एंग्जायटी क्या होता है?...


user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

4:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है की ऊंचाई क्या होती है उनसे ड्राइंग ऑफ डिस्कंफर्ट एंड एक्सपेरिमेंटल की खास बात मैंने किसी और से चलाते वक्त आएगा नहीं आएगा मेरे पास होंगे नहीं तो आएगा नहीं आएगा आप कहीं जाते हैं तो लगता है रास्ते में कहीं सिडेंट तो नहीं हो जाएगा हर सिचुएशन में कोई डरने वाली सिचुएशन हो या ना हो चिंता वाली सिचुएशन हो या ना हो गई थी में विस्फोट की फीलिंग होती है और यह डर से बिल्कुल अलग होती है जैसे शेर से डरना शेर सामने होता है भयंकर स्थिति सामने है तो पता है हमें किसी से डर लग रहा है लेकिन इनसाइटी में हमें डर का कारण नहीं पता होता कोई ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन नहीं होती वह मारे अबकी बार होता है हम डरते हैं लेकिन उसी सिचुएशन में दूसरा नहीं डरेगा तो इंजॉय की सब्जेक्टिव होती है अब दम नहीं होती और गई थी यह ज्यादा बढ़ जाए तो पैनिक में बिक्री हो जाते हैं जब पैनिक अटैक कहते हैं इन राइटिंग एजुकेशनल भी हो सकती है और जनरल लाइट भी हो सकती है चंदला इसका मतलब है सारी सिचुएशन में आशा वैष्णव का मतलब है कि पेमेंट होती वैसे ठीक रहता है जैसे एग्जामिनेशन के बीच इक्वेशन इन टू बनी है तो समझ नहीं आता क्या करें बार-बार हमें व्हाट्सएप की जरूरत पड़ती है आता है हड्डी ठीक हो जाती है तू यह जनरल सिचुएशन नहीं है पैसिवेशन है जिसमें हमें मुताबिक इस मिशन में नहीं होती तो इसका मतलब है कि हम वैसे थैंक्स एग्जामिनेशन सेंटर वापी कई परिस्थितियां जब हम इंटरलेकन बाहर किसी नए अतिथि के आने से किसी नहीं गलती हो जाती है जाने से किसी में भी पैसे नहीं होती तो सबकी अलग-अलग शो अंडरटेकर ज्यादा है तो जरूर आपको भी तो देखें कौन सा के पास जाना चाहिए

aapka prashna hai ki unchai kya hoti hai unse drying of discomfort and eksaperimental ki khas baat maine kisi aur se chalte waqt aayega nahi aayega mere paas honge nahi toh aayega nahi aayega aap kahin jaate hain toh lagta hai raste me kahin toh nahi ho jaega har situation me koi darane wali situation ho ya na ho chinta wali situation ho ya na ho gayi thi me visphot ki feeling hoti hai aur yah dar se bilkul alag hoti hai jaise sher se darna sher saamne hota hai bhayankar sthiti saamne hai toh pata hai hamein kisi se dar lag raha hai lekin inasaiti me hamein dar ka karan nahi pata hota koi objective question nahi hoti vaah maare abki baar hota hai hum darte hain lekin usi situation me doosra nahi darega toh enjoy ki subjective hoti hai ab dum nahi hoti aur gayi thi yah zyada badh jaaye toh panic me bikri ho jaate hain jab panic attack kehte hain in writing educational bhi ho sakti hai aur general light bhi ho sakti hai chandala iska matlab hai saari situation me asha vaisnav ka matlab hai ki payment hoti waise theek rehta hai jaise examination ke beech equation in to bani hai toh samajh nahi aata kya kare baar baar hamein whatsapp ki zarurat padti hai aata hai haddi theek ho jaati hai tu yah general situation nahi hai paisiveshan hai jisme hamein mutabik is mission me nahi hoti toh iska matlab hai ki hum waise thanks examination center vaapee kai paristhiyaann jab hum intaralekan bahar kisi naye atithi ke aane se kisi nahi galti ho jaati hai jaane se kisi me bhi paise nahi hoti toh sabki alag alag show undertaker zyada hai toh zaroor aapko bhi toh dekhen kaun sa ke paas jana chahiye

आपका प्रश्न है की ऊंचाई क्या होती है उनसे ड्राइंग ऑफ डिस्कंफर्ट एंड एक्सपेरिमेंटल की खास ब

Romanized Version
Likes  522  Dislikes    views  4319
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

J P Singh

Principal

1:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नमस्कार आपका प्रश्न है एंग्जायटी क्या होता है इंजॉय टी को हिंदी में हम कहते हैं घबराहट घबराना इसे व्याकुलता व्यग्रता या फिर हम दुश्चिंता कह सकते हैं यह एक प्रकार का मन का रोग है मनोरोग है अगर साधारण शब्दों में है इसके विषय में हम जानना चाहे चिंता या घबराहट आने वाले समय में कुछ बुरा घटने की आशंका होना है जबकि इसका वास्तविक आया नहीं होता थोड़ी बहुत चिंता सभी को होती है और हम हमारे लक्ष्य की प्राप्ति असफलता के लिए आवश्यक भी तो एक प्रकार का यह मन का रोग है साधन शब्दों में जैसा कि हमने बताया कि चिंता या घबराहट आने वाले समय में कुछ बुरा कुछ खराब घटने की आशंका जो बनी रहती है उसी को हम दुश्चिंता कहते हैं उसी को हम एंजाइटी करते हैं धन्यवाद

ji namaskar aapka prashna hai anxiety kya hota hai enjoy T ko hindi mein hum kehte hain ghabarahat ghabrana ise vyakulta vyagrata ya phir hum dushchinta keh sakte hain yah ek prakar ka man ka rog hai manorog hai agar sadhaaran shabdon mein hai iske vishay mein hum janana chahen chinta ya ghabarahat aane waale samay mein kuch bura ghatane ki ashanka hona hai jabki iska vastavik aaya nahi hota thodi bahut chinta sabhi ko hoti hai aur hum hamare lakshya ki prapti asafaltaa ke liye aavashyak bhi toh ek prakar ka yah man ka rog hai sadhan shabdon mein jaisa ki humne bataya ki chinta ya ghabarahat aane waale samay mein kuch bura kuch kharab ghatane ki ashanka jo bani rehti hai usi ko hum dushchinta kehte hain usi ko hum anxiety karte hain dhanyavad

जी नमस्कार आपका प्रश्न है एंग्जायटी क्या होता है इंजॉय टी को हिंदी में हम कहते हैं घबराहट

Romanized Version
Likes  150  Dislikes    views  1066
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!