - jo badle yeh atometikli jo hai abhimaan surakshit rahenge yeh hum log khuda society ke upar hai jis tarah se hum baccho ko unko jis tarah se hum log parvarish karte jis tarah se hum unko sanskar dete hain to yeh matlab bahut hi important chahiye pehle mind soch ko badaliye 2 word mein Automatic liye jo hai sab kuch badal jayega

यह जो प्रोग्राम है बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ एक अच्छा है मतलब एक जो एक सोशल वेलफेयर स्कीम जो

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  431
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ यह जो नायरा है यह बहुत बड़ा माइनिंग देता है बहुत बहुत बड़ा गंभीर अर्थ है यह इस बात के लिए नहीं है कि जैसे हमारे कुछ भी ग्रह दोष देना एंपावरमेंट की बात करते हैं उनकी बात करते हैं और तुम्हारा भारतीय परिवार में हर कोई शामिल है महिलाएं की हूं चाहे बेटियां हो माताएं हो दादी होना ही हो या चाहे तो क्या हम भी महिलाओं को अपने परिवार का हिस्सा मानते हैं ढूंढ करके सोचे यदि हमको बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जमशेद की तरह उन पर एक पूरे परिवार को घटाओ महिलाओं को शक्ति का दर्जा दिया कि मैं तो मैंने देखी को दे देती तौर पर बड़ा कर रहा हूं मैं तुम्हारी बेटी को बेटा समझता महिलाएं पुरुष महिलाओं को भी बराबरी कर दिया

beti bachao aur beti padhao yah jo nayara hai yah bahut bada Mining deta hai bahut bahut bada gambhir arth hai yah is baat ke liye nahi hai ki jaise hamare kuch bhi grah dosh dena empowerment ki baat karte hain unki baat karte hain aur tumhara bharatiya parivar mein har koi shaamil hai mahilaye ki hoon chahen betiyan ho matayein ho dadi hona hi ho ya chahen toh kya hum bhi mahilaon ko apne parivar ka hissa maante hain dhundh karke soche yadi hamko beti bachao beti padhao jamshed ki tarah un par ek poore parivar ko ghatao mahilaon ko shakti ka darja diya ki main toh maine dekhi ko de deti taur par bada kar raha hoon main tumhari beti ko beta samajhata mahilaye purush mahilaon ko bhi barabari kar diya

बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ यह जो नायरा है यह बहुत बड़ा माइनिंग देता है बहुत बहुत बड़ा गंभीर अ

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  554
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
bahut hi gande jokes ; beti padhao desh bachao ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!