यह बात कहाँ तक उचित है कि "जीवन जितना सादा रहेगा, जीवन में तनाव भी उतना ही कम होगा"? आपका क्या विचार है इस पर?...


user

Bhavin J. Shah

Life Coach

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुविधा में सुख नहीं है हम इतना मानते हैं कि बहुत सुविधा होगी तो बहुत सुखी होंगे नहीं जिद जीवन जितना सदा रहेगा जीवन में इतनी प्रॉब्लम कम रहेगी क्योंकि लालच का कोई अंत नहीं है जितनी एक्सपेक्टेशन ज्यादा इतने तनाव ज्यादा हो जितने तनाव ज्यादा इतने दुख ज्यादा तो यह बात बिल्कुल सही है जितना सादा जीवन रहेगा उतने आदमी खुश रहेंगे एक कहानी सुनाना चाहता हूं एक व्यक्ति ने के पास जो पढ़ा था सामने एक बड़ा सा बंगला था उसने बहुत मेहनत की बंगला खरीदा उसके पास गाड़ी थी उसने देखा सामने वाले के पास मर्सिडीज है उसे बहुत मेहनत की उसके पास मर्सिडीज है उसने देखा कि किसी के पास बंगला भी गाड़ी भी है खुद का चार्टर प्लेन भी है तो उसने यह सोचा मेरे पास भी चार्टर प्लेन और अंत में दौड़ता गया दौड़ता गया दौड़ता गया कोई ना कोई आगे दिखता गया और वह व्यक्ति जो था वह एंजॉय किए बिना जो नहीं है उसके पाने की दौड़ में आखिर में मर गया अगर वह आदमी अपनी झोपड़ी में रहता जो है वह ठीक है मेहनत करूंगा आगे बढ़ लूंगा लेकिन वह बंगले को देखकर नहीं अपने आप को देख कर तो शायद वह बहुत अच्छा जीवन जी बताओ यह बात हंड्रेड परसेंट उचित है जीवन जितना सादा रहेगा जीवन में उतने तनाव कम रहेंगे थैंक यू

suvidha mein sukh nahi hai hum itna maante hai ki bahut suvidha hogi toh bahut sukhi honge nahi jid jeevan jitna sada rahega jeevan mein itni problem kam rahegi kyonki lalach ka koi ant nahi hai jitni expectation zyada itne tanaav zyada ho jitne tanaav zyada itne dukh zyada toh yah baat bilkul sahi hai jitna saada jeevan rahega utne aadmi khush rahenge ek kahani sunana chahta hoon ek vyakti ne ke paas jo padha tha saamne ek bada sa bangla tha usne bahut mehnat ki bangla kharida uske paas gaadi thi usne dekha saamne waale ke paas mercedes hai use bahut mehnat ki uske paas mercedes hai usne dekha ki kisi ke paas bangla bhi gaadi bhi hai khud ka charter plane bhi hai toh usne yah socha mere paas bhi charter plane aur ant mein daudata gaya daudata gaya daudata gaya koi na koi aage dikhta gaya aur vaah vyakti jo tha vaah enjoy kiye bina jo nahi hai uske paane ki daudh mein aakhir mein mar gaya agar vaah aadmi apni jhopdi mein rehta jo hai vaah theek hai mehnat karunga aage badh lunga lekin vaah bangale ko dekhkar nahi apne aap ko dekh kar toh shayad vaah bahut accha jeevan ji batao yah baat hundred percent uchit hai jeevan jitna saada rahega jeevan mein utne tanaav kam rahenge thank you

सुविधा में सुख नहीं है हम इतना मानते हैं कि बहुत सुविधा होगी तो बहुत सुखी होंगे नहीं जिद ज

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  327
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Astha Nagpal

Clinical Psychologist

1:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं बहुत हद तक यह बात मानती हूं पर यह मानने के साथ वाले ने यह भी सवाल अपने आपसे है कि सिंपल लाइफ को कैसे डिजाइन करते क्योंकि और सिंपल लाइफ का मीनिंग बहुत अलग होगा और किसी और इंसान के लिए बहुत अलग होगा तो मैं अपनी पहचान होनी बहुत जरूरी है अपनी जिंदगी में जो हमें हमारे पेरेंट्स में या हमारे एडीसी में मिला है और जो हमने किया है उसका रियालिटी पर होना बहुत जरूरी है उसके बाद मेरी क्या डिजाइन है और उनके में कैसे काम करती हूं वह बहुत इंडिविजुअल स्पेसिफिक अप्रोच है लेकिन वह सेंस आफ सेटिस्फेक्शन और वह रिकॉर्ड जो आपको आई लव यू थिंक टैंक से मिलाने और जो आपने खुद अपनी लाइफ में पेश किया है उसकी आवाज में और रिस्पेक्ट बहुत जरूरी है कुछ सिंपल लाइफ की डेफिनेशन और तो बहुत अलग है हर इंसान के लिए लेकिन जो आपकी लाइफ स्टाइल हेयर स्टाइल में एक सेंट्रो सेटिस्फेक्शन और एक रिमाइंडर अपने लिए क्रिएट कर सके कि मेरे को यह मिला और मेरी भी एक बाउंड्री है मुझे अपनी बाउंड्री में रहकर अपने आप को गुरु करना है ऐसा इंसान मूसली खुश रहता है बजाय उस इंसान की जिसका इंसटैंटली बाहर से अपनी बाहर के लोगों के

main bahut had tak yah baat maanati hoon par yah manne ke saath waale ne yah bhi sawaal apne aapse hai ki simple life ko kaise design karte kyonki aur simple life ka meaning bahut alag hoga aur kisi aur insaan ke liye bahut alag hoga toh main apni pehchaan honi bahut zaroori hai apni zindagi mein jo hamein hamare parents mein ya hamare ADC mein mila hai aur jo humne kiya hai uska reality par hona bahut zaroori hai uske baad meri kya design hai aur unke mein kaise kaam karti hoon vaah bahut individual specific approach hai lekin vaah sense of setisfekshan aur vaah record jo aapko I love you think tank se milaane aur jo aapne khud apni life mein pesh kiya hai uski awaaz mein aur respect bahut zaroori hai kuch simple life ki definition aur toh bahut alag hai har insaan ke liye lekin jo aapki life style hair style mein ek sentro setisfekshan aur ek reminder apne liye create kar sake ki mere ko yah mila aur meri bhi ek boundary hai mujhe apni boundary mein rahkar apne aap ko guru karna hai aisa insaan muesli khush rehta hai bajay us insaan ki jiska insataintali bahar se apni bahar ke logo ke

मैं बहुत हद तक यह बात मानती हूं पर यह मानने के साथ वाले ने यह भी सवाल अपने आपसे है कि सिंप

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  506
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल मैं आप की बात से एग्री करता हूं कि जीवन जितना सादा रहेगा जीवन में तनाव भी उतना कम रहेगा आज जिस प्रकार हर व्यक्ति अपनी हेल्थ को स्टेज पर रखकर काम कर रहा है ऑफिस के धक्के खा रहा है क्यों पूछा था एक लग्जरी लाइफ को एंजॉय कर सके कि वजह से वह अपनी हेल्थ को भी नहीं देखता तो कहीं ना कहीं तुम बहुत ऊंची ऊंची चीजों के सपने देखते हैं और उसके लिए प्रयास करते हैं और बाई द वे अगर वह चीज हमको नहीं मिल पाती तो वह चक्कर में डिप्रेशन होता है और वह एक दिन आपका बहुत बड़ा करण मुझे लगता है कि अगर आप जीवन में एक्सपेक्टेशन उम्मीद रखेंगे ज्यादा तो अगर आप एक्सपेक्टेशन कम रखेंगे तो आपको तनाव भी कम होगा

bilkul main aap ki baat se agree karta hoon ki jeevan jitna saada rahega jeevan mein tanaav bhi utana kam rahega aaj jis prakar har vyakti apni health ko stage par rakhakar kaam kar raha hai office ke dhakke kha raha hai kyon poocha tha ek luxury life ko enjoy kar sake ki wajah se vaah apni health ko bhi nahi dekhta toh kahin na kahin tum bahut uchi unchi chijon ke sapne dekhte hain aur uske liye prayas karte hain aur bai the ve agar vaah cheez hamko nahi mil pati toh vaah chakkar mein depression hota hai aur vaah ek din aapka bahut bada karan mujhe lagta hai ki agar aap jeevan mein expectation ummid rakhenge zyada toh agar aap expectation kam rakhenge toh aapko tanaav bhi kam hoga

बिल्कुल मैं आप की बात से एग्री करता हूं कि जीवन जितना सादा रहेगा जीवन में तनाव भी उतना कम

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन जितना सादा रहेगा जीवन में तनाव भी उतना ही कम होगा देखिए यह बस और चूहे लेकर बहुत ही उचित लगती है और क्यों किया क्योंकि परिवर्तन से डरना और संघर्ष से खतरनाक मनुष्य की सबसे बड़ी कायरता है जीवन का सबसे बड़ा गुरु वक्त होता है क्योंकि वक्त सिखाता है वह कोई नहीं सिखा सकता है कभी भी लोग आपके बारे में या टिकाया टिप्पणी करें तो घबराना नहीं चाहिए बस यह बात याद रखना है कि हर खेल में दर्शक ही शोर मचाते हैं खिलाड़ी नहीं तलब तलब सदा कुवैत से सड़कों गुना बड़ा होता है फिर भी लोग को एक का ही पानी पीते हैं क्योंकि कुवे में गहराई और शुद्धता होती है मनुष्य का बड़ा होना अच्छी बात है लेकिन उसका व्यक्तित्व में गहराई और विचारों की शुद्धता भी होना चाहिए तभी वह महान बनता है जीवन में किसी को रुला कर हवन भी कारवां कारवां को कुंदन और अगर रोज किसी दिया तो मैं उसको जलाने की जरूरत होती है तो जीवन में जितना सादा रहेगा तनाव उतना ही आधा रहेगा तो योग्य करें या ना करें पर जरूरत पड़ने पर एक दूसरे का सहयोग जरुर करें अगर कहते हैं कि खाली हाथ खाली हाथ आए और खाली हाथ ही जाएंगे तो इसलिए मुझे यह बात बहुत उचित लगती है

jeevan jitna saada rahega jeevan mein tanaav bhi utana hi kam hoga dekhiye yah bus aur chuhe lekar bahut hi uchit lagti hai aur kyon kiya kyonki parivartan se darna aur sangharsh se khataranaak manushya ki sabse badi kayarata hai jeevan ka sabse bada guru waqt hota hai kyonki waqt sikhata hai vaah koi nahi sikha sakta hai kabhi bhi log aapke bare mein ya tikaya tippani kare toh ghabrana nahi chahiye bus yah baat yaad rakhna hai ki har khel mein darshak hi shor machate hain khiladi nahi talab talab sada kuwait se sadkon guna bada hota hai phir bhi log ko ek ka hi paani peete hain kyonki kuve mein gehrai aur shuddhta hoti hai manushya ka bada hona achi baat hai lekin uska vyaktitva mein gehrai aur vicharon ki shuddhta bhi hona chahiye tabhi vaah mahaan baata hai jeevan mein kisi ko rula kar hawan bhi caravan caravan ko kundan aur agar roj kisi diya toh main usko jalane ki zarurat hoti hai toh jeevan mein jitna saada rahega tanaav utana hi aadha rahega toh yogya kare ya na kare par zarurat padane par ek dusre ka sahyog zaroor kare agar kehte hain ki khaali hath khaali hath aaye aur khaali hath hi jaenge toh isliye mujhe yah baat bahut uchit lagti hai

जीवन जितना सादा रहेगा जीवन में तनाव भी उतना ही कम होगा देखिए यह बस और चूहे लेकर बहुत ही उच

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे तो यह बात बिल्कुल उचित लगती है कि जीवन हमारा जितना सरल होगा उतना ही तनाव हमें कम होगा क्योंकि अगर हमारी जिंदगी में बहुत सारे कॉन्प्लिकेटेड चीजें रहती है यानी कि बहुत सारे ऐसे काम हमने किए हुए हैं जो हो सकता है सही नहीं है या फिर गैरकानूनी है यानी कि हमारा जीवन काफी मुश्किल भरा है तो इस स्थिति में हम काफी तनावग्रस्त रहेंगे और तरह-तरह की बीमारियां भी हमें हो जाएंगी क्योंकि तनाव बीमारी होने का एक प्रमुख कारण है तो इसीलिए मुझे लगता है कि हमें अपने जिंदगी को काफी सरल यानी कि सिंपल रखना चाहिए तभी जाकर हम तनावमुक्त जिंदगी जी सकते हैं

mujhe toh yah baat bilkul uchit lagti hai ki jeevan hamara jitna saral hoga utana hi tanaav hamein kam hoga kyonki agar hamari zindagi mein bahut saare kanpliketed cheezen rehti hai yani ki bahut saare aise kaam humne kiye hue hain jo ho sakta hai sahi nahi hai ya phir gairkanuni hai yani ki hamara jeevan kaafi mushkil bhara hai toh is sthiti mein hum kaafi tanaavgrast rahenge aur tarah tarah ki bimariyan bhi hamein ho jayegi kyonki tanaav bimari hone ka ek pramukh karan hai toh isliye mujhe lagta hai ki hamein apne zindagi ko kaafi saral yani ki simple rakhna chahiye tabhi jaakar hum tanaavmukt zindagi ji sakte hain

मुझे तो यह बात बिल्कुल उचित लगती है कि जीवन हमारा जितना सरल होगा उतना ही तनाव हमें कम होगा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
kahan tak yeh man ko ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!