बच्चों को स्वभाव कैसा होना चाहिए?...


user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कान्हा जी की आपका पर्सनल बच्चों को स्वभाव कैसा होना चाहिए तो बच्चों का स्वभाव कैसा गया आपका जवाब होगा आपका वर्कर परिवार का बुद्धि ही नहीं वैसा ही उनका सो जाता है और पैसे भी दिए थे उनका नेचर हो जाता है इसलिए शुरू से बच्चों को ध्यान देना चाहिए बच्चों के दोस्तों पर ध्यान देना चाहिए क्या होती है उस टाइम जरूर जाना चाहिए बच्चों के दोस्त कहते हैं और जो है लड़ाई झगड़ा करवा के चिल्लाने लगती बच्चों का

kanha ji ki aapka personal baccho ko swabhav kaisa hona chahiye toh baccho ka swabhav kaisa gaya aapka jawab hoga aapka worker parivar ka buddhi hi nahi waisa hi unka so jata hai aur paise bhi diye the unka nature ho jata hai isliye shuru se baccho ko dhyan dena chahiye baccho ke doston par dhyan dena chahiye kya hoti hai us time zaroor jana chahiye baccho ke dost kehte hain aur jo hai ladai jhagda karva ke chillane lagti baccho ka

कान्हा जी की आपका पर्सनल बच्चों को स्वभाव कैसा होना चाहिए तो बच्चों का स्वभाव कैसा गया आपक

Romanized Version
Likes  411  Dislikes    views  3002
WhatsApp_icon
16 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पसंद है बच्चों का स्वभाव कैसा होना चाहिए देखिए बच्चे हमेशा बच्चे नहीं रहते परंतु जब तक वह बच्चे हैं उनका स्वभाव सरल और बिल्कुल निष्पाप होना चाहिए उन्हें बनावट नहीं होनी चाहिए इसीलिए जीसस ने यहां तक कहा है कि उनके राज्य में उनको प्रवेश मिलेगा जो बच्चे के समान होंगे वहां पर वायु की बात नहीं कर रहे वह बच्चों की तरह जो लोग सरल है सीधे हैं उनकी बात कर रहे हैं वैसे ही जीवन में बच्चों को सरल सीधा और कहीं ना कहीं निष्पाप होना चाहिए धन्यवाद

namaskar aapka pasand hai baccho ka swabhav kaisa hona chahiye dekhiye bacche hamesha bacche nahi rehte parantu jab tak vaah bacche hain unka swabhav saral aur bilkul nishpap hona chahiye unhe banawat nahi honi chahiye isliye jesus ne yahan tak kaha hai ki unke rajya me unko pravesh milega jo bacche ke saman honge wahan par vayu ki baat nahi kar rahe vaah baccho ki tarah jo log saral hai sidhe hain unki baat kar rahe hain waise hi jeevan me baccho ko saral seedha aur kahin na kahin nishpap hona chahiye dhanyavad

नमस्कार आपका पसंद है बच्चों का स्वभाव कैसा होना चाहिए देखिए बच्चे हमेशा बच्चे नहीं रहते पर

Romanized Version
Likes  108  Dislikes    views  3162
WhatsApp_icon
user

Harsh Goyal

Chemical Engineer

0:30
Play

Likes  68  Dislikes    views  990
WhatsApp_icon
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसने बच्चों को स्वभाव से कैसा होना चाहिए दरअसल बच्चों का सुझाव स्वभाव है व्यापक आर्थिक रूप से और पूर्व जन्म के संस्कार से उसके अंदर चेष्टा बढ़ती है अगर कोई अच्छे संस्कार का जो प्रतिभावान बच्चा होगा तो वह पैदाइशी उसके अंदर वह संस्कार विभाजित होने लग जाएंगे और वह उस पैटर्न पर चढ़ेगा और उसका जो बनावटी स्ट्रेक्चर होगा जो अंदर से उसका ब्रेन होगा और जो प्रकृति के प्रति उसकी लालसा होगी वह संस्कार के बदौलत उस ओर अग्रसर होगा और वह इधर चला जाए लेकिन यहां पर मां बाप को गाइडेंस की जरूरत होती है कि उसको कुछ अपने घर के वातावरण से मोमेंट मेला है क्योंकि बहुत कुछ सब कुछ बल्कि घर के ही दायरे से सीखता है तो घर में जैसा माहौल बना रहता है उसका असर पड़ता है तो कुर्सी करनी है उसके विकास क्रम में कहीं किसी प्रकार का डिप्रेशन ना आए और वह खुशहाल और प्रफुल्लित रूप से अपने आचरण को प्रकट करें और जैसे-जैसे बढ़ता है समझदारी आती है वैसे हम अपना चुनाव करके अपने रास्ते में जाता है लेकिन पैरंट्स की जिम्मेवारी है थी कि उसको ऐसा माहौल और ऐसा ज्ञान हमेशा देता रहना चाहिए कि जिससे कि वह फॉलो कर सके धन्यवाद मेजेपी योगी को कलेक्ट से

usne baccho ko swabhav se kaisa hona chahiye darasal baccho ka sujhaav swabhav hai vyapak aarthik roop se aur purv janam ke sanskar se uske andar cheshta badhti hai agar koi acche sanskar ka jo pratibhavan baccha hoga toh vaah paidaishi uske andar vaah sanskar vibhajit hone lag jaenge aur vaah us pattern par chadhega aur uska jo banavati strekchar hoga jo andar se uska brain hoga aur jo prakriti ke prati uski lalasa hogi vaah sanskar ke badaulat us aur agrasar hoga aur vaah idhar chala jaaye lekin yahan par maa baap ko guidance ki zarurat hoti hai ki usko kuch apne ghar ke vatavaran se moment mela hai kyonki bahut kuch sab kuch balki ghar ke hi daayre se sikhata hai toh ghar mein jaisa maahaul bana rehta hai uska asar padta hai toh kursi karni hai uske vikas kram mein kahin kisi prakar ka depression na aaye aur vaah khushahal aur prafullit roop se apne aacharan ko prakat kare aur jaise jaise badhta hai samajhdari aati hai waise hum apna chunav karke apne raste mein jata hai lekin Parents ki jimmewari hai thi ki usko aisa maahaul aur aisa gyaan hamesha deta rehna chahiye ki jisse ki vaah follow kar sake dhanyavad mejepi yogi ko collect se

उसने बच्चों को स्वभाव से कैसा होना चाहिए दरअसल बच्चों का सुझाव स्वभाव है व्यापक आर्थिक रूप

Romanized Version
Likes  195  Dislikes    views  3078
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों का स्वभाव कैसा मनुष्य ही बच्चे बड़े कोमल बच्चों का जो दिमाग होता पूरी दशमलव होता यह तो हम हैं उनके दिमाग में उल्टी सीधी भर्ती तो जैसा आप व्हाट्सएप सिखाओ गे बच्चे वैसे बोले अगर बच्चों को विनम्रता सिखाई जाएगी तो विनम्रता बच्चों को चरित्र निर्माण के बारे में बताया जाएगा अच्छे चरित्र उनकी बोलचाल की भाषा होगी तो प्रेम की सॉन्ग एक अजीबोगरीब फैसला करें कल्पना करना चाहते हैं अगर आपके परिवार में वह माहौल नहीं है बच्चों को प्यार नहीं मिलता बच्चों को सहयोग नहीं मिलता बच्चों को सम्मान नहीं बनता है आप उसे कैसे निर्माण की बात कर देना चाहिए बच्चों को विनम्रता का भाव होना चाहिए बच्चों को एक दूसरे के प्रति करने का बड़ों का आदर सम्मान की भावना वरुण बच्चों को हमेशा पढ़ने की रुचि होनी चाहिए बच्चों को हमेशा खड़ी है कि मुझे रिचार्ज करना है तो आप खुद ही आपसे मार्शल लगा कर मत बैठे रहो चाहे वह आठवां ऐसा होना चाहिए कि मैं आज के युग में आप चाहते हो आपका बच्चा इस तरह से बनेगा इससे अच्छा है लेकिन अगर हमको

bacchon ka swabhav kaisa manushya hi bacche bade komal baccho ka jo dimag hota puri dashamlav hota yah toh hum hain unke dimag mein ulti seedhi bharti toh jaisa aap whatsapp sikhao gay bacche waise bole agar baccho ko vinamrata sikhai jayegi toh vinamrata baccho ko charitra nirmaan ke bare mein bataya jaega acche charitra unki bolchal ki bhasha hogi toh prem ki song ek ajeebogarib faisla kare kalpana karna chahte hain agar aapke parivar mein vaah maahaul nahi hai baccho ko pyar nahi milta baccho ko sahyog nahi milta baccho ko sammaan nahi banta hai aap use kaise nirmaan ki baat kar dena chahiye baccho ko vinamrata ka bhav hona chahiye baccho ko ek dusre ke prati karne ka badon ka aadar sammaan ki bhavna varun baccho ko hamesha padhne ki ruchi honi chahiye baccho ko hamesha khadi hai ki mujhe recharge karna hai toh aap khud hi aapse marshall laga kar mat baithe raho chahen vaah aathwan aisa hona chahiye ki main aaj ke yug mein aap chahte ho aapka baccha is tarah se banega isse accha hai lekin agar hamko

बच्चों का स्वभाव कैसा मनुष्य ही बच्चे बड़े कोमल बच्चों का जो दिमाग होता पूरी दशमलव होता यह

Romanized Version
Likes  243  Dislikes    views  2045
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे आपने पूछा है बच्चों को तो आप आज के टाइम के बच्चों के लिए अब पहले की टाइम के बच्चों में बहुत अंतर है पहले के घर परिवार में सब आपस में लड़ते झगड़ते से सब काम करते थे आजकल क्या होते हैं उनके लिए कुछ करने से पहले टाइम ऐसा नहीं होता था और इसीलिए मां-बाप की इज्जत होती थी आज बच्चों को पता है की एक बार हम सब से कूदने की धमकी देंगे मां बाप अरे ऐसा चेंज कर रही है कि बच्चे बिगड़ते क्या करते हैं छोटे-छोटे बच्चे को देखो कहना नहीं मानते भद्दी भद्दी गालियां देते हैं जबकि गाड़ी मतलब ने पता नहीं होता उनके बचपन में मां-बाप प्यार दिखाने के लिए अपने एग्जामिनड के लिए बड़े हो जाते हैं तो समझ आता है होली के मां-बाप रात को बैठे बंद करते रहते हैं 11:00 बजे 12:00 बजे का जवाब नहीं कर सकती आंसू जाएंगे तो मुश्किल हो जाएगी

jaise aapne poocha hai baccho ko toh aap aaj ke time ke baccho ke liye ab pehle ki time ke baccho mein bahut antar hai pehle ke ghar parivar mein sab aapas mein ladte jhagadate se sab kaam karte the aajkal kya hote hai unke liye kuch karne se pehle time aisa nahi hota tha aur isliye maa baap ki izzat hoti thi aaj baccho ko pata hai ki ek baar hum sab se koodne ki dhamki denge maa baap are aisa change kar rahi hai ki bacche bigadte kya karte hai chote chhote bacche ko dekho kehna nahi maante bhaddi bhaddi galiya dete hai jabki gaadi matlab ne pata nahi hota unke bachpan mein maa baap pyar dikhane ke liye apne egjaminad ke liye bade ho jaate hai toh samajh aata hai holi ke maa baap raat ko baithe band karte rehte hai 11 00 baje 12 00 baje ka jawab nahi kar sakti aasu jaenge toh mushkil ho jayegi

जैसे आपने पूछा है बच्चों को तो आप आज के टाइम के बच्चों के लिए अब पहले की टाइम के बच्चों मे

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  2174
WhatsApp_icon
user

Rahul Jangra

Health and Fitness Expert, Yoga Teacher

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चे अपना स्वभाव लेकर ही पैदा होते हैं कोई चंचल होता है कोई थोड़ा तेज होता है थोड़ा कोई रोता है कोई दिमाग से ज्यादा तेज होता है कोई फिजिकल जाते जाते हैं उसके आसपास का माहौल है तो बड़ा मायने रखता है जो बच्चे स्टार्टिंग से स्पोर्ट्स में हैं जर्मनी खेल में है तो उनकी बॉडी की ग्रोथ और माइंड की ग्रोथ बड़ी अच्छी होती है हर खेल में अच्छा कर लेते हैं तो स्वभाव कैसा यह जरूरी नहीं है बच्चे को किसी किसी ना किसी स्पोर्ट्स में हेल्थ में जरूर रखें ताकि उनकी बहुत अच्छे हो जैसे भी हैं तो जरूरत की सजावट

bacche apna swabhav lekar hi paida hote hain koi chanchal hota hai koi thoda tez hota hai thoda koi rota hai koi dimag se zyada tez hota hai koi physical jaate jaate hain uske aaspass ka maahaul hai toh bada maayne rakhta hai jo bacche starting se sports mein hain germany khel mein hai toh unki body ki growth aur mind ki growth badi achi hoti hai har khel mein accha kar lete hain toh swabhav kaisa yah zaroori nahi hai bacche ko kisi kisi na kisi sports mein health mein zaroor rakhen taki unki bahut acche ho jaise bhi hain toh zarurat ki sajawat

बच्चे अपना स्वभाव लेकर ही पैदा होते हैं कोई चंचल होता है कोई थोड़ा तेज होता है थोड़ा कोई र

Romanized Version
Likes  197  Dislikes    views  1859
WhatsApp_icon
user

Kankan Sarmah

Psychologist

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों के स्वभाव कैसा होना चाहिए शांत सुशील और हंसमुख बचा सभी को पसंद है स्मार्ट और थोड़ा बहुत शरारती तो इस तरीके से स्वागत होना बहुत ही मतलब एक का अगर शून्य होते हैं लोग पसंद करते हैं और जिस माहौल थे जिस हिसाब से रहते हैं उस महान को समझना जरूरी होता है लेकिन एक बात हमें भी ध्यान में रखना चाहिए अगर वह 3 साल की है या 5 साल की है तो उनके जो दिमाग डेवलपमेंट अपने होगा उसी हिसाब से उन चीजों को मैसेज करके उनको एक्सेप्ट करेगा ठीक है लेकिन वही चीजों को हम जो एक कंपटीशन लेवल में होते हैं उनको अगर हम कंप्लेन ना करें तो बेहतर होगा क्योंकि ज्यादातर हम लोग क्या करते हैं हम अपने मेंटल स्टेट और उनके तो मेंटल स्टेट हैं उन दिनों का कंपैरिजन करते हैं और वह कंपटीशन के बाद क्या करते हैं कि तुम यह मत करो तुम वह ना करो तुम इधर मत जाओ तुम उधर मत जाओ तुम यहां बैठे हो तुम वहां बैठे यह मत खाओ वह ना करो ए नंबर ऑफ यूनिफार्म दिन हम लोग उनके सामने रख देते हैं तो फिर उसके बाद क्या होता है कि वह लोग डर जाते हैं अगर कुछ काम करने का मन भी है तो भी वह लोग नहीं कर पाते हैं तहसील दोस्तों आपसे यही गुजारिश है कि आप कभी भी छोटे बच्चों को दांत ए मत उनको करने की जिनको एक्सपीरियंस होना लीजिए जब एक्सपेंस होगा खुद ब खुद बोलो सीख जाएंगे कि उनको क्या करना है क्या नहीं करना है ठीक है धन्यवाद

bacchon ke swabhav kaisa hona chahiye shaant sushil aur hansamukh bacha sabhi ko pasand hai smart aur thoda bahut shararti toh is tarike se swaagat hona bahut hi matlab ek ka agar shunya hote hain log pasand karte hain aur jis maahaul the jis hisab se rehte hain us mahaan ko samajhna zaroori hota hai lekin ek baat hamein bhi dhyan mein rakhna chahiye agar vaah 3 saal ki hai ya 5 saal ki hai toh unke jo dimag development apne hoga usi hisab se un chijon ko massage karke unko except karega theek hai lekin wahi chijon ko hum jo ek competition level mein hote hain unko agar hum complain na kare toh behtar hoga kyonki jyadatar hum log kya karte hain hum apne mental state aur unke toh mental state hain un dino ka kampairijan karte hain aur vaah competition ke baad kya karte hain ki tum yah mat karo tum vaah na karo tum idhar mat jao tum udhar mat jao tum yahan baithe ho tum wahan baithe yah mat khao vaah na karo a number of uniform din hum log unke saamne rakh dete hain toh phir uske baad kya hota hai ki vaah log dar jaate hain agar kuch kaam karne ka man bhi hai toh bhi vaah log nahi kar paate hain tehsil doston aapse yahi gujarish hai ki aap kabhi bhi chote baccho ko dant a mat unko karne ki jinako experience hona lijiye jab expense hoga khud bsp khud bolo seekh jaenge ki unko kya karna hai kya nahi karna hai theek hai dhanyavad

बच्चों के स्वभाव कैसा होना चाहिए शांत सुशील और हंसमुख बचा सभी को पसंद है स्मार्ट और थोड़ा

Romanized Version
Likes  464  Dislikes    views  2913
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों का स्वभाव कैसा होना चाहिए बच्चों का स्वभाव जैसा हम डालेंगे वैसे ही होगा बच्चे सो भाभी कोचिंग कोई भी बच्चा जन्म से वही सीखना है जो वह अपने पेरेंट्स को अपने घर में होते हुए देखते हैं क्योंकि हर बच्चे की प्रथम पाठशाला उसका घर होती है घर होता है और प्रथम शिक्षक उसके माता-पिता होते हैं क्योंकि अधिकांश समय बच्चा अपनी मां के साथ बिताता है इसलिए मां के संस्कार मां का प्रभाव मां का आचरण मां का व्यवहार बच्चा जाने अनजाने सीख लेता है अगर बच्चे की मां अपनी सास के साथ अपने पति के साथ अपने तेवरों के साथ या अपनी नंद के साथ या अपने सर प्राण के अन्य सदस्यों के साथ जो भी आचरण करती हैं अच्छा या बुरा अगर उनका स्वभाव बहुत मन में बहुत कोमल है बस स्टैंड शक्ति सेवा भाव का है तो निश्चित रूप से उनसे जन्मा बच्चा भी संस्कारी होगा उसे संस्कार देने की जरूरत नहीं है वह चंद का जन्म चाहिए बच्चे के अंदर आ गए उसके ठीक विपरीत अगर मां चिड़चिड़ी और उदंडी या रोड प्रोजेक्ट भाव की है या चिड़चिड़ा चुनाव की अन्य प्रतिभाओं की है तो उसने अनजाने में बच्चे को नफरत वाला बच्चा बना दिया और बच्चे के चुनाव में भी चरण 8 मार्च से नफरत पैदा करनी है पैदा करना नहीं जानता क्योंकि जो चाहते थे वह कर नहीं पाए जो नहीं चाहते तो कर दिया इतने भूमिका परिवार के सदस्यों की और बच्चों की मां की है तू मैं ही कहना चाहूंगा बच्चों का प्रभाव बहुत कोमल सरल निर्मल निर्मल और संभावना चाहिए सबको समाज में सम्मान देने वाला होना चाहिए अपने से बड़ों के आदेश का मानने वाला होना चाहिए और बच्चों को किसी भी कृत्य जिद्दी हरिया क्रोधी स्वभाव वाला प्राणी नहीं होना चाहिए क्योंकि उनके भविष्य के लिए खतरनाक है

bacchon ka swabhav kaisa hona chahiye baccho ka swabhav jaisa hum daalenge waise hi hoga bacche so bhabhi coaching koi bhi baccha janam se wahi sikhna hai jo vaah apne parents ko apne ghar mein hote hue dekhte hain kyonki har bacche ki pratham pathashala uska ghar hoti hai ghar hota hai aur pratham shikshak uske mata pita hote hain kyonki adhikaansh samay baccha apni maa ke saath bitata hai isliye maa ke sanskar maa ka prabhav maa ka aacharan maa ka vyavhar baccha jaane anjaane seekh leta hai agar bacche ki maa apni saas ke saath apne pati ke saath apne tevaron ke saath ya apni nand ke saath ya apne sir praan ke anya sadasyon ke saath jo bhi aacharan karti hain accha ya bura agar unka swabhav bahut man mein bahut komal hai bus stand shakti seva bhav ka hai toh nishchit roop se unse janma baccha bhi sanskari hoga use sanskar dene ki zarurat nahi hai vaah chand ka janam chahiye bacche ke andar aa gaye uske theek viprit agar maa chidchidi aur udandi ya road project bhav ki hai ya chidchida chunav ki anya pratibhaon ki hai toh usne anjaane mein bacche ko nafrat vala baccha bana diya aur bacche ke chunav mein bhi charan 8 march se nafrat paida karni hai paida karna nahi jaanta kyonki jo chahte the vaah kar nahi paye jo nahi chahte toh kar diya itne bhumika parivar ke sadasyon ki aur baccho ki maa ki hai tu main hi kehna chahunga baccho ka prabhav bahut komal saral nirmal nirmal aur sambhavna chahiye sabko samaj mein sammaan dene vala hona chahiye apne se badon ke aadesh ka manne vala hona chahiye aur baccho ko kisi bhi kritya jiddi hariya krodhi swabhav vala prani nahi hona chahiye kyonki unke bhavishya ke liye khataranaak hai

बच्चों का स्वभाव कैसा होना चाहिए बच्चों का स्वभाव जैसा हम डालेंगे वैसे ही होगा बच्चे सो भा

Romanized Version
Likes  359  Dislikes    views  3949
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों का जो स्वभाव है नटखट और शर्मिला होता है यानी पक्षी जो है वह चंचल स्वभाव के होते हैं और बच्चों का स्वभाव चंचल ही होना चाहिए

bacchon ka jo swabhav hai natkhat aur sharmila hota hai yani pakshi jo hai vaah chanchal swabhav ke hote hain aur baccho ka swabhav chanchal hi hona chahiye

बच्चों का जो स्वभाव है नटखट और शर्मिला होता है यानी पक्षी जो है वह चंचल स्वभाव के होते हैं

Romanized Version
Likes  85  Dislikes    views  831
WhatsApp_icon
user

Manoj Singh

Journalist

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों का स्वभाव सरल होना चाहिए उनके बहाने से गुड़ टपकना चाहिए शहद आने की जब वह बोली में मिठास के लिए चाहिए उनके माता-पिता भी प्यार से बात करें माता-पिता गुस्सा से बात करेंगे तो बच्चे कभी प्यार से बात नहीं करेंगे बच्चों को मीठी भाषा सुनाइए

bacchon ka swabhav saral hona chahiye unke bahaane se good tapkana chahiye shehed aane ki jab vaah boli mein mithaas ke liye chahiye unke mata pita bhi pyar se baat kare mata pita gussa se baat karenge toh bacche kabhi pyar se baat nahi karenge baccho ko mithi bhasha sunaiye

बच्चों का स्वभाव सरल होना चाहिए उनके बहाने से गुड़ टपकना चाहिए शहद आने की जब वह बोली में म

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  692
WhatsApp_icon
play
user

Beer Singh Rajput

Career Counsellor & Lecturer.

0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों का स्वभाव तो थोड़ा चंचल होना ही चाहिए क्योंकि बच्चों में भरपूर भुजा होती है यदि बच्चा सांसद थे तब आपको चिंता की विषय चिंता का विषय है 19 का पता लगाना चाहिए बच्चे शांत क्यों हैं उसमें बुझाई तुम ही क्यों हैं वह क्यों दम क्यों नहीं करता एनी 25 रूप से ही चंचल होते हैं स्वस्थ बच्चे होते हैं उनमें चंचलता

bacchon ka swabhav toh thoda chanchal hona hi chahiye kyonki baccho mein bharpur bhuja hoti hai yadi baccha saansad the tab aapko chinta ki vishay chinta ka vishay hai 19 ka pata lagana chahiye bacche shaant kyon hain usme bujhai tum hi kyon hain vaah kyon dum kyon nahi karta any 25 roop se hi chanchal hote hain swasthya bacche hote hain unmen chanchalata

बच्चों का स्वभाव तो थोड़ा चंचल होना ही चाहिए क्योंकि बच्चों में भरपूर भुजा होती है यदि बच्

Romanized Version
Likes  146  Dislikes    views  1266
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों को सुभाष सरल मृदुभाषी और बड़ों का सम्मान करने वाला संस्कारी और मां-बाप की सेवा करने वाला होना चाहिए उन को अच्छी शिक्षा ग्रहण करना चाहिए और समाज में कैसे माता-पिता का सम्मान हो कैसे उनका सम्मान हो कैसे आगे बढ़े कैसे जीवन चौधरी शिक्षा माता-पिता और गुरु से मिलनी चाहिए

bacchon ko subhash saral mridubhashi aur badon ka sammaan karne vala sanskari aur maa baap ki seva karne vala hona chahiye un ko achi shiksha grahan karna chahiye aur samaj mein kaise mata pita ka sammaan ho kaise unka sammaan ho kaise aage badhe kaise jeevan choudhary shiksha mata pita aur guru se milani chahiye

बच्चों को सुभाष सरल मृदुभाषी और बड़ों का सम्मान करने वाला संस्कारी और मां-बाप की सेवा करने

Romanized Version
Likes  154  Dislikes    views  962
WhatsApp_icon
user

Abhishek

Education And Motivation

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देगी आपका सवाल है कि बच्चों को स्वभाव कैसा होना चाहिए या बच्चों का स्वभाव कैसा होना चाहिए तो मैं बताना चाहूंगा इस बारे में बच्चों का जो सुबह होना चाहिए बड़ों के प्रति आदर पूर्वक होना चाहिए बड़ों की बात माननी चाहिए उनको है ना और झूठ नहीं बोलना चाहिए जो बात हो वह सही बताना चाहिए अपना माता-पिता गुरुजनों को और माता पिता की आज्ञा का पालन करना चाहिए कि नैतिक शिक्षा के अंतर्गत आते हैं तो मैं बताना चाहूंगा कि बच्चों को नैतिक शिक्षा दी जानी चाहिए तो नीति शिक्षा जहां तक सवाल है वहां तक परिवार के बड़े बुजुर्ग जहां तक दादा-दादी नाना-नानी या माता-पिता द्वारा दी जाती है तो बेसिकली दी जानी चाहिए क्योंकि बच्चों को अगर शुरू से ही नैतिक शिक्षा दी जाएगी तो उनके संस्कार अच्छे रहेंगे धन्यवाद

degi aapka sawaal hai ki baccho ko swabhav kaisa hona chahiye ya baccho ka swabhav kaisa hona chahiye toh main batana chahunga is bare mein baccho ka jo subah hona chahiye badon ke prati aadar purvak hona chahiye badon ki baat maanani chahiye unko hai na aur jhuth nahi bolna chahiye jo baat ho vaah sahi batana chahiye apna mata pita gurujanon ko aur mata pita ki aagya ka palan karna chahiye ki naitik shiksha ke antargat aate hain toh main batana chahunga ki baccho ko naitik shiksha di jani chahiye toh niti shiksha jaha tak sawaal hai wahan tak parivar ke bade bujurg jaha tak dada dadi nana naani ya mata pita dwara di jaati hai toh basically di jani chahiye kyonki baccho ko agar shuru se hi naitik shiksha di jayegi toh unke sanskar acche rahenge dhanyavad

देगी आपका सवाल है कि बच्चों को स्वभाव कैसा होना चाहिए या बच्चों का स्वभाव कैसा होना चाहिए

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  349
WhatsApp_icon
user

Shubham Saini

Software Engineer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बच्चों का स्वभाव निर्भर करता है आप के कर्तव्य व आप होंगे घर पर जाकर बच्चों का स्वभाव बनेगा विजेता मार्वल देंगे वो वैसे ही बनेगा तो याद है बच्चों को एक सही वातावरण में एक से जगह पर सही और समुचित अस्थान रही है उसका स्वभाव का विकास हो सके उसके विकास मैं आपकी सबसे बड़ा योगदान है राधिका अच्छा संस्कार बीजेपी को अच्छा लगता है धन्यवाद

baccho ka swabhav nirbhar karta hai aap ke kartavya va aap honge ghar par jaakar baccho ka swabhav banega vijeta marvel denge vo waise hi banega toh yaad hai baccho ko ek sahi vatavaran me ek se jagah par sahi aur samuchit asthan rahi hai uska swabhav ka vikas ho sake uske vikas main aapki sabse bada yogdan hai radhika accha sanskar bjp ko accha lagta hai dhanyavad

बच्चों का स्वभाव निर्भर करता है आप के कर्तव्य व आप होंगे घर पर जाकर बच्चों का स्वभाव बनेगा

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  1119
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं रिंकी कुमारी फ्रेंड एंड फेमस लाइफ कोच आज आपके साथ छोड़ा हूं आप का सवाल है बच्चों का स्वभाव कैसा होना चाहिए पड़ा सिंपल साधारण सा सवाल जवाब है कि बच्चों का स्वभाव तो बच्चों जैसा ही होना चाहिए क्योंकि बच्चे काम करते हैं उनका स्वभाव बिल्कुल सरल सहज और संपूर्ण होता है कभी भी किसी के प्रति निष्ठा रहते हैं वह किसी प्रकार का छल उनके दिमाग में नहीं रहता किसी प्रकार का अधिवेशन के भाव में नहीं रहता आप थोड़ी देर पहले जो बच्चे से झगड़ा कर रहे थे जो आप से झगड़ा कर रहे हैं आपने उसको डांट विद्यापीठ भी दिया लेकिन आप देखोगी घंटे भर के बाद में वह फिर वैसा ही हो जाएगा तो बच्चे का स्वभाव सरलता सहजता और प्रेजेंट को जीने वाला होता है उसमें उसे ना तो पास्ट की कोई टेंशन होती है ना फ्यूचर इतनी टेंशन होती है और मैं मानता हूं बच्चे का स्वभाव ऐसा ही होना चाहिए कि वह हमेशा सरल स्वभाव और संपूर्ण रहे जो करना है वह दिल से करें और आपके साथ खुशियां भरता रहे ना का जवाब आपको हेल्प करेगा आगे बढ़ने में खुश रहने में और सक्षम बनने में जय हिंद जय भारत

namaskar main rinki kumari friend and famous life coach aaj aapke saath choda hoon aap ka sawaal hai baccho ka swabhav kaisa hona chahiye pada simple sadhaaran sa sawaal jawab hai ki baccho ka swabhav toh baccho jaisa hi hona chahiye kyonki bacche kaam karte hain unka swabhav bilkul saral sehaz aur sampurna hota hai kabhi bhi kisi ke prati nishtha rehte hain vaah kisi prakar ka chhal unke dimag me nahi rehta kisi prakar ka adhiveshan ke bhav me nahi rehta aap thodi der pehle jo bacche se jhagda kar rahe the jo aap se jhagda kar rahe hain aapne usko dant vidyapeeth bhi diya lekin aap dekhogi ghante bhar ke baad me vaah phir waisa hi ho jaega toh bacche ka swabhav saralata sahajata aur present ko jeene vala hota hai usme use na toh past ki koi tension hoti hai na future itni tension hoti hai aur main maanta hoon bacche ka swabhav aisa hi hona chahiye ki vaah hamesha saral swabhav aur sampurna rahe jo karna hai vaah dil se kare aur aapke saath khushiya bharta rahe na ka jawab aapko help karega aage badhne me khush rehne me aur saksham banne me jai hind jai bharat

नमस्कार मैं रिंकी कुमारी फ्रेंड एंड फेमस लाइफ कोच आज आपके साथ छोड़ा हूं आप का सवाल है बच्च

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  376
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!