अनुसूचित जाति किसे कहा जाता है?...


play
user

Devkumar Kaneri BSP

Advocate & Politicians

3:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अनुसूचित जाति के बारे में कुछ आगे देखिए जाति को समझने के पहले हमें देश की सामाजिक व्यवस्था को जिन हिंदू धर्म में वर्ण व्यवस्था ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य शूद्र ब्राह्मण जाति वर्ण से भी दोनों ब्राह्मण क्षत्रिय क्षत्रिय वर्ण विच्छेद पुत्र का पुत्र में 6593 जाती जिसके पीछे जाती एचडी ज़ी मराठी अवार्ड तो आपने कष्ट किया है कि अनुसूचित जाति किसे कहते हैं जाति बहुत ज्यादा पता ना हो रहा था उस जमाने में अंग्रेजों का शासन था तो बाबासाहेब आंबेडकर ने गोल में सम्मेलन में बताया कि यह जिस देश में अछूतों की संख्या 15 जातियों में बंटा है इस देश के कुल भागवत 15 परसेंट है उनके पास जात-पात स्वच्छ की व्यवस्था होती है तो इस बात की जांच करने के लिए भारत उसके बाद उसके ऊपर जांच होने के बाद एक रिपोर्ट तैयार करने के बाद कोई बाबा साहब अंबेडकर ने जो प्रधान में व्यवस्था थी उसमें ऐसी जातियां केक अनुसूची बना अनुसूची मन अकरम तो जो लोग अपने आप को हिंदू कहने लगे और अपने आप को पकड़ो हाथ रखे जिसे आज हम ईश्वर कहते हैं लेकिन ऐसी जातियां चिंतित नाम पर भेदभाव छुआछूत होता है कि सूची बनाएं बाबासाहेब आंबेडकर ने तुझे क्रिकेट 15 फॉर जातियों को एक अनोखी बनाना अरे दूसरा अनुसूची मने लिस्ट बना जो ट्राईबल जंगलों में रहने वाले जिन पान खानपान इतरा रहा है उनकी सूची बनी उसको अनुसूचित जनजाति अनुसूचित जाति के नाम से जाने जाते हैं वह सारे लोगों को अनुसूचित जाति

anusuchit jati ke bare me kuch aage dekhiye jati ko samjhne ke pehle hamein desh ki samajik vyavastha ko jin hindu dharm me varn vyavastha brahman kshatriya vaiishay shudra brahman jati varn se bhi dono brahman kshatriya kshatriya varn vichched putra ka putra me 6593 jaati jiske peeche jaati hd zee marathi award toh aapne kasht kiya hai ki anusuchit jati kise kehte hain jati bahut zyada pata na ho raha tha us jamane me angrejo ka shasan tha toh babasaheb ambedkar ne gol me sammelan me bataya ki yah jis desh me achuton ki sankhya 15 jaatiyo me bata hai is desh ke kul bhagwat 15 percent hai unke paas jaat pat swachh ki vyavastha hoti hai toh is baat ki jaanch karne ke liye bharat uske baad uske upar jaanch hone ke baad ek report taiyar karne ke baad koi baba saheb ambedkar ne jo pradhan me vyavastha thi usme aisi jatiya cake anusuchi bana anusuchi man akram toh jo log apne aap ko hindu kehne lage aur apne aap ko pakado hath rakhe jise aaj hum ishwar kehte hain lekin aisi jatiya chintit naam par bhedbhav chuachut hota hai ki suchi banaye babasaheb ambedkar ne tujhe cricket 15 for jaatiyo ko ek anokhi banana are doosra anusuchi mane list bana jo tribal jungalon me rehne waale jin pan khanpan itra raha hai unki suchi bani usko anusuchit janjaati anusuchit jati ke naam se jaane jaate hain vaah saare logo ko anusuchit jati

अनुसूचित जाति के बारे में कुछ आगे देखिए जाति को समझने के पहले हमें देश की सामाजिक व्यवस्था

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  678
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
अनुसूचित जाति किसे कहते हैं ; anusuchit jati kya hai ; anusuchit jaati kise kahate hain ; anusuchit jaati ; अनुसूचित जाति का मतलब ; anusuchit jaati kya hoti hai ; anusuchit jati kise kahate hain ; anusuchit jaati ka matlab kya hota hai ; anusuchit jati kya hai in hindi ; anusuchit jaati ka matlab kya hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!