व्हाट इस लॉ ऑफ़ अट्रैक्शन?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका दो प्रश्न है कुछ प्रश्न के आधार पर आरक्षण का चोला है वह कोई लोनी अट्रैक्शन जो है वह इंसान की एक मानसिकता गुणों की तरफ प्रभावित होकर या किसी को टूटने की तरफ या किसी आचरण की तरफ खुशियों की चमक इंसान के व्यक्तित्व इंसान की सोच इंसान का एटीट्यूड देवरिया कल्चर इन सब चीजों से प्रभावित होकर जब भी कोई व्यक्ति उसे अपनाने की कोशिश करता है या अपनाता है या अपनाने का प्रयास करता है और उसका प्रचार करता है तो उसे हम अट्रैक्शन ऑफ किला या लॉ ऑफ अट्रैक्शन के रूप में कह सकते हैं लेकिन हमारे कानून में भी अट्रैक्शन को कांटेक्ट के अंतर्गत माना गया है कॉन्ट्रैक्ट एक्ट के अंतर्गत अट्रैक्शन का इंपोर्टेंट है क्योंकि वहां दो पार्टी हैं अब दोनों पार्टियों में से किसी एक पार्टी के की चिट्ठी पर प्रभावित होकर हमारा एग्रीमेंट कम कांट्रैक्ट सिचुएशन क्रिएट होती है

aapka do prashna hai kuch prashna ke aadhar par aarakshan ka chola hai vaah koi loni attraction jo hai vaah insaan ki ek mansikta gunon ki taraf prabhavit hokar ya kisi ko tutne ki taraf ya kisi aacharan ki taraf khushiyon ki chamak insaan ke vyaktitva insaan ki soch insaan ka attitude devariya culture in sab chijon se prabhavit hokar jab bhi koi vyakti use apnane ki koshish karta hai ya apnaata hai ya apnane ka prayas karta hai aur uska prachar karta hai toh use hum attraction of kila ya law of attraction ke roop mein keh sakte hain lekin hamare kanoon mein bhi attraction ko Contact ke antargat mana gaya hai contracts act ke antargat attraction ka important hai kyonki wahan do party hain ab dono partiyon mein se kisi ek party ke ki chitthi par prabhavit hokar hamara Agreement kam kantraikt situation create hoti hai

आपका दो प्रश्न है कुछ प्रश्न के आधार पर आरक्षण का चोला है वह कोई लोनी अट्रैक्शन जो है वह इ

Romanized Version
Likes  336  Dislikes    views  6723
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीके द लॉ ऑफ अट्रैक्शन एग्जाम किसी काम को बदलकर लग गया ज्यादा समय तक उसका चित्र करते हैं तो वह काम को करने की ज्यादा प्रभावित होते हैं उनके नाम को

BK the law of attraction exam kisi kaam ko badalkar lag gaya zyada samay tak uska chitra karte hain toh vaah kaam ko karne ki zyada prabhavit hote hain unke naam ko

बीके द लॉ ऑफ अट्रैक्शन एग्जाम किसी काम को बदलकर लग गया ज्यादा समय तक उसका चित्र करते हैं त

Romanized Version
Likes  175  Dislikes    views  1954
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपने पूछा बड़ा अच्छा सवाल पूछा है लॉ ऑफ अट्रैक्शन का लॉ ऑफ अट्रैक्शन क्या होता है इनकी से बोला जाता है आकर्षण का नियम आकर्षण का नियम आकर्षण का नियम जो कहां से आता है कि प्रकृति से आता है प्रकृति में कौन है प्रकृति में हमारी पृथ्वी है पृथ्वी पर जो भी है पेड़ पौधे हैं ठीक है पहाड़ है सारी चीजें आ गई पृथ्वी में हम हम लोग आ गए हैं उसमें प्राणी आ गए सब आ गए वह हमारा जो ब्रह्मांड है वह है पृथ्वी से भी अलग टिकट तो यह सारी चीजें आती है तो इसे प्रकृति का भी मतलब कि आप जिस चीज के बारे में आप सोचते हैं ठीक है आपके मन में कोई बर्निंग डिजायर है आप एक ही चीज के बारे में आप सोचते हैं जिससे आपको किसी चीज के बारे में सोचते हैं आप बहुत ज्यादा सोचते हैं ज्यादा सोचते हैं या फिर किसी चीज को आप चाहते हैं उसके लिए आप बहुत मेहनत करते हैं तो वह कमेटी के लिए क्या होगी कि प्रकृति में ऐसी पावर है कि वह आपको उस चीज से आप उस चीज की ओर खिंचे चले जाएंगे तो वह चीज भी आपकी और खींची चली जाएगी ठीक है यह यह बात जो है यह स्पेशल में

dekhiye aapne poocha bada accha sawaal poocha hai law of attraction ka law of attraction kya hota hai inki se bola jata hai aakarshan ka niyam aakarshan ka niyam aakarshan ka niyam jo kaha se aata hai ki prakriti se aata hai prakriti me kaun hai prakriti me hamari prithvi hai prithvi par jo bhi hai ped paudhe hain theek hai pahad hai saari cheezen aa gayi prithvi me hum hum log aa gaye hain usme prani aa gaye sab aa gaye vaah hamara jo brahmaand hai vaah hai prithvi se bhi alag ticket toh yah saari cheezen aati hai toh ise prakriti ka bhi matlab ki aap jis cheez ke bare me aap sochte hain theek hai aapke man me koi burning desire hai aap ek hi cheez ke bare me aap sochte hain jisse aapko kisi cheez ke bare me sochte hain aap bahut zyada sochte hain zyada sochte hain ya phir kisi cheez ko aap chahte hain uske liye aap bahut mehnat karte hain toh vaah committee ke liye kya hogi ki prakriti me aisi power hai ki vaah aapko us cheez se aap us cheez ki aur khinche chale jaenge toh vaah cheez bhi aapki aur khinchi chali jayegi theek hai yah yah baat jo hai yah special me

देखिए आपने पूछा बड़ा अच्छा सवाल पूछा है लॉ ऑफ अट्रैक्शन का लॉ ऑफ अट्रैक्शन क्या होता है इन

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लॉ ऑफ अट्रैक्शन जिसके बारे में यूट्यूब में भी काफी चर्चा है इसके पर एक फिल्म भी बनी है जो काफी हिट रही है और जो मोटा मोटी बताता हूं कि जो यह कहती है कि अगर आप किसी भी चीज को सोचो तो आपकी हो जाती हो जीजा को ट्रैक करने लग जाती है पटना से पूर्ण रूप से सहमत नहीं हूं लॉ ऑफ अट्रैक्शन के साथ-साथ आपके पास लोकेशन भी होना चाहिए मतलब अगर आप उसको सोच रहे हो तो उसको पाने का इतने भी करना चाहिए ना सोचना लॉ ऑफ अट्रैक्शन है और पाना उसके लिए कार्य करना लव अफेक्शन है तो लॉ ऑफ अट्रैक्शन प्लस लव अफेक्शन दोनों होंगे तो आपको जो चीज जरूर मिलेगी धन्यवाद बाकी आप मुझे फेसबुक पर गूगल पर सर्च कर सकते हैं मेरे से क्वेश्चन पूछ सकते हैं धन्यवाद

law of attraction jiske bare me youtube me bhi kaafi charcha hai iske par ek film bhi bani hai jo kaafi hit rahi hai aur jo mota moti batata hoon ki jo yah kehti hai ki agar aap kisi bhi cheez ko socho toh aapki ho jaati ho jija ko track karne lag jaati hai patna se purn roop se sahmat nahi hoon law of attraction ke saath saath aapke paas location bhi hona chahiye matlab agar aap usko soch rahe ho toh usko paane ka itne bhi karna chahiye na sochna law of attraction hai aur paana uske liye karya karna love affection hai toh law of attraction plus love affection dono honge toh aapko jo cheez zaroor milegi dhanyavad baki aap mujhe facebook par google par search kar sakte hain mere se question puch sakte hain dhanyavad

लॉ ऑफ अट्रैक्शन जिसके बारे में यूट्यूब में भी काफी चर्चा है इसके पर एक फिल्म भी बनी है जो

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
play
user

Rajesh Kumar Pandey

Career Counsellor

0:35

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रुको चैनल आफ अट्रैक्शन क्या है डिटेक्शन क्या नियम नहीं होता है जो चीजें में अच्छी लगती हैं हम उसके तरफा टकराता है यह हमारी आंखों को सुंदर लगते हैं या हम अपने आप मुझे थैंक यू और हमेशा आकर्षित होते हैं हम मिले तो फिर मिलकर आप आकर्षित होंगे कि मिले तो मिले की तरफ आकर्षित होता है ऐसा बनाया गया है या हम नेचुरल ब्यूटी की तरह करते हैं

ruko channel of attraction kya hai detection kya niyam nahi hota hai jo cheezen mein achi lagti hain hum uske tarfa takarata hai yah hamari aankho ko sundar lagte hain ya hum apne aap mujhe thank you aur hamesha aakarshit hote hain hum mile toh phir milkar aap aakarshit honge ki mile toh mile ki taraf aakarshit hota hai aisa banaya gaya hai ya hum natural beauty ki tarah karte hain

रुको चैनल आफ अट्रैक्शन क्या है डिटेक्शन क्या नियम नहीं होता है जो चीजें में अच्छी लगती है

Romanized Version
Likes  173  Dislikes    views  1509
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज हम समझेंगे व्हाट इज लॉ ऑफ अट्रैक्शन क्या है अब लौट चले होना चाहिए अट्रैक्शन कब होगा जैसे अपने पास दो छड़ चुंबक हैं और उनके अंदर समान दोनों के बीच क्या होता है और संबंधों के बीच क्या होता है आरक्षण तो और अपने दूसरे तरीके से मॉलिक्यूल केंद्र देखे तो जैसे दो प्रकार के फल लगते संजय को राशन चप्पल तो समान समान जब समान मॉलिक्यूल मिलते हैं तो उनके बीच क्या होता है ससंजक बल और सम्मान के बीच आसंजक बल

aaj hum samjhenge what is law of attraction kya hai ab lot chale hona chahiye attraction kab hoga jaise apne paas do chad chumbak hain aur unke andar saman dono ke beech kya hota hai aur sambandhon ke beech kya hota hai aarakshan toh aur apne dusre tarike se Molecule kendra dekhe toh jaise do prakar ke fal lagte sanjay ko raashan chappal toh saman saman jab saman Molecule milte hain toh unke beech kya hota hai sasanjak bal aur sammaan ke beech asanjak bal

आज हम समझेंगे व्हाट इज लॉ ऑफ अट्रैक्शन क्या है अब लौट चले होना चाहिए अट्रैक्शन कब होगा जैस

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  65
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए हमारे भौतिक संसार में नागौर फिजिकल वर्ल्ड तीन तरह के लॉ ऑफ अट्रैक्शन यानी आकर्षण के तीन नियम परिभाषित किए गए बेसिक काली अफ्रीका प्रकृति के आधार पर हैं इससे पहला नियम है लाइक अट्रैक्ट नहीं यानि समान चीजें एक दूसरे को आकर्षित करती है दूसरा है नेचरमोर वैक्यूम यानी जो प्रकृति है वह शून्य से घृणा करती है वह हमारी प्रकृति को हरा भरा देखना चाहती है तो नेचरमोर सेक्यू और तीसरा है द प्रेजेंट परफेक्ट जिसका मतलब यह है कि वर्तमान ही संपूर्ण है अर्थात जो ईश्वर आपको दे रहा है उसी में आप संतोष करें वह जो कर रहा है वह आप के भले के लिए है हो सकता है वह भी आपको ना दिखाई पड़े समय बाद आपको ऐसा प्रतीत हो कि जो हुआ वो अच्छे के लिए ही था तो 3000 तक 3 लोगों अट्रैक्शन नेचर के फंडामेंटल आफ पेट्स के आधार पर है यह पहला है लाइक अट्रैक्ट्स लाइक दूसरा नेचर एयरपोर्ट्स वैक्यूम और तीसरा प्रेजेंट परफेक्ट

dekhiye hamare bhautik sansar me nagaur physical world teen tarah ke law of attraction yani aakarshan ke teen niyam paribhashit kiye gaye basic kali africa prakriti ke aadhar par hain isse pehla niyam hai like attract nahi yani saman cheezen ek dusre ko aakarshit karti hai doosra hai necharamor vacuum yani jo prakriti hai vaah shunya se ghrina karti hai vaah hamari prakriti ko hara bhara dekhna chahti hai toh necharamor sekyu aur teesra hai the present perfect jiska matlab yah hai ki vartaman hi sampurna hai arthat jo ishwar aapko de raha hai usi me aap santosh kare vaah jo kar raha hai vaah aap ke bhale ke liye hai ho sakta hai vaah bhi aapko na dikhai pade samay baad aapko aisa pratit ho ki jo hua vo acche ke liye hi tha toh 3000 tak 3 logo attraction nature ke fundamental of pets ke aadhar par hai yah pehla hai like atraikts like doosra nature airports vacuum aur teesra present perfect

देखिए हमारे भौतिक संसार में नागौर फिजिकल वर्ल्ड तीन तरह के लॉ ऑफ अट्रैक्शन यानी आकर्षण के

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user
1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते आपने पूछा है व्हाट इज लॉ आफ अट्रैक्शन का मतलब होता है कि आप जो बोल निर्धारित करते हैं उसके प्रति आपका कितना लगाव है कितना मन और बुद्धि से आप उसके बीच में प्रयास करते हैं कि वह सफल कर लेते हैं तो इसके लिए यह जरूरी होता है उसके बारे में और उसके बारे में हमेशा और दूसरी बात करें तो अपने विचार मुझे जरूर बताएं कि वह हम कर रहे हैं और हम भी रहेंगे इससे आपको प्रेरणा मिलेगी और गोला यह तोहफा लाइफ में लॉ ऑफ अट्रैक्शन और वैसे इसमें साउथ कॉर्नर स्कूल के बीच जो रेखाएं होती है वह अट्रैक्ट कर दो साउथ जैसे कोई साउथ और नॉर्थ इलेक्ट्रिसिटी में ऑस्ट्रेलिया टाइम टेबल आफ अट्रैक्शन हो गई है कि जो चीज आप सोचे हैं उसको करने के लिए क्योंकि दिमाग में और दिमाग को एक साथ करके बार-बार उसके बारे में कुछ और उसको प्राप्त करें धन्यवाद

namaste aapne poocha hai what is law of attraction ka matlab hota hai ki aap jo bol nirdharit karte hain uske prati aapka kitna lagav hai kitna man aur buddhi se aap uske beech me prayas karte hain ki vaah safal kar lete hain toh iske liye yah zaroori hota hai uske bare me aur uske bare me hamesha aur dusri baat kare toh apne vichar mujhe zaroor bataye ki vaah hum kar rahe hain aur hum bhi rahenge isse aapko prerna milegi aur gola yah tohfa life me law of attraction aur waise isme south corner school ke beech jo rekhayen hoti hai vaah attract kar do south jaise koi south aur north electricity me austrailia time table of attraction ho gayi hai ki jo cheez aap soche hain usko karne ke liye kyonki dimag me aur dimag ko ek saath karke baar baar uske bare me kuch aur usko prapt kare dhanyavad

नमस्ते आपने पूछा है व्हाट इज लॉ आफ अट्रैक्शन का मतलब होता है कि आप जो बोल निर्धारित करते ह

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  201
WhatsApp_icon
user

Rajesh Rana

Educator, Lawyer

6:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोपहर सिंह का नियम यह नियम कहता है कि जैसा सोचेंगे वैसे ही चीजें आपके पास आएंगे जैसा आप सोचेंगे वैसे ही चीजें आपके पास आएंगे जैसा आप सोचेंगे वैसा ही आप करेंगे इस सिंपल सी बात है कोई व्यक्ति अगर शराब पीता है वह यह कहता कि आज शराब पीनी है तो उसके आसपास जैसे घर से निकलेगा उसके आसपास ऐसी दुकानें दिखाई देने लग जाएंगे उसके पहले की दिखाई देकर दूसरी कॉपी जमा जाएगा बैठेगा तो फिर एक आदमी आकर बैठ जाएगा भाई अकेले बैठकर क्या पेमेंट दो पी लेने दो बैठे हैं मेवाती हो जाएंगे 3 चले जाएंगे और चौकड़ी बन जाएगी धीरे-धीरे आगे चीजें बस्ती से शुरुआत कहां से हुई सोचा मैंने सोचा कि आज भी नहीं है भाता जब एक दूसरे दिन से नहीं आप कभी कोई गाड़ी देखना चाहता किसी पर डिपेंड कि मैं भी एंड टाइसन ले रहा था 160 बजाज तुम्हें शोरूम नहीं गया देखा मैंने सतीश भाई को सब कुछ कोटेशन वगैरा ले ली जब मैं मार्केट से निकला बाहर शोरूम शेयर मार्केट में घूम आते तो मुझे तकरीबन 10 से 12 टीचर दिखाई थी मैंने कहा बहुत अच्छी गाड़ी ले रहा था मैंने सोचा तो चीज है वैसी होने लगी उसे पहले मैंने खुद लेने के कारण की थी वह करवा दी और उसके बाद डिलीट से पहले 15 दिन का टाइम था तो मार्केट में जाता था तो मुझे एक अर्जेंट लॉ ऑफ अट्रैक्शन है जैसा आप सोचते हैं वैसी दुनिया हो जाती लेकिन दूसरे सेट में नोट करें आप दूसरी सेल्स क्या है दुनिया को बैठे बिजनेस को लेकर दुनिया हमें अपने कैरियर को लेकर हम कैसे बनना चाहते हैं स्कूल ए ब्लॉक अध्यक्ष अगर आप किसी चीज से डरते हैं आपके अंदर डर है तो धीरे धीरे धीरे धीरे प्रस्तुति ऐसी बनती चली जाएगी आप ऐसे वैसे ही मिलने लगेंगे जो आप एक कमेटी बन जाए और उसमें अपने आप को शेर समझने लगेंगे यह लाफटर आप अपने आप को लेटर समझते हैं और समझते नहीं मैं वर्ल्ड लेबर कार्ड रीडर हूं स्टेट लेवल का लेता हूं नेशनल लीडर लीडर हूं जिस लेंगे वैसे ही आदमी आप अगर सोचते मैंने सुनी बदलना चाहता हूं तो गलती से भी आपके पास लोगों लीडर को जाएगा उसकी सोच आपसे मैकेनिक इंटरनेशनल बनना चाह रहे हैं तो आपके साथ ऐसे आदमी लिंक होते जाएंगे या फेसबुक पर किसी भी तरह कि आपका जो नदी लेवल आपके दुखों से पर जबकि नेशनल लीडर की स्टेट लीडर की लोकल लीडर की जो सोचो छोटी सी होती है उस देश में देश तक पहुंचाएगा 1000000 आप अपने बारे में क्या सोचते हैं कि मैं कैसे रहती हूं मैं अच्छा हूं या बुरा हूं अगर आप कहते हैं बुरा बैठते हैं तो यह जो विचार है यह धीरे-धीरे आप में पता चला जाएगा और अब बुरे होते जाएगा सर आपकी सोच लेना बुरा होगा धीरे धीरे धीरे धीरे विचार परिपथ होता जाएगा और ऐसी प्रस्तुति आती है गैस बहुत बनता चला जाएगा और आप बहुत जल्दी देख लेना फोटो दिखाई देंगे और आप सोचते हैं कि मैं अभी भी जवान हूं कि साल का नौजवान भाई साल का नौजवान कि आपकी बायोलॉजिकल h45 हो चुकी है 50 हो चुकी है लेकिन अगर आप यह कहते हैं कि नहीं मैं तो 25 ईयर के नौजवानों और रोज यह बात अपने आप को कह रही सबसे बस भी करो कुछ फेस है ऑफिस निवासी देखेगा कौन सी फाइबर के नौजवान कर चले जाते 3950 दुनिया में बहुत से आदमी को देखकर उम्र का चंबा हो जाता है कि अरे आपकी उम्र कितनी है दिखाई नहीं दे रही आप किसी जानवर को देख लो सिंपल एक्सपेरिमेंट कर लेना अपने घर में एक तस्वीर लगा दो जानवर कोई भी और उसके सामने बैठकर कहूं मैं ऐसा दिखता हूं क्या मैं ऐसा देखना चाहता हूं बिग रोज और इस पद को कहना सुशील शर्मा मेरा दिख रहा हूं 1 साल के बाद आप की शक्ल में परिवर्तन हो जाएगा वैसे देखने लगें इस इस मूलमंत्र लॉफर फैशन का है ये कि जैसा चाहोगे वैसा होगा जैसा करोगे वैसा भरोगे गीता में कहा है ना कर्मण्ए वाधिकारस्ते मां फलेषु कदाचन कर्म किए जा फल की इच्छा मत कर इतनी लाइन तुम याद रखना लेकिन उसके बाद तो शीला कर्म तो फिर क्या कर्मण्ए वाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन मां कर्म फल हेतु मात्र शंभू मतलब जैसा कर्म करेगा वैसा मिलेगा पहले तो हमने कह दिया कि कर्म किए जा फल की इच्छा मत कर लेकिन यह बताना भी जाते हैं कि जैसा कर्म करेगा वैसा ही फल मिलेगा जब तू करम कर रहा है और तुझे फल वैसा ही मिलना तो फिर चिंता किस बात की यह द फंक्शन में आता है

dopahar Singh ka niyam yah niyam kahata hai ki jaisa sochenge waise hi cheezen aapke paas aayenge jaisa aap sochenge waise hi cheezen aapke paas aayenge jaisa aap sochenge waisa hi aap karenge is simple si baat hai koi vyakti agar sharab pita hai vaah yah kahata ki aaj sharab peeni hai toh uske aaspass jaise ghar se niklega uske aaspass aisi dukanein dikhai dene lag jaenge uske pehle ki dikhai dekar dusri copy jama jaega baithega toh phir ek aadmi aakar baith jaega bhai akele baithkar kya payment do p lene do baithe hain mevati ho jaenge 3 chale jaenge aur chaukdi ban jayegi dhire dhire aage cheezen basti se shuruat kaha se hui socha maine socha ki aaj bhi nahi hai bhata jab ek dusre din se nahi aap kabhi koi gaadi dekhna chahta kisi par depend ki main bhi and taisan le raha tha 160 bajaj tumhe showroom nahi gaya dekha maine satish bhai ko sab kuch quotation vagera le li jab main market se nikala bahar showroom share market me ghum aate toh mujhe takareeban 10 se 12 teacher dikhai thi maine kaha bahut achi gaadi le raha tha maine socha toh cheez hai vaisi hone lagi use pehle maine khud lene ke karan ki thi vaah karva di aur uske baad delete se pehle 15 din ka time tha toh market me jata tha toh mujhe ek urgent law of attraction hai jaisa aap sochte hain vaisi duniya ho jaati lekin dusre set me note kare aap dusri sales kya hai duniya ko baithe business ko lekar duniya hamein apne carrier ko lekar hum kaise banna chahte hain school a block adhyaksh agar aap kisi cheez se darte hain aapke andar dar hai toh dhire dhire dhire dhire prastuti aisi banti chali jayegi aap aise waise hi milne lagenge jo aap ek committee ban jaaye aur usme apne aap ko sher samjhne lagenge yah lafatar aap apne aap ko letter samajhte hain aur samajhte nahi main world labour card reader hoon state level ka leta hoon national leader leader hoon jis lenge waise hi aadmi aap agar sochte maine suni badalna chahta hoon toh galti se bhi aapke paas logo leader ko jaega uski soch aapse mechanic international banna chah rahe hain toh aapke saath aise aadmi link hote jaenge ya facebook par kisi bhi tarah ki aapka jo nadi level aapke dukhon se par jabki national leader ki state leader ki local leader ki jo socho choti si hoti hai us desh me desh tak pahuchaayega 1000000 aap apne bare me kya sochte hain ki main kaise rehti hoon main accha hoon ya bura hoon agar aap kehte hain bura baithate hain toh yah jo vichar hai yah dhire dhire aap me pata chala jaega aur ab bure hote jaega sir aapki soch lena bura hoga dhire dhire dhire dhire vichar paripath hota jaega aur aisi prastuti aati hai gas bahut banta chala jaega aur aap bahut jaldi dekh lena photo dikhai denge aur aap sochte hain ki main abhi bhi jawaan hoon ki saal ka naujawan bhai saal ka naujawan ki aapki biological h45 ho chuki hai 50 ho chuki hai lekin agar aap yah kehte hain ki nahi main toh 25 year ke naujavanon aur roj yah baat apne aap ko keh rahi sabse bus bhi karo kuch face hai office niwasi dekhega kaun si fiber ke naujawan kar chale jaate 3950 duniya me bahut se aadmi ko dekhkar umar ka chamba ho jata hai ki are aapki umar kitni hai dikhai nahi de rahi aap kisi janwar ko dekh lo simple experiment kar lena apne ghar me ek tasveer laga do janwar koi bhi aur uske saamne baithkar kahun main aisa dikhta hoon kya main aisa dekhna chahta hoon big roj aur is pad ko kehna sushil sharma mera dikh raha hoon 1 saal ke baad aap ki shakl me parivartan ho jaega waise dekhne lage is is mulamantra lafar fashion ka hai ye ki jaisa chahoge waisa hoga jaisa karoge waisa bharoge geeta me kaha hai na karmanye vadhikaraste maa faleshu kadachan karm kiye ja fal ki iccha mat kar itni line tum yaad rakhna lekin uske baad toh shila karm toh phir kya karmanye vadhikaraste ma faleshu kadachan maa karm fal hetu matra sambhu matlab jaisa karm karega waisa milega pehle toh humne keh diya ki karm kiye ja fal ki iccha mat kar lekin yah batana bhi jaate hain ki jaisa karm karega waisa hi fal milega jab tu karam kar raha hai aur tujhe fal waisa hi milna toh phir chinta kis baat ki yah the function me aata hai

दोपहर सिंह का नियम यह नियम कहता है कि जैसा सोचेंगे वैसे ही चीजें आपके पास आएंगे जैसा आप सो

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1111
WhatsApp_icon
user
0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लॉ ऑफ अट्रैक्शन यह बताता है कि आप जिसके बारे में ज्यादा सोचते हैं क्या आपको जो चीज चाहिए तो आप उनको बारे में ज्यादा सोचने लग जाते हैं तो वह चीज आपको मिलने लग जाती है और या फिर वही चीज आपको बार-बार नजर आने लगती है आपको जो इच्छा है वह भी पूरी होने लग जाती है लेकिन मेरा तो यह मानना है लोशन पूरी तरह से गलत है पर कभी-कभी काम करता है ऑलवेज टाइम कभी नहीं करता यह सिर्फ टेंपरेरी है इस ट्रेन को पूरी तरह से गलत ठहराने के लिए एक स्पष्ट उदाहरण है आप यूट्यूब पर जाकर संदीप माहेश्वरी की वीडियो देखो संदीप माहेश्वरी आपको बिल्कुल सही तरह से समझा देंगे कोई नियम नहीं है और कोई नहीं है यह सब गलत है

law of attraction yah batata hai ki aap jiske bare me zyada sochte hain kya aapko jo cheez chahiye toh aap unko bare me zyada sochne lag jaate hain toh vaah cheez aapko milne lag jaati hai aur ya phir wahi cheez aapko baar baar nazar aane lagti hai aapko jo iccha hai vaah bhi puri hone lag jaati hai lekin mera toh yah manana hai lotion puri tarah se galat hai par kabhi kabhi kaam karta hai always time kabhi nahi karta yah sirf tempareri hai is train ko puri tarah se galat thaharane ke liye ek spasht udaharan hai aap youtube par jaakar sandeep maheswari ki video dekho sandeep maheswari aapko bilkul sahi tarah se samjha denge koi niyam nahi hai aur koi nahi hai yah sab galat hai

लॉ ऑफ अट्रैक्शन यह बताता है कि आप जिसके बारे में ज्यादा सोचते हैं क्या आपको जो चीज चाहिए त

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!