खाने के लिए जीना चाहिए या जीने के लिए खाना चाहिए?...


user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी जीवन वह नहीं होता है जिसमें आप ऐसे जी रहे हैं खाना खाने के लिए भी नहीं ऐसा नहीं है क्योंकि आप जी रहे हैं आप जीवित हैं और उसमें आपको खाना खाने की जरूरत पड़ती है तो आप खाना खाए यह सही है अब इसकी भी बहुत सारे नियम बताएं बनाए गए हैं जो कि हमारे इंसानी जीवन के लिए बड़ा आने अनिवार्य होता है आजकल हमें फॉलो नहीं करते वह वाला कहानियां लेकिन अगर सही मायने में देखा जाए तो इस फिजिकल फॉर्म को हमारे बॉडी को रिटेन करने के लिए कुछ अनुपात में खाने की जरूरत होती है हमें वह पता होना चाहिए जैसे कि मोनिका हमारा भी कुछ और अल्लाह ज थोड़ा हैवी हो सकता है देना बहुत हल्का होना चाहिए बहुत सारी चीजें होती है कि हमारा है जो शरीर है वो पांच तत्वों से बना हुआ है हम सबको पता है इस शरीर को ऐसा नहीं है कि आप जैसा मर्जी वैसा ट्वीट करें इस शरीर को कई चीजों की जरूरत पड़ती है उनमें से एक चीज है आपका खाना और पानी का अनुपात इश्क रेश्यो कौन सा खाना आप ले रहे कब ले रहे हैं कितने हिसाब से ले रहे हैं वेजिटेरियन है नॉन वेजिटेरियन और ज्ञानी के क्या है यह सब के पेन चाहता है कि आप का फिजिकल कैसा होगा अगर आप अपनी फिजिकल बॉडी देखते हैं तो वह और कुछ नहीं है वह क्या है वह आपने कुछ खाना खाया वह खाने को आपके अंदर जो क्रिएशन है जो आपके अंदर जो एनर्जी हैं वह उसको कन्वर्ट करती है और आपको अपना रूप देती है स्वरूप देती है तो सोचिए जो प्रोसे से जो आपके अंदर हो रहे हैं वह अपने आप में कितना पैसा वापस को जो देंगे वह आपको वैसा रिजल्ट देगी तो क्या देखा जाए तो इंसान का शरीर क्या है वह क्यों मिले शन ऑफ फूड है अगर 1 तरीके से देखा जाए तो जो उसने अभी तक का खाना खाया तो बन जाता है कि आप क्या खाते हैं कब खाते हैं कैसे खाते हैं और कैसे अपने आप को रखते हैं यह बड़ा जरूरी हो जाता है फिजिक्स भी बहुत इंपॉर्टेंट है

ji jeevan vaah nahi hota hai jisme aap aise ji rahe hain khana khane ke liye bhi nahi aisa nahi hai kyonki aap ji rahe hain aap jeevit hain aur usme aapko khana khane ki zarurat padti hai toh aap khana khaye yah sahi hai ab iski bhi bahut saare niyam bataye banaye gaye hain jo ki hamare insani jeevan ke liye bada aane anivarya hota hai aajkal hamein follow nahi karte vaah vala kahaniya lekin agar sahi maayne mein dekha jaaye toh is physical form ko hamare body ko written karne ke liye kuch anupat mein khane ki zarurat hoti hai hamein vaah pata hona chahiye jaise ki monika hamara bhi kuch aur allah j thoda heavy ho sakta hai dena bahut halka hona chahiye bahut saree cheezen hoti hai ki hamara hai jo sharir hai vo paanch tatvon se bana hua hai hum sabko pata hai is sharir ko aisa nahi hai ki aap jaisa marji waisa tweet kare is sharir ko kai chijon ki zarurat padti hai unmen se ek cheez hai aapka khana aur paani ka anupat ishq ratio kaun sa khana aap le rahe kab le rahe hain kitne hisab se le rahe hain vegetarian hai non vegetarian aur gyani ke kya hai yah sab ke pen chahta hai ki aap ka physical kaisa hoga agar aap apni physical body dekhte hain toh vaah aur kuch nahi hai vaah kya hai vaah aapne kuch khana khaya vaah khane ko aapke andar jo creation hai jo aapke andar jo energy hain vaah usko convert karti hai aur aapko apna roop deti hai swaroop deti hai toh sochiye jo prose se jo aapke andar ho rahe hain vaah apne aap mein kitna paisa wapas ko jo denge vaah aapko waisa result degi toh kya dekha jaaye toh insaan ka sharir kya hai vaah kyon mile shona of food hai agar 1 tarike se dekha jaaye toh jo usne abhi tak ka khana khaya toh ban jata hai ki aap kya khate hain kab khate hain kaise khate hain aur kaise apne aap ko rakhte hain yah bada zaroori ho jata hai physics bhi bahut important hai

जी जीवन वह नहीं होता है जिसमें आप ऐसे जी रहे हैं खाना खाने के लिए भी नहीं ऐसा नहीं है क्यो

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  419
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
khane ke liye ; आप क्या खाती हो ; आप खाना कब खाती हो ; आप खाना कब खाते हो ; आप खाना खा लिए ; आप खाना खा लिए हो ; क्या आप खाना खा लिए ; क्या खाना खा लिए ; खाना कब खाती हो ; खाना खा लिए ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!