अपने कंफर्ट जोन से कैसे बाहर निकला जाए?...


user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

3:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको अपने कंफर्ट जोन से अपने कैसे बाहर निकला जाए देखे कंफर्ट जोन की अगर बात करें तो सबके अपने अलग-अलग लक्ष्य हो सकते हैं और ऐसा भी नहीं है कि आप जो है सामान्य जीवन जी रहे हैं अच्छा जीवन जी रहे हैं कोई परेशानी नहीं है फिर भी आप अपने मन में अंदर एक भावना लिया कि नहीं भाई मुझे तो करो ना वार को कमाना है और आप हाथ पैर मार कर अपनी संतुष्टि और बढ़ा ले बेचैनी और बढ़ा लें और जैसा कि आजकल आप देख ही रहे हैं बहुत ही से बनारस में बहुत से कंपनियों उसमें ऐसी मीटिंग्स में ऐसा बताया जाता है लेकिन यहां पर दो बातें आती हैं जो मेरे अपने विचार हैं कि अगर आप अपने जीवन में ठीक ठाक तरीके से चल रहे हैं आपने सब कुछ अजीब किया है और उसकी अपनी एक सीमाएं हैं तो बेहतर है कि आप अपने कंफर्ट जोन में ही रहे क्योंकि कंफर्ट जोन से बाहर निकलने का मतलब है कि आपके मन में बेचैनी बढ़ना आपके मन में संतुष्टि बढ़ना अभी आपके पास सब कुछ है फिर भी आप और की चाह रखते हैं यह तो फिर बात जो है वह और आपके लिए मन के लिए मानसिक स्तर के लिए नुकसानदेह हुई और दूसरी अकरम बात करें ऐसे लोगों की जो आलस्य का जीवन जी रहे हैं परिश्रम नहीं करते हैं कुछ करना नहीं चाहते या बहुत ही कम में बस गुजारे लाइक कर रहे हैं और जब की जरूरत उनकी शायद कुछ और है या और जरूरत है उनकी उनका परिवार है उनके बच्चे हैं उनकी रिक्वायरमेंट है यह हम कहेंगे नीड उन्हें लेकिन फिर भी वह बाहर नहीं निकलना चाहते उनकी अगर हम बात करें तो उनको एक अपना लक्ष्य बनाना होगा क्योंकि बिना लक्ष्य के और बिना उसके तो कंफर्ट जोन से बाहर आप नहीं आ सकते तो जब आप एक अपना लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं तो फिर उस लक्ष्य को पाने के लिए आप अपना आपका अपना परिश्रम आपका अपना समर्पण आपके अपने कर्म उस तक पहुंचा देते हैं क्योंकि उसके पीछे तो फिर आपको लगना पड़ेगा आप कंफर्ट की स्थिति में रहकर तो उस लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकते अगर आप उस लक्ष्य को हासिल करना चाहते हैं तो आपको कंफर्ट जोन से बाहर आना होगा तो यह दोनों बातें अलग अलग हैं तो आपको विचार करना है कि आपकी जीवन में क्या आकांक्षाएं हैं क्योंकि हर एक के विचार अपने अलग हो सकते हैं एक कम में संतुष्ट है आनंद का जीवन जी रहा है एक अधिक में भी असंतुष्ट है और बेचैनी का जीवन जी रहा है उसकी आकांक्षाएं खत्म नहीं हो रही है बहुत कुछ मिलने के बाद भी वह बेचैन है आज भी उसका मन और और और की तरफ रहा है आपको खुद ही डिसाइड करना होगा कहीं ना कहीं एक कप मर्यादित जीवन या मैं कहूंगा आपको अपनी सीमा बनानी पड़ेगी तभी आप जीवन का आनंद ले सकते हैं हरि ओम

aapko apne comfort zone se apne kaise bahar nikala jaaye dekhe comfort zone ki agar baat kare toh sabke apne alag alag lakshya ho sakte hain aur aisa bhi nahi hai ki aap jo hai samanya jeevan ji rahe hain accha jeevan ji rahe hain koi pareshani nahi hai phir bhi aap apne man me andar ek bhavna liya ki nahi bhai mujhe toh karo na war ko kamana hai aur aap hath pair maar kar apni santushti aur badha le bechaini aur badha le aur jaisa ki aajkal aap dekh hi rahe hain bahut hi se banaras me bahut se companion usme aisi meetings me aisa bataya jata hai lekin yahan par do batein aati hain jo mere apne vichar hain ki agar aap apne jeevan me theek thak tarike se chal rahe hain aapne sab kuch ajib kiya hai aur uski apni ek simaye hain toh behtar hai ki aap apne comfort zone me hi rahe kyonki comfort zone se bahar nikalne ka matlab hai ki aapke man me bechaini badhana aapke man me santushti badhana abhi aapke paas sab kuch hai phir bhi aap aur ki chah rakhte hain yah toh phir baat jo hai vaah aur aapke liye man ke liye mansik sthar ke liye nukasaanadeh hui aur dusri akram baat kare aise logo ki jo aalasya ka jeevan ji rahe hain parishram nahi karte hain kuch karna nahi chahte ya bahut hi kam me bus gujare like kar rahe hain aur jab ki zarurat unki shayad kuch aur hai ya aur zarurat hai unki unka parivar hai unke bacche hain unki requirement hai yah hum kahenge need unhe lekin phir bhi vaah bahar nahi nikalna chahte unki agar hum baat kare toh unko ek apna lakshya banana hoga kyonki bina lakshya ke aur bina uske toh comfort zone se bahar aap nahi aa sakte toh jab aap ek apna lakshya nirdharit kar lete hain toh phir us lakshya ko paane ke liye aap apna aapka apna parishram aapka apna samarpan aapke apne karm us tak pohcha dete hain kyonki uske peeche toh phir aapko lagna padega aap comfort ki sthiti me rahkar toh us lakshya ko prapt nahi kar sakte agar aap us lakshya ko hasil karna chahte hain toh aapko comfort zone se bahar aana hoga toh yah dono batein alag alag hain toh aapko vichar karna hai ki aapki jeevan me kya akanchaye hain kyonki har ek ke vichar apne alag ho sakte hain ek kam me santusht hai anand ka jeevan ji raha hai ek adhik me bhi asantusht hai aur bechaini ka jeevan ji raha hai uski akanchaye khatam nahi ho rahi hai bahut kuch milne ke baad bhi vaah bechain hai aaj bhi uska man aur aur aur ki taraf raha hai aapko khud hi decide karna hoga kahin na kahin ek cup maryadit jeevan ya main kahunga aapko apni seema banani padegi tabhi aap jeevan ka anand le sakte hain hari om

आपको अपने कंफर्ट जोन से अपने कैसे बाहर निकला जाए देखे कंफर्ट जोन की अगर बात करें तो सबके अ

Romanized Version
Likes  694  Dislikes    views  5122
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Tanay Mishra

Head Control Clerk In Forest Department U.P.

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

टिकट कोई भी चीज आपको बहुत ही ज्यादा डेसपरेट तो बहुत ही ज्यादा उसकी आवश्यकता हो अंदर से आपको कोई चीज करने के लिए हो अगर आपके अंदर आग लगी है उसको पाने के लिए आग लगी है तभी आप कंफर्ट जोन से आगे निकल पाएंगे उसके ऊपर उठ पाएंगे क्योंकि सिर्फ आपको वही एक चीज दिखेगी मुझे वही करना है और कुछ भी नहीं करना है मुझे यह प्राप्त कर ली जब तक आपके अंदर सीने में वह आग नहीं लगेगी तब तक आप कम पर जोर से नहीं निकल सके आखिर कहीं ना कहीं से बहाना ढूंढ लेंगे कि यह बहाना है वह आने पर अगर अपने कम पर जोर से निकलना है तो एक लक्ष्य बनाइए और उसको अपने सीने में डाल दीजिए मुझे को करना करना ही करना तभी आपका फलों से बाहर निकल सकते हैं धन्यवाद

ticket koi bhi cheez aapko bahut hi zyada desaparet toh bahut hi zyada uski avashyakta ho andar se aapko koi cheez karne ke liye ho agar aapke andar aag lagi hai usko paane ke liye aag lagi hai tabhi aap comfort zone se aage nikal payenge uske upar uth payenge kyonki sirf aapko wahi ek cheez dikhegi mujhe wahi karna hai aur kuch bhi nahi karna hai mujhe yah prapt kar li jab tak aapke andar seene me vaah aag nahi lagegi tab tak aap kam par jor se nahi nikal sake aakhir kahin na kahin se bahana dhundh lenge ki yah bahana hai vaah aane par agar apne kam par jor se nikalna hai toh ek lakshya banaiye aur usko apne seene me daal dijiye mujhe ko karna karna hi karna tabhi aapka falon se bahar nikal sakte hain dhanyavad

टिकट कोई भी चीज आपको बहुत ही ज्यादा डेसपरेट तो बहुत ही ज्यादा उसकी आवश्यकता हो अंदर से आपक

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
user

Bhim Singh Kasnia

Acupunctrist,Motivational Speaker

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है कि अपने कंफर्ट जोन से कैसे बाहर निकला जाए देखिए कंफर्ट जोन से बाहर निकलने के लिए आपको पहले तो अपना काम चुनना है उस काम को चुनने के बाद बस उस पर आपने काम करते हुए आगे बढ़ते जाना है आपका लक्ष्य फिक्स होना चाहिए निर्धारित होना चाहिए और इस पर आपने बड़ा सटीक अमल करना है और इसके लिए अगर आपको होमसिकनेस आती है आपको अपने कंफर्ट जोन में रहने के लिए फीलिंग आती है तो उससे आपको थोड़ा सा जूझना होगा लेकिन जब आप निरंतर इसका प्रयास करोगे तो आप अवश्य से बाहर निकल जाएंगे और कामयाब होगी धन्यवाद नमस्कार

namaskar aapka sawaal hai ki apne comfort zone se kaise bahar nikala jaaye dekhiye comfort zone se bahar nikalne ke liye aapko pehle toh apna kaam chunana hai us kaam ko chunane ke baad bus us par aapne kaam karte hue aage badhte jana hai aapka lakshya fix hona chahiye nirdharit hona chahiye aur is par aapne bada sateek amal karna hai aur iske liye agar aapko homesickness aati hai aapko apne comfort zone me rehne ke liye feeling aati hai toh usse aapko thoda sa jujhna hoga lekin jab aap nirantar iska prayas karoge toh aap avashya se bahar nikal jaenge aur kamyab hogi dhanyavad namaskar

नमस्कार आपका सवाल है कि अपने कंफर्ट जोन से कैसे बाहर निकला जाए देखिए कंफर्ट जोन से बाहर नि

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  190
WhatsApp_icon
user

satyaveer singh

Satya Traders

2:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको भूख नहीं जब अंदर से भूख होती है ना तो फिर अंदर से अच्छा विचार नहीं आते कंपोट जीवन से कैसे बाहर निकले आपके अंदर ललिता नहीं है आप क्या सीन है आप किसी की खोज करना नहीं चाहते अब चाहते मात्र नहीं है आपके दर जिज्ञासा हो कुछ पाने के कुछ पन्ने की तो कंप्यूट जोर से बाहर नहीं निकलेंगे आप निकल जाएंगे ना हम पर जोड़ना बनेंगे यदि आपको यहां से दिल्ली जाना हो ना अपना सर छोड़ना नहीं पड़ता भाई अब चाहते हैं तो छूट जाता है क्योंकि जाना तेना यदि आपका कोई लक्ष्य बना यदि आपका कुछ सपना होगा यदि आप कुछ बनना चाहते हैं यदि आप अपने लिए किसी और के लिए अपने मां बाप के लिए या बेहतर से बेहतर बनना चाहते हैं आप कुछ पाना चाहते हैं ना जो आपका कंफर्ट जोन है ना छोड़ना नहीं पढ़े सूट जाएगा ठीक है आपका कंफर्ट जोन है ना उसे निकल नहीं पा रहे निकल जाओ ठीक करने की ललक अपने अंदर तरह से क्यों करना चाहिए मुझे याद आ गई उसकी उतनी कंपोट जून में रहता होगा है तो प्यार वाली व्यक्ति कोई भी इतने कंप्यूटर में रहता होगा रमैया वस्तावैया कितने कंपनी से प्यार हो गया टूट गया टूट गया टूट गया नमस ऐसी लड़की मैं किसी ऐसी बात नहीं कर रहा हूं आपसे कि आप किसी छोरी बड़ी किस से प्यार करो मैं फिर भी करो कि आपके पास अगर कोई टारगेट होता है आपका अगर कोई उद्देश्य होता है मांगने बदलने का छूट जाते हैं उदाहरणों इसलिए देना ही नहीं था इसलिए थैंक यू धन्यवाद थैंक यू

aapko bhukh nahi jab andar se bhukh hoti hai na toh phir andar se accha vichar nahi aate kampot jeevan se kaise bahar nikle aapke andar lalita nahi hai aap kya seen hai aap kisi ki khoj karna nahi chahte ab chahte matra nahi hai aapke dar jigyasa ho kuch paane ke kuch panne ki toh compute jor se bahar nahi nikalenge aap nikal jaenge na hum par jodna banenge yadi aapko yahan se delhi jana ho na apna sir chhodna nahi padta bhai ab chahte hain toh chhut jata hai kyonki jana tena yadi aapka koi lakshya bana yadi aapka kuch sapna hoga yadi aap kuch banna chahte hain yadi aap apne liye kisi aur ke liye apne maa baap ke liye ya behtar se behtar banna chahte hain aap kuch paana chahte hain na jo aapka comfort zone hai na chhodna nahi padhe suit jaega theek hai aapka comfort zone hai na use nikal nahi paa rahe nikal jao theek karne ki lalak apne andar tarah se kyon karna chahiye mujhe yaad aa gayi uski utani kampot june me rehta hoga hai toh pyar wali vyakti koi bhi itne computer me rehta hoga ramaiya vastavaiya kitne company se pyar ho gaya toot gaya toot gaya toot gaya namas aisi ladki main kisi aisi baat nahi kar raha hoon aapse ki aap kisi chhori badi kis se pyar karo main phir bhi karo ki aapke paas agar koi target hota hai aapka agar koi uddeshya hota hai mangne badalne ka chhut jaate hain udaharanon isliye dena hi nahi tha isliye thank you dhanyavad thank you

आपको भूख नहीं जब अंदर से भूख होती है ना तो फिर अंदर से अच्छा विचार नहीं आते कंपोट जीवन से

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  194
WhatsApp_icon
user

Chandrakant Shrivastav

Educationist N Counsellor. PD Trainer. Motivator

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां अभी यह हमारी है मोटिवेटर नया फंडा लाए हैं ए प्राइवेट सेक्टर से फंड आया कंफर्ट जोन से बाहर निकली अरेबिक लिए कंफर्ट जोन से बाहर क्यों निकले मेरा यह सवाल है क्योंकि वह युद्ध में बोलते हैं इसलिए निकली है ताकि आपको इतना पैसा मिलेगा अब दोबारा कम पर जोन में जा सके तो बेवकूफ में पहले से कम पर ढूंढने हूं तुम मुझ को बाहर निकाल रहे हो परेशान कर रहे हो और ऊपर से बोल रहे हो क्या आगे चलके आपको और कंफर्ट मिलेगा यह तो पागलपन रूम में लोगों को प्रभावित करते हैं एक सेमिनार में में मैं भी गया था वह अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकली मैं भला क्यों नहीं लगा कर बैठे हो और मुझे दुख में घूमो खड़े रहो ऐसे करो वैसे करो सभी लोग थोड़ी पिटारे घर पर बैठकर पूरा कंप्यूटर में रह गए काम करते हैं यह फालतू के हैं इनके अपने मेहनत कीजिए स्मार्टवर्क शरीर को आराम की भी जरूरत है नींद नहीं लेंगे पागल जैसे काम करोगे उल्लू की तरह जाएंगे तबीयत खराब हो जाएगी और शरीर खराब रहा तो मन भी उदास हो जाएगा एक कंफर्ट जोन से बाहर निकली है क्यों क्योंकि उससे ज्यादा कंफर्ट लेना है नॉनसेंस फिर की बातें किस चीज को कम 2 घंटा लेट होगी पागल बने रिजल्ट दीजिए बस इतना काफी है थैंक यू

haan abhi yah hamari hai motivator naya fanda laye hain a private sector se fund aaya comfort zone se bahar nikli arabic liye comfort zone se bahar kyon nikle mera yah sawaal hai kyonki vaah yudh me bolte hain isliye nikli hai taki aapko itna paisa milega ab dobara kam par zone me ja sake toh bewakoof me pehle se kam par dhundhne hoon tum mujhse ko bahar nikaal rahe ho pareshan kar rahe ho aur upar se bol rahe ho kya aage chal ke aapko aur comfort milega yah toh pagalpan room me logo ko prabhavit karte hain ek seminar me me main bhi gaya tha vaah apne comfort zone se bahar nikli main bhala kyon nahi laga kar baithe ho aur mujhe dukh me ghumo khade raho aise karo waise karo sabhi log thodi pitare ghar par baithkar pura computer me reh gaye kaam karte hain yah faltu ke hain inke apne mehnat kijiye smartwork sharir ko aaram ki bhi zarurat hai neend nahi lenge Pagal jaise kaam karoge ullu ki tarah jaenge tabiyat kharab ho jayegi aur sharir kharab raha toh man bhi udaas ho jaega ek comfort zone se bahar nikli hai kyon kyonki usse zyada comfort lena hai nonsense phir ki batein kis cheez ko kam 2 ghanta late hogi Pagal bane result dijiye bus itna kaafi hai thank you

हां अभी यह हमारी है मोटिवेटर नया फंडा लाए हैं ए प्राइवेट सेक्टर से फंड आया कंफर्ट जोन से ब

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  221
WhatsApp_icon
play
user

Manish Singh

VOLUNTEER

1:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल सही क्वेश्चन कि अपने कंफर्ट जोन से बाहर कैसे निकला जाए आपको पहले यह डिसाइड करना पड़ेगा आपके कंफर्ट जोन है क्या आप क्या-क्या आसानी से कर सकते हो क्या क्या आप नहीं कर सकते हैं और उन सब चीजों की लिस्ट बनाई है प्वाइंट बनाइए और जो जो अब कंफर्ट जोन से बाहर की चीजें आती हैं यानी कि जो जो आप करना नहीं चाहते हैं आपको करने में मुश्किल लगता है या फिर आप किसी वजह से कर नहीं रहे हैं वह सब काम मौका मिलने पर सबसे पहले अगर जैसे कि आपको कंपनियों ने आपको कि आप स्टेज पर नहीं जा सकते आप को स्टेज पर जाने में शर्म आती है आप बोल नहीं पाते हैं तो अगर नेक्स्ट टाइम आप इन सब चीजों की लिस्ट नहीं नेक्स्ट टाइम अगर आपको कहीं पर भी ऐसा मौका मिले कि आप को स्टेज पर जाकर भाषण देना है स्टेज पर किसी भी तरह की एक्टिविटी करनी है तो आप उसे पहले इंसान हो आपको बस हिम्मत डेरिंग बस दो चीज दिखानी होगी ना और आप अपनी कंपटीशन से बिल्कुल बाहर निकल पाएंगे फिल्म सब की लिस्ट बनाई और नेक्स्ट टाइम जब जब वह पश्चिम दी जाती हैं आपके सामने आप सबसे पहले उनको आप एक्सेप्ट कीजिए यही एक तरीका अपने कंप्यूटर बाहर निकलने का

ji bilkul sahi question ki apne comfort zone se bahar kaise nikala jaaye aapko pehle yah decide karna padega aapke comfort zone hai kya aap kya kya aasani se kar sakte ho kya kya aap nahi kar sakte hain aur un sab chijon ki list banai hai point banaiye aur jo jo ab comfort zone se bahar ki cheezen aati hain yani ki jo jo aap karna nahi chahte hain aapko karne mein mushkil lagta hai ya phir aap kisi wajah se kar nahi rahe hain vaah sab kaam mauka milne par sabse pehle agar jaise ki aapko companion ne aapko ki aap stage par nahi ja sakte aap ko stage par jaane mein sharm aati hai aap bol nahi paate hain toh agar next time aap in sab chijon ki list nahi next time agar aapko kahin par bhi aisa mauka mile ki aap ko stage par jaakar bhashan dena hai stage par kisi bhi tarah ki activity karni hai toh aap use pehle insaan ho aapko bus himmat daring bus do cheez dikhaani hogi na aur aap apni competition se bilkul bahar nikal payenge film sab ki list banai aur next time jab jab vaah paschim di jaati hain aapke saamne aap sabse pehle unko aap except kijiye yahi ek tarika apne computer bahar nikalne ka

जी बिल्कुल सही क्वेश्चन कि अपने कंफर्ट जोन से बाहर कैसे निकला जाए आपको पहले यह डिसाइड करना

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
comfort use karne ka tarika ; कंफर्ट ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!