अगर मैंने अपने 11 साल के लड़के को अश्लील फिल्म देखते हुए पकड़ लिया तो मुझे क्या करना चाहिए? क्या मुझे उसे मारना चाहिए या उसे समझना चाहिए?...


user

Hemant Priyadarshi

Writer | Philospher| Teacher |

4:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा नजरिया इस मामले में सबसे अलग है ऐसे जितने भी ऐसी बातें आती है उन सब बातों के प्रति मेरा नजरिया सबसे दुलारा आपने तो पूछा है मेरे हिसाब से मांगना तो बिल्कुल ही उचित नहीं है या तो कोई भी कहेगा जो भी अपने आपको कहेगा मैं सूचित हो जा समझदार हो वाह यार आए तो सबसे पहले दे देना नहीं समझाना चाहिए इसमें इससे तुम्हारा या नुकसान हो जाएगा तुम भटक जाओगे लोग तुम्हें पसंद करना छोड़ देंगे क्या क्या यही सब समझा सकती आप यह सब तो हर लड़कियां करेंगे लेकिन उससे आपको क्या लगता है कि आपका देने से समझा देने की या ना करो ना करो यह ऐसा होता है समझते हैं क्या आप याद करें इससे पहले बच्चे की आपने कौन सी गलती पकड़ी है और आपने उसे समझाया और फिर उसने काम करना छोड़ दिया अब खुद से याद करें जब यह सवाल आपके सामने उपस्थित हो जाए या परिस्थिति उपस्थित हो जाए को समझाने से पहले तो आप याद करें भाई साहब कुछ हुआ था इससे छोटा या इससे करा तो आपने उसे समझाया था कि उस पर क्या असर पड़ा क्या उसने वह काम फिर कभी नहीं किया अगर किया तब समझ ले कि आप का तरीका गलत है और मैक्सिमम गार्जियन यही गलती हर बार करते हैं एक बार क्या हर बार करते हैं मेरे नजरिए में नकारात्मक बात जो कहा कहा कि समझाइए क्या चीज गलत है या ऐसा नहीं उठा करना चाहिए एक तो होता है कि बच्चे समझते हैं कि आदमी जो हम से भरा है यह उपदेश तेरा और उद्देश्य दूसरे तरह का सेंस ले जाता है मनुष्य के मन में दूसरे के प्रति एक होता है दूसरा होता है कि बच्चा ऐसा भी समझते हैं तीसरा होता है काबिल बन रहा है बच्चा ऐसा भी समझते हैं उनका अपना सरप्राइज करते हैं उसको रोक रहा है खुद नहीं किया है या खुद नहीं करता है या अपने छुप-छुपकर करता है और हम को रोक रहा है इसलिए मेरा नजरिया यह है मेरे हिसाब से यह उचित होगा क्या आप उसे जब पैसा पकड़ लिए आप उसे खोलकर उसे दिखाएं ऐसा क्यों कर रहा है यार तुमने क्या समझा जाते पर अगर फिर भी उसको दिक्कत हो तो मैं कहता हूं कि उस उसके साथ ही पहले करके दिखा दे ठीक है तू खोल दो खोल अपना मैं तुम्हारे साथ करता हूं या तुम हमारे साथ कर मैं तुम्हें बताता हूं या चीज क्या इसमें क्या तकलीफ है इसमें क्या रहस्य है इसमें कितना मजा है यह जो तुम देख रहे हो या जो तुम समझने की कोशिश कर रहे हो या समझ रहे हो या ऐसा है ऐसा है असल में जब किया जाता है तो किसको क्या अनुभव होता है या बिना किए नहीं कहा जा सकता और जो जब किया जाता है जब तू बच्चों को समझ में आएगा क्या है नहीं की फिर वह बच्चा क्या समझेगा आपको अच्छा करने की बिल्कुल जरूरत नहीं कि वह बच्चा फिर करेगा या नहीं ज्यादा मैं उम्मीद करता हूं वह बचाव के लिए अब गलती नहीं करेगा जब तक उसकी शादी ना हो जाए या फिर संगति उसका बुरी तरह से ना बिगड़ जाए आपके गार्जियंस को छोड़ने के बाद अकेले रहते इसलिए मेरी नजरिया में आप को समझाने का तरीका बदल देना चाहिए और नेगेटिव की या उप देसात्मक या काबिलियत टाइप का समझाना जरुरी नहीं आप बच्चे को बच्चे की तरह बन कर उसे दूसरे ट्रीटमेंट से बात टैक्टिकल अपने साथ हो उसके साथ जो या किसी के साथ प्रेक्टिकल उसे समझा बच्चे के मस्तिष्क

mera najariya is mamle me sabse alag hai aise jitne bhi aisi batein aati hai un sab baaton ke prati mera najariya sabse dulara aapne toh poocha hai mere hisab se maangna toh bilkul hi uchit nahi hai ya toh koi bhi kahega jo bhi apne aapko kahega main suchit ho ja samajhdar ho wah yaar aaye toh sabse pehle de dena nahi samajhana chahiye isme isse tumhara ya nuksan ho jaega tum bhatak jaoge log tumhe pasand karna chhod denge kya kya yahi sab samjha sakti aap yah sab toh har ladkiya karenge lekin usse aapko kya lagta hai ki aapka dene se samjha dene ki ya na karo na karo yah aisa hota hai samajhte hain kya aap yaad kare isse pehle bacche ki aapne kaun si galti pakadi hai aur aapne use samjhaya aur phir usne kaam karna chhod diya ab khud se yaad kare jab yah sawaal aapke saamne upasthit ho jaaye ya paristhiti upasthit ho jaaye ko samjhane se pehle toh aap yaad kare bhai saheb kuch hua tha isse chota ya isse kara toh aapne use samjhaya tha ki us par kya asar pada kya usne vaah kaam phir kabhi nahi kiya agar kiya tab samajh le ki aap ka tarika galat hai aur maximum guardian yahi galti har baar karte hain ek baar kya har baar karte hain mere nazariye me nakaratmak baat jo kaha kaha ki samjhaiye kya cheez galat hai ya aisa nahi utha karna chahiye ek toh hota hai ki bacche samajhte hain ki aadmi jo hum se bhara hai yah updesh tera aur uddeshya dusre tarah ka sense le jata hai manushya ke man me dusre ke prati ek hota hai doosra hota hai ki baccha aisa bhi samajhte hain teesra hota hai kaabil ban raha hai baccha aisa bhi samajhte hain unka apna surprise karte hain usko rok raha hai khud nahi kiya hai ya khud nahi karta hai ya apne chup chhupakar karta hai aur hum ko rok raha hai isliye mera najariya yah hai mere hisab se yah uchit hoga kya aap use jab paisa pakad liye aap use kholakar use dikhaen aisa kyon kar raha hai yaar tumne kya samjha jaate par agar phir bhi usko dikkat ho toh main kahata hoon ki us uske saath hi pehle karke dikha de theek hai tu khol do khol apna main tumhare saath karta hoon ya tum hamare saath kar main tumhe batata hoon ya cheez kya isme kya takleef hai isme kya rahasya hai isme kitna maza hai yah jo tum dekh rahe ho ya jo tum samjhne ki koshish kar rahe ho ya samajh rahe ho ya aisa hai aisa hai asal me jab kiya jata hai toh kisko kya anubhav hota hai ya bina kiye nahi kaha ja sakta aur jo jab kiya jata hai jab tu baccho ko samajh me aayega kya hai nahi ki phir vaah baccha kya samjhega aapko accha karne ki bilkul zarurat nahi ki vaah baccha phir karega ya nahi zyada main ummid karta hoon vaah bachav ke liye ab galti nahi karega jab tak uski shaadi na ho jaaye ya phir sangati uska buri tarah se na bigad jaaye aapke garjiyans ko chodne ke baad akele rehte isliye meri najariya me aap ko samjhane ka tarika badal dena chahiye aur Negative ki ya up desatmak ya kabiliyat type ka samajhana zaroori nahi aap bacche ko bacche ki tarah ban kar use dusre treatment se baat tactical apne saath ho uske saath jo ya kisi ke saath practical use samjha bacche ke mastishk

मेरा नजरिया इस मामले में सबसे अलग है ऐसे जितने भी ऐसी बातें आती है उन सब बातों के प्रति मे

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  98
KooApp_icon
WhatsApp_icon
18 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
ashleel movies ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!