मुझे किसे प्राथमिकता देनी चाहिए - माता पिता या भगवान को?...


user

Bhavin J. Shah

Life Coach

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके सवाल में ही इसका जवाब छुपा है अवश्य माता पिता को भगवान है नहीं है हमने कहीं देखा नहीं है लेकिन भगवान के रूप में हमें माता पिता जरूर मिले माता पिता एक ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने इस पृथ्वी पृथ्वी पर आने का हमको मौका दिया है आज भारत में 80 लाख से ज्यादा भ्रूण हत्याएं होती है अगर हमारे माता पिता ने सोचा होता कि हम को जन्म ही नहीं देता है तो शायद हम आज पृथ्वी पर ही नहीं होते अगर हम है तो हमको यह विचार आता है कि माता-पिता को प्राथमिकता दे या भगवान को दे अगर हम होते ही नहीं तो यह बेचारी कहां से आता है तो ऐसी बात हो गई कि माता-पिता है फिर भी हम उनको छोड़ के भगवान के पीछे भाग रहे हैं भगवान श्री गणपति ने यानी कि गणेश जी ने भी जब माता-पिता को तीन बार घूम घूम गोल घूमे थे तीन बार आजू-बाजू तब उन्होंने पूरी पृथ्वी के दक्षिणा कर दी थी ऐसा हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि भगवान जी से भगवान जब अपने माता पिता को भगवान मानते हैं तब हम तो इसके बारे में भी बात करें या सवाल जवाब करें जरा सोचिए थैंक यू

aapke sawaal mein hi iska jawab chupa hai avashya mata pita ko bhagwan hai nahi hai humne kahin dekha nahi hai lekin bhagwan ke roop mein hamein mata pita zaroor mile mata pita ek aise vyakti hain jinhone is prithvi prithvi par aane ka hamko mauka diya hai aaj bharat mein 80 lakh se zyada bharun hatyaayen hoti hai agar hamare mata pita ne socha hota ki hum ko janam hi nahi deta hai toh shayad hum aaj prithvi par hi nahi hote agar hum hai toh hamko yah vichar aata hai ki mata pita ko prathamikta de ya bhagwan ko de agar hum hote hi nahi toh yah bechari kahaan se aata hai toh aisi baat ho gayi ki mata pita hai phir bhi hum unko chod ke bhagwan ke peeche bhag rahe hain bhagwan shri ganapati ne yani ki ganesh ji ne bhi jab mata pita ko teen baar ghum ghum gol ghume the teen baar aju baju tab unhone puri prithvi ke dakshina kar di thi aisa hamare shastron mein kaha gaya hai ki bhagwan ji se bhagwan jab apne mata pita ko bhagwan maante hain tab hum toh iske bare mein bhi baat kare ya sawaal jawab kare zara sochiye thank you

आपके सवाल में ही इसका जवाब छुपा है अवश्य माता पिता को भगवान है नहीं है हमने कहीं देखा नहीं

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  350
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे मित्र तुमको माता पिता की सेवा के लिए प्राथमिकता देनी चाहिए क्योंकि यही वह जन्मदाता है जिन्होंने तुम्हें इस पृथ्वी पर जन्म लिया है जिन्होंने तुम्हें संसार को देखने के लिए लाइक बनाया है यदि भोजन नहीं देते तो तुम भगवान की प्रार्थना कहां से करते हैं भगवान को भी देखने लायक सामर्थ इन्होंने दी है इसलिए ऐसा कहते हैं बड़े बजट स्मृति पर दीदी साक्षात किसी सबको रूप देखा जाए तो माता-पिता किसी भी धर्म को उठाकर देख लीजिए आप इस्लाम धर्म यह कहता है कि माता के चरणों में जन्नत होती है और हिंदू धर्म के अनुसार देवता माथे मातृदेवोभावा पितरों देवा माता पिता ही संसार में साक्षात देवी देवता हैं उनकी प्रार्थना की कि उनकी सेवा के लिए उनकी अदाओं से हमेशा ही मजबूत होते हैं मैंने उन व्यक्तियों जीवन को हमेशा ही निरर्थक देखा है आजकल देखा है जो लोग अपने माता पिता की सेवा नहीं करते जिनके साथ में अपने माता-पिता की दुआएं नहीं है ऐसे इंसानों का जीवन एक पशु तक जीवन होता है जिससे अपने स्वार्थ के लिए जीते लालची होते हैं इसलिए भगवान का ध्यान नहीं रखता है तो मैं आपको यही कहूंगा माता पिता की सेवा करो उनकी आज्ञा मानो तो तुम यह बोलो तुम साक्षात भगवान की सेवा कर रहे हो उनके रूप में है और कभी तो यहां तक कह गया गुरु गोविंद दोऊ खड़े काके लागू पाय बलिहारी गुरु आपने गोविंद दियो बताए वह तो कहते कि भगवान है गुरु तो भगवान से भी बड़ा है और माता पिता जिन्होंने जन्म दिया है वही तो आपके लिए साक्षात भगवान है तेरे माता पिता की सेवा करो

mere mitra tumko mata pita ki seva ke liye prathamikta deni chahiye kyonki yahi vaah janmadata hai jinhone tumhe is prithvi par janam liya hai jinhone tumhe sansar ko dekhne ke liye like banaya hai yadi bhojan nahi dete toh tum bhagwan ki prarthna kahaan se karte hain bhagwan ko bhi dekhne layak samarth inhone di hai isliye aisa kehte hain bade budget smriti par didi sakshat kisi sabko roop dekha jaaye toh mata pita kisi bhi dharm ko uthaakar dekh lijiye aap islam dharm yah kahata hai ki mata ke charno mein jannat hoti hai aur hindu dharm ke anusaar devta mathe matridevobhava pitaron deva mata pita hi sansar mein sakshat devi devta hain unki prarthna ki ki unki seva ke liye unki adaon se hamesha hi majboot hote hain maine un vyaktiyon jeevan ko hamesha hi nirarthak dekha hai aajkal dekha hai jo log apne mata pita ki seva nahi karte jinke saath mein apne mata pita ki duaen nahi hai aise insano ka jeevan ek pashu tak jeevan hota hai jisse apne swarth ke liye jeete lalchi hote hain isliye bhagwan ka dhyan nahi rakhta hai toh main aapko yahi kahunga mata pita ki seva karo unki aagya maano toh tum yah bolo tum sakshat bhagwan ki seva kar rahe ho unke roop mein hai aur kabhi toh yahan tak keh gaya guru govind dooo khade kake laagu paye balihari guru aapne govind diyo bataye vaah toh kehte ki bhagwan hai guru toh bhagwan se bhi bada hai aur mata pita jinhone janam diya hai wahi toh aapke liye sakshat bhagwan hai tere mata pita ki seva karo

मेरे मित्र तुमको माता पिता की सेवा के लिए प्राथमिकता देनी चाहिए क्योंकि यही वह जन्मदाता है

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  362
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं दिखे भगवान जो है वह सब के ऊपर हैं मैं पोस्ट नहीं भगवान मैं मानती हूं बिल्कुल और काफी में अच्छे विचार और काफी काफी अगर मैं कहता हूं यह कि मैं घर से ही चीज का ऐलान कर सकती हूं कि मैं भगवान मैं मानती हूं क्योंकि बस मेरा श्रद्धा है यह मेरा पर्सनल मानना अब यह दुनिया में हमको तो हमारे माता-पिता ही लाते हैं तो यह भी एक रियलिटी है एक सच्चाई है तो अगर आपको ऑप्शन दिया जाए और अगर आप कुछ करना हो कि आप पहले किस को रखेंगे तो यह तो बहुत ही कठिन जो है एक निश्चय आपको लेना होगा जिससे अगर मुझे ही पूछ लिया क्या तो बहुत डिफिकल्ट बहुत डिफिकल्ट है कि मैं दोनों से बहुत प्यार करती हूं लेकिन नाम तिल भगवान ने भी कहा हुआ है और यह हम सब जानते ही हैं कि अगर आपको भगवान को प्यार करना ही है तो अपने माता पिता को प्यार करो क्योंकि उन्होंने उनकी जरिए आपको यह विश्वास आया है कि आप एक अन्य मतलब एक हायर पावर में मतलब जो एक है ऐसा शक्ति से बहुत बड़ा है इस पर इन पर आप विश्वास कर सकते हो तो भगवान भगवान में जो मानने का शक्ति जो है यह बिलीफ सिस्टम भी जो है यह भी आप एक बार दुनिया में आए हो यानी कि पैदा हुए हो उसी के बाद आपको आएगा तो आपको दुनिया में लाने वाला आपकी मम्मी पापा है इसलिए आपको उनसे बहुत प्यार करना चाहिए और जो मम्मी पापा से अपने बहुत प्यार करते हैं भगवान उनसे बहुत प्यार करते हैं तो मुझे लगता है कि अगर आपको दिखावा करना है मतलब रियल सेंस में कि प्यार करना है तो आप मम्मी पापा से कीजिए और ऑप्शन तो बोलते मैं इसलिए कह रही हूं कि भगवान के पीछे पड़ जाओगे और मां-बाप को प्यार नहीं दोगे तो यह गलत होगा इसलिए मम्मी पापा को करना चाहिए ज्यादा भगवान के लिए और दिल में आपको भगवान को सबसे ज्यादा प्यार करना चाहिए तो यही मैप में

namaste doston meri rani doctor priya jha ke taraf se aap sabko din ki bahut saree subhkamnaayain dikhe bhagwan jo hai wah sab ke upar hain main post nahi bhagwan main maanati hoon bilkul aur kaafi mein acche vichar aur kaafi kafi agar main kahata hoon yeh ki main ghar se hi cheez ka elan kar sakti hoon ki main bhagwan main maanati hoon kyonki bus mera shraddha hai yeh mera personal manana ab yeh duniya mein hamko toh hamare mata pita hi late hain toh yeh bhi ek reality hai ek sacchai hai toh agar aapko option diya jaye aur agar aap kuch karna ho ki aap pehle kis ko rakhenge toh yeh toh bahut hi kathin jo hai ek nishchay aapko lena hoga jisse agar mujhe hi puch liya kya toh bahut difficult bahut difficult hai ki main dono se bahut pyar karti hoon lekin naam til bhagwan ne bhi kaha hua hai aur yeh hum sab jante hi hain ki agar aapko bhagwan ko pyar karna hi hai toh apne mata pita ko pyar karo kyonki unhone unki jariye aapko yeh vishwas aaya hai ki aap ek anya matlab ek hire power mein matlab jo ek hai aisa shakti se bahut bada hai is par in par aap vishwas kar sakte ho toh bhagwan bhagwan mein jo manne ka shakti jo hai yeh belief system bhi jo hai yeh bhi aap ek baar duniya mein aaye ho yani ki paida hue ho usi ke baad aapko aaega toh aapko duniya mein lane vala aapki mummy papa hai isliye aapko unse bahut pyar karna chahiye aur jo mummy papa se apne bahut pyar karte hain bhagwan unse bahut pyar karte hain toh mujhe lagta hai ki agar aapko dikhawa karna hai matlab real sense mein ki pyar karna hai toh aap mummy papa se kijiye aur option toh bolte main isliye keh rahi hoon ki bhagwan ke peeche pad jaoge aur maa baap ko pyar nahi doge toh yeh galat hoga isliye mummy papa ko karna chahiye zyada bhagwan ke liye aur dil mein aapko bhagwan ko sabse zyada pyar karna chahiye toh yahi map mein

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं दि

Romanized Version
Likes  178  Dislikes    views  2474
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य के लिए मां बाप सबसे ज्यादा बड़े हैं इस संसार में ना ही उनके सामने भगवान आता है ना ही कोई और आता है क्योंकि माता-पिता ने हमें जन्म दिया है और हमेशा हमारी रक्षा की है और हमेशा हमारी केयर की है अपनी खुशियों को छोड़कर वह हमें संभालते आ रहे हैं तो बिल्कुल मनुष्य के लिए उनके मां-बाप ही सबसे ज्यादा अहमियत रखते हैं ना कि भगवान हालांकि भगवान को तो मानते मैं भी मानता हूं लेकिन इसका मतलब यह नहीं है क्या भगवान की भक्ति में अपने मम्मी पापा को भूल जाओ और मुझे लगता है कि मम्मी पापा के अंदर ही भगवान बसते हैं तो आप अपने मम्मी पापा की पूजा करें उनकी खैर करें आपके लिए वही भक्ति होगी और आपके लिए वही पुण्य का काम होगा

manushya ke liye maa baap sabse zyada bade hain is sansar mein na hi unke saamne bhagwan aata hai na hi koi aur aata hai kyonki mata pita ne hamein janam diya hai aur hamesha hamari raksha ki hai aur hamesha hamari care ki hai apni khushiyon ko chhodkar vaah hamein sambhalate aa rahe hain toh bilkul manushya ke liye unke maa baap hi sabse zyada ahamiyat rakhte hain na ki bhagwan halaki bhagwan ko toh maante main bhi manata hoon lekin iska matlab yah nahi hai kya bhagwan ki bhakti mein apne mummy papa ko bhool jao aur mujhe lagta hai ki mummy papa ke andar hi bhagwan baste hain toh aap apne mummy papa ki puja kare unki khair kare aapke liye wahi bhakti hogi aur aapke liye wahi punya ka kaam hoga

मनुष्य के लिए मां बाप सबसे ज्यादा बड़े हैं इस संसार में ना ही उनके सामने भगवान आता है ना ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मनुष्य के लिए इस संसार में सबसे बड़ा जो है मां बाप होना चाहिए क्योंकि आपने आ भगवान की जगह का अभाव में भी देखा होगा कि एक बार जो है शिवजी और पार्वती जी बैठे थे दोनों बेटे कार्तिक और गणेश जी की पूरी दुनिया का भ्रमण करके आइए तो काफी चीजें कोई दुनिया के भवन पर निकल गए थे बस गणेश जी जो आपने आप मतलब बाबा के दीपक शर्मा लगाकर पांच बार खून के मैच में सबसे जवान होने दें क्योंकि हमारी तो पहचान होती हो मां बाप की दादा होती है और हमें जो जन्म देती है हमें एक स्थिति देती है हमें किस तिथि देती है

manushya ke liye is sansar mein sabse bada jo hai maa baap hona chahiye kyonki aapne aa bhagwan ki jagah ka abhaav mein bhi dekha hoga ki ek baar jo hai shivaji aur parvati ji baithe the dono bete kartik aur ganesh ji ki puri duniya ka bhraman karke aaiye toh kaafi cheezen koi duniya ke bhawan par nikal gaye the bus ganesh ji jo aapne aap matlab baba ke deepak sharma lagakar paanch baar khoon ke match mein sabse jawaan hone de kyonki hamari toh pehchaan hoti ho maa baap ki dada hoti hai aur hamein jo janam deti hai hamein ek sthiti deti hai hamein kis tithi deti hai

मनुष्य के लिए इस संसार में सबसे बड़ा जो है मां बाप होना चाहिए क्योंकि आपने आ भगवान की जगह

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक मनुष्य के लिए संसार में मां बाप ज्यादा बड़े हैं ना कि भगवान क्योंकि मां बाप ने जीवन दिया है और कहीं ना कि अगर आपको भी जीवन दे रहा है तो वह आपके लिए भवन है जीवन मुझे लगता है भगवान जी की बात की उसने आपको जीवन में हर सुख सुविधा आपको उसने दी आपको एक अच्छी लाइफ जी यह सारी चीजें उसने आपको दी तो मुझे लगता है मां-बाप जो है भगवान का ही रूप और भगवान मां बाप ने किसी भी प्रकार का कोई अंतर नहीं है

ek manushya ke liye sansar mein maa baap zyada bade hain na ki bhagwan kyonki maa baap ne jeevan diya hai aur kahin na ki agar aapko bhi jeevan de raha hai toh vaah aapke liye bhawan hai jeevan mujhe lagta hai bhagwan ji ki baat ki usne aapko jeevan mein har sukh suvidha aapko usne di aapko ek achi life ji yah saree cheezen usne aapko di toh mujhe lagta hai maa baap jo hai bhagwan ka hi roop aur bhagwan maa baap ne kisi bhi prakar ka koi antar nahi hai

एक मनुष्य के लिए संसार में मां बाप ज्यादा बड़े हैं ना कि भगवान क्योंकि मां बाप ने जीवन दिय

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे लगता है कि भगवान का ही दूसरा रूप हमारे मां बाप होते हैं यानी कि भगवान को तो हमने देखा नहीं है वास्तव में लेकिन मां-बाप हमारे सामने हमारे प्रत्यक्ष रहते हैं इसीलिए मेरे मुताबिक तो हमारे मां बाप ही हमारे भगवान हैं तो हमें पूजा भगवान की अवश्य करनी चाहिए लेकिन मां बाप से बढ़कर मुझे नहीं लगता कि कोई भगवान धरती पर है जिसे हम कभी भी देख सकते हैं इसलिए मां-बाप का दिल कभी नहीं दुखाना चाहिए उनका हमेशा आदर सम्मान करना चाहिए

mujhe lagta hai ki bhagwan ka hi doosra roop hamare maa baap hote hain yani ki bhagwan ko toh humne dekha nahi hai vaastav mein lekin maa baap hamare saamne hamare pratyaksh rehte hain isliye mere mutabik toh hamare maa baap hi hamare bhagwan hain toh hamein puja bhagwan ki avashya karni chahiye lekin maa baap se badhkar mujhe nahi lagta ki koi bhagwan dharti par hai jise hum kabhi bhi dekh sakte hain isliye maa baap ka dil kabhi nahi dukhana chahiye unka hamesha aadar sammaan karna chahiye

मुझे लगता है कि भगवान का ही दूसरा रूप हमारे मां बाप होते हैं यानी कि भगवान को तो हमने देखा

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!