संविधान की प्रस्तावना क्या है?...


Likes  54  Dislikes    views  539
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
Loading...
Loading...
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज का प्रश्न है संविधान की प्रस्तावना क्या है जो दोस्तों की जानकारी के लिए बताना चाहूंगा कि पर्यावरण संविधान की प्रस्तावना क्यों है निम्नलिखित हैं जो कि मैं बताने जा रहा हूं जो दोस्तों संविधान की प्रस्तावना है कि हम भारत के लोग भारत को एक प्रभुत्व संपन्न समाजवादी पंथ निरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए उसके समस्त नागरिकों को न्याय सामाजिक आर्थिक व राजनीतिक विचार अभिव्यक्ति विश्वास धर्म और उपासना की स्वतंत्रता प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखंडता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए दृढ़ संकल्प होकर अपने संविधान सभा में आज तारीख 26 नवंबर 1949 ईस्वी को एतद् द्वारा इस संविधान को अंगीकृत अधिनियमित औरत मारपीट करते हैं जय दोस्तों यही संविधान की प्रस्तावना में लिखा हुआ है जो दोस्तों धन्यवाद

aaj ka prashna hai samvidhan ki prastavna kya hai jo doston ki jaankari ke liye batana chahunga ki paryavaran samvidhan ki prastavna kyon hai nimnlikhit hain jo ki main batane ja raha hoon jo doston samvidhan ki prastavna hai ki hum bharat ke log bharat ko ek parbhutwa sampann samajwadi panth nirpeksh lokatantratmak ganrajya banane ke liye uske samast nagriko ko nyay samajik aarthik va raajnitik vichar abhivyakti vishwas dharm aur upasana ki swatantrata prathishtha aur avsar ki samata prapt karne ke liye tatha un sab mein vyakti ki garima aur rashtra ki ekta aur akhandata sunishchit karne wali bandhuta badhane ke liye dridh sankalp hokar apne samvidhan sabha mein aaj tarikh 26 november 1949 isvi ko etad dwara is samvidhan ko angikrit adhiniyamit aurat maar peet karte hain jai doston yahi samvidhan ki prastavna mein likha hua hai jo doston dhanyavad

आज का प्रश्न है संविधान की प्रस्तावना क्या है जो दोस्तों की जानकारी के लिए बताना चाहूंगा क

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  1085
WhatsApp_icon
user
2:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो भाई गुड मॉर्निंग क्वेश्चन है संविधान की प्रस्तावना क्या है तो संविधान के प्रस्तावना जो है मैं आपको बता रहा हूं इसी शुरुआत में सर्वप्रथम अमेरिका संविधान में प्रस्तावना को सम्मिलित किया गया और कई अन्य देशों ने इसे अपनाया चंद्र भारत भी शामिल है प्रस्तावना संविधान के परिचय अथवा भूमिका वो कहते हैं प्रस्तावना जो है संविधान के परिचय अथवा भूमिका वह कहते हैं इसमें संविधान का सार होता है और जाने-माने नए वेद व संविधान विशेषज्ञों ने पालकी वाला ने प्रस्तावना को संविधान का परिचय पत्र कहा है भारतीय संविधान की प्रस्तावना पंडित नेहरू जी द्वारा बनाए और पेश किए गए एवं संविधान सभा द्वारा अपनाए गए उद्देश्य प्रस्ताव पर आधारित है और इसमें ए कमिटमेंट भी हुआ है 42 वें संविधान संशोधन अधिनियम 1976 द्वारा संशोधित किया गया जिनमें समाजवादी धर्मनिरपेक्षता शब्द जोड़े गए थे संविधान के प्रस्तावना के विषय में हम भारत के लोग भारत को एक संपूर्ण प्रभुत्व संपन्न समाजवादी धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य बनाने के लिए और इसके समस्त नागरिकों को सामाजिक आर्थिक और राजनीतिक न्याय ब्याह विचार अभिव्यक्ति धर्म विश्वास व उपासना की स्वतंत्रता प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता तथा अखंडता सुनिश्चित करने वाला बंधुत्व बढ़ाने के लिए दृढ़ संकल्प होकर अपनी संविधान सभा में 26 नवंबर 1949 को एतद् द्वारा संविधान को अंगीकृत अधिनियमित और आत्मा समर्पित करते हैं यह संविधान को संविधान की प्रस्तावना क्या है संविधान के स्थापना होती है संविधान का परिचय परिचय और भूमिका संविधान के प्रश्न और भूमिका को संविधान के प्रस्तावना कहते हैं और प्रस्तावना का अर्थ है को यही है धन्यवाद

hello bhai good morning question hai samvidhan ki prastavna kya hai toh samvidhan ke prastavna jo hai main aapko bata raha hoon isi shuruat me sarvapratham america samvidhan me prastavna ko sammilit kiya gaya aur kai anya deshon ne ise apnaya chandra bharat bhi shaamil hai prastavna samvidhan ke parichay athva bhumika vo kehte hain prastavna jo hai samvidhan ke parichay athva bhumika vaah kehte hain isme samvidhan ka saar hota hai aur jaane maane naye ved va samvidhan vishesagyon ne paalakee vala ne prastavna ko samvidhan ka parichay patra kaha hai bharatiya samvidhan ki prastavna pandit nehru ji dwara banaye aur pesh kiye gaye evam samvidhan sabha dwara apnaye gaye uddeshya prastaav par aadharit hai aur isme a commitment bhi hua hai 42 ve samvidhan sanshodhan adhiniyam 1976 dwara sanshodhit kiya gaya jinmein samajwadi dharmanirapekshata shabd jode gaye the samvidhan ke prastavna ke vishay me hum bharat ke log bharat ko ek sampurna parbhutwa sampann samajwadi dharmanirapeksh loktantrik ganrajya banane ke liye aur iske samast nagriko ko samajik aarthik aur raajnitik nyay byaah vichar abhivyakti dharm vishwas va upasana ki swatantrata prathishtha aur avsar ki samata prapt karne ke liye tatha vyakti ki garima aur rashtra ki ekta tatha akhandata sunishchit karne vala bandhutwa badhane ke liye dridh sankalp hokar apni samvidhan sabha me 26 november 1949 ko etad dwara samvidhan ko angikrit adhiniyamit aur aatma samarpit karte hain yah samvidhan ko samvidhan ki prastavna kya hai samvidhan ke sthapna hoti hai samvidhan ka parichay parichay aur bhumika samvidhan ke prashna aur bhumika ko samvidhan ke prastavna kehte hain aur prastavna ka arth hai ko yahi hai dhanyavad

हेलो भाई गुड मॉर्निंग क्वेश्चन है संविधान की प्रस्तावना क्या है तो संविधान के प्रस्तावना ज

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  230
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!