इंटेलिजेंट कैसे बनें?...


user

J.P. Y👌g i

Psychologist

5:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न आया है इंटेलिजेंट कैसे बने दर्शन इंटेलिजेंट का मतलब होता है किस जगह पर अपने अंदर पर्सनैलिटी होती है उसके अंदर इंटेलिजेंस ही बनी रहती है और यह एक अपने आप को व्यवस्थित करने की प्रणाली पर निर्भर रहता है कि आप अगर सुलझे हुए रूप में हमेशा अपने आप को बरकरार रख रहे हो तो आप एक इंटेलिजेंस बन सकते हैं और इसमें क्या है कि यह बहुत हाजिर जवाब के ऊपर निर्धारित होता है कोई भी समस्या अकस्मात आते हैं तो आप उसके लिए हमेशा बने रहते हैं और किसी भी विवेचना कहा कुछ सही उल्लेखित कर देते हैं और हर चीज में निपुण हो जाती है तो वह इंटेलिजेंस ई में यह है कि आपको अपने विचार शैलियों में अपने अनुभव के स्तर पर यह बात बनते रहते हैं और यह एक अपना व्यक्तिगत है का स्टाइल होता है उसके अंदर अपना ही एक गोल होता है जिसको हम प्रदर्शित करते हैं और उस प्रदर्शन भावों में हम किसी चीज को जाहिर कर आ सकते हैं तो लोग कह सकते कि इंटेलिजेंट आदमी हैं और दूसरे बातें अप टू डेट रहना चाहिए जो गतिविधियां चल रही है उसके बारे में नॉलेज रखना चाहिए और जो भी संसार के हर समाचार से जो भी समझ आ रहा है रुझान और अब तक तो आपने अंदर संगीत करते रहना चाहिए तो यह एक जर्नलिस्ट भाग के अंदर भी आ जाता है कि अगर उसके अंदर बहुत सारी संभावनाएं उसके अंदर प्रस्तुतीकरण उसके दिमाग सही कथावते विश्व में अपने आप को प्रदूषित कर रहा है तो यह डालीगंज से होती है और यह हर विभाग के लिए अलग-अलग गए सब्जेक्ट होता है तो इंटेनसीफायर्स की स्थिति होती है और जो स्मार्ट लोग होते हैं वह अपने इंटेलिजेंस ई के ऊपर ही हो उनकी मानेसर आती है तो यह सारी चीजें हैं कि आप समय प्रचलित रहे हैं और अपने आप को ढंग में वातावरण में हमेशा बनाए रखें तो आपका जो अंत करण केंद्र जो आपके अनुभूति का स्तर होता है वह बढ़ता चला जाता है और आपके अंदर जो कुशलता होती रहती है वह इसी में है क्या परिमार्जित होता रहता है जितना हम उसको विमर्श मिलेंगे उतने ही हमारी बुद्धि प्रखर होती चली जाएगी तो यही है कि और दूसरी बात यह है कि उसकी जो विवेचना करने का ढंग होता है उसके अंतर्गत अलग-अलग रूपों की संयुक्त ही होता है और उसके अंदर जो अभिव्यक्ति का यह प्रदर्शन होता है बहुत ही कुशलता पूर्वक होता है कि जो इसके भाव आज सिकंदर आवरण होता है वह इसकी जो जिंदगी से युक्तिसंगत विचार-विमर्श से लाता है और जो प्रदर्शित करता है वह अनुकूल यह होता है और रमणीय विषय में होत मैं उसको रोचकता बनाता है और इस तरह से जो अपने आपको उससे तुम्हें लगता है प्रस्तुतीकरण में रखता है तो वह बहुत ही ज्यादा इंटेलिजेंट होता है और भरोसेमंद होता चला जाता है दूसरी बात तो यही है कि किसी भी चीज के अंदर भरोसा होना और विश्व नेता बढ़ना यह सबसे सर्वश्रेष्ठ और उच्चतम प्रकाश डा की कला है तो अपने को कॉन्फिडेंस में रखते हैं वह निश्चय ही वह बहुत ज्यादा इंटेलिजेंस बहुत ही चले जाते हैं तो सही सपने एक चौकी पर आधारित हैं हम अपने आप को किस विषय में ज्यादा मीठा रखते हैं तो उसके विशेषज्ञता आती है उसके अंदर यह सारी चीजें हैं जो बहुत ही कुशलता का प्रारूप बनता है तो इसके अंदर हम अपने अंदर अपने आपको या व्यक्ति बनाते हैं और उस लायक हम प्रयासरत रहते हैं तो वह धीरे-धीरे जो कार्यकुशलता बढ़ते जाती है तो समय पर कराता रहता है और शेर एक समय ऐसा आ जाता है जो इंसान की पहचान बन जाती है तो वहीं उसकी एक सार्थकता होती है यही है की सबसे बड़ी बात है कि अपने अंदर सकारात्मक सोच को बनाए रखना चाहिए और बहुत ही स्पेशल होना चाहिए अपने दिमाग में फ्लाइट लिया है तथ्य पूर्व को बातों को समायोजन करने की क्षमता होनी चाहिए क्योंकि उसमें रुझान का एक स्तर होता है तो किसी न किसी रूप से प्रारंभिक रूप से ही वह अट्रैक्शन में ले आता है और बहुत जल्द ही उसने प्रकाशित करता है कि दूसरे की विकल्प संभावनाएं बढ़ती हैं उसके अंदर सकारात्मक विचार कि सामने वाले के पक्ष में भी बहुत विश्व नेता के तौर पर असर डालता है और भरोसा जाहिर होता है और इसी से ही कार्य क्षेत्र में विकास होने लगता है धन्यवाद

prashna aaya hai Intelligent kaise bane darshan Intelligent ka matlab hota hai kis jagah par apne andar personality hoti hai uske andar intelligence hi bani rehti hai aur yah ek apne aap ko vyavasthit karne ki pranali par nirbhar rehta hai ki aap agar suljhe hue roop mein hamesha apne aap ko barkaraar rakh rahe ho toh aap ek intelligence ban sakte hai aur isme kya hai ki yah bahut haazir jawab ke upar nirdharit hota hai koi bhi samasya akasmat aate hai toh aap uske liye hamesha bane rehte hai aur kisi bhi vivechna kaha kuch sahi ullekhit kar dete hai aur har cheez mein nipun ho jaati hai toh vaah intelligence ee mein yah hai ki aapko apne vichar shailiyon mein apne anubhav ke sthar par yah baat bante rehte hai aur yah ek apna vyaktigat hai ka style hota hai uske andar apna hi ek gol hota hai jisko hum pradarshit karte hai aur us pradarshan bhavon mein hum kisi cheez ko jaahir kar aa sakte hai toh log keh sakte ki Intelligent aadmi hai aur dusre batein up to date rehna chahiye jo gatividhiyan chal rahi hai uske bare mein knowledge rakhna chahiye aur jo bhi sansar ke har samachar se jo bhi samajh aa raha hai rujhan aur ab tak toh aapne andar sangeet karte rehna chahiye toh yah ek journalist bhag ke andar bhi aa jata hai ki agar uske andar bahut saree sambhavnayen uske andar prastutikaran uske dimag sahi kathavate vishwa mein apne aap ko pradushit kar raha hai toh yah daliganj se hoti hai aur yah har vibhag ke liye alag alag gaye subject hota hai toh intenasifayars ki sthiti hoti hai aur jo smart log hote hai vaah apne intelligence ee ke upar hi ho unki manesar aati hai toh yah saree cheezen hai ki aap samay prachalit rahe hai aur apne aap ko dhang mein vatavaran mein hamesha banaye rakhen toh aapka jo ant karan kendra jo aapke anubhuti ka sthar hota hai vaah badhta chala jata hai aur aapke andar jo kushalata hoti rehti hai vaah isi mein hai kya parimarjit hota rehta hai jitna hum usko vimarsh milenge utne hi hamari buddhi prakhar hoti chali jayegi toh yahi hai ki aur dusri baat yah hai ki uski jo vivechna karne ka dhang hota hai uske antargat alag alag roopon ki sanyukt hi hota hai aur uske andar jo abhivyakti ka yah pradarshan hota hai bahut hi kushalata purvak hota hai ki jo iske bhav aaj sikandar aavaran hota hai vaah iski jo zindagi se yuktisangat vichar vimarsh se lata hai aur jo pradarshit karta hai vaah anukul yah hota hai aur ramniya vishay mein hot main usko rochakata banata hai aur is tarah se jo apne aapko usse tumhe lagta hai prastutikaran mein rakhta hai toh vaah bahut hi zyada Intelligent hota hai aur bharosemand hota chala jata hai dusri baat toh yahi hai ki kisi bhi cheez ke andar bharosa hona aur vishwa neta badhana yah sabse sarvashreshtha aur ucchatam prakash da ki kala hai toh apne ko confidence mein rakhte hai vaah nishchay hi vaah bahut zyada intelligence bahut hi chale jaate hai toh sahi sapne ek chowki par aadharit hai hum apne aap ko kis vishay mein zyada meetha rakhte hai toh uske visheshagyata aati hai uske andar yah saree cheezen hai jo bahut hi kushalata ka prarup banta hai toh iske andar hum apne andar apne aapko ya vyakti banate hai aur us layak hum prayasarat rehte hai toh vaah dhire dhire jo karyakushlata badhte jaati hai toh samay par karata rehta hai aur sher ek samay aisa aa jata hai jo insaan ki pehchaan ban jaati hai toh wahi uski ek sarthakta hoti hai yahi hai ki sabse baadi baat hai ki apne andar sakaratmak soch ko banaye rakhna chahiye aur bahut hi special hona chahiye apne dimag mein flight liya hai tathya purv ko baaton ko samaayojan karne ki kshamta honi chahiye kyonki usme rujhan ka ek sthar hota hai toh kisi na kisi roop se prarambhik roop se hi vaah attraction mein le aata hai aur bahut jald hi usne prakashit karta hai ki dusre ki vikalp sambhavnayen badhti hai uske andar sakaratmak vichar ki saamne waale ke paksh mein bhi bahut vishwa neta ke taur par asar dalta hai aur bharosa jaahir hota hai aur isi se hi karya kshetra mein vikas hone lagta hai dhanyavad

प्रश्न आया है इंटेलिजेंट कैसे बने दर्शन इंटेलिजेंट का मतलब होता है किस जगह पर अपने अंदर पर

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1248
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!