क्या लोग "डिजिटल इंडिया" से खुश हैं?...


user

Ratnakar mishra

Youtuber, Digital Marketer, blogger

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप पूछ रहे हैं क्या लोग डिजिटल इंडिया से खुश हैं देखिए लोगों की मानसिकता बताती है कि वह भारत के डिजिटल होने से खुश है या नहीं लेकिन अधिकतर लोग हो चुके भारत डिजिटल होता जा रहा है सभी लोग मोबाइल फोन यूज कर रहे हैं सभी लोगों को सारी चीजें मोबाइल फोन से ही करनी होती है तो काफी ठीक रहता काफी सुगम और सरल होता है जैसे कि बैंकों में लाइन नहीं लगानी पड़ती अब तुरंत अपने बैंक का बैलेंस चेक कर सकते हैं और भी सारी चीजें जो गवर्नमेंट का फॉर्म वगैरह वह मोबाइल से अलग कर सकते हैं जो भी गवर्नमेंट की सेवाएं हैं आप मोबाइल से देख सकते हैं सारी तू ज्यादातर लोग डिजिटल इंडिया से खुश हैं क्योंकि उनके रास्ते सुगम और सरल बने हैं डिजिटल इंडिया के माध्यम से धन्यवाद

aap puch rahe hain kya log digital india se khush hain dekhiye logo ki mansikta batati hai ki vaah bharat ke digital hone se khush hai ya nahi lekin adhiktar log ho chuke bharat digital hota ja raha hai sabhi log mobile phone use kar rahe hain sabhi logo ko saari cheezen mobile phone se hi karni hoti hai toh kaafi theek rehta kaafi sugam aur saral hota hai jaise ki bankon me line nahi lagani padti ab turant apne bank ka balance check kar sakte hain aur bhi saari cheezen jo government ka form vagera vaah mobile se alag kar sakte hain jo bhi government ki sevayen hain aap mobile se dekh sakte hain saari tu jyadatar log digital india se khush hain kyonki unke raste sugam aur saral bane hain digital india ke madhyam se dhanyavad

आप पूछ रहे हैं क्या लोग डिजिटल इंडिया से खुश हैं देखिए लोगों की मानसिकता बताती है कि वह भा

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Amit Kumar

Digital Marketing Strategiest

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप मेरे से पूछते हो तो मैं बोलूंगा कि जी बिल्कुल डिस्टर्बिया से मैं और मेरी फैमिली भी और साथ में मेरे रिलेटिव जिनको मैं जानता हूं उनमें से पांच लोग खुश हैं बाकी जिन्हें नहीं जानता नहीं बोल सकता मैं जानता हूं के लिए काफी चादर वांटिंग लेकर आया है साथ में क्षमा करो और अभी के टाइम पर मुझे भी काफी ज्यादा प्रॉफिट हुआ है साथ में मैंने कोर्स निकाला था वेब डेवलपमेंट के ऊपर जिसको मैंने सिर्फ 1520 36 चुका हूं मैं तो सकती हो कि जी हमारे लिए बाकी ज्यादा मतलब आपकी आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप इसे कैसे यूज में लाते हो आप दूसरी चीज है जो आलतू फालतू चीजें होते कौन होते हैं यह सब होते उसे देख लिया अब टाइम भी तेज करते हो या फिर आप इसे अपने इस्तेमाल के लिए यूज करते हुए टूटी आपके ऊपर डिपेंड करेगा इंडिया से आप खुश होते हो या फिर नहीं

agar aap mere se poochhte ho toh main boloonga ki ji bilkul distarbiya se main aur meri family bhi aur saath me mere relative jinako main jaanta hoon unmen se paanch log khush hain baki jinhen nahi jaanta nahi bol sakta main jaanta hoon ke liye kaafi chadar wanting lekar aaya hai saath me kshama karo aur abhi ke time par mujhe bhi kaafi zyada profit hua hai saath me maine course nikaala tha web development ke upar jisko maine sirf 1520 36 chuka hoon main toh sakti ho ki ji hamare liye baki zyada matlab aapki aapke upar depend karta hai ki aap ise kaise use me laate ho aap dusri cheez hai jo alatu faltu cheezen hote kaun hote hain yah sab hote use dekh liya ab time bhi tez karte ho ya phir aap ise apne istemal ke liye use karte hue tuti aapke upar depend karega india se aap khush hote ho ya phir nahi

अगर आप मेरे से पूछते हो तो मैं बोलूंगा कि जी बिल्कुल डिस्टर्बिया से मैं और मेरी फैमिली भी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  77
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिजिटल इंडिया अगर बनता है तो यह बहुत अच्छी बात होगी लेकिन वर्तमान स्थिति में मुझे नहीं लगता कि भारत में डिजिटल इंडिया इतनी जल्दी सफल हो सकता है क्योंकि सबसे पहले तो सारे लोग लोग यहां पर साक्षात नहीं है बहुत सारे लोगों को कंप्यूटर या फिर मोबाइल इंटरनेट इनके बारे में कोई भी जानकारी नहीं है तो इस स्थिति में कोई भी प्रधानमंत्री कैसे अपने देश को डिजिटल बना सकता है तो मुझे लगता है कि यह एक जुमला ही है लेकिन इसकी वास्तविकता बिल्कुल अलग है अगर हम वास्तविक स्तर पर इस चीज को देखें तो डिजिटल इंडिया अभी की कंडीशन में भारत में बनाया जा पाना बहुत ज्यादा मुश्किल है क्योंकि भारत में बहुत सारे लोग गांव में रहते हैं खास तौर से जो गरीब हैं उन्हें डिजिटल क्या है इसके बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है ना तो उनके पास बैंक खाते हैं और ना ही वह पढ़े लिखे हैं किस तरह से वह ATM का इस्तेमाल करेंगे किस तरह से ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करेंगे या फिर इंटरनेट की मदद से जो भी अपने काम है वह किस प्रकार कैसे कर पाएंगे यह सोचने वाला विषय है क्योंकि जहां पर लोग अपना नाम तक नहीं लिख सकते हैं अंगूठा लगाते हैं वहां पर डिजिटल इंडिया कितना सक्सेसफुल होगा यह एक गंभीर मुद्दा है तो मुझे लगता है कि सब से पहले हमारे देश में शिक्षा का प्रचार प्रसार करना आवश्यक है ताकि सभी लोग शिक्षित हो सके उसके बाद ही उन्हें हम डिजिटल चीजों के बारे में इंटरनेट के बारे में बता सकते हैं अगर कोई व्यक्ति अनपढ़ है तो बहुत ज्यादा मुश्किल है कि उसे सारी चीजों को समझाया जा सके तो मुझे लगता है कि डिजिटल इंडिया से पहले जरूरत सरकार को इस बात पर ध्यान देने की है कि हमारे देश का एक एक इंसान साक्षर हो जाए और उसे इंटरनेट कंप्यूटर मोबाइल इन सारी चीजों के बारे में जानकारी हो तभी जाकर डिजिटल इंडिया का जो सपना है वह साकार हो पाएगा इसके अलावा अभी तो हमारे देश में हर एक जगह इंटरनेट की सुविधा ही नहीं है तो फिर बिना इंटरनेट के डिजिटल इंडिया बनाना एक बेईमानी सा लगता है

digital india agar baata hai toh yah bahut achi baat hogi lekin vartaman sthiti mein mujhe nahi lagta ki bharat mein digital india itni jaldi safal ho sakta hai kyonki sabse pehle toh saare log log yahan par sakshat nahi hai bahut saare logo ko computer ya phir mobile internet inke bare mein koi bhi jaankari nahi hai toh is sthiti mein koi bhi pradhanmantri kaise apne desh ko digital bana sakta hai toh mujhe lagta hai ki yah ek jumla hi hai lekin iski vastavikta bilkul alag hai agar hum vastavik sthar par is cheez ko dekhen toh digital india abhi ki condition mein bharat mein banaya ja paana bahut zyada mushkil hai kyonki bharat mein bahut saare log gaon mein rehte hain khaas taur se jo garib hain unhe digital kya hai iske bare mein kuch bhi jaankari nahi hai na toh unke paas bank khate hain aur na hi vaah padhe likhe hain kis tarah se vaah ATM ka istemal karenge kis tarah se online transaction karenge ya phir internet ki madad se jo bhi apne kaam hai vaah kis prakar kaise kar payenge yah sochne vala vishay hai kyonki jaha par log apna naam tak nahi likh sakte hain angootha lagate hain wahan par digital india kitna successful hoga yah ek gambhir mudda hai toh mujhe lagta hai ki sab se pehle hamare desh mein shiksha ka prachar prasaar karna aavashyak hai taki sabhi log shikshit ho sake uske baad hi unhe hum digital chijon ke bare mein internet ke bare mein bata sakte hain agar koi vyakti anpad hai toh bahut zyada mushkil hai ki use saree chijon ko samjhaya ja sake toh mujhe lagta hai ki digital india se pehle zarurat sarkar ko is baat par dhyan dene ki hai ki hamare desh ka ek ek insaan sakshar ho jaaye aur use internet computer mobile in saree chijon ke bare mein jaankari ho tabhi jaakar digital india ka jo sapna hai vaah saakar ho payega iske alava abhi toh hamare desh mein har ek jagah internet ki suvidha hi nahi hai toh phir bina internet ke digital india banana ek baimani sa lagta hai

डिजिटल इंडिया अगर बनता है तो यह बहुत अच्छी बात होगी लेकिन वर्तमान स्थिति में मुझे नहीं लगत

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आज ज्यादातर लोग देश में डिजिटल डिजिटल इंडिया से काफी खुश है क्योंकि जिस चीज से लोगों को कार्य आसान हो जाए जिस चीज से लोगों को सरकार के कामों में ट्रांसपेरेंसी दिखने लग जाती है उससे कहीं ना कहीं लोगों को खुशी ही होती है क्योंकि देखिए आज कल जितने भी कर रहे हैं उनको ऑनलाइन लेकर आ रही है सरकार हर चीज ऑनलाइन हो रही है तो उसमें लोगों को काफी फायदा हो रहा है उनको किसी भी तरह से भ्रष्टाचार नहीं करना पड़ रहा घूस नहीं देनी पड़ रही तो उसके लोगों को फायदा हो रहा है और इसीलिए लोग डिजिटल इंडिया को पसंद कर रहे हैं उसके अलावा हमारे देश में डिजिटल इंडिया क्या आने से बाकी देशों के साथ हमारे देश की बराबरी होने लगी है हमारे देश में भी उतने बदलाव आए हैं टेक्नोलॉजी में जितने पहले नहीं थे तो यह भी कारण है कि जिसकी वजह से डिजिटल इंडिया एक सक्सेसफुल मिशन रहा है और दीपिका अवधारणा पिचकारी सकते हैं कि पहले अगर हम किसी आरटीओ ऑफिस चक्र में लाइसेंस बनवाना होता था तो हमें तीन से ₹4000 देने पड़ते थे किसी भी दलाल को ताकि वह लाइसेंस बनवा कर दे हमें क्या मैं सारी फॉर्मेलिटी इसके बारे में पता ही नहीं होता था और एक पढ़ा लिखा इंसान भी होता लाल के द्वारा काम करवाना पसंद करता था क्योंकि वह किसी सरकारी कार्यालय के चक्कर नहीं काटना चाहता था लेकिन आज के समय में हर चीज ऑनलाइन हो गई है आपको आप चाहे तो अपना पूरा लाइसेंस ऑनलाइन बनवा सकते हैं सिर्फ एक बार जाकर वहां पर आप को टैक्स देना होगा डायरेक्ट ली और आपको किसी भी तरह की कोई भी खुश नहीं देनी है किसी को किसी भी अधिकारी के सामने आप किसी भी तरह से आपको और कुछ भी नहीं मांगी है क्या आप हमारा काम कर दे तो यह सब चीजें बहुत आसान हो गई है ऑनलाइन आने की वजह से तो मुझे लगता है इसके लिए और डिजिटल इंडिया एक बहुत अच्छा मिशन रहा है और सभी देशवासी से काफी खुश है

ji haan aaj jyadatar log desh mein digital digital india se kaafi khush hai kyonki jis cheez se logo ko karya aasaan ho jaaye jis cheez se logo ko sarkar ke kaamo mein transparency dikhne lag jaati hai usse kahin na kahin logo ko khushi hi hoti hai kyonki dekhiye aaj kal jitne bhi kar rahe hai unko online lekar aa rahi hai sarkar har cheez online ho rahi hai toh usme logo ko kaafi fayda ho raha hai unko kisi bhi tarah se bhrashtachar nahi karna pad raha ghus nahi deni pad rahi toh uske logo ko fayda ho raha hai aur isliye log digital india ko pasand kar rahe hai uske alava hamare desh mein digital india kya aane se baki deshon ke saath hamare desh ki barabari hone lagi hai hamare desh mein bhi utne badlav aaye hai technology mein jitne pehle nahi the toh yah bhi karan hai ki jiski wajah se digital india ek successful mission raha hai aur deepika avdharna pichkari sakte hai ki pehle agar hum kisi rto office chakra mein license banwana hota tha toh hamein teen se Rs dene padte the kisi bhi dalaal ko taki vaah license banwa kar de hamein kya main saree formality iske bare mein pata hi nahi hota tha aur ek padha likha insaan bhi hota laal ke dwara kaam karwana pasand karta tha kyonki vaah kisi sarkari karyalay ke chakkar nahi kaatna chahta tha lekin aaj ke samay mein har cheez online ho gayi hai aapko aap chahen toh apna pura license online banwa sakte hai sirf ek baar jaakar wahan par aap ko tax dena hoga direct li aur aapko kisi bhi tarah ki koi bhi khush nahi deni hai kisi ko kisi bhi adhikari ke saamne aap kisi bhi tarah se aapko aur kuch bhi nahi maangi hai kya aap hamara kaam kar de toh yah sab cheezen bahut aasaan ho gayi hai online aane ki wajah se toh mujhe lagta hai iske liye aur digital india ek bahut accha mission raha hai aur sabhi deshvasi se kaafi khush hai

जी हां आज ज्यादातर लोग देश में डिजिटल डिजिटल इंडिया से काफी खुश है क्योंकि जिस चीज से लोगो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  151
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी क्या लोग जीतेंगे से खुशियां मतलब OBC डिजिटल इंडिया से जरूर लोग खुश हैं बहुत हत्या क्यों की डिजिटल इंडिया से चीजें बाहर आसान हो जाती है कि आपको हर जगह लाइन नहीं लगानी पड़ती हर जगह जानू नहीं पड़ता पर्सनालिटी क्या घर बैठे बैठे हर कुछ कर सकते हैं लोग जरूर खुश होंगे अर्थिंग कसे

abhi kya log jitenge se khushiya matlab OBC digital india se zaroor log khush hain bahut hatya kyon ki digital india se cheezen bahar aasaan ho jaati hai ki aapko har jagah line nahi lagani padti har jagah janu nahi padta personality kya ghar baithe baithe har kuch kar sakte hain log zaroor khush honge earthing kaise

अभी क्या लोग जीतेंगे से खुशियां मतलब OBC डिजिटल इंडिया से जरूर लोग खुश हैं बहुत हत्या क्यो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
play
user

Sunil Kumar

Journalist & Media Consultant

1:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंडिया से लोग पूरी तरह खुश तो नहीं है खुशबू लोग नहीं है जो ब्लैक का मन है तो जो ब्लैक में मनी का टेंशन कैसे किया करते थे वह डिजिटल मीडिया से बहुत हद तक कुछ नहीं है अगर आप ऑनलाइन ट्रांजैक्शन डिस्टर्ब किया किसी को भी सेंड कर रहे हो या तो कोई भी आप काम कर रहे तो सब कुछ ट्रांसपेरेंट हो रहा है और जो भी चीजें आपको ऑनलाइन सुरक्षित होगी जिसे अपना भी हाल में ही सुना होगा कि अभी आप जैसे आप के पोस्टपेड बिल आया करते थे बिल आना बंद हो जाएंगे पेपर पर अब आपके पास ऑनलाइन की जाएगी मतलब तो इससे यह फायदा सिर्फ हो जाएगा कि लोग जो यूज कर रहे हैं उसे बहुत हद तक लोगों को फायदा हो रहा है और एक दूसरी बात यह भी कि एडमिट पेपर की बचत हुई चाहिए यह फायदेमंद मेरे हिसाब से 50% ऑफिस को मान सकते हैं कि यह मेरे सबसे कार्ड है और आप लोग को भी लगता होगा बाकी सब लोग भी लगता है काम हो रहा है वह आसानी से पहुंच आएगा और आपको यह लगेगा कि घर बैठे काम की जगह पर जाकर फिर से आपको कोई भी काम नहीं करना आराम से अब घर बैठे इंटरनेट के मदद से सारे काम कर सकते हैं

india se log puri tarah khush toh nahi hai khushboo log nahi hai jo black ka man hai toh jo black mein money ka tension kaise kiya karte the vaah digital media se bahut had tak kuch nahi hai agar aap online transaction disturb kiya kisi ko bhi send kar rahe ho ya toh koi bhi aap kaam kar rahe toh sab kuch transaperent ho raha hai aur jo bhi cheezen aapko online surakshit hogi jise apna bhi haal mein hi suna hoga ki abhi aap jaise aap ke postpaid bill aaya karte the bill aana band ho jaenge paper par ab aapke paas online ki jayegi matlab toh isse yah fayda sirf ho jaega ki log jo use kar rahe hain use bahut had tak logo ko fayda ho raha hai aur ek dusri baat yah bhi ki admit paper ki bachat hui chahiye yah faydemand mere hisab se 50 office ko maan sakte hain ki yah mere sabse card hai aur aap log ko bhi lagta hoga baki sab log bhi lagta hai kaam ho raha hai vaah aasani se pohch aayega aur aapko yah lagega ki ghar baithe kaam ki jagah par jaakar phir se aapko koi bhi kaam nahi karna aaram se ab ghar baithe internet ke madad se saare kaam kar sakte hain

इंडिया से लोग पूरी तरह खुश तो नहीं है खुशबू लोग नहीं है जो ब्लैक का मन है तो जो ब्लैक में

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!