समुंद्र में जाते वक्त गोताखोर लोग हिलियम गैस क्यों ले जाते हैं?...


play
user

Rajesh Kumar Pandey

Career Counsellor

0:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदी फिल्म तो वैसे वह किसी के साथ ऑफिस में ही बनाती है और समुद्र में ज्यादा समय समुद्र के अंदर चुप प्रेशर होता है वह बोलता रहता है इसलिए आखिर इनके साथ ही पैसे ज्यादा बढ़ जाती है जो वकील से करिए ना करें तो वह हीलियम गैस ली जाती है क्योंकि इनका समझ आता है तो व्हाट्सएप पे नहीं जाता है इसलिए उसमें स्क्रीन के साथ एक और गैस भर देती है जो हीलियम गैस कहलाती है

hindi film toh waise vaah kisi ke saath office mein hi banati hai aur samudra mein zyada samay samudra ke andar chup pressure hota hai vaah bolta rehta hai isliye aakhir inke saath hi paise zyada badh jaati hai jo vakil se kariye na kare toh vaah helium gas li jaati hai kyonki inka samajh aata hai toh whatsapp pe nahi jata hai isliye usme screen ke saath ek aur gas bhar deti hai jo helium gas kahalati hai

हिंदी फिल्म तो वैसे वह किसी के साथ ऑफिस में ही बनाती है और समुद्र में ज्यादा समय समुद्र के

Romanized Version
Likes  169  Dislikes    views  1254
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Beer Singh Rajput

Career Counsellor & Lecturer.

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गोताखोर समुद्र में जाने जाते वक्त अपने साथ ही लिया आखिर कमीशन ले जाते हैं इसका कारण यह है कि समुद्र में जब नीचे पहुंचते हैं तो आप यार तेरे खुदा होता है यदि बायो ले जाएंगे तो भाई मैं उपस्थित नाइट्रोजन स्वच्छता पर रक्त में घुलनशील है गोताखोर जब समझ से बाहर निकलता है तो बाहर की हवा बाहरी बाई मंडल का दाम है वह कम होता है जैसे ही बाहर आएगा तब तुम्हें गोली नाइट्रोजन कि ब्लिदा कम हो जाएगी तब रहता कम होती है निकलेगी तो बहुत भयंकर पीड़ा होती है पीड़ा समझने के लिए ही हम नेटवर्किंग का मिश्रण देती फिल्म जिला पर भी रिप्लाई नहीं है जब मिश्रण से लेना पड़ता है क्योंकि उस दिन मोदी की होती तो बहुत तीव्र होती है उनकी अनुमति की है उसे अकेले ऑफिस नहीं आ गए भाई इनका उपयोग करते हैं

gotakhor samudra mein jaane jaate waqt apne saath hi liya aakhir commision le jaate hai iska karan yah hai ki samudra mein jab niche pahunchate hai toh aap yaar tere khuda hota hai yadi bio le jaenge toh bhai main upasthit nitrogen swachhta par rakt mein ghulansheel hai gotakhor jab samajh se bahar nikalta hai toh bahar ki hawa bahri bai mandal ka daam hai vaah kam hota hai jaise hi bahar aayega tab tumhe goli nitrogen ki blida kam ho jayegi tab rehta kam hoti hai nikalegi toh bahut bhayankar peeda hoti hai peeda samjhne ke liye hi hum networking ka mishran deti film jila par bhi reply nahi hai jab mishran se lena padta hai kyonki us din modi ki hoti toh bahut tivra hoti hai unki anumati ki hai use akele office nahi aa gaye bhai inka upyog karte hain

गोताखोर समुद्र में जाने जाते वक्त अपने साथ ही लिया आखिर कमीशन ले जाते हैं इसका कारण यह है

Romanized Version
Likes  149  Dislikes    views  1281
WhatsApp_icon
user

S K Mishra

Career Advisor

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समुद्र में जाते वक्त लोग के लिए मर ऑक्सीजन का मिश्रण लेते हैं ताकि उनको आसानी से ऑक्सीजन बुस्सुम सके पर आसानी से पानी के अंदर जिंदा रह सके हीलियम गैस इसलिए भर्ती की जानकारी होती है पिया करे कि नहीं और हल्की गैस होती है किंतु सिलेंडर हल्का है अगर और किसी गैस का मिश्रण लगे तो क्रिया अगर और किसी गैस का मिश्रण लगे तो हो गया सब कुछ बना लेगी

samudra mein jaate waqt log ke liye mar oxygen ka mishran lete hain taki unko aasani se oxygen bussum sake par aasani se paani ke andar zinda reh sake helium gas isliye bharti ki jaankari hoti hai piya kare ki nahi aur halki gas hoti hai kintu cylinder halka hai agar aur kisi gas ka mishran lage toh kriya agar aur kisi gas ka mishran lage toh ho gaya sab kuch bana legi

समुद्र में जाते वक्त लोग के लिए मर ऑक्सीजन का मिश्रण लेते हैं ताकि उनको आसानी से ऑक्सीजन ब

Romanized Version
Likes  51  Dislikes    views  1215
WhatsApp_icon
user

NISHA SETIA

HOD (Chemistry)

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समुंदर में जाते वक्त गोताखोर लोग हीलियम गैस का प्रयोग इसलिए करते हैं क्योंकि हीलियम गैस केमिस्ट्री के पीरियोडिक सदस्य ग्रुप के तीन है एलिमेंट ग्रुप ईटिंग एलिमेंट्स को हम नोबल गैसेस लाइन आर्ट कैसे सिखाते हैं हम गैस को यूज करने के दो प्रमुख कारण जाए जिसमें से पहला कार्य में हीलियम जो है इन आर्ट होती है हमारे ब्लड में किसी की और एलिमेंट के साथ बात नहीं करती है दूसरा कारण जो है वह हीलियम का जब भी हम डीपी में जाते हैं गहरे समुद्र में जाते हैं तो जो ब्लड प्रेशर है इनक्रीस हो जाते हैं हाई प्रेशर पर जो हीलियम गैस है वह हमारे क्लर्क में वेस्टिज ऑल होती है जिसके जरिए गोताखोर वापस ऊपर एटमॉस्फेरिक प्रेशर प्रेशर पर आते हैं तो इन्हें किसी भी तरह खाती है पेन महसूस नहीं होता है

samundar me jaate waqt gotakhor log helium gas ka prayog isliye karte hain kyonki helium gas chemistry ke Periodic sadasya group ke teen hai element group eating elements ko hum noble gases line art kaise sikhaate hain hum gas ko use karne ke do pramukh karan jaaye jisme se pehla karya me helium jo hai in art hoti hai hamare blood me kisi ki aur element ke saath baat nahi karti hai doosra karan jo hai vaah helium ka jab bhi hum dipi me jaate hain gehre samudra me jaate hain toh jo blood pressure hai increase ho jaate hain high pressure par jo helium gas hai vaah hamare clerk me Vestige all hoti hai jiske jariye gotakhor wapas upar etamasferik pressure pressure par aate hain toh inhen kisi bhi tarah khati hai pen mehsus nahi hota hai

समुंदर में जाते वक्त गोताखोर लोग हीलियम गैस का प्रयोग इसलिए करते हैं क्योंकि हीलियम गैस के

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  170
WhatsApp_icon
user

Hemant K. Prajapati

Educator | M.Phil., M.Sc., M.A. B.Ed.

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समुद्र में जाते वक्त गोताखोर अपने साथ में आक्सीजन और हीलियम का मिश्रण ले जाते हैं इसका कारण यह है कि हम तो कहना बहुत ही हल्की होती है जो कि गोताखोर को ज्यादा ही नहीं देती है दूसरा यह है कि यह रक्त में बहुत ही कम घुलनशील होती है क्योंकि यह आखिरी गैस की श्रेणी में आती है या फिर यह कोई रासायनिक क्रिया नहीं करती है क्योंकि जो गोताखोर पानी के अंदर जाता है तो जैसे जैसे पानी की गहराई में जाता है तो बाय अलविदा बढ़ता जाता है वायुमंडल दाब बढ़ने के कारण गैस सिलेंडर में भरी है यार अब तो भूल जाती है और जब गोताखोर बाहर आता है यह भाई मुरली का कम होने के कारण से बाहर निकलती है जिससे फोटो बहुत अधिक पीड़ा महसूस होती है इसी पीड़ा से बचने के लिए नाइट्रोजन की जगह हिलियम गैस का उपयोग किया जाता है

samudra me jaate waqt gotakhor apne saath me oxygen aur helium ka mishran le jaate hain iska karan yah hai ki hum toh kehna bahut hi halki hoti hai jo ki gotakhor ko zyada hi nahi deti hai doosra yah hai ki yah rakt me bahut hi kam ghulansheel hoti hai kyonki yah aakhiri gas ki shreni me aati hai ya phir yah koi Rasayanik kriya nahi karti hai kyonki jo gotakhor paani ke andar jata hai toh jaise jaise paani ki gehrai me jata hai toh bye alvida badhta jata hai vayumandal dab badhne ke karan gas cylinder me bhari hai yaar ab toh bhool jaati hai aur jab gotakhor bahar aata hai yah bhai murli ka kam hone ke karan se bahar nikalti hai jisse photo bahut adhik peeda mehsus hoti hai isi peeda se bachne ke liye nitrogen ki jagah helium gas ka upyog kiya jata hai

समुद्र में जाते वक्त गोताखोर अपने साथ में आक्सीजन और हीलियम का मिश्रण ले जाते हैं इसका कार

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  312
WhatsApp_icon
user

Rajendra Kumar Jain

Retared servant

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि गोताखोर अपने साथ फुटवर्क सीजन ले जाएंगे तो अधिक बाप के कारण वह रक्त में घुलने लगे की औरत का वशीकरण हो जाएगा जिससे वृद्ध व्यक्ति की गोताखोर की मृत्यु निश्चित है इसलिए उसमें 80 परसेंट हीलियम और दीप पर्सेंट ऑक्सीजन का मिश्रण अपने साथ ले जाते हैं ताकि ताप का प्रभाव कम रहे

yadi gotakhor apne saath footwork season le jaenge toh adhik baap ke karan vaah rakt me ghulne lage ki aurat ka vashikaran ho jaega jisse vriddh vyakti ki gotakhor ki mrityu nishchit hai isliye usme 80 percent helium aur deep percent oxygen ka mishran apne saath le jaate hain taki taap ka prabhav kam rahe

यदि गोताखोर अपने साथ फुटवर्क सीजन ले जाएंगे तो अधिक बाप के कारण वह रक्त में घुलने लगे की औ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user

Raghbendra Pratap

Chemistry Teacher

1:41
Play

Likes  4  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
user

A.k

Teacher

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी आपने पूछा है किस समुद्र में जाते समय गोताखोर हीलियम को क्यों ले जाते हैं तो सिलेंडर होते हैं ऑक्सीजन वाले उसमें नियम को भर लेते हैं जिसे क्या होता है हिलियम शरीर कैसे या नहीं कैसे पता है मैं साइड इफेक्ट होता है वह सीजन के साथ खुलकर हमारे शरीर में चली जाती हो और बाहर निकल जाती है ठीक है इस वजह से गोताखोर को ले जाते हैं

dekhi aapne poocha hai kis samudra mein jaate samay gotakhor helium ko kyon le jaate hain toh cylinder hote hain oxygen waale usme niyam ko bhar lete hain jise kya hota hai helium sharir kaise ya nahi kaise pata hai side effect hota hai vaah season ke saath khulkar hamare sharir mein chali jaati ho aur bahar nikal jaati hai theek hai is wajah se gotakhor ko le jaate hain

देखी आपने पूछा है किस समुद्र में जाते समय गोताखोर हीलियम को क्यों ले जाते हैं तो सिलेंडर ह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं अजय कुमार चंद्र में गोताखोर लोग हिलियम गैस इसलिए ले जाते हैं क्योंकि ऑक्सीजन के साथ में हीलियम गैस को ले जाना एक तो बहुत हल्की गैस होती है दूसरा जब प्रेशर पड़ता है पानी का समुद्र में तो वह हमारे फोन में नहीं मिलती है जिस कारण वह सांस किसका साथ आसानी से निकल जाती है लेकिन जो नाइट्रोजन गैस है वह पहले गोताखोर ले जाते थे जिस कारण वे दबाव पड़ने पर हमारे खून में प्रवाहित हो जाती थी और एक गोताखोर व्यक्ति कुछ समय पश्चात मर जाता था इसलिए आधुनिक व्यक्तियों में वैज्ञानिक गोताखोरों के सिलेंडरों में हिलियम गैस को भरते हैं धन्यवाद

namaskar main ajay kumar chandra me gotakhor log helium gas isliye le jaate hain kyonki oxygen ke saath me helium gas ko le jana ek toh bahut halki gas hoti hai doosra jab pressure padta hai paani ka samudra me toh vaah hamare phone me nahi milti hai jis karan vaah saans kiska saath aasani se nikal jaati hai lekin jo nitrogen gas hai vaah pehle gotakhor le jaate the jis karan ve dabaav padane par hamare khoon me pravahit ho jaati thi aur ek gotakhor vyakti kuch samay pashchat mar jata tha isliye aadhunik vyaktiyon me vaigyanik gotakhoron ke silendaron me helium gas ko bharte hain dhanyavad

नमस्कार मैं अजय कुमार चंद्र में गोताखोर लोग हिलियम गैस इसलिए ले जाते हैं क्योंकि ऑक्सीजन क

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!