क्या आरक्षण से हमारे देश को फायदा है?...


play
user

Amit Chamaria

Journalist/Professor

0:33

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आरक्षण नौकरी पाने का जरिया नहीं आरक्षण क्या है कि हम राजस्थान कृषि कनेक्शन दिखाता है उसके बाद जो आने वाली पीढ़ी है जिन को मौका नहीं मिला है या नहीं मिल पाती है

aarakshan naukri pane ka jariya nahi aarakshan kya hai ki hum rajasthan krishi connection dikhaata hai uske baad jo aane wali peedhi hai jin ko mauka nahi mila hai ya nahi mil pati hai

आरक्षण नौकरी पाने का जरिया नहीं आरक्षण क्या है कि हम राजस्थान कृषि कनेक्शन दिखाता है उसके

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  474
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Zulfiqar Waddo

Journalist

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश को फायदा कैसे हो सकता है अगर कोई आगे करप्शन ले ताकि जिस्म फायदा होता है क्या आदमी का फायदा होता है आगे के लोगों को फांसी देना चाहिए

desh ko fayda kaise ho sakta hai agar koi aage corruption le taki jism fayda hota hai kya aadmi ka fayda hota hai aage ke logo ko fansi dena chahiye

देश को फायदा कैसे हो सकता है अगर कोई आगे करप्शन ले ताकि जिस्म फायदा होता है क्या आदमी का फ

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  472
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जबकि हमारे देश में आरक्षण की व्यवस्था लागू हुई है तब से लेकर आज तक मुझे लगता है कि आरक्षण से हमारे देश को फायदा जरूर हुआ है क्योंकि SC ST OBC में जो गरीब हैं उन तक आरक्षण का लाभ पहुंच रहा है हलाकि अगर आरक्षण को जातिगत तौर पर ना देकर आर्थिक आधार पर दिया जाए तो इससे ज्यादा लाभ हो सकता है क्योंकि जनरल कैटेगरी में भी बहुत सारे ऐसे गरीब लोग हैं जो अच्छी तरीके से अपना जीवन यापन नहीं कर रहे हैं और अगर उन तक आरक्षण का लाभ पहुंचता है तो वह भी समाज की मुख्यधारा से जुड़ पाएंगे इसीलिए आर्थिक आधार पर ही आरक्षण होना चाहिए ना कि जातिगत आधार पर क्योंकि एससी एसटी और ओबीसी में भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो आर्थिक आधार पर काफी मजबूत है लेकिन फिर भी जातिगत आरक्षण होने की वजह से वह भी आरक्षण का लाभ दे रहे हैं और इस वजह से आरक्षण उन लोगों तक नहीं पहुंच पा रहा है जिन तक सही मायनों में इनका लव पहुंचना चाहिए तो सरकार को धीरे-धीरे कुछ बदलाव अवश्य करना चाहिए ताकि आरक्षण की व्यवस्था को आर्थिक आधार पर लागू किया जाए

jabki hamare desh mein aarakshan ki vyavastha laagu hui hai tab se lekar aaj tak mujhe lagta hai ki aarakshan se hamare desh ko fayda zaroor hua hai kyonki SC ST OBC mein jo garib hai un tak aarakshan ka labh pohch raha hai halaki agar aarakshan ko jaatigat taur par na dekar aarthik aadhaar par diya jaaye toh isse zyada labh ho sakta hai kyonki general category mein bhi bahut saare aise garib log hai jo achi tarike se apna jeevan yaapan nahi kar rahe hai aur agar un tak aarakshan ka labh pahuchta hai toh vaah bhi samaj ki mukhyadhara se jud payenge isliye aarthik aadhaar par hi aarakshan hona chahiye na ki jaatigat aadhaar par kyonki SC ST aur obc mein bhi bahut saare aise log hai jo aarthik aadhaar par kaafi majboot hai lekin phir bhi jaatigat aarakshan hone ki wajah se vaah bhi aarakshan ka labh de rahe hai aur is wajah se aarakshan un logo tak nahi pohch paa raha hai jin tak sahi maayano mein inka love pahunchana chahiye toh sarkar ko dhire dhire kuch badlav avashya karna chahiye taki aarakshan ki vyavastha ko aarthik aadhaar par laagu kiya jaaye

जबकि हमारे देश में आरक्षण की व्यवस्था लागू हुई है तब से लेकर आज तक मुझे लगता है कि आरक्षण

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता कि आरक्षण से हमारे देश को फायदा है क्योंकि देखिए आरक्षण से वह लोग आगे जाते हैं और जो कि आप कहीं ना कहीं उनके अंक कम होते हैं या फिर उनकी कैपेबिलिटी कम होती है तो अगर आरक्षण की वजह से उन लोगों को आगे भेजा जा रहा है जो कि और लोगों से थोड़ी कम है परंतु उनकी जाति अलग है इसलिए उन को आगे बढ़ाया जा रहा है तो उससे हमारे देश को फायदा नहीं बल्कि नुकसान है क्योंकि आगे चलकर वह लोग अगर कुछ भी बनते हैं या फिर किसी भी पद पर जाता रह जाते हैं तो उससे हमारे देश का जो लेवल है वह नीचे जाएगा क्योंकि सबसे मेहनती है सबसे ज्यादा अंकों वाला इंसान वहां नहीं पहुंचा है बल्कि आरक्षण की वजह से एक नॉर्मल एक कम अंकों वाला इंसान आगे पहुंचाएं क्योंकि हमारे देश के भविष्य के लिए सही नहीं है और आगे चलकर हो सकता है कि वह इंसान जो कि आगे बढ़कर एक पद पर पहुंच गया है वह हमारे देश के लिए उतना राधा और चीजें ना कर पाए जितना की एक से ज्यादा अंक वाला इंसान कर सकता था तू कहीं ना कहीं चाहती का जो भेद है और जिसका आरक्षण बनाया गया है जिसकी वजह से जो आ जाती कबीर आरक्षण का आधार बना हुआ है वह चीज हमारे देश को कहना कि नुकसान पहुंचा रही है और उससे हमारे देश को बिल्कुल भी फायदा नहीं हो रहा है

mujhe nahi lagta ki aarakshan se hamare desh ko fayda hai kyonki dekhiye aarakshan se vaah log aage jaate hain aur jo ki aap kahin na kahin unke ank kam hote hain ya phir unki capability kam hoti hai toh agar aarakshan ki wajah se un logo ko aage bheja ja raha hai jo ki aur logo se thodi kam hai parantu unki jati alag hai isliye un ko aage badhaya ja raha hai toh usse hamare desh ko fayda nahi balki nuksan hai kyonki aage chalkar vaah log agar kuch bhi bante hain ya phir kisi bhi pad par jata reh jaate hain toh usse hamare desh ka jo level hai vaah niche jaega kyonki sabse mehanati hai sabse zyada ankon vala insaan wahan nahi pohcha hai balki aarakshan ki wajah se ek normal ek kam ankon vala insaan aage paunchaye kyonki hamare desh ke bhavishya ke liye sahi nahi hai aur aage chalkar ho sakta hai ki vaah insaan jo ki aage badhkar ek pad par pohch gaya hai vaah hamare desh ke liye utana radha aur cheezen na kar paye jitna ki ek se zyada ank vala insaan kar sakta tha tu kahin na kahin chahti ka jo bhed hai aur jiska aarakshan banaya gaya hai jiski wajah se jo aa jaati kabir aarakshan ka aadhaar bana hua hai vaah cheez hamare desh ko kehna ki nuksan pohcha rahi hai aur usse hamare desh ko bilkul bhi fayda nahi ho raha hai

मुझे नहीं लगता कि आरक्षण से हमारे देश को फायदा है क्योंकि देखिए आरक्षण से वह लोग आगे जाते

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल मुझे ऐसा लगता है कि आरक्षण से हमारे देश को फायदा है अगर आप सोचें तो आरक्षण इंप्लीमेंट लगाया इसलिए गया था रिजर्वेशन शुरू इसलिए किया गया था ताकि हमारे देश में जो और कम्युनिटी इस हैं जिनको प्रॉपर अपरेंटिस नहीं मिली है अपने देश के डेवलपमेंट में हिस्सा लेने के लिए उनको प्रॉपर पहुंचूंगी मिल पाए तो अगर आप देश के फायदे की बात कर रहे हैं तो अब इस रिजर्वेशन से यह होगा कि जब यह लोग हमारी सोसाइटी में इंक्लूड हो जाएंगे जब यह लोग जिनको हम इतने टाइम से सब प्रेस कर रहे हैं वह अपने देश के डेवलपमेंट में साथ देंगे तो ऑफिस में देश आगे बढ़ेगा ही अगर ज्यादा लोग एकजुट होकर अपने देश को आगे बढ़ा सकेंगे तो ऑफिस में फायदा होगा ही अगर हम इन लोगों को भी उसी तरह ही अपॉर्चुनिटी अध्यापक लिस्ट कर दे इतना काबिल बना दें कि वह इतना काबिल बनने की अपॉर्चुनिटी है कि वह अपने देश में कुछ कर सके तो मुझे लगता है कि इससे काफी फायदा होगा हमारे देश को

ji bilkul mujhe aisa lagta hai ki aarakshan se hamare desh ko fayda hai agar aap sochen toh aarakshan implement lagaya isliye gaya tha reservation shuru isliye kiya gaya tha taki hamare desh mein jo aur community is hain jinako proper apprentice nahi mili hai apne desh ke development mein hissa lene ke liye unko proper pahunchungi mil paye toh agar aap desh ke fayde ki baat kar rahe hain toh ab is reservation se yah hoga ki jab yah log hamari society mein include ho jaenge jab yah log jinako hum itne time se sab press kar rahe hain vaah apne desh ke development mein saath denge toh office mein desh aage badhega hi agar zyada log ekjut hokar apne desh ko aage badha sakenge toh office mein fayda hoga hi agar hum in logo ko bhi usi tarah hi opportunity adhyapak list kar de itna kaabil bana de ki vaah itna kaabil banne ki opportunity hai ki vaah apne desh mein kuch kar sake toh mujhe lagta hai ki isse kaafi fayda hoga hamare desh ko

जी बिल्कुल मुझे ऐसा लगता है कि आरक्षण से हमारे देश को फायदा है अगर आप सोचें तो आरक्षण इंप्

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  109
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या अच्छा से हमारे देश को फायदा हुआ है या नहीं हुआ है अभी कुल मुझे लगता है कि जब भी आरक्षण भारत में लागू किया गया था उसको बहुत जरूरी था कि भारत में आरक्षण लागू किया जाए ताकि जो डिफरेंस इस थे टिकट बहुत कम हुआ है अभी की बात करने तो डिफरेंस से बहुत लोग जो कि दलित वर करा दे दे उनको समाज में आगे बढ़ने का मौका नहीं दिया जाता था कि क्योंकि वह दलित वर्ग के थे बहुत जगह पर अलाउड नहीं था बहुत सभी मतलब आरक्षण आने के बाद यह चीजें हुई समाज में उनको भी एक लेवल पर आने का मौका मिला जय अपार्टमेंट में हो चाहे गवर्नमेंट ऑफिसर्स मैं ऑफिस में हूं तो यह बहुत जरूरी है कि आरक्षण कब लागू हुआ उसके बाद से इन चीजों में सुधार आया ठीक है तो आरक्षण से यह देश को जरूर फायदा हुआ कि जो कुछ मतलब माइनॉरिटी लोग हैं वह एक दिल पर आकर रुके ठीक है तो बिल्कुल नहीं लगता है आरक्षण कब लागू हुआ था उसको सभी + फायदा हुआ है लेकिन अभी जो आज चंकी पद्धति मुझे लगती है भारत में जो है उसको चेंज होने की आवश्यकता है क्योंकि आज सबसे पहली चीज मुझे तो लगता है अगर आरक्षण लागू किया गया उसका मेन मोटर थाकी जो सामाजिक तौर पर जो पिछड़े लोग है उसको बाहर जाना ठीक है तो अभी एक जाति में कोई अगर ठीक एक जाति किसी को आरक्षण मिल गया एक फैमिली में 1 मेंबर को तो आप इसलिए वह लोग ऊपर उठ रहे हैं ठीक है फिर बार-बार बार-बार उन्हीं की फैमिली को देने में आरक्षण अमृत वचन का सही मतलब नहीं निकलता है सही में आज शाम को मिलना चाहिए जो इनकी मदद सही में निधि लोग हैं जिनकी आर्थिक तौर पर बहुत कमजोर है जो आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं पैसे की वजह से सामाजिक कोई और पृथ्वी कि वह उन को आगे बढ़ने में मौका देना चाहिए तो यह चीजें का आर्थिक तौर पर कर दिया लक्षण दिल तो बहुत अच्छा होगा और सबको मिलकर आवाज उठाने की जरूरत है इसमें

kya accha se hamare desh ko fayda hua hai ya nahi hua hai abhi kul mujhe lagta hai ki jab bhi aarakshan bharat mein laagu kiya gaya tha usko bahut zaroori tha ki bharat mein aarakshan laagu kiya jaaye taki jo difference is the ticket bahut kam hua hai abhi ki baat karne toh difference se bahut log jo ki dalit var kara de de unko samaj mein aage badhne ka mauka nahi diya jata tha ki kyonki vaah dalit varg ke the bahut jagah par allowed nahi tha bahut sabhi matlab aarakshan aane ke baad yah cheezen hui samaj mein unko bhi ek level par aane ka mauka mila jai apartment mein ho chahen government officers main office mein hoon toh yah bahut zaroori hai ki aarakshan kab laagu hua uske baad se in chijon mein sudhaar aaya theek hai toh aarakshan se yah desh ko zaroor fayda hua ki jo kuch matlab minority log hain vaah ek dil par aakar ruke theek hai toh bilkul nahi lagta hai aarakshan kab laagu hua tha usko sabhi fayda hua hai lekin abhi jo aaj chinki paddhatee mujhe lagti hai bharat mein jo hai usko change hone ki avashyakta hai kyonki aaj sabse pehli cheez mujhe toh lagta hai agar aarakshan laagu kiya gaya uska main motor thaki jo samajik taur par jo pichade log hai usko bahar jana theek hai toh abhi ek jati mein koi agar theek ek jati kisi ko aarakshan mil gaya ek family mein 1 member ko toh aap isliye vaah log upar uth rahe hain theek hai phir baar baar baar baar unhi ki family ko dene mein aarakshan amrit vachan ka sahi matlab nahi nikalta hai sahi mein aaj shaam ko milna chahiye jo inki madad sahi mein nidhi log hain jinki aarthik taur par bahut kamjor hai jo aage nahi badh paa rahe hain paise ki wajah se samajik koi aur prithvi ki vaah un ko aage badhne mein mauka dena chahiye toh yah cheezen ka aarthik taur par kar diya lakshan dil toh bahut accha hoga aur sabko milkar awaaz uthane ki zarurat hai isme

क्या अच्छा से हमारे देश को फायदा हुआ है या नहीं हुआ है अभी कुल मुझे लगता है कि जब भी आरक्ष

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  133
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
aarakshan ; amit nadekar ; awaaz entrepreneur ; sc aarakshan ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!