ज़ीनत महल की हवेली के बारे में विस्तार से बताये?...


user

Shivendra Pratap Singh

Engineer , Assistant Professor

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उत्तर आपका पर्सनल जीनत महल की हवेली के बारे में विस्तार से बताइए तो मैं आपको बताना चाहता हूं हवेली एक ही काफी बड़ी जगह पर स्थित एक मकान होता है पुराने जमाने में इसका निर्माण कर दो जमींदारों द्वारा कराया जाता था इसमें अनेक कमरे को तेज उनका रखरखाव संबंधित स्टाफ और नौकरी द्वारा किया जाता है

uttar aapka personal zeenat mahal ki haweli ke bare me vistaar se bataiye toh main aapko batana chahta hoon haweli ek hi kaafi badi jagah par sthit ek makan hota hai purane jamane me iska nirmaan kar do zamindaro dwara karaya jata tha isme anek kamre ko tez unka rakharakhav sambandhit staff aur naukri dwara kiya jata hai

उत्तर आपका पर्सनल जीनत महल की हवेली के बारे में विस्तार से बताइए तो मैं आपको बताना चाहता ह

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  1664
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Masoom

Teacher

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है जीनत महल की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं कि जीनत महल की हवेली एक ऐसी हवेली थी जो दिल्ली के तमाम ऐतिहासिक इमारतों में से एक थी इस महल की सबसे ज्यादा उपज उपेक्षा की गई है यह महल चांदनी चौक के लाल कुमार इलाके के फल आज खाने में स्थित है यह अपने भीतर सन 18 57 के प्रथम स्वाधीनता संग्राम की बेशुमार यादें समेटे हुई है इस माहौल को आखिरी मुगल बादशाह शायर और स्वतंत्रा सेनानी बहादुर शाह जफर की तीसरी और सबसे प्रिय बेगम जीनत महल नेशन 1846 में बनवाया था या महल लगभग 6 एकड़ में बनी हुई है और जो अपने विशाल और अवैध दरवाजों खूबसूरत झरो हो जालीदार खिड़कियों और दीवारों पर बेहतरीन चित्रांकन वाली मुगल स्थापत्य शैली का नमूना है यह उस जमाने में लाल किले के बाद चांदनी चौक क्षेत्र की सबसे बड़ी और चर्चित हवेली हुआ करती थी अंत समय में मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर के बुड्ढे हो जाने के बाद जितनी भी कार्य हुआ करती थी वह बेगम जीनत महल के हवेली से ही हुआ करती थी अर्थात शासन की बागडोर अप्रत्यक्ष रूप से जीनत माल के हाथों में ही उस समय थी उस समय मुगल काल का केंद्र लाल किला नहीं बल्कि जीनत महल की हवेली हुआ करती थी

aapka prashna hai zeenat mahal ki haweli ke bare me vistaar se bataye ki zeenat mahal ki haweli ek aisi haweli thi jo delhi ke tamaam etihasik imarton me se ek thi is mahal ki sabse zyada upaj upeksha ki gayi hai yah mahal chandni chauk ke laal kumar ilaake ke fal aaj khane me sthit hai yah apne bheetar san 18 57 ke pratham swadheenta sangram ki beshumar yaadain samete hui hai is maahaul ko aakhiri mughal badshah shayar aur swatantra senani bahadur shah jafar ki teesri aur sabse priya begum zeenat mahal nation 1846 me banwaya tha ya mahal lagbhag 6 acre me bani hui hai aur jo apne vishal aur awaidh darvajon khoobsurat jharo ho JALIDAR khidkiyon aur deewaaron par behtareen chitrankan wali mughal sthaapaty shaili ka namuna hai yah us jamane me laal kile ke baad chandni chauk kshetra ki sabse badi aur charchit haweli hua karti thi ant samay me mughal badshah bahadur shah jafar ke buddhe ho jaane ke baad jitni bhi karya hua karti thi vaah begum zeenat mahal ke haweli se hi hua karti thi arthat shasan ki baghdor apratyaksh roop se zeenat maal ke hathon me hi us samay thi us samay mughal kaal ka kendra laal kila nahi balki zeenat mahal ki haweli hua karti thi

आपका प्रश्न है जीनत महल की हवेली के बारे में विस्तार से बताएं कि जीनत महल की हवेली एक ऐसी

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  1087
WhatsApp_icon
play
user
0:15

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीनत बहादुर शाह जफर की पत्नी का नाम था और जीनत महल दिल्ली में बनवाया गया था जिसमें आसपास के योद्धाओं को वीरों को बुलाकर रखा जाता था

zeenat bahadur shah jafar ki patni ka naam tha aur zeenat mahal delhi mein banwaya gaya tha jisme aaspass ke yoddhaon ko veero ko bulakar rakha jata tha

जीनत बहादुर शाह जफर की पत्नी का नाम था और जीनत महल दिल्ली में बनवाया गया था जिसमें आसपास क

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  450
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!