अगर हमारे अंदर किसी चीज़ को करने की आग हो जुनून हो तो उसे पाने के लिए जो काबिलियत चाहिए उसे कैसे हासिल करें?...


user

Vikas Singh Rajput

Political Analyst

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का सवाल है अगर हमारे अंदर किसी चीज को करने की जुनून हो तो उसे पाने के लिए जो काबिलियत चाहिए उसे कैसे हासिल करें देखें अगर आपके अंदर किसी चीज को करने का अगर जुनून होगा ना तो काबिलियत ऑटोमेटिक आपके दिमाग में आ जाएगी जैसे जो यूपीएससी क्वालीफाई करने के बारे में जो बच्चे सोच लेते हैं कक्षा 7th डेट में जो पढ़ते रहते हैं बहुत सारे बच्चे तो ऐसे होते हैं जो ट्वेल्थ में पढ़ाई करने के बाद तैयारी के बारे में सोचते हैं लेकिन जब वो ठान लेते हैं उनके अंदर जब जुनून आ जाता है कि मैं बनूंगा तो सिर्फ आईएएस बनूंगा नहीं तो कुछ नहीं बनूंगा यही सोच कर वह तैयारी करने के लिए दिल्ली जाते हैं मुखर्जी नगर और वह पहले अटेंट में या दूसरे टेस्ट में निकाल लेते हैं तो क्या काबिलियत उनके उनके अंदर पानी से होती है काबिलियत को उत्पन्न किया जाता है अपने जुनून से जब आपके अंदर जुनून आ जाएगा ना तो काम ऑटोमेटिक आ जाएगा और आप उस मुकाम को हासिल कर लोगे जैसे रनिंग करने के लिए आप निकलोगे आप ने ठान लिया कि मुझे 1 किलोमीटर दौड़ना ही है किसी स्थिति में किसी परिस्थिति में चाहे कितना भी थक जाऊं जब आप ऐसा सोच लेंगे ऐसा दृश्य दृढ़ संकल्प आपके दिमाग में आ जायेगा तो पक्का 1 किलोमीटर दौड़ एंगे जब आपने पहले से ही नेगेटिव थिंकिंग अपने दिमाग में ला देंगे तो आप नहीं दौड़ पाएंगे तो बस ऐसे ही आती है काबिलियत धन्यवाद

aap ka sawaal hai agar hamare andar kisi cheez ko karne ki junun ho toh use paane ke liye jo kabiliyat chahiye use kaise hasil kare dekhen agar aapke andar kisi cheez ko karne ka agar junun hoga na toh kabiliyat Automatic aapke dimag mein aa jayegi jaise jo upsc qualify karne ke bare mein jo bacche soch lete hain kaksha 7th date mein jo padhte rehte hain bahut saare bacche toh aise hote hain jo twelfth mein padhai karne ke baad taiyari ke bare mein sochte hain lekin jab vo than lete hain unke andar jab junun aa jata hai ki main banunga toh sirf IAS banunga nahi toh kuch nahi banunga yahi soch kar vaah taiyari karne ke liye delhi jaate hain mukherjee nagar aur vaah pehle atent mein ya dusre test mein nikaal lete hain toh kya kabiliyat unke unke andar paani se hoti hai kabiliyat ko utpann kiya jata hai apne junun se jab aapke andar junun aa jaega na toh kaam Automatic aa jaega aur aap us mukam ko hasil kar loge jaise running karne ke liye aap nikloge aap ne than liya ki mujhe 1 kilometre daudana hi hai kisi sthiti mein kisi paristithi mein chahen kitna bhi thak jaaun jab aap aisa soch lenge aisa drishya dridh sankalp aapke dimag mein aa jayega toh pakka 1 kilometre daudh enge jab aapne pehle se hi Negative thinking apne dimag mein la denge toh aap nahi daudh payenge toh bus aise hi aati hai kabiliyat dhanyavad

आप का सवाल है अगर हमारे अंदर किसी चीज को करने की जुनून हो तो उसे पाने के लिए जो काबिलियत च

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  394
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!