पारिस्थितिक विशेषज्ञों के अनुसार रोपण के पर्यावरण हित में कोई तीन प्रभाव लिखिए?...


play
user
1:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि परिस्थिति की विशेषज्ञों के अनुसार रोपण के पर्यावरण हित में कोई तीन प्रभाव तो आपके प्रश्न का उत्तर है कि पर्यावरण तथा परिस्थितिकी तंत्र संरक्षण की दिशा में बढ़िया परिस्थितिकी तंत्र पारिस्थितिकी समुदाय की एक इकाई है जो जैविक भौतिक तथा रासायनिक घटकों से निर्मित होती है भूमध्य रेखीय परिस्थितिक तंत्र में मौसम जलवायु तथा कई मानव जन्म प्रभाव के कारण परिवर्तन होता है जनसंख्या वृद्धि तथा उस हिसाब से संसाधनों की बढ़ती हुई मांग के कारण नवा बॉर्डर पर बहुत प्रभाव पड़ता है 1 उत्पादों के साथ रात जल विज्ञान मुद्रा संरक्षण वन्यजीव समर्थन वीरता तथा पर्यावरण संरक्षण आदि भी इनका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है जय विविधता में छपी का कारण परिवर्तनों के साथ हमारा तालमेल बिठाने की क्षमता को भी हास्य होता है

aapne poocha hai ki paristithi ki vishesagyon ke anusaar ropan ke paryavaran hit mein koi teen prabhav toh aapke prashna ka uttar hai ki paryavaran tatha parasthitiki tantra sanrakshan ki disha mein badhiya parasthitiki tantra paristhitikee samuday ki ek ikai hai jo Jaivik bhautik tatha Rasayanik ghatakon se nirmit hoti hai bhumadhya rekhiye paristhitik tantra mein mausam jalvayu tatha kai manav janam prabhav ke karan parivartan hota hai jansankhya vriddhi tatha us hisab se sansadhano ki badhti hui maang ke karan nava border par bahut prabhav padta hai 1 utpado ke saath raat jal vigyan mudra sanrakshan vanyajeev samarthan veerta tatha paryavaran sanrakshan aadi bhi inka nakaratmak prabhav padta hai jai vividhata mein chhapi ka karan parivartanon ke saath hamara talmel bitane ki kshamta ko bhi hasya hota hai

आपने पूछा है कि परिस्थिति की विशेषज्ञों के अनुसार रोपण के पर्यावरण हित में कोई तीन प्रभाव

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1425
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!