गैस और वाष्प के बीच क्या अंतर है?...


user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

111 उस पदार्थ को संदर्भित करती है इसमें कमरे के तापमान पर एक परिभाषित थर्मोडायनेमिक अवस्था होती है जबकि वास एक पदार्थ को संदर्भित करता है जो कब कमरे के तापमान पर दो चरणों का मिश्रण होता है अर्थात गैस यह और तरल चरण का

111 us padarth ko sandarbhit karti hai isme kamre ke taapman par ek paribhashit tharmodaynemik avastha hoti hai jabki was ek padarth ko sandarbhit karta hai jo kab kamre ke taapman par do charno ka mishran hota hai arthat gas yah aur taral charan ka

111 उस पदार्थ को संदर्भित करती है इसमें कमरे के तापमान पर एक परिभाषित थर्मोडायनेमिक अवस्था

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  333
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Faiz

Software Tester at Cognizant Technology Solutions.

0:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकिंग S1 वह चीज होती है जो कि एनवायरमेंट में स्ट्राइड हो जाती है एनवायरमेंट मैं उड़ जाती ऑफ पेपर किसी भी चीज के कन्वर्शन को कहते हैं फॉर एग्जांपल इन लिक्विड से गैस के बीच में जो कल के फॉर्म में होता है

viking S1 vaah cheez hoti hai jo ki environment mein stride ho jaati hai environment main ud jaati of paper kisi bhi cheez ke kanwarshan ko kehte hai for example in liquid se gas ke beech mein jo kal ke form mein hota hai

विकिंग S1 वह चीज होती है जो कि एनवायरमेंट में स्ट्राइड हो जाती है एनवायरमेंट मैं उड़ जाती

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  316
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गैस पदार्थ की अवस्था होती है जिस पर केवल दबाव डाला जाए तो उसे द्रव अवस्था में परिवर्तित नहीं किया जा सकता जबकि बॉस्को तापमान से कम तापमान पर वास्को गैस अवस्था में बदला जा सकता है और द्रव्य अवस्था में परिवर्तित करने के लिए बास पर केवल दबाव डालना पर्याप्त होता है

gas padarth ki avastha hoti hai jis par keval dabaav dala jaaye toh use drav avastha mein parivartit nahi kiya ja sakta jabki BA sko taapman se kam taapman par vasko gas avastha mein BA dla ja sakta hai aur dravya avastha mein parivartit karne ke liye boss par keval dabaav dalna paryapt hota hai

गैस पदार्थ की अवस्था होती है जिस पर केवल दबाव डाला जाए तो उसे द्रव अवस्था में परिवर्तित नह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  410
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
वाष्प और गैस में अंतर ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!