समंजन क्षमता क्या है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समंजन क्षमता किसे कहते हैं मानव नेत्र के लेंस की क्षमता जिसे का गरबा दूर की वस्तु दुकानों की वस्तुओं के अध्यक्ष अध्यक्ष सकता है उसी को हमें आपकी सुंदर चलता कहते हैं

samanjan kshamta kise kehte hai manav netra ke lens ki kshamta jise ka garba dur ki vastu dukaano ki vastuon ke adhyaksh adhyaksh sakta hai usi ko hamein aapki sundar chalta kehte hain

समंजन क्षमता किसे कहते हैं मानव नेत्र के लेंस की क्षमता जिसे का गरबा दूर की वस्तु दुकानों

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
Loading...
Loading...
user
0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पूछा गया प्रश्न है समझ क्षमता किसे कहते हैं इसका उत्तर है नेत्र लेंस की क्षमता जिसके कारण वह अपनी फोकस दूरी को समायोजित कर लेता है समंजन कहलाती है

aapka poocha gaya prashna hai samajh kshamta kise kehte hai iska uttar hai netra lens ki kshamta jiske karan vaah apni focus doori ko samayojit kar leta hai samanjan kahalati hai

आपका पूछा गया प्रश्न है समझ क्षमता किसे कहते हैं इसका उत्तर है नेत्र लेंस की क्षमता जिसके

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  259
WhatsApp_icon
play
user

विकास सिंह

दिल से भारतीय

0:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

समायोजन क्षमता क्या है निकल गए तो अभिनेत्र लेंस कि वह सुनता है जिसके कारण वह अपने फोकस दूरी को समायोजित कर लेता है उसे समाज में कहते हैं और अभिनेत्र लेंस की फोकस दूरी एक निश्चित न्यूनतम सीमा से कम नहीं होती है किसी वस्तु को आराम से सो स्पष्ट देखने के लिए इसे अपने से कम से कम 25 सेंटीमीटर दूर रखना होगा और वह न्यूनतम दूरी जो होती है जिस पर रखी हुई वस्तु बिना किसी तनाव के अत्यधिक स्पष्ट दिखता दीक्षित देखी जा सकती है उसे स्पष्ट दर्शन का दूरी कहते हैं

samaayojan kshamta kya hai nikal gaye toh abhinetra lens ki vaah sunta hai jiske karan vaah apne focus doori ko samayojit kar leta hai use samaj mein kehte hai aur abhinetra lens ki focus doori ek nishchit ninuntam seema se kam nahi hoti hai kisi vastu ko aaram se so spasht dekhne ke liye ise apne se kam se kam 25 centimetre dur rakhna hoga aur vaah ninuntam doori jo hoti hai jis par rakhi hui vastu bina kisi tanaav ke atyadhik spasht dikhta dixit dekhi ja sakti hai use spasht darshan ka doori kehte hain

समायोजन क्षमता क्या है निकल गए तो अभिनेत्र लेंस कि वह सुनता है जिसके कारण वह अपने फोकस दूर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
samanjan kshamta ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!