आपको क्या लगता है जिस तरह से साझा की गई खुशी दोगुना हो जाती है, उसी तरह दुख को साझा करने पर दुख आधा हो जाता है। कितनी सच्चाई है इस बात में?...


play
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे ख्याल से खुशी आप को उनके साथी बांटने चाहिए जो आपको प्यार करते हैं आपके सच्चे दोस्त हैं उनके साथ और खुशी बैठोगे तो आपकी खुशी जरूर दोगुना हो जाएगी और रात दुख के समय में जो आपसे प्यार करते हैं जो आपके सच्चे दोस्त हैं जो आपके शुभचिंतक है या आपके माता-पिता ने आपके जीवन साथी अगर ऐसा कोई दुख है जो उनके साथ बांटने से वह उनको और दुखी बना देगा तो मेरे हिसाब से बिक उनके साथ नहीं बांटना चाहिए

mere khayal se khushi aap ko unke sathi bantane chahiye jo aapko pyar karte hain aapke sacche dost hain unke saath aur khushi baithoge toh aapki khushi zaroor doguna ho jayegi aur raat dukh ke samay mein jo aapse pyar karte hain jo aapke sacche dost hain jo aapke shubhchintak hai ya aapke mata pita ne aapke jeevan sathi agar aisa koi dukh hai jo unke saath bantane se vaah unko aur dukhi bana dega toh mere hisab se bik unke saath nahi bantana chahiye

मेरे ख्याल से खुशी आप को उनके साथी बांटने चाहिए जो आपको प्यार करते हैं आपके सच्चे दोस्त है

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  304
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह बात हंड्रेड परसेंट सत्य है कि खुद की खुशी अगर किसी के साथ अपनों के साथ प्यार करने वालों के साथ अगर बांटते हैं तो दुगनी हो जाती है ठीक उसी प्रकार हम जब किसी डिप्रेशन में रहते हैं किसी टेंशन में रहते हैं या कोई चीज हमें सताती है कोई तकलीफ देती है या मेरे पास किसी भी प्रकार के लोग साथ आते हैं हमारे मन में तो जब तक हम किसी के साथ कोशिश करना कि मैं अपने चाहने वालों के साथ जो हम पर विश्वास करते हैं जिन पर हम विश्वास करते हैं उनके साथ बैठने से क्या होता है सर जी अमर कम हो जाता है हमें अंत ना मिलता है हमें आराम महसूस होता है वह तो अच्छा ही रहता है कि हमें अपने आप में खुश रखते हैं होते हैं बाटेंगे 207 अपनी तक तो हम अपने अपने कांटेक्ट होते चले जाएंगे और कहीं नहीं गया में बीमारियों का शिकार होना पड़ जाएगा और मेरी हालत खराब हो जाएगी इससे बचने के लिए

dekhiye yah baat hundred percent satya hai ki khud ki khushi agar kisi ke saath apnon ke saath pyar karne walon ke saath agar bantate hain toh dugni ho jaati hai theek usi prakar hum jab kisi depression me rehte hain kisi tension me rehte hain ya koi cheez hamein satati hai koi takleef deti hai ya mere paas kisi bhi prakar ke log saath aate hain hamare man me toh jab tak hum kisi ke saath koshish karna ki main apne chahne walon ke saath jo hum par vishwas karte hain jin par hum vishwas karte hain unke saath baithne se kya hota hai sir ji amar kam ho jata hai hamein ant na milta hai hamein aaram mehsus hota hai vaah toh accha hi rehta hai ki hamein apne aap me khush rakhte hain hote hain batenge 207 apni tak toh hum apne apne Contact hote chale jaenge aur kahin nahi gaya me bimariyon ka shikaar hona pad jaega aur meri halat kharab ho jayegi isse bachne ke liye

देखिए यह बात हंड्रेड परसेंट सत्य है कि खुद की खुशी अगर किसी के साथ अपनों के साथ प्यार करने

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल लग रहा हूं अपना खुशी जो है कुछ भी हमारी शतक रक्षा होता है और हम सेलिब्रेट करते के साथ वह दुगना हो जाता है जैसे कि अगर मान लीजिए कि आप लाइफ में कितना भी पैसा कमाने आप बहुत अमीर है आपने मेट्रिक एग्जाम निकाल लिया कुछ भी है लेकिन अगर आपके साथ कुछ सेलिब्रेट करने वाला नहीं होगा आपने ID के साथ निकाल दिया आप का रिजल्ट आ गया आप फर्स्ट टाइम में आए हैं लेकिन आपके साथ सेलिब्रेट करने वाला नहीं है उस खुशी का कोई मायने नहीं रहा जाता अकेले सेलिब्रेट नहीं होती कोशिश उसी तरह अगर मैं आपको क्यों न पदम श्री मिल गया हो या फिर आप दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन गए हो लेकिन आपके आसपास कोई है ही नहीं आप अकेले हो आप का लाइफ में कोई नहीं है दोस्त नहीं है कोई ना रिश्तेदार हैं तो उस खुशी का कोई मायने नहीं रह जाता है आप तमिल होकर भी सबसे गरीब है उसी तरह दुख होता है कि अगर आपने आपके पास कुछ दुख है आप किसी चीज से बहुत ज्यादा दुखी हुई तो किसी से आप बताते हैं तो वह आप को सांत्वना देता है वह आपके साथ उस मुश्किल में खड़ा होता है आपको हेल्प करता है तो दुख जो है वह कम होता है तो बिल्कुल बात सच्ची है कि ख़ुशी जितनी सांझा करें कि जितनी बाडी उतनी बढ़ती है और दुख जितना बाटे हो घटता है उतना

bilkul lag raha hoon apna khushi jo hai kuch bhi hamari shatak raksha hota hai aur hum celebrate karte ke saath vaah dugna ho jata hai jaise ki agar maan lijiye ki aap life mein kitna bhi paisa kamane aap bahut amir hai aapne matric exam nikaal liya kuch bhi hai lekin agar aapke saath kuch celebrate karne vala nahi hoga aapne ID ke saath nikaal diya aap ka result aa gaya aap first time mein aaye hain lekin aapke saath celebrate karne vala nahi hai us khushi ka koi maayne nahi raha jata akele celebrate nahi hoti koshish usi tarah agar main aapko kyon na padam shri mil gaya ho ya phir aap duniya ke sabse amir aadmi ban gaye ho lekin aapke aaspass koi hai hi nahi aap akele ho aap ka life mein koi nahi hai dost nahi hai koi na rishtedar hain toh us khushi ka koi maayne nahi reh jata hai aap tamil hokar bhi sabse garib hai usi tarah dukh hota hai ki agar aapne aapke paas kuch dukh hai aap kisi cheez se bahut zyada dukhi hui toh kisi se aap batatey hain toh vaah aap ko santwana deta hai vaah aapke saath us mushkil mein khada hota hai aapko help karta hai toh dukh jo hai vaah kam hota hai toh bilkul baat sachi hai ki khushi jitni sanjha karen ki jitni badi utani badhti hai aur dukh jitna baate ho ghatata hai utana

बिल्कुल लग रहा हूं अपना खुशी जो है कुछ भी हमारी शतक रक्षा होता है और हम सेलिब्रेट करते के

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Ram Mahobia

Asst.Profesior & Economist

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बिल्कुल सही बात है कि हम खुशी में रहते हैं और अपनी खुशी किसी और के साथ साझा और शेयर करते हैं तो यह हमारी खुशी है वह दुगनी हो जाती है और हम पूरे नहीं समाते हैं इसी तरह जब व्यक्ति को दुख होता है उसके अंदर भारीपन होता है अकेलापन होता है और जो उसके अंदर जो भी दोगले रहता है उसको पीड़ा पहुंचाता है अगर वह किसी के साथ बैठते हैं ना तो हमारे मन हल्का हो जाता है पर हमारा दुख भी आता हो जाता कहते हैं कि अगर खुशी में किसी के साथ खड़ा नहीं हुए तो चलेगा लेकिन दुख में हमेशा किसी के साथ खड़ा रहना चाहिए क्योंकि जो व्यक्ति हमेशा दुख में साथ में रहे भाई आपका सच्चा मित्र होता है एवं खुशी से ज्यादा दुख बांटने से हमारा दुख हल्का हो जाता है और किसी के दुख के समय उसका दुख बांटने से और अच्छा साथ निभाने का कोई और रास्ता नहीं है इसलिए हमेशा कभी खुशी बांटो जाना बाड़ू व्यक्ति का दुख हमेशा बांट लेना चाहिए क्योंकि जब व्यक्ति अकेला होता है तो उसे किसी न किसी के साथ जरूरत होती है कि कोई उसके दुख के साथ में उसके साथ खड़ा था इसलिए हमेशा व्यक्ति का सुख और दुख दोनों अच्छे से बात नहीं चाहिए केवल सुख से नहीं उसके दुख में भी उसका हमेशा साथ देना चाहिए और उसका भरपूर सहयोग करना चाहिए

yah bilkul sahi baat hai ki hum khushi mein rehte hain aur apni khushi kisi aur ke saath sajha aur share karte hain toh yah hamari khushi hai vaah dugni ho jaati hai aur hum poore nahi samate hain isi tarah jab vyakti ko dukh hota hai uske andar bharipan hota hai akelapan hota hai aur jo uske andar jo bhi dogle rehta hai usko peeda pahunchata hai agar vaah kisi ke saath baithate hain na toh hamare man halka ho jata hai par hamara dukh bhi aata ho jata kehte hain ki agar khushi mein kisi ke saath khada nahi hue toh chalega lekin dukh mein hamesha kisi ke saath khada rehna chahiye kyonki jo vyakti hamesha dukh mein saath mein rahe bhai aapka saccha mitra hota hai evam khushi se zyada dukh bantane se hamara dukh halka ho jata hai aur kisi ke dukh ke samay uska dukh bantane se aur accha saath nibhane ka koi aur rasta nahi hai isliye hamesha kabhi khushi banto jana badu vyakti ka dukh hamesha baant lena chahiye kyonki jab vyakti akela hota hai toh use kisi na kisi ke saath zaroorat hoti hai ki koi uske dukh ke saath mein uske saath khada tha isliye hamesha vyakti ka sukh aur dukh dono acche se baat nahi chahiye keval sukh se nahi uske dukh mein bhi uska hamesha saath dena chahiye aur uska bharpur sahyog karna chahiye

यह बिल्कुल सही बात है कि हम खुशी में रहते हैं और अपनी खुशी किसी और के साथ साझा और शेयर करत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!