किसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक सही दृष्टि कौन और नजरिया कैसे हासिल कर सकते हैं?...


user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए मेरे हिसाब से सबसे जरूरी पहले यह होता है कि आपके लिए वह लक्ष्य बिल्कुल क्लियर हो आपको क्या चाहिए क्या नहीं उसकी एक एक बारी क्या आप के सामने मौजूद होनी चाहिए आप जब लक्ष्य आपने सोच लिया इसके बाद सेकंड स्टेप है और इसमें मैं आपको न्यूरो लिंग्विस्टिक प्रोग्रामिंग की एक बहुत ही सुंदर और असरदार टेक्निक बताना चाहूंगी आप ऐसा सोचे कि आपने उस लक्ष्य को प्राप्त कर लिया है ऑलरेडी आपने उस चीज को पा लिया है तो अब आप अलग-अलग जगहों में अलग-अलग जिंदगी के हिस्सों में उसको महसूस करें कि आपने उस चीज को पा लिया उसके बाद आपको कैसा महसूस हो रहा है आपको कैसे सीन दिखाई दे रहे हैं कैसी आवाज आपको सुनाई दे रही है लोग आपसे क्या कह रहे हैं या आप खुद से क्या कह रहे हो क्या आपको फील हो रहा है और जब आपका दिमाग इस तरीके से यह देखता है कि आपने उस चीज को पा लिया और अगर आपके दिमाग को जिस वक्त उस बात पर भरोसा हो जाए तो आपके लिए दृष्टिकोण नजरिया रास्ते सब कुछ दिमाग अपने आप क्रिएट करके आपको देता जाएगा आपको सिर्फ आसानी से उस रास्ते पर चलते जाना है

kisi bhi lakshya ko paane ke liye mere hisab se sabse zaroori pehle yah hota hai ki aapke liye vaah lakshya bilkul clear ho aapko kya chahiye kya nahi uski ek ek baari kya aap ke saamne maujud honi chahiye aap jab lakshya aapne soch liya iske baad second step hai aur isme main aapko neuro linguistic programming ki ek bahut hi sundar aur asaradar technique bataana chahungi aap aisa soche ki aapne us lakshya ko prapt kar liya hai already aapne us cheez ko paa liya hai toh ab aap alag alag jagaho mein alag alag zindagi ke hisson mein usko mehsus kare ki aapne us cheez ko paa liya uske baad aapko kaisa mehsus ho raha hai aapko kaise seen dikhai de rahe hain kaisi awaaz aapko sunayi de rahi hai log aapse kya keh rahe hain ya aap khud se kya keh rahe ho kya aapko feel ho raha hai aur jab aapka dimag is tarike se yah dekhta hai ki aapne us cheez ko paa liya aur agar aapke dimag ko jis waqt us baat par bharosa ho jaaye toh aapke liye drishtikon najariya raste sab kuch dimag apne aap create karke aapko deta jaega aapko sirf aasani se us raste par chalte jana hai

किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए मेरे हिसाब से सबसे जरूरी पहले यह होता है कि आपके लिए वह लक्ष

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1372
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Likes  4  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user

Astha Nagpal

Clinical Psychologist

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बोल दो तरीके के हो सकते हैं एक शॉर्ट टर्म गोल और एक लोंग टर्म को एल्बम लोंग टर्म गोल की बात करते हैं तो हम एक बहुत जनरल सर पर बात करते हैं कि मुझे अपनी लाइफ में 10 साल बाद या जब मेरी पढ़ाई खत्म हो जाएगी तो मुझे एक हैप्पी फैमिली चाहिए पैसा चाहिए मुझे material-ui एक गेम चाहिए या मुझे अपने करियर में एक किशोर की तरफ लेकर जाते हैं लेकिन अगर हम सीन आफ long-term गोल्स के बारे में सोचेंगे तो हो सकता है हम अपने शॉर्ट टर्म गोल से फोकस ना कर सकें और लॉन्ग टर्म गोल हमारे लिए एक मोटिवेशन की बजाय एक ड्रॉ बात बन जाये क्योंकि उससे किसी भी इंसान को घबराहट हो सकती अगर ना सोचो कि मुझे आज की डेट में आने वाले 10 साल में यहां पहुंचना है और मैं अगर उस कोर्ट में करते हो गई तो शायद मैं आज के प्रेजेंट मेरे कंट्रोल में है मैं उस पर फोकस नहीं करता हूं बहुत जरूरी है कि हमें एक लोंग टर्म गोल का विजन हो लेकिन हमारा फोकस और तुम बोलते हो जो कनेक्ट करके हमें लोंग टर्म गोल की तरफ लेकर जाएं

bol do tarike ke ho sakte hain ek short term gol aur ek long term ko album long term gol ki baat karte hain toh hum ek bahut general sir par baat karte hain ki mujhe apni life mein 10 saal baad ya jab meri padhai khatam ho jayegi toh mujhe ek happy family chahiye paisa chahiye mujhe material ui ek game chahiye ya mujhe apne career mein ek kishore ki taraf lekar jaate hain lekin agar hum seen of long term goals ke bare mein sochenge toh ho sakta hai hum apne short term gol se focus na kar sake aur long term gol hamare liye ek motivation ki bajay ek draw baat ban jaye kyonki usse kisi bhi insaan ko ghabarahat ho sakti agar na socho ki mujhe aaj ki date mein aane waale 10 saal mein yahan pahunchana hai aur main agar us court mein karte ho gayi toh shayad main aaj ke present mere control mein hai us par focus nahi karta hoon bahut zaroori hai ki hamein ek long term gol ka vision ho lekin hamara focus aur tum bolte ho jo connect karke hamein long term gol ki taraf lekar jayen

बोल दो तरीके के हो सकते हैं एक शॉर्ट टर्म गोल और एक लोंग टर्म को एल्बम लोंग टर्म गोल की बा

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  649
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपने लक्ष्य को कैसे हासिल करें इसके लिए आपको एक योजना बनानी होगी योजना बनाकर कि उसके पीछे आप योजनाबद्ध तरीके से चरणबद्ध कार्य करेंगे तो निश्चित रूप से आप अपने जीवन के लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं उसके लिए उस जिस वजह से आपने लक्ष्य निश्चित किया है उससे संबंधित स्पेशलिस्ट है जो विशेषज्ञ हैं उन लोगों से आप उसके बारे में अपनी कन्फ्यूजन रखें भी कंफ्यूजन आपकी सॉल्व करेंगे तो निश्चित रूप से आपको लाभ प्राप्त करने में बहुत सरलता होगी फिर उसके बारे में कुछ साहित्य पढ़े हैं आप प्रोपराइटर्स की बुक से पढ़िए आप तो निश्चित रूप से आपको अपना लंका से प्राप्त हो जाएगा फिर उसके लिए आपको वैसा ही वातावरण ज्वाइन करना चाहिए वैसा ही वातावरण आपके लिए घर पर करें तो निश्चित रूप से आप का सुरूर मुझे कैसे अपने स्टूडेंट की याद है जिसने अपने जीवन का लक्ष्य शुरू से ही निश्चित कर दिया था कि मुझे आर एस बढ़ना है उस छात्र ने आप सेकेंडरी में आने के बाद परदेसी आर सेकेंडरी कि उसे पॉलिटिकल साइंस की जोग्राफी भी और हिंदी भी तो उससे मैंने उससे कहा था कि नहीं बैठे तो थोड़ा 8 साइंस लो लेकिन उस पर काम नहीं गुरु जी मुझे आईएएस बनना है और वह मुझे आज भी याद है कि उस लड़की ने पॉलिटिकल साइंस के दम पर आर एस बना और आर ए एस मुख्य में सलेक्शन हूं करके आज अधिकारी बन गया तो उसने अपने जीवन का लक्ष्य निश्चित कर लिया उसको टीचर के पास पड़ता मेरे पास ही पूछ रहा था और जो 25 पॉलिटिकल साइंस की थी उन लोगों से भी संपर्क करता था तो अच्छी सी बुक से उसके गुड कलेक्शन कि उनको पढ़ा अच्छे मित्र बनाएं तो आर एस बन गया

aap apne lakshya ko kaise hasil kare iske liye aapko ek yojana banani hogi yojana banakar ki uske peeche aap yojnabadh tarike se charanabddh karya karenge toh nishchit roop se aap apne jeevan ke lakshya ko prapt kar sakte hain uske liye us jis wajah se aapne lakshya nishchit kiya hai usse sambandhit specialist hai jo visheshagya hain un logo se aap uske bare mein apni confusion rakhen bhi confusion aapki solve karenge toh nishchit roop se aapko labh prapt karne mein bahut saralata hogi phir uske bare mein kuch sahitya padhe hain aap proparaitars ki book se padhiye aap toh nishchit roop se aapko apna lanka se prapt ho jaega phir uske liye aapko waisa hi vatavaran join karna chahiye waisa hi vatavaran aapke liye ghar par kare toh nishchit roop se aap ka suroor mujhe kaise apne student ki yaad hai jisne apne jeevan ka lakshya shuru se hi nishchit kar diya tha ki mujhe R s badhana hai us chatra ne aap secondary mein aane ke baad pardesi R secondary ki use political science ki jografi bhi aur hindi bhi toh usse maine usse kaha tha ki nahi baithe toh thoda 8 science lo lekin us par kaam nahi guru ji mujhe IAS banna hai aur vaah mujhe aaj bhi yaad hai ki us ladki ne political science ke dum par R s bana aur R a s mukhya mein selection hoon karke aaj adhikari ban gaya toh usne apne jeevan ka lakshya nishchit kar liya usko teacher ke paas padta mere paas hi puch raha tha aur jo 25 political science ki thi un logo se bhi sampark karta tha toh achi si book se uske good collection ki unko padha acche mitra banaye toh R s ban gaya

आप अपने लक्ष्य को कैसे हासिल करें इसके लिए आपको एक योजना बनानी होगी योजना बनाकर कि उसके पी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति के लिए डिसिप्लिन बहुत जरूरी है हर व्यक्ति अपने जीवन में कुछ लक्ष्य बनाता है और उनको अचीव करने के लिए वह बहुत कठिन परिश्रम करता है मुझे लगता है कि हर व्यक्ति को जिन्होंने अपने गोल सेट किए हैं एक स्टूडेंट भी हो सकता है एक बिजनेसमैन भी हो सकता है हर व्यक्ति ऐसा व्यक्ति जिसने अपनी जिंदगी का एक सेट किया है कि मुझे यह कंप्लीट करना है मुझे लगता उसके लिए डिसिप्लिन हार्ड वर्क इन राइट डायरेक्शन जरूरी है क्योंकि बहुत बार ऐसा होता है कि हम हर वक्त तो करते हैं लेकिन उसका जो रिजल्ट होता है मैं आ रहा उतना प्रपोज पीरियड नहीं होता बहुत सारे स्टूडेंट ऐसे होते हैं उनको लगता है कि उन्होंने मेहनत तो बहुत की लेकिन जितना उन्होंने एक्सपेक्ट किया उनको उतना ही नहीं मिला तो मुझे लगता है इसकी सबसे बड़ी वजह यही होती है कि कहीं ना कहीं ड्यूरिंग द पीरियड जवाब उस लक्ष्य प्राप्ति की ओर थे आप कहीं ना कि ऐसे फ्रेंड हुए होंगे और आपका जो डायरेक्शन है वह कहीं डेबिट हुआ होगा मुझे लगता है वह तो हर वक्त आता है लेकिन जो व्यक्ति हार्ड वर्क करता है उसको सक्सेस बहुत जल्दी मिलती है

dekhe kisi bhi lakshya ki prapti ke liye discipline bahut zaroori hai har vyakti apne jeevan mein kuch lakshya banata hai aur unko achieve karne ke liye vaah bahut kathin parishram karta hai mujhe lagta hai ki har vyakti ko jinhone apne gol set kiye hain ek student bhi ho sakta hai ek bussinessmen bhi ho sakta hai har vyakti aisa vyakti jisne apni zindagi ka ek set kiya hai ki mujhe yah complete karna hai mujhe lagta uske liye discipline hard work in right direction zaroori hai kyonki bahut baar aisa hota hai ki hum har waqt toh karte hain lekin uska jo result hota hai aa raha utana propose period nahi hota bahut saare student aise hote hain unko lagta hai ki unhone mehnat toh bahut ki lekin jitna unhone expect kiya unko utana hi nahi mila toh mujhe lagta hai iski sabse badi wajah yahi hoti hai ki kahin na kahin during the period jawab us lakshya prapti ki aur the aap kahin na ki aise friend hue honge aur aapka jo direction hai vaah kahin debit hua hoga mujhe lagta hai vaah toh har waqt aata hai lekin jo vyakti hard work karta hai usko success bahut jaldi milti hai

देखे किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति के लिए डिसिप्लिन बहुत जरूरी है हर व्यक्ति अपने जीवन में कु

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user

Manish Singh

VOLUNTEER

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करना है तो पहले का पुल लकड़ी सेट करना पड़े कि आप क्या कर रहे हैं क्या करने वाले हैं अब इसके लिए सही लक्ष्य सही दृष्टि नजरिया सही तरीका क्या है तू लाइफ में ऐसा कुछ भी इंसान को यह भी नहीं कर रहा है जो कि तुम बिल्कुल नया हो अगर बल बिल्कुल नया हो तो समझ में आता है लेकिन हर कुछ भी जो काम अभी स्टार्ट करो पहले ना पहले कुछ कर चुका है उसकी बायोग्राफी हम पढ़ सकते कि उसने कैसे स्टार्ट किया उसने क्या बात चुनाव में किसी मृत व्यक्ति किस तरह करना है जो साल का एक्सपीरियंस है उसका यूज़ कर सकते हैं आप कोइ जो इस नॉलेज में इस फील्ड में जो एक्सपीरियंस उनकी नॉलेज यूज कर सकते हैं आप अपने बड़ों से बात कर सकते हैं और बस तू खुश रहना अपनी गोलकीपर

kisi kisi bhi lakshya ko prapt karna hai toh pehle ka pool lakdi set karna pade ki aap kya kar rahe kya karne waale hain ab iske liye sahi lakshya sahi drishti najariya sahi tarika kya hai tu life mein aisa kuch bhi insaan ko yah bhi nahi kar raha hai jo ki tum bilkul naya ho agar bal bilkul naya ho toh samajh mein aata hai lekin har kuch bhi jo kaam abhi start karo pehle na pehle kuch kar chuka hai uski Biography hum padh sakte ki usne kaise start kiya usne kya baat chunav mein kisi mrit vyakti kis tarah karna hai jo saal ka experience hai uska use kar sakte hain aap koi jo is knowledge mein is field mein jo experience unki knowledge use kar sakte hain aap apne badon se baat kar sakte hain aur bus tu khush rehna apni goalkeeper

किसी किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करना है तो पहले का पुल लकड़ी सेट करना पड़े कि आप क्या कर रह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!