समाज और समास क्या है?...


user

Shahin Fidai

Relationship & Career Counseling, Pranic Healer, Neuro Linguistic Program Trainer & Teacher

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समाज ऐसा होता है जो लोगों से बना हुआ होता है जिसके अंदर कुछ नियम डाले गए होते हैं तो समाज की बेहतरी के लिए होते हैं जिससे कि समस्या उन्हें कहां आए और अगर समस्या खुदा ना करे कभी आ भी गई तो भी उनका अच्छे से सलूशन ढूंढ पाए जो भिन्न-भिन्न सिचुएशन ओं के उनके समाज के लिए और साथ ही साथ समाज में रहते हैं तो हमें बहुत सारे बेनिफिट मिलते हैं हम कभी भी अपने आप को अकेला महसूस नहीं करते क्योंकि समाज हमेशा हमें मदद करने के लिए तैयार होता है समाज की अच्छाई के बारे में सोच एक समाज को शुरू करने के बारे में सोचें समाज को और ज्यादा बेहतरीन करने के लिए सूची इसके लिए बहुत जरूरी है कि हम इतने अच्छे में अच्छा जो है वो जीवन जी अच्छे में अच्छी सोच रखें और हम हमारे समाज को अच्छाई दे ताकि वे हमेशा हमें अच्छा रखें और हमें अच्छा पीकर आए बेस्ट ऑफ लक आपका जीवन शुभ हो

samaj aisa hota hai jo logo se bana hua hota hai jiske andar kuch niyam dale gaye hote hain toh samaj ki behatari ke liye hote hain jisse ki samasya unhe kaha aaye aur agar samasya khuda na kare kabhi aa bhi gayi toh bhi unka acche se salution dhundh paye jo bhinn bhinn situation on ke unke samaj ke liye aur saath hi saath samaj me rehte hain toh hamein bahut saare benefit milte hain hum kabhi bhi apne aap ko akela mehsus nahi karte kyonki samaj hamesha hamein madad karne ke liye taiyar hota hai samaj ki acchai ke bare me soch ek samaj ko shuru karne ke bare me sochen samaj ko aur zyada behtareen karne ke liye suchi iske liye bahut zaroori hai ki hum itne acche me accha jo hai vo jeevan ji acche me achi soch rakhen aur hum hamare samaj ko acchai de taki ve hamesha hamein accha rakhen aur hamein accha peekar aaye best of luck aapka jeevan shubha ho

समाज ऐसा होता है जो लोगों से बना हुआ होता है जिसके अंदर कुछ नियम डाले गए होते हैं तो समाज

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  1786
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है समाज और समास क्या है कि आपको बता दें कि समाज का मतलब होता है जहां हम रहते हैं जो लोगों के समूह जो एक साथ इकट्ठे होकर रहते हैं उनको हम समाज कहते हैं जिनकी आपस में संस्कृति आप बोली विचार मिलते जुलते हैं तुमको हम कहते हैं समाज और समास का अर्थ होता है कि जब दो या दो से अधिक शब्दों का परस्पर संबंध बताने वाले शब्दों का प्रयोग प्रत्येक आलोक होने पर दो या दो से अधिक शब्दों से जो एक नया स्वतंत्र शब्द बनता है उसको हम शमा सिक्स शब्द कहते हैं तथा उन दो या दो से अधिक का सहयोग सहयोग होता है तो वह पर समाज कहलाता है समाज में 2 पदों का योग होता है

aapka prashna hai samaj aur samaas kya hai ki aapko bata de ki samaj ka matlab hota hai jaha hum rehte hain jo logo ke samuh jo ek saath ikatthe hokar rehte hain unko hum samaj kehte hain jinki aapas me sanskriti aap boli vichar milte julte hain tumko hum kehte hain samaj aur samaas ka arth hota hai ki jab do ya do se adhik shabdon ka paraspar sambandh batane waale shabdon ka prayog pratyek alok hone par do ya do se adhik shabdon se jo ek naya swatantra shabd banta hai usko hum shama six shabd kehte hain tatha un do ya do se adhik ka sahyog sahyog hota hai toh vaah par samaj kehlata hai samaj me 2 padon ka yog hota hai

आपका प्रश्न है समाज और समास क्या है कि आपको बता दें कि समाज का मतलब होता है जहां हम रहते ह

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1171
WhatsApp_icon
play
user

BRAHMA PRAKASH MISHRA

TEACHER & COUNSELOR {@ 8787011075}

0:31

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका वो कल है पर स्वागत है आपका प्रश्न है समाज और समाज क्या है तो समाज एक से अधिक लोगों के समुदायों से मिलकर बने एक वृहद समूह को समाज कहा जाता है जिसमें सभी व्यक्ति मानवीय क्रियाकलाप करते हैं जबकि समास हिंदी व्याकरण का एक शब्द होता है जिसमें एक या अधिक शब्दों से मिलकर शब्द को समाज कहा जाता है धन्यवाद

namaskar aapka vo kal hai par swaagat hai aapka prashna hai samaj aur samaj kya hai toh samaj ek se adhik logo ke samudayo se milkar bane ek vrihad samuh ko samaj kaha jata hai jisme sabhi vyakti manviya kriyakalap karte hain jabki samaas hindi vyakaran ka ek shabd hota hai jisme ek ya adhik shabdon se milkar shabd ko samaj kaha jata hai dhanyavad

नमस्कार आपका वो कल है पर स्वागत है आपका प्रश्न है समाज और समाज क्या है तो समाज एक से अधिक

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  511
WhatsApp_icon
user

Ravindra singh thakur

शिक्षक

0:35
Play

Likes  2  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!