क्या 35ए और धारा 370 कभी समाप्त हो पाएँगे या यूँ ही राजनीतिक मुद्दे बने रहेंगे?...


play
user

KRISHNA KUMAR SINGH

Social Activist

0:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ए जब तक 35a ने लागू होगा ना जैसे कि बिहार का यूपी के अदर स्टेट के हैं हम दिल्ली में भी जमीन कर सकते दिल्ली वाली बिहार में कहां जाना चालू कर देंगे एप्लीकेशन रहेगा खत्म हो जाएगी पापुलेशन नहीं रहेगा का मीनिंग 35a से जुड़ा हुआ है यह दोनों जब तक नहीं होगा तो फिर कश्मीर का समाचार समाचार नहीं है

a jab tak 35a ne laagu hoga na jaise ki bihar ka up ke other state ke hain hum delhi mein bhi jameen kar sakte delhi wali bihar mein kahaan jana chaalu kar denge application rahega khatam ho jayegi population nahi rahega ka meaning 35a se juda hua hai yah dono jab tak nahi hoga toh phir kashmir ka samachar samachar nahi hai

ए जब तक 35a ने लागू होगा ना जैसे कि बिहार का यूपी के अदर स्टेट के हैं हम दिल्ली में भी जमी

Romanized Version
Likes  157  Dislikes    views  2662
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ravi Sharma

Advocate

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी प्रकार के कानून को बदलने के लिए राजनीतिक इच्छा शक्ति का होना बहुत ही आवश्यक होता है मुझे नहीं लगता कि वर्तमान तथा विगत केंद्र सरकार व राज्य सरकारों में इस प्रकार की कोई भी महत्वकांक्षा थी कि वह जो पुराने कानून है उस पर उसको एक प्रकार से बदलता है उसमें किसी प्रकार का मुनचुन परिवहन परिवर्तन कर सकें अपनी फोटो गत राजनीति के ऊपर ही ध्यान देते हैं बहुत से ऐसे कानून बनते हैं जिनका बनाना बनाना किसी प्रकार से देश हित में नहीं होता तथा बहुत से ऐसे कानून है जो भारत की एकता अखंडता के लिए एक खतरा उत्पन्न करते हैं उदाहरण के तौर बरानपुर से स्पेशल पावर है जिसके तहत बहुत से मानव अधिकारों का उन्मूलन होता है आप उदयपुर के कुछ राज्य में तथा कश्मीर में साथ ही साथ जिस प्रकार से कश्मीर को एक विशेष राज्य का दर्जा मिला हुआ है तथा बहुत से ऐसे अंधा कानून है जिनको राजनीति के चलते किसी भी सरकार ने बदलने की कोई भी कोशिश नहीं करी अभी इस प्रकार की कोई ईमानदार प्रयास विगत वर्षों में होंगे आने वाले कुछ समय में इसके विषय में सोचा जाएगा तो उनको यह भी भय सताता है कि उनका वोट बैंक के वर्क एक बहुत बड़ा वोट बैंक है उसका नुकसान होगा तो मुझे ऐसा लगता है कि यह हमेशा राजनीतिक मुद्दे ही बने रहेंगे बशर्ते इसके ऊपर एक जनहित याचिका जारी की जाए परंतु बात वहीं आकर अटक जाती है कि किस प्रकार देखा अध्यादेश लाया जाएगा जो कानून बनेगा इसके लिए किसी भी प्रकार का कानूनी प्रावधान ना हो पाने की वजह से इसका दुरुपयोग है पहुंची केंद्र सरकारों ने किया था तो मुझे लगता है कि आने वाले समय में भी इससे संबंधित कोई भी राजोपचार है वह भारत को मिलने वाला नहीं है धन्यवाद

kisi prakar ke kanoon ko badalne ke liye raajnitik iccha shakti ka hona bahut hi aavashyak hota hai mujhe nahi lagta ki vartaman tatha vigat kendra sarkar va rajya sarkaro mein is prakar ki koi bhi mahatwakanksha thi ki vaah jo purane kanoon hai us par usko ek prakar se badalta hai usme kisi prakar ka munchun parivahan parivartan kar sake apni photo gat raajneeti ke upar hi dhyan dete hai bahut se aise kanoon bante hai jinka banana banana kisi prakar se desh hit mein nahi hota tatha bahut se aise kanoon hai jo bharat ki ekta akhandata ke liye ek khatra utpann karte hai udaharan ke taur baranpur se special power hai jiske tahat bahut se manav adhikaaro ka unmulan hota hai aap udaipur ke kuch rajya mein tatha kashmir mein saath hi saath jis prakar se kashmir ko ek vishesh rajya ka darja mila hua hai tatha bahut se aise andha kanoon hai jinako raajneeti ke chalte kisi bhi sarkar ne badalne ki koi bhi koshish nahi kari abhi is prakar ki koi imaandaar prayas vigat varshon mein honge aane waale kuch samay mein iske vishay mein socha jaega toh unko yah bhi bhay sataata hai ki unka vote bank ke work ek bahut bada vote bank hai uska nuksan hoga toh mujhe aisa lagta hai ki yah hamesha raajnitik mudde hi bane rahenge basharte iske upar ek janhit yachika jaari ki jaaye parantu baat wahi aakar atak jaati hai ki kis prakar dekha adhyadesh laya jaega jo kanoon banega iske liye kisi bhi prakar ka kanooni pravadhan na ho paane ki wajah se iska durupyog hai pahuchi kendra sarkaro ne kiya tha toh mujhe lagta hai ki aane waale samay mein bhi isse sambandhit koi bhi rajopchar hai vaah bharat ko milne vala nahi hai dhanyavad

किसी प्रकार के कानून को बदलने के लिए राजनीतिक इच्छा शक्ति का होना बहुत ही आवश्यक होता है म

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  317
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो कश्मीर में धारा 370 लगी है वह समाप्त हो सकती है बिल्कुल लेकिन कश्मीर में जो भी किसी गवर्नमेंट का राज नहीं है वहां पर राष्ट्रपति शासन लगा हुआ है और यह बिल्कुल राष्ट्रपति के अंदर आता है कि वह धारा कब तक तुझे कैसे लगी है कि वहां का माहौल ठीक हो रहा है माहौल जमाना सही हो रहा तू धारा हटा दी जाएगी कि राजनीतिक मुद्दा जो है वही से पार्टी वाले बनाने जबकि इसमें कोई भी जो सट्टा पक्षी जो पार्टी बैठी है उसका कोई भी समय लेना देना नहीं है यह बिल्कुल जो है वो राष्ट्रपति की मर्जी से हो रहा है लेकिन यह बस चुनाव कराने के लिए ऊपर मुद्दा बनाया जा रहा है

jo kashmir mein dhara 370 lagi hai vaah samapt ho sakti hai bilkul lekin kashmir mein jo bhi kisi government ka raj nahi hai wahan par rashtrapati shasan laga hua hai aur yah bilkul rashtrapati ke andar aata hai ki vaah dhara kab tak tujhe kaise lagi hai ki wahan ka maahaul theek ho raha hai maahaul jamana sahi ho raha tu dhara hata di jayegi ki raajnitik mudda jo hai wahi se party waale banane jabki isme koi bhi jo satta pakshi jo party baithi hai uska koi bhi samay lena dena nahi hai yah bilkul jo hai vo rashtrapati ki marji se ho raha hai lekin yah bus chunav karane ke liye upar mudda banaya ja raha hai

जो कश्मीर में धारा 370 लगी है वह समाप्त हो सकती है बिल्कुल लेकिन कश्मीर में जो भी किसी गवर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!