संघर्ष चिंतन किसे कहते हैं?...


user

POOJA ( Psychologist )

Education Counselor

3:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उनका चिंतन किसे कहते हैं और चिंतन कहा जाए बहुत तरह के संघर्ष होते हैं ना जिसमें सबसे पहला इंसान अपने आप से कभी कभी संघर्ष करने लगता है अपने अंदर के विचारों से मनोज को कुछ नहीं मिल पाया तो उसको पाने के लिए अपने अंदर से ही लगता है एक संघर्ष चिंतन होता है उस पर चिंता करता है उसकी p11 कहा जाए योजना बनाता है कि किस तरह से चंद्र चिंतन को जीता जाए पाया जाए एक सुंदर चिंतन और दूसरा बाहर के लोगों से समाज के लोग होते हैं आप सपोर्ट किसी चीज को पाना चाहते हैं ना और उसके आगे यह समाज के लोग आ रहे हैं ना तो आप समाज के लोगों से संघर्ष करते हैं वह भी संघर्ष में है कभी-कभी इंसान तो यहां तक देखा गया है कि वह भगवान से ही संघर्ष पर उतारू हो जाता है भगवान का भी संदेश दिखाओ तो बहुत तरह के संघर्ष होते हैं और 1000 पारिवारिक लाइफ में भी संघर्ष चिंतन चलता रहता है प्रोफेशनल लाइफ में भी संघर्ष चिंतन को आप ऐसा नहीं कर सकते के संघर्षों में चिंतन के बिना तो किसी इंसान का जीवन है इस तरह से अपनी आईडी बना लेता है उस परिस्थिति में अपने आप को संभाल कर आगे बढ़ता है ना उसको उसको चाहिए उसके काबिल बनता है ना बहुत तरह के सुंदर सिंपल होते हैं ऐसा नहीं है कि हां एक दो तरह से स्वस्थ इंसान होते हैं इंसान हूं से जुड़कर अपने मन की मनोज की बगल में एक बार होता है किसानों की इंसान अपने मन की मन स्थिति बदल गया अपने मन को समझा लेता है वह लड़ता है समाज से लड़ता है पाने के लिए खाना उस चीज को हासिल कर लेता है कई बार तो कान्हा बनकर सिंह का नहीं होता है गाना तो अपनी बुराइयों को खत्म करने वाली है की कंगन से जनता में अपनी अच्छाइयों को काबू रखना मेरी चंद्र चिंतन में आता है लिए संघर्ष करता है बाहर की बुराइयों को अपने अंदर ना जाने देना यह भी संगठन तन नहीं आता तो कलर बहुत-बहुत चिंतन अपने आपको हर तरह से परिस्थितियों से लड़के अपने आपको जीवन को कहा था एक अच्छा जीवन जीता इन परिस्थितियों से लड़के हैं ना वह उसके लिए उसको कहा था लाइफ का एक्सपीरियंस बोलता है ना

unka chintan kise kehte hain aur chintan kaha jaaye bahut tarah ke sangharsh hote hain na jisme sabse pehla insaan apne aap se kabhi kabhi sangharsh karne lagta hai apne andar ke vicharon se manoj ko kuch nahi mil paya toh usko paane ke liye apne andar se hi lagta hai ek sangharsh chintan hota hai us par chinta karta hai uski p11 kaha jaaye yojana banata hai ki kis tarah se chandra chintan ko jita jaaye paya jaaye ek sundar chintan aur doosra bahar ke logo se samaj ke log hote hain aap support kisi cheez ko paana chahte hain na aur uske aage yah samaj ke log aa rahe hain na toh aap samaj ke logo se sangharsh karte hain vaah bhi sangharsh me hai kabhi kabhi insaan toh yahan tak dekha gaya hai ki vaah bhagwan se hi sangharsh par utaru ho jata hai bhagwan ka bhi sandesh dikhaao toh bahut tarah ke sangharsh hote hain aur 1000 parivarik life me bhi sangharsh chintan chalta rehta hai professional life me bhi sangharsh chintan ko aap aisa nahi kar sakte ke sangharshon me chintan ke bina toh kisi insaan ka jeevan hai is tarah se apni id bana leta hai us paristhiti me apne aap ko sambhaal kar aage badhta hai na usko usko chahiye uske kaabil banta hai na bahut tarah ke sundar simple hote hain aisa nahi hai ki haan ek do tarah se swasth insaan hote hain insaan hoon se judakar apne man ki manoj ki bagal me ek baar hota hai kisano ki insaan apne man ki man sthiti badal gaya apne man ko samjha leta hai vaah ladata hai samaj se ladata hai paane ke liye khana us cheez ko hasil kar leta hai kai baar toh kanha bankar Singh ka nahi hota hai gaana toh apni buraiyon ko khatam karne wali hai ki kangan se janta me apni acchhaiyon ko kabu rakhna meri chandra chintan me aata hai liye sangharsh karta hai bahar ki buraiyon ko apne andar na jaane dena yah bhi sangathan tan nahi aata toh color bahut bahut chintan apne aapko har tarah se paristhitiyon se ladke apne aapko jeevan ko kaha tha ek accha jeevan jita in paristhitiyon se ladke hain na vaah uske liye usko kaha tha life ka experience bolta hai na

उनका चिंतन किसे कहते हैं और चिंतन कहा जाए बहुत तरह के संघर्ष होते हैं ना जिसमें सबसे पहला

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  871
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!