राजनीति में भाग लेना चाहता हूँ क्या करूँ?...


play
user

मधुपाल सिंह नागपुरे

लाइब्रेरियन( ग्रंथपाल) मार्गदर्शक । मित्र सलाहकार। सुलभ ज्ञान। सत्य दर्शक ।

2:10

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं राजनीति में भाग लेना चाहता हूं मैं क्या करूं यह आपका प्रश्न है तो सबसे पहले तो आपको यह देखना होगा कि क्या केंद्र राजनीतिक गुण मौजूद हैं यह आपको खुद ही परखना होगा एक अच्छा राजनेता कैसे बना जा सकता है उसके लिए कुछ मार्ग हम जा सकते हैं जैसे आपको अपने अंदर लीडरशिप की क्वालिटी को पैदा करना होगा लीडरशिप से अर्थ है समाज कार्य में अपने आप को लगाना है समाज के लोगों के काम आना है अगर वह 24:00 भी आपको किसी काम से बुलाते हैं तो उनके लिए बिल्कुल जागकर दौड़ पढ़ना है और इसमें समय कितना खर्च होगा और किस तरीके से आप मतलब हमेशा आपको उलझा हुआ रहना पड़ेगा एक राज जो होता है सेवा की भाव से समाज में आता है तो समाज उसे अवश्य ही सर आंखों पर भी चाहता है आपने अनेक उदाहरण ऐसे देखे होंगे जो धीरे-धीरे करके शुरुआत करते हैं और बाद में अपनी बड़ी पहचान बना लेते हैं तो आपको सुनने से शुरुआत करनी है और आगे जाकर एक बड़ी पहचान बनानी है तो आज ही शुरुआत करें और आगे तक जाए कहने का अर्थ यह है कि लोगों से जुड़े उनसे प्रेम से बात करें उनके जो समस्याएं हैं उनको सुने अगर वह अपनी समस्याओं को सुलझाने के लिए आपकी सहायता चाहते हैं तो उनके साथ जाए उनके समस्याओं को सुलझा कर दें उनको उनके विवादों को निपटा कर दें और समाज के हर वर्ग के साथ आपका व्यवहार दिवस सम्मान पूर्वक होना चाहिए प्यार से शांत रहकर पहले अपने अधिक से अधिक सुनना है कम से कम करें मगर उनके लिए उपयोगी हो कुछ ऐसा करें तब जाकर आप राजनीति में सफल हो सकते हैं धन्यवाद

nahi raajneeti mein bhag lena chahta hoon main kya karu yah aapka prashna hai toh sabse pehle toh aapko yah dekhna hoga ki kya kendra raajnitik gun maujud hain yah aapko khud hi parakhana hoga ek accha raajneta kaise bana ja sakta hai uske liye kuch marg hum ja sakte hain jaise aapko apne andar leadership ki quality ko paida karna hoga leadership se arth hai samaj karya mein apne aap ko lagana hai samaj ke logo ke kaam aana hai agar vaah 24 00 bhi aapko kisi kaam se bulate hain toh unke liye bilkul jagkar daudh padhna hai aur isme samay kitna kharch hoga aur kis tarike se aap matlab hamesha aapko uljha hua rehna padega ek raj jo hota hai seva ki bhav se samaj mein aata hai toh samaj use avashya hi sir aankho par bhi chahta hai aapne anek udaharan aise dekhe honge jo dhire dhire karke shuruat karte hain aur baad mein apni badi pehchaan bana lete hain toh aapko sunne se shuruat karni hai aur aage jaakar ek badi pehchaan banani hai toh aaj hi shuruat kare aur aage tak jaaye kehne ka arth yah hai ki logo se jude unse prem se baat kare unke jo samasyaen hain unko sune agar vaah apni samasyaon ko suljhane ke liye aapki sahayta chahte hain toh unke saath jaaye unke samasyaon ko suljha kar de unko unke vivadon ko nipta kar de aur samaj ke har varg ke saath aapka vyavhar divas sammaan purvak hona chahiye pyar se shaant rahkar pehle apne adhik se adhik sunana hai kam se kam kare magar unke liye upyogi ho kuch aisa kare tab jaakar aap raajneeti mein safal ho sakte hain dhanyavad

नहीं राजनीति में भाग लेना चाहता हूं मैं क्या करूं यह आपका प्रश्न है तो सबसे पहले तो आपको य

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  183
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!