मंत्र में और तंत्र में क्या अंतर है?...


user

Ramesh Bait

Astrologer & Spiritual Healer

2:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं रमेश बाइक सम्मोहन करने हूं ज्योतिषी हो और मंत्र तंत्र विद्या का जानकार हूं मंत्रा मन को नियंत्रित करने वाला तंत्र है आपके अंदर एक विद्युत शक्ति है इलेक्ट्रिकल कोर्स है कितना मन आपका एकाग्र होगा अनियंत्रित होगा वह शक्ति उस दिशा में बढ़ेगी इसके लिए मंत्र को सिद्ध करने का मतलब यह होता है कि आप के अंदर की जो विद्युत शक्ति है जो इलेक्ट्रिकल कोर्स है उसको आप एक दिशा की और प्रभावित करते हो जिससे वह काम होता है तंत्र क्या है तंत्र यू है कि सिस्टम वह परिस्थितियों को निर्माण करना आजू-बाजू की परिस्थिति को निर्माण करना जिससे आपका मंत्र एक झटके में काम करें इसे एग्जांपल आप बोलोगे कि एक आदमी गा रहा है बराबर उसका गाना गाना यह मंत्र हुआ तुझे गाना गाना यह मंत्र हुआ तो उस मंत्र को उसको पहले बहुत रियास करना पड़ेगा गाना गाने गए तभी अच्छा कहां पाएगा नहीं तो आप लोग सब भाग जाओगे अगर जो भी कहेगा बहुत बुरा तो पहले उसको अपनी आवाज ठीक करनी पड़ेगी तब उसने वह सिद्ध कर ले भाई मुझे आवाज से दोगी अभी तंत्र क्या है फिर बाजू में कोई ढोल बजा रहा है कोई प्यार हुआ जा रहा है यह बांसुरी बजा रहा है तो यह हुआ उसके तंत्र को गाना भी गा रहा है और म्यूजिक भी आ रही तो बहुत बढ़िया लग रहा है बहुत अच्छे लोग नाच रहे झूम रहे उसी प्रकार मंत्रा से आप आपके अंदर की शक्तियों को जगाते हो और एकाग्र करते हो तंत्र के आजू-बाजू का बना रहता है वह मंदिर वहीं पर जहां पर आप बैठे हो जिसके नीचे आप बैठे हो या जो धूप आप लगा रहे हो एक विशिष्ट प्रकार का या विशिष्ट प्रकार का फूल एक विशिष्ट प्रकार की देवी देवताओं को अर्पित कर रहे हो उदिशा जहां पर बैठकर पूजा करोगी उस समय पुत्र वियोग जिसको आप इंपॉर्टेंट दोगे कि 22 दिन इस घड़ी इस पल में यह काम कर रहा हूं इस दिशा तंत्र मंत्र है खुद को यह करना खुद को डेवलप करना फोकस के लिए तंत्र बाहरी सारी परिस्थितियां है जिसको आप मैनेज करते हो यही अंतर है तो जब मंत्र और तंत्र मिलते हैं तब चमत्कार घटित होते हैं और लोग लोग देखते हैं उसे अगर आपको जॉब पसंद आया हो तो लाइक जरूर कीजिएगा धन्यवाद

namaskar main ramesh bike sammohan karne hoon jyotishi ho aur mantra tantra vidya ka janakar hoon Mantra man ko niyantrit karne vala tantra hai aapke andar ek vidyut shakti hai electrical course hai kitna man aapka ekagra hoga aniyantrit hoga vaah shakti us disha me badhegi iske liye mantra ko siddh karne ka matlab yah hota hai ki aap ke andar ki jo vidyut shakti hai jo electrical course hai usko aap ek disha ki aur prabhavit karte ho jisse vaah kaam hota hai tantra kya hai tantra you hai ki system vaah paristhitiyon ko nirmaan karna aju baju ki paristhiti ko nirmaan karna jisse aapka mantra ek jhatake me kaam kare ise example aap bologe ki ek aadmi jaayega raha hai barabar uska gaana gaana yah mantra hua tujhe gaana gaana yah mantra hua toh us mantra ko usko pehle bahut riyas karna padega gaana gaane gaye tabhi accha kaha payega nahi toh aap log sab bhag jaoge agar jo bhi kahega bahut bura toh pehle usko apni awaaz theek karni padegi tab usne vaah siddh kar le bhai mujhe awaaz se dogi abhi tantra kya hai phir baju me koi dhol baja raha hai koi pyar hua ja raha hai yah bansuri baja raha hai toh yah hua uske tantra ko gaana bhi jaayega raha hai aur music bhi aa rahi toh bahut badhiya lag raha hai bahut acche log nach rahe jhoom rahe usi prakar Mantra se aap aapke andar ki shaktiyon ko jagate ho aur ekagra karte ho tantra ke aju baju ka bana rehta hai vaah mandir wahi par jaha par aap baithe ho jiske niche aap baithe ho ya jo dhoop aap laga rahe ho ek vishisht prakar ka ya vishisht prakar ka fool ek vishisht prakar ki devi devatao ko arpit kar rahe ho udisha jaha par baithkar puja karogi us samay putra viyog jisko aap important doge ki 22 din is ghadi is pal me yah kaam kar raha hoon is disha tantra mantra hai khud ko yah karna khud ko develop karna focus ke liye tantra bahri saari paristhiyaann hai jisko aap manage karte ho yahi antar hai toh jab mantra aur tantra milte hain tab chamatkar ghatit hote hain aur log log dekhte hain use agar aapko job pasand aaya ho toh like zaroor kijiega dhanyavad

नमस्कार मैं रमेश बाइक सम्मोहन करने हूं ज्योतिषी हो और मंत्र तंत्र विद्या का जानकार हूं म

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  143
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!