सोशल मीडिया पर बिहार के टीचरों का मजाक बनाया जाता है, क्यों?...


user

RAJENDRA YADAV

Career Coach

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मित्रों आपका प्रश्न है सोशल मीडिया पर बिहार के टीचरों का मजाक बनाया जाता है क्यों देखिए जो भी अध्यापकों होता है जिसने जो पेशा अपनाया है जो विषय उसने लिया है कोई भी अध्यापक अपना मजाक किसी के सामने नहीं बनाना चाहता हां एक बात है अगर हमारे सामने बाहर से कोई व्यक्ति आ रहा है कोई जांच करने के लिए कोई व्यक्ति आ रहा है और उस समय हम उनके प्रश्नों का जवाब नहीं दे पाते हैं तो हमारा मजाक उड़ना स्वभाविक है सवाल किसलिए है कि जब हम सामने वाले जो अपने से प्रसन्न कर रहे हैं जो हमें जांच करने के लिए हैं उनके प्रश्नों का हम जवाब नहीं दे पा रहे हैं तो वह सीधा हनुमान यह लगा लेते हैं कि यह बच्चों को क्या पढ़ाते होंगे इस प्रकार से जो भी अध्यापक होते हैं उसे सबसे पहले तो यह बात ध्यान रखनी चाहिए कि उसे अपने सब्जेक्ट के ऊपर कमांड होनी चाहिए सामने वाला कोई भी प्रश्न करें उसका सहानुभूति पूर्ण सही सही तरीके से उसका जवाब दे तब आप का मजाक बिल्कुल नहीं बनेगा और अगर आपको अपने पर कमांड बिल्कुल नहीं है तो आपका मजाक है वह जरूर बनेगा इसलिए इन बातों को ध्यान रखिए सब्जेक्ट पर अपनी पकड़ रखे आपको जवाब कैसा लगा इसके बारे में मुझे कृपया करके कमेंट करके जरूर बताएं ताकि मैं आगे आने वाले आपके प्रश्नों का उत्तर और भी विस्तार से और तरीके से दे सकूं धन्यवाद

namaskar mitron aapka prashna hai social media par bihar ke ticharon ka mazak banaya jata hai kyon dekhiye jo bhi adhyapakon hota hai jisne jo pesha apnaya hai jo vishay usne liya hai koi bhi adhyapak apna mazak kisi ke saamne nahi banana chahta haan ek baat hai agar hamare saamne bahar se koi vyakti aa raha hai koi jaanch karne ke liye koi vyakti aa raha hai aur us samay hum unke prashnon ka jawab nahi de paate hain toh hamara mazak udana swabhavik hai sawaal kisliye hai ki jab hum saamne waale jo apne se prasann kar rahe hain jo hamein jaanch karne ke liye hain unke prashnon ka hum jawab nahi de paa rahe hain toh vaah seedha hanuman yah laga lete hain ki yah baccho ko kya padhate honge is prakar se jo bhi adhyapak hote hain use sabse pehle toh yah baat dhyan rakhni chahiye ki use apne subject ke upar command honi chahiye saamne vala koi bhi prashna kare uska sahanubhuti purn sahi sahi tarike se uska jawab de tab aap ka mazak bilkul nahi banega aur agar aapko apne par command bilkul nahi hai toh aapka mazak hai vaah zaroor banega isliye in baaton ko dhyan rakhiye subject par apni pakad rakhe aapko jawab kaisa laga iske bare me mujhe kripya karke comment karke zaroor bataye taki main aage aane waale aapke prashnon ka uttar aur bhi vistaar se aur tarike se de sakun dhanyavad

नमस्कार मित्रों आपका प्रश्न है सोशल मीडिया पर बिहार के टीचरों का मजाक बनाया जाता है क्यों

Romanized Version
Likes  49  Dislikes    views  694
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!