आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं और भुलाने की बीमारी को कैसे दूर करें?...


user

Norang sharma

Social Worker

3:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों वोकल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल है अपना आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं और भूलने की बीमारी को कैसे दूर करें तो सबसे पहले मैं आत्मविश्वास पर आता हूं दोस्तों सेल्फ कॉन्फिडेंस का मतलब है हमारा अपने ऊपर और अपनी क्षमताओं में भरोसा या यकीन कि जब कोई भी काम हम करना चाहते हैं तो हम इस विश्वास के साथ करें कि मैं काम को अच्छे से अच्छे तरीके से कर सकता हूं और जब आपकी सोच के साथ कोई काम को करते हैं तो आप उस काम में सफल होने के चांसेस हैं होटल पर खा लेते हैं लेकिन वहीं दूसरी तरफ अगर आप अपने आप पर शंका लेकर के किसी काम को करते हैं कि पता नहीं मैं यह काम कर पाऊंगा यह या नहीं या पता नहीं कहीं मैं फेल ना हो जाऊं फोटो आपके मन में हावी रहेगी तो आप दोस्तों एक तरह से नर्वस फील करेंगे और डरे डरे से रहेंगे आपका जो सेल्फ कॉन्फिडेंस है वहां वह काम नहीं कर पाएगा तो दोस्तों उपलब्धि चाहे बड़ी हो या छोटे सभी के मूल में बुनियादी चीज यही है कि आपको कितना कॉन्फिडेंस से कितना सेल्फ कॉन्फिडेंस लेकर आपको चीज कर रहे हैं तो जो इंसान जितना ज्यादा आगे जीवन में जाना चाहता है उसको उतना ही ज्यादा आत्मविश्वास की बनने की जरूरत होती है और दोस्तों आत्मविश्वास आता है जिम्मेदारी लेने से क्या क्या काम कर सकते हैं कॉन्फिडेंस आता है सही दिशा में लगातार आगे बढ़ने से धैर्य और संयम के साथ कॉन्फिडेंस आता है सही तरीके से लोगों के साथ व्यवहार करने से चल कॉन्फिडेंस आता है एक सही सोच के साथ जीवन में आगे बढ़ने से अब मैं आता हूं भूलने की बीमारी तो दोस्तों हमारी चीजों को रखकर भूल जाने की जो आदत है वह भी मुझे लगता है हमारे जो गलत ऑटो सजेशन हम खुद को देते रहते हैं उसकी वजह से हम अख्तर कह देते हैं कि मैं तो कुछ भी रख कर भूल जाता हूं मेरा तो दिमाग ही रहता है यानी एक तरह से आप बार-बार नकारात्मक वाक्य जब खुद के साथ बोलते हैं क्योंकि हमारा हर समय एक खुद के साथ संवाद चलता रहता है भले ही आप मुंह से बोल कर मुझसे बात नहीं करते लेकिन आपने देखा होगा आपके दिमाग में एक चर्चा चलती रहती हर चीज के बारे में आपकी राय बनती रहती है तो वह कोटेशन आपको पॉजिटिव रखनी है आपको खुद को कुछ दिन तक सिर्फ यह कहना है कि आपकी जो याददाश्त है वह बहुत अच्छी है आप चीजों को लंबे समय तक भूलते नहीं हैं और आपका दिमाग बहुत अच्छे से काम कर रहा है तो इस तरह की पॉजिटिव चीज है जब आप मन में रिपीट करते हैं जब आप सोचते हैं मन में तो आप यकीन नहीं मानेंगे उसका आपके शरीर पर आपके दिमाग पर एक गहरा असर पड़ेगा और आगे से आप चीजें जो है वो रखकर भूलेंगे नहीं और आपकी भूलने की बीमारी जोया मत छूमंतर हो जाएगी तो दोस्तों कहीं ना कहीं सारी चीजें एक-दूसरे से जुड़ी हुई है हमारी जो नकारात्मक सोच है वह हर जगह हमें उसके साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं तो चल कॉन्फिडेंट का मैंने आपको बता ही दिया कि लगातार आप नियमित छोटे-छोटे कामों में आप ऐसे अभ्यास करें कि आप इस काम को कर सकते हैं पॉजिटिव सोच के साथ जब आप कुछ करेंगे तो आप देखेंगे उसके नतीजे कुछ बेहतर होंगे कुछ अलग होंगे धन्यवाद

namaskar doston vocal par sun rahe mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera pyar bhara namaskar aaj ka sawaal hai apna aatmvishvaas kaise badhaye aur bhulne ki bimari ko kaise dur kare toh sabse pehle main aatmvishvaas par aata hoon doston self confidence ka matlab hai hamara apne upar aur apni kshamataon mein bharosa ya yakin ki jab koi bhi kaam hum karna chahte hai toh hum is vishwas ke saath kare ki main kaam ko acche se acche tarike se kar sakta hoon aur jab aapki soch ke saath koi kaam ko karte hai toh aap us kaam mein safal hone ke chances hai hotel par kha lete hai lekin wahi dusri taraf agar aap apne aap par shanka lekar ke kisi kaam ko karte hai ki pata nahi main yah kaam kar paunga yah ya nahi ya pata nahi kahin main fail na ho jaaun photo aapke man mein haavi rahegi toh aap doston ek tarah se nervous feel karenge aur dare dare se rahenge aapka jo self confidence hai wahan vaah kaam nahi kar payega toh doston upalabdhi chahen baadi ho ya chote sabhi ke mul mein buniyadi cheez yahi hai ki aapko kitna confidence se kitna self confidence lekar aapko cheez kar rahe hai toh jo insaan jitna zyada aage jeevan mein jana chahta hai usko utana hi zyada aatmvishvaas ki banne ki zarurat hoti hai aur doston aatmvishvaas aata hai jimmedari lene se kya kya kaam kar sakte hai confidence aata hai sahi disha mein lagatar aage badhne se dhairya aur sanyam ke saath confidence aata hai sahi tarike se logo ke saath vyavhar karne se chal confidence aata hai ek sahi soch ke saath jeevan mein aage badhne se ab main aata hoon bhulne ki bimari toh doston hamari chijon ko rakhakar bhool jaane ki jo aadat hai vaah bhi mujhe lagta hai hamare jo galat auto suggestion hum khud ko dete rehte hai uski wajah se hum akhtar keh dete hai ki main toh kuch bhi rakh kar bhool jata hoon mera toh dimag hi rehta hai yani ek tarah se aap baar baar nakaratmak vakya jab khud ke saath bolte hai kyonki hamara har samay ek khud ke saath samvaad chalta rehta hai bhale hi aap mooh se bol kar mujhse baat nahi karte lekin aapne dekha hoga aapke dimag mein ek charcha chalti rehti har cheez ke bare mein aapki rai banti rehti hai toh vaah quotation aapko positive rakhni hai aapko khud ko kuch din tak sirf yah kehna hai ki aapki jo yadadasht hai vaah bahut achi hai aap chijon ko lambe samay tak bhulte nahi hai aur aapka dimag bahut acche se kaam kar raha hai toh is tarah ki positive cheez hai jab aap man mein repeat karte hai jab aap sochte hai man mein toh aap yakin nahi manenge uska aapke sharir par aapke dimag par ek gehra asar padega aur aage se aap cheezen jo hai vo rakhakar bhulenge nahi aur aapki bhulne ki bimari joya mat chumantar ho jayegi toh doston kahin na kahin saari cheezen ek dusre se judi hui hai hamari jo nakaratmak soch hai vaah har jagah hamein uske side effect dekhne ko milte hai toh chal confident ka maine aapko bata hi diya ki lagatar aap niyamit chote chhote kaamo mein aap aise abhyas kare ki aap is kaam ko kar sakte hai positive soch ke saath jab aap kuch karenge toh aap dekhenge uske natije kuch behtar honge kuch alag honge dhanyavad

नमस्कार दोस्तों वोकल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  2341
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!