बिहार में कैसी राजनीती होनी चाहिए?...


play
user

Zulfiqar Waddo

Journalist

0:22

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कटिहार का तो मुझे मेरी मालूम है महाराष्ट्र में हूं कि आप पवन जी महाराज का प्यार में कैसी राजनीति होना चाहिए कि लोग जो होते हैं अपने अपने अपने अपने अपने रोटियां सेकने के लिए काम करते यार चेतक लगाता है अपने-अपने यह करता है

katihar ka toh mujhe meri maloom hai maharashtra mein hoon ki aap pawan ji maharaj ka pyar mein kaisi raajneeti hona chahiye ki log jo hote hain apne apne apne apne apne rotiyan sekne ke liye kaam karte yaar chetak lagaata hai apne apne yah karta hai

कटिहार का तो मुझे मेरी मालूम है महाराष्ट्र में हूं कि आप पवन जी महाराज का प्यार में कैसी र

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  476
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिहार की राजनीति मुख्य तौर से जातिगत आधारित है और बहुत पहले के समय से ही वहां पर जो भी राजनीतिक समीकरण बनते हैं चुनाव के वक्त वह जाति पर आधारित होते हैं लेकिन मुझे लगता है कि इन सारी चीजों से अब वहां की राजनीति को ऊपर उठना चाहिए और विकास के नाम पर लोगों से वोट मांगना चाहिए क्योंकि आज हम देखते हैं कि बिहार अन्य राज्यों की तुलना में काफी पीछे रह गया है और अगर वहां पर भी विकास करना है या फिर विकास की गति में तेजी लानी है तो राजनेताओं को धर्म या फिर जात पात की राजनीति से ऊपर उठना चाहिए और लोगों की जो भी परेशानियां है उसके बारे में सोचना चाहिए लोगों को भी शिक्षित करने की आवश्यकता है तभी जाकर वह अच्छे और बुरे उम्मीदवार का चुनाव कर पाएंगे और बिहार की राजनीति में कुछ सुधार हो पाएगा क्योंकि बिहार में जल्द ही चुनाव होने वाले हैं और जिस प्रकार से पिछली बार चुनाव हुए थे जहां पर लालू यादव और नीतीश कुमार ने गठबंधन करके सरकार बनाई थी लेकिन बीच ही में मतभेद होने की वजह से दोनों पार्टियों का गठबंधन टूट गया और जनता दल यूनाइटेड ने भारतीय जनता पार्टी का हाथ थाम कर फिर से सरकार बना ली तो यह साफ दर्शाता है कि नीतीश कुमार ने सिर्फ अपने सत्ता के बारे में सोचा लेकिन लोगों के डिसीजन के बारे में नहीं सोचा तो आने वाले समय में जनता इन सारी चीजों को जरूर ध्यान में रखेगी और वोटिंग करेगी तो बिहार की राजनीति में कुछ न कुछ बदलाव अवश्य होना चाहिए जैसे कि वहां पर जो भी लोग वोटिंग करें वह यह ध्यान में रखें कि उम्मीदवार चाहे किसी भी कास्ट का क्यों ना हो अगर वह विकास कर पाने में सक्षम हो तभी उसे वोट दिया जाए

bihar ki raajneeti mukhya taur se jaatigat aadharit hai aur bahut pehle ke samay se hi wahan par jo bhi raajnitik samikaran bante hai chunav ke waqt vaah jati par aadharit hote hai lekin mujhe lagta hai ki in saree chijon se ab wahan ki raajneeti ko upar uthna chahiye aur vikas ke naam par logo se vote maangna chahiye kyonki aaj hum dekhte hai ki bihar anya rajyo ki tulna mein kaafi peeche reh gaya hai aur agar wahan par bhi vikas karna hai ya phir vikas ki gati mein teji lani hai toh rajnetao ko dharm ya phir jaat pat ki raajneeti se upar uthna chahiye aur logo ki jo bhi pareshaniya hai uske bare mein sochna chahiye logo ko bhi shikshit karne ki avashyakta hai tabhi jaakar vaah acche aur bure ummidvar ka chunav kar payenge aur bihar ki raajneeti mein kuch sudhaar ho payega kyonki bihar mein jald hi chunav hone waale hai aur jis prakar se pichali baar chunav hue the jaha par lalu yadav aur nitish kumar ne gathbandhan karke sarkar banai thi lekin beech hi mein matbhed hone ki wajah se dono partiyon ka gathbandhan toot gaya aur janta dal united ne bharatiya janta party ka hath tham kar phir se sarkar bana li toh yah saaf darshata hai ki nitish kumar ne sirf apne satta ke bare mein socha lekin logo ke decision ke bare mein nahi socha toh aane waale samay mein janta in saree chijon ko zaroor dhyan mein rakhegi aur voting karegi toh bihar ki raajneeti mein kuch na kuch badlav avashya hona chahiye jaise ki wahan par jo bhi log voting kare vaah yah dhyan mein rakhen ki ummidvar chahen kisi bhi caste ka kyon na ho agar vaah vikas kar paane mein saksham ho tabhi use vote diya jaaye

बिहार की राजनीति मुख्य तौर से जातिगत आधारित है और बहुत पहले के समय से ही वहां पर जो भी राज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिहार में कैसी राजनीति होनी चाहिए तो अगर बिहार की राजनीति की बात करें तो बिहार की राजनीति जो है अभी तक कोई कुछ खास नहीं रही है बीच में लालू जी के सत्ता 15 साल तक लड़की ने याद किया अवधि का सर काटा भी जाता तो कुछ हुआ था बिहार में बिजली से अलग होकर बीजेपी के साथ तो यह राजनीति जो यह बेटा नहीं होती है क्या कल आपको किसी के साथ गठबंधन बनाना ही है स्टार्टिंग स्टार्टिंग से किसी एक पार्टी के साथ गठबंधन पार्टी के साथ 2 साल पार्टी के दाग का प्रभाव पड़ेगा और बिहार की राजनीति में जाति के नाम पर वोट देते ही अच्छा नेता कौन है या अच्छे पॉलिटिशन कंडोम को वोट नहीं देता जब तक नहीं देते हैं तो हमें ध्यान देना चाहिए चुनाव बन्ना जी बिहार में जो कि बिहार के जनता के हित के बारे में सोचिए डेवलपमेंट के बारे में सोचें बिहार में ज्यादा ज्यादा जो है कंपनियों के कि बिहार में कोई भी कंपनी नहीं है बिहार के जो बाकी है बिहार से जो लोग होते हैं अलग-अलग स्टेट में जाकर काम करते हैं अगर बिहार में कंपनियां बहुत सारी खुल जाएगी तो बिहार के लोग बिहार में ही काम करेंगे और चेस्ट को भी फायदा होगा लोगों को भी फायदा होगा

bihar mein kaisi raajneeti honi chahiye toh agar bihar ki raajneeti ki baat kare toh bihar ki raajneeti jo hai abhi tak koi kuch khaas nahi rahi hai beech mein lalu ji ke satta 15 saal tak ladki ne yaad kiya awadhi ka sir kaata bhi jata toh kuch hua tha bihar mein bijli se alag hokar bjp ke saath toh yah raajneeti jo yah beta nahi hoti hai kya kal aapko kisi ke saath gathbandhan banana hi hai starting starting se kisi ek party ke saath gathbandhan party ke saath 2 saal party ke daag ka prabhav padega aur bihar ki raajneeti mein jati ke naam par vote dete hi accha neta kaun hai ya acche politician condom ko vote nahi deta jab tak nahi dete hain toh hamein dhyan dena chahiye chunav banna ji bihar mein jo ki bihar ke janta ke hit ke bare mein sochiye development ke bare mein sochen bihar mein zyada zyada jo hai companion ke ki bihar mein koi bhi company nahi hai bihar ke jo baki hai bihar se jo log hote hain alag alag state mein jaakar kaam karte hain agar bihar mein companiya bahut saree khul jayegi toh bihar ke log bihar mein hi kaam karenge aur chest ko bhi fayda hoga logo ko bhi fayda hoga

बिहार में कैसी राजनीति होनी चाहिए तो अगर बिहार की राजनीति की बात करें तो बिहार की राजनीति

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  125
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!