क्या भारतीय राजनीति का स्तर दिन-ब-दिन गिरता जा रहा है?...


play
user

Ranjan Khatumaria

Politician, Social Worker

0:39

Likes  13  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विक्रम ठाकुर आप बोल सकते हैं कि भारतीय राजनीति का स्तर दिन-प्रतिदिन गिरता जा रहा है आजकल भारतीय राजनीति में क्या कर रही है पॉलिटिकल पार्टी अपना वर्चस्व बढ़ाने के लिए वह कुछ भी कर देती है और वोट बैंक पाने के लिए सत्ता में आने के लिए वह कुछ भी कर सकती हैं देखिए सबसे पहली बात तो यह है कि आज भी जो पोलिटिकल पार्टीज है वह क्या कर रही हैं वह भी धर्म के नाम पर विभाजन कर रहे हैं और अपने वोटबैंक भरने के लिए समुदाय के बीच में दंगे भड़का रहे हैं और अराजकता फैला रही है आप देख सकते हैं बहुत सारी पोलिटिकल पार्टीज ऐसा कर रहे हैं आज भी हिंदू मुस्लिम के नाम पर वोट लिए जाते हैं और उनके बीच में अराजकता फैलाई जाती है और उनके बीच का जो डिफरेंस है वह दिन पर दिन और बढ़ रहा है और पोलिटिकल पार्टीज को कोई फर्क नहीं पड़ता है वह सत्ता में आना चाहते हैं अपने वोट बैंक भरना चाहते हैं पहले दूसरे से एग्जांपल आपको देखने को मिल गए होंगे जैसे अभी हमने देखा कि एससी एसटी एक्ट में चेंजेस हुए तो वहीं कांग्रेस इस दंगे को बढ़ावा दे रही थी धनोरा था उस दिन कांग्रेस की पार्टी ने अपना एक पत्ता निकाला राजकोट में गुजरात में उन्होंने अपना कैंप लगाया लगाया कांग्रेस के विधायक ने जो वहां के राजकोट के और वहां पर वह लगातार नारे लगा रहे थे और जो लोग नंगे करे तो उनके सामने बैठ के नारे लगा रहे थे पप्पू जी की पोलिटिकल पार्टीज का स्तर कितना गिर गया है तो बस यही बोलूंगा कि राजनीतिक जो पार्टी है भारत की उनके स्तर दिन-प्रतिदिन गिरता जा रहा है और वह सत्ता में आने के कुछ भी कर सकते हैं चाहे देश का कुछ भी हो उनको कोई फर्क नहीं पड़ता है उसको पावर में है वह सत्ता में है और अगली बार मैं यह बोलूंगा कि देखे दिन पर दिन हमें कम दिखाई दे रहे हैं और ज्यादा से ज्यादा नेताओं के ऊपर है हमने बहुत सारे देखें आजकल जो पोलिटिकल पार्टीज है और उनकी तो नहीं पाया अभी हमने देखा बीजेपी के एक नेता पर रेप का आरोप लगा और भी कई सारे ऐसे आरोप लगे हैं और साथ ही नेता कुछ गलत कमेंट करते हैं इन रेप रेप की घटनाओं पर तो बिल्कुल इन सब बातों को देखते हो तो यह लगता है कि दिन पर दिन पोलिटिकल पार्टीज का स्तर गिरता जा रहा है

vikram thakur aap bol sakte hai ki bharatiya raajneeti ka sthar din pratidin girta ja raha hai aajkal bharatiya raajneeti mein kya kar rahi hai political party apna varchaswa badhane ke liye vaah kuch bhi kar deti hai aur vote bank paane ke liye satta mein aane ke liye vaah kuch bhi kar sakti hai dekhiye sabse pehli baat toh yah hai ki aaj bhi jo political parties hai vaah kya kar rahi hai vaah bhi dharm ke naam par vibhajan kar rahe hai aur apne votbaink bharne ke liye samuday ke beech mein dange bhadaka rahe hai aur arajkata faila rahi hai aap dekh sakte hai bahut saree political parties aisa kar rahe hai aaj bhi hindu muslim ke naam par vote liye jaate hai aur unke beech mein arajkata failai jaati hai aur unke beech ka jo difference hai vaah din par din aur badh raha hai aur political parties ko koi fark nahi padta hai vaah satta mein aana chahte hai apne vote bank bharna chahte hai pehle dusre se example aapko dekhne ko mil gaye honge jaise abhi humne dekha ki SC ST act mein changes hue toh wahi congress is dange ko badhawa de rahi thi dhanora tha us din congress ki party ne apna ek patta nikaala rajkot mein gujarat mein unhone apna camp lagaya lagaya congress ke vidhayak ne jo wahan ke rajkot ke aur wahan par vaah lagatar nare laga rahe the aur jo log nange kare toh unke saamne baith ke nare laga rahe the pappu ji ki political parties ka sthar kitna gir gaya hai toh bus yahi boloonga ki raajnitik jo party hai bharat ki unke sthar din pratidin girta ja raha hai aur vaah satta mein aane ke kuch bhi kar sakte hai chahen desh ka kuch bhi ho unko koi fark nahi padta hai usko power mein hai vaah satta mein hai aur agli baar main yah boloonga ki dekhe din par din hamein kam dikhai de rahe hai aur zyada se zyada netaon ke upar hai humne bahut saare dekhen aajkal jo political parties hai aur unki toh nahi paya abhi humne dekha bjp ke ek neta par rape ka aarop laga aur bhi kai saare aise aarop lage hai aur saath hi neta kuch galat comment karte hai in rape rape ki ghatnaon par toh bilkul in sab baaton ko dekhte ho toh yah lagta hai ki din par din political parties ka sthar girta ja raha hai

विक्रम ठाकुर आप बोल सकते हैं कि भारतीय राजनीति का स्तर दिन-प्रतिदिन गिरता जा रहा है आजकल भ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां हम कह सकते हैं कि भारतीय राजनीति का जिस तरह वह दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है क्योंकि अब हमें अपनी राजनीति में साम दाम दंड भेद हर तरीके से लोग अपना काम करवाना करवाते हुए दिख रहा है और अभी इसका एक उदाहरण आप ले सकते हैं कि यह जो अभी कर्नाटक में सरकार नहीं बना पाई BJP तो उन्होंने काफी ज्यादा कोशिश की कि कैसे भी वह दूसरे पार्टी के MLA को अपनी तरफ ले कर आ सके और बहुमत दिखा सके अपनी असेंबली में ताकि वह अपनी सरकार बनाने तो यह चीज एक आम उदाहरण है कि कैसे भी वह अपनी भेज सरकार सत्ता में लाना चाहते हैं वह सरकार बनाना चाहते हैं तो यह चीज़ें आपको देखकर कह सकते हैं कि हम जो राजनीति में राजनेता है मंत्री हैं वह दिन-ब-दिन उनकी सोच कर दी जा रही है और वह हर तरीके से हर चीज से यह चाहते हैं कि सर वह जीते और कुछ भी और उनके आने वाली नई उसके अलावा राज्य तरीके कितने आसान तरीके से अपनी कैंपेन में एक दूसरे के ऊपर रहती कमेंट करते हैं और इतनी तरह की बातें बोलते हैं और अपना कहीं ना कहीं स्तर गिरा लेते हैं कि दूसरे के बारे में आप क्या बोल रहे हैं क्या नहीं बोल रहे कोई भी नहीं सकता ही वन प्राइम मिनिस्टर मोदी ने अभी अभी कर्नाटक की चैंपियन में कई सारी ऐसी चीजें बोली हैं और राहुल गांधी जी और कांग्रेस के प्रति जो कि शायद एक कक्ष प्राइम मिनिस्टर के नाते उनको नहीं बोलना चाहिए था क्योंकि वह एक बीजेपी के नेता जरूर है परंतु प्राइम मिनिस्टर भी हमारे देश के और वह अगर कुछ कहेंगे तो उसका बहुत बड़ा प्रभाव हमारे देश पर और और विदेशी लोगों पर भी पड़ता है और वह उनके बारे में उसी तरह की सोच रखेंगे जैसा कि वह लोगों को बोलेंगे आप कहेंगे तो मुझे लगता है कि कहीं ना कहीं राजनीति का जो इस तरह वह दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है और लोगों से लोगों से वादे किए जा रहे हैं और उनको पूरा नहीं किया जा रहा है और सारी पार्टियां सिर्फ अपने हित में काम कर रही हैं और देश के बारे में ज्यादा नहीं सोच रही हैं

ji haan hum keh sakte hai ki bharatiya raajneeti ka jis tarah vaah din bsp din badhta ja raha hai kyonki ab hamein apni raajneeti mein saam daam dand bhed har tarike se log apna kaam karwana karwaate hue dikh raha hai aur abhi iska ek udaharan aap le sakte hai ki yah jo abhi karnataka mein sarkar nahi bana payi BJP toh unhone kaafi zyada koshish ki ki kaise bhi vaah dusre party ke MLA ko apni taraf le kar aa sake aur bahumat dikha sake apni assembly mein taki vaah apni sarkar banane toh yah cheez ek aam udaharan hai ki kaise bhi vaah apni bhej sarkar satta mein lana chahte hai vaah sarkar banana chahte hai toh yah chize aapko dekhkar keh sakte hai ki hum jo raajneeti mein raajneta hai mantri hai vaah din bsp din unki soch kar di ja rahi hai aur vaah har tarike se har cheez se yah chahte hai ki sir vaah jeete aur kuch bhi aur unke aane wali nayi uske alava rajya tarike kitne aasaan tarike se apni campaign mein ek dusre ke upar rehti comment karte hai aur itni tarah ki batein bolte hai aur apna kahin na kahin sthar gira lete hai ki dusre ke bare mein aap kya bol rahe hai kya nahi bol rahe koi bhi nahi sakta hi van prime minister modi ne abhi abhi karnataka ki champion mein kai saree aisi cheezen boli hai aur rahul gandhi ji aur congress ke prati jo ki shayad ek kaksh prime minister ke naate unko nahi bolna chahiye tha kyonki vaah ek bjp ke neta zaroor hai parantu prime minister bhi hamare desh ke aur vaah agar kuch kahenge toh uska bahut bada prabhav hamare desh par aur aur videshi logo par bhi padta hai aur vaah unke bare mein usi tarah ki soch rakhenge jaisa ki vaah logo ko bolenge aap kahenge toh mujhe lagta hai ki kahin na kahin raajneeti ka jo is tarah vaah din par din badhta ja raha hai aur logo se logo se waade kiye ja rahe hai aur unko pura nahi kiya ja raha hai aur saree partyian sirf apne hit mein kaam kar rahi hai aur desh ke bare mein zyada nahi soch rahi hain

जी हां हम कह सकते हैं कि भारतीय राजनीति का जिस तरह वह दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है क्योंकि अब

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारतीय राजनीति का स्तर दिन से नहीं देखे हैं तो अब वह पानी के लिए अब देखिए पैसे पैसे का सहारा लिया जा रहा है मतलब क्या पॉलिटिक्स इलेक्शन लोकतांत्रिक देश में जनता की सरकार बननी चाहिए

bharatiya raajneeti ka sthar din se nahi dekhe hain toh ab vaah paani ke liye ab dekhiye paise paise ka sahara liya ja raha hai matlab kya politics election loktantrik desh mein janta ki sarkar banani chahiye

भारतीय राजनीति का स्तर दिन से नहीं देखे हैं तो अब वह पानी के लिए अब देखिए पैसे पैसे का सहा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!