राम चरित मानस ले रचियता कौन है?...


user

Norang sharma

Social Worker

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों वह कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल है रामचरितमानस के रचयिता कौन हैं तो दोस्तों हम सभी जानते हैं कि भारतवर्ष में शायद ही कोई व्यक्ति हो जिसने रामचरितमानस का नाम न सुना हो और बेहद कम भारतीय होंगे जिन्हें इस महान ग्रंथ के एकाध चौपाई भी याद ना हो यूं तो भगवान श्रीराम का वर्णन मूल्य तय है वाल्मीकि रामायण में हुआ है किंतु जिस तरह गोस्वामी तुलसीदास जी ने भक्तिभाव से रामचरितमानस मर्यादा पुरुषोत्तम राम का चरित्र उभारा है वह अतुलनीय है कई विश्लेषक के बाद भी स्वीकारते हैं कि राम को पुरुषोत्तम से भगवान बनाने में श्रीरामचरितमानस का मुख्य योगदान है श्री रामचरित मानस की चौपाइयों नहीं भगवान श्रीराम को घर-घर पहुंचाया तो भारतीय संस्कृति को न केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व में इस ग्रंथ में जीवित रखा तो दोस्तों रामचरितमानस सोलवीं सदी में अवधी भाषा में लिखी इतिहास की बुक घटना है जिसे आज भी उत्तर भारत में रामायण के रूप में अनेक लोगों द्वारा हर दिन बड़ी आस्था और विश्वास से पढ़ा जाता है इसे गोस्वामी तुलसीदासजी ने लिखा था यह ग्रंथ हमें जीवन जीने के मर्यादित ढंग सिखाता है जिसके तहत जीवन में कितने भी विघ्न आजाए हमें शालीनता और मर्यादा का दामन कभी नहीं छोड़ना चाहिए और अपनी कर्तव्यों का भली प्रकार निर्वहन और पालन करना चाहिए धन्यवाद

namaskar doston vaah kal par sun rahe mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera pyar bhara namaskar aaj ka sawaal hai ramcharitmanas ke rachiyata kaun hain toh doston hum sabhi jante hain ki bharatvarsh me shayad hi koi vyakti ho jisne ramcharitmanas ka naam na suna ho aur behad kam bharatiya honge jinhen is mahaan granth ke ekadh chaupai bhi yaad na ho yun toh bhagwan shriram ka varnan mulya tay hai valmiki ramayana me hua hai kintu jis tarah goswami tulsidas ji ne bhaktibhav se ramcharitmanas maryada purushottam ram ka charitra ubhara hai vaah atulniya hai kai vishleshak ke baad bhi swikarate hain ki ram ko purushottam se bhagwan banane me Shriramcharitmanas ka mukhya yogdan hai shri ramcharit manas ki chaupaiyon nahi bhagwan shriram ko ghar ghar pahunchaya toh bharatiya sanskriti ko na keval bharat me balki poore vishwa me is granth me jeevit rakha toh doston ramcharitmanas solavin sadi me awadhi bhasha me likhi itihas ki book ghatna hai jise aaj bhi uttar bharat me ramayana ke roop me anek logo dwara har din badi astha aur vishwas se padha jata hai ise goswami tulasidasji ne likha tha yah granth hamein jeevan jeene ke maryadit dhang sikhata hai jiske tahat jeevan me kitne bhi vighn ajaye hamein shalinata aur maryada ka daman kabhi nahi chhodna chahiye aur apni kartavyon ka bhali prakar nirvahan aur palan karna chahiye dhanyavad

नमस्कार दोस्तों वह कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज

Romanized Version
Likes  103  Dislikes    views  3270
KooApp_icon
WhatsApp_icon
17 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
uttar ramcharitmanas pustak ke rachyita kaun hai ; राम चरित्र मानस के रचयिता कौन है ; ramcharitmanas ke rachaita kaun hai ; ramcharitmanas ke rachnakar ; ramcharitmanas ke rachayita kaun hai ; ramcharitmanas ke rachnakar kaun hai ; uttar ram charit manas ke rachyita kaun hai ; रामचरित के रचयिता कौन है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!