योग की विशेषता क्या है बताये?...


user

Akash Mishra

Yoga Expert | Author | Naturopathist | Acupressure Specialist |

1:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका फेस नहीं युग की विशेषता क्या है बताइए तो योगी ऐसा अभ्यास है जिसको करने से आप मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से स्वस्थ रह सकते हैं बहुत कम ऐसे अभ्यास होते हैं जिसमें यहां के मानसिक स्वास्थ्य के पहलू पर और आपके शारीरिक स्वास्थ्य दोनों पर ध्यान दिया जाता हूं निरंतर अभ्यास करते रहने से आपका जो आप के मानसिक विकास के बाद में जॉब के व्यक्तित्व में विकास है वह बड़ा योग की एक विशेष बात है दूसरी बात यह है कि योग के अभ्यास से हमारे विभिन्न प्रकार के जो लोग हैं उनसे बच सकते हैं जो लोग हो गए हैं उनसे हम लड़ सकते हैं उन लोगों को यह हम सही कर सकते हैं इस तरह की चीजें भी योग के अभ्यास से होती है जो शरीर की ऊर्जा है वह खर्च ना होकर ऊर्जा संचित होती है प्रयोग के व्यास हमारी इस प्रकार के नए-नए अलग अलग तरीके के फायदे होते हैं दिन प्रतिदिन उसकी मरम्मत के लिए हमें ताकत मिलती है मैं की मरम्मत के लिए हमारे जो हमें फायदा मिलता है क्योंकि यह विशेषता है यूट्यूब पर लाइक और कमेंट करें और वहां पर देखें

aapka face nahi yug ki visheshata kya hai bataiye toh yogi aisa abhyas hai jisko karne se aap mansik aur sharirik dono roop se swasth reh sakte hain bahut kam aise abhyas hote hain jisme yahan ke mansik swasthya ke pahaloo par aur aapke sharirik swasthya dono par dhyan diya jata hoon nirantar abhyas karte rehne se aapka jo aap ke mansik vikas ke baad mein job ke vyaktitva mein vikas hai vaah bada yog ki ek vishesh baat hai dusri baat yah hai ki yog ke abhyas se hamare vibhinn prakar ke jo log hain unse bach sakte hain jo log ho gaye hain unse hum lad sakte hain un logo ko yah hum sahi kar sakte hain is tarah ki cheezen bhi yog ke abhyas se hoti hai jo sharir ki urja hai vaah kharch na hokar urja sanchit hoti hai prayog ke vyas hamari is prakar ke naye naye alag alag tarike ke fayde hote hain din pratidin uski marammat ke liye hamein takat milti hai main ki marammat ke liye hamare jo hamein fayda milta hai kyonki yah visheshata hai youtube par like aur comment karen aur wahan par dekhen

आपका फेस नहीं युग की विशेषता क्या है बताइए तो योगी ऐसा अभ्यास है जिसको करने से आप मानसिक औ

Romanized Version
Likes  170  Dislikes    views  1861
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

TANMAY KR.

Teacher

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने अपनी आयोग की विशेषता बताइए भाइयों की विशेषता क्या बताता हूं योग व योग व परमसुख है जो दिलो दिमाग को एकत्रित करता है मन को इधर-उधर भटकने से बचाता है शरीर को स्वस्थ रखता है मन को अपनी गति को प्रदान करता है और किसी प्रकार की कोई ब्रीडिंग प्रॉब्लम हार्ट प्रॉब्लम और किडनी प्रॉब्लम नहीं आने देता है

aapne apni aayog ki visheshata bataiye bhaiyo ki visheshata kya batata hoon yog va yog va paramsukh hai jo dilo dimag ko ekatrit karta hai man ko idhar udhar bhatakne se bachata hai sharir ko swasth rakhta hai man ko apni gati ko pradan karta hai aur kisi prakar ki koi Breeding problem heart problem aur KIDNEY problem nahi aane deta hai

आपने अपनी आयोग की विशेषता बताइए भाइयों की विशेषता क्या बताता हूं योग व योग व परमसुख है जो

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  355
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग का अर्थ एकता या बांधना है आध्यात्मिक स्तर पर इस जोड़ने का अर्थ है सार्वभौमिक चेतना के साथ व्यक्तिगत चेतना का एक होना व्यवहारिक स्तर पर योग शरीर मन और भावनाओं को संतुलित करने और तालमेल बनाने का एक साधन है यह योग या एकता आसन प्राणायाम मुद्रा बंद सत्कर्म और ध्यान के अभ्यास के माध्यम से प्राप्त होती है

yog ka arth ekta ya bandhana hai aadhyatmik sthar par is jodne ka arth hai sarvabhaumik chetna ke saath vyaktigat chetna ka ek hona vyavaharik sthar par yog sharir man aur bhavnao ko santulit karne aur talmel banane ka ek sadhan hai yah yog ya ekta aasan pranayaam mudra band satkarm aur dhyan ke abhyas ke madhyam se prapt hoti hai

योग का अर्थ एकता या बांधना है आध्यात्मिक स्तर पर इस जोड़ने का अर्थ है सार्वभौमिक चेतना के

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  553
WhatsApp_icon
user

Masoom

Teacher

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि योग की विशेषता बताएं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि योग का अर्थ होता है एकता या बांधना इस शब्द की जड़ है संस्कृत शब्द योग में जिसका शब्द है जुड़ना आध्यात्मिक स्तर पर इसे जुड़ने का अर्थ है सार्वभौमिक चेतना के साथ व्यक्तिगत चेतना का एक होना व्यावहारिक तौर पर योग शरीर मन और भावनाओं को संतुलित करने और तालमेल बनाने का एक साधन है योग शाम अपने मन को एकाग्र चित्त कर सकते हैं साथ ही अपने शरीर को भी हम विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचा सकते हैं

aapka prashna hai ki yog ki visheshata bataye toh aapki jaankari ke liye bata de ki yog ka arth hota hai ekta ya bandhana is shabd ki jad hai sanskrit shabd yog me jiska shabd hai judna aadhyatmik sthar par ise judne ka arth hai sarvabhaumik chetna ke saath vyaktigat chetna ka ek hona vyavaharik taur par yog sharir man aur bhavnao ko santulit karne aur talmel banane ka ek sadhan hai yog shaam apne man ko ekagra chitt kar sakte hain saath hi apne sharir ko bhi hum vibhinn prakar ki bimariyon se bacha sakte hain

आपका प्रश्न है कि योग की विशेषता बताएं तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि योग का अर्थ होता

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  419
WhatsApp_icon
user
0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न पूछा गया कि योग की विशेषता क्या है बताइए तो मैं आपको बता देना चाहता हूं कि योग जो है इसको पुरातन धर्म में भी और पुराने जो मान्यता के द्वारा भी बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है और लोगों की मान्यता है और यह मानना भी है कि योग से जुड़े वह बहुत सारी ऐसी बीमारियों का निवारण हो सकता है जोकि हजूर जटिल बीमारियां जिम को कहा जाता है जो शरीर में घर कर लेती है अगर आप नियमित रूप से रोगियों की करते तो आप बहुत सारी बीमारियों से दूर रहते हैं उनकी जो है शरीर की वह भी काफी

prashna poocha gaya ki yog ki visheshata kya hai bataiye toh main aapko bata dena chahta hoon ki yog jo hai isko puratan dharm me bhi aur purane jo manyata ke dwara bhi bahut hi mahatvapurna mana gaya hai aur logo ki manyata hai aur yah manana bhi hai ki yog se jude vaah bahut saari aisi bimariyon ka nivaran ho sakta hai joki hajur jatil bimariyan gym ko kaha jata hai jo sharir me ghar kar leti hai agar aap niyamit roop se rogiyon ki karte toh aap bahut saari bimariyon se dur rehte hain unki jo hai sharir ki vaah bhi kaafi

प्रश्न पूछा गया कि योग की विशेषता क्या है बताइए तो मैं आपको बता देना चाहता हूं कि योग जो ह

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  603
WhatsApp_icon
play
user

Suman Saurav

Government Teacher & Carrear Counsultent

0:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपने युग की विशेषता क्या है बताएं युवक की विशेषता यही है कि आपको यह बहुत सारे असाध्य रोगों से मुक्ति दिलाती है आपको उसके लिए कुछ ही विशेष डॉक्टर के पास या कुछ अधिक खर्च नहीं करना पड़ता है इसके स्वस्थ रहने में भी आपके शरीर को काफी मदद करती है

aap apne yug ki visheshata kya hai batayen yuvak ki visheshata yahi hai ki aapko yah bahut saare asadhya rogon se mukti dilati hai aapko uske liye kuch hi vishesh doctor ke paas ya kuch adhik kharch nahi karna padta hai iske swasth rehne mein bhi aapke sharir ko kafi madad karti hai

आप अपने युग की विशेषता क्या है बताएं युवक की विशेषता यही है कि आपको यह बहुत सारे असाध्य रो

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  978
WhatsApp_icon
user
0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

युग की विशेषता है कि हमारे शारीरिक एवं मानसिक विकास दोनों के लिए अति लाभदायक है इससे व्यक्ति का शरीर स्वस्थ रहता है और मन में सुख एवं शांति का अनुभव होता है इसे हम किसी बीमारी के चंगुल में नहीं फंस सकते हैं और इससे व्यक्ति की कार्य क्षमता भी बढ़ती है

yug ki visheshata hai ki hamare sharirik evam mansik vikas dono ke liye ati labhdayak hai isse vyakti ka sharir swasth rehta hai aur man me sukh evam shanti ka anubhav hota hai ise hum kisi bimari ke changul me nahi fans sakte hain aur isse vyakti ki karya kshamta bhi badhti hai

युग की विशेषता है कि हमारे शारीरिक एवं मानसिक विकास दोनों के लिए अति लाभदायक है इससे व्यक्

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  729
WhatsApp_icon
user
0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग सही तरह से जीने का विज्ञान है और इसलिए इसे दैनिक जीवन में शामिल किया जाना चाहिए यह हमारे जीवन से जुड़े बौद्धिक मानसिक भावनात्मक आत्मिक और दत्त ने आदि सभी पहलुओं पर काम करता है योग का अर्थ एकता या बनना है इस शब्द की जड़ है संस्कृतिक शब्द यूज इसका मतलब जुर्म

yog sahi tarah se jeene ka vigyan hai aur isliye ise dainik jeevan me shaamil kiya jana chahiye yah hamare jeevan se jude baudhik mansik bhavnatmak atmik aur dutt ne aadi sabhi pahaluwon par kaam karta hai yog ka arth ekta ya banna hai is shabd ki jad hai sanskritik shabd use iska matlab jurm

योग सही तरह से जीने का विज्ञान है और इसलिए इसे दैनिक जीवन में शामिल किया जाना चाहिए यह हमा

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1434
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!