व्याकरण का महत्व क्या है?...


user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है व्याकरण का महत्व क्या है तो देखिए किसी भी भाषा में व्याकरण अत्यधिक आवश्यक एक हिस्सा होता है किसी भी भाषा का कर सकते हैं हम भी हमें किसी भाषा को पूर्ण रूप से जानना है उसके बारे में सीखना है तो व्याकरण होना जरूरी है क्योंकि बिना व्याकरण की उसके शब्दों का गठन करना और उनके शब्दों का पता लगाना अर्थ पता लगाना नामुमकिन है इसलिए व्याकरण का अत्यधिक महत्व है बिना व्याकरण की भाषा है वह महत्वहीन होती है और वह मान्यता भिन्न होती है एक केवल एक क्षेत्र विशेष की बोली कहलाती है वह भाषा नहीं की जा सकती धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai vyakaran ka mahatva kya hai toh dekhiye kisi bhi bhasha me vyakaran atyadhik aavashyak ek hissa hota hai kisi bhi bhasha ka kar sakte hain hum bhi hamein kisi bhasha ko purn roop se janana hai uske bare me sikhna hai toh vyakaran hona zaroori hai kyonki bina vyakaran ki uske shabdon ka gathan karna aur unke shabdon ka pata lagana arth pata lagana namumkin hai isliye vyakaran ka atyadhik mahatva hai bina vyakaran ki bhasha hai vaah mahatwahin hoti hai aur vaah manyata bhinn hoti hai ek keval ek kshetra vishesh ki boli kahalati hai vaah bhasha nahi ki ja sakti dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है व्याकरण का महत्व क्या है तो देखिए किसी भी भाषा में व्याकरण अत्यधिक

Romanized Version
Likes  78  Dislikes    views  1856
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाषा में व्याकरण का महत्व क्या है तो दो तो किसी भी भाषा के अंग प्रत्यंग का विश्लेषण तथा विवेचन व्याकरण कहलाता है व्याकरण विद्या है जिसके द्वारा किसी भाषा को शुद्ध बोला पड़ा और शुद्ध लिखा जाता है भाषा की शुद्धता को बनाए रखने के लिए इन नियमों का पालन करना आवश्यक होता है

bhasha me vyakaran ka mahatva kya hai toh do toh kisi bhi bhasha ke ang pratyang ka vishleshan tatha vivechan vyakaran kehlata hai vyakaran vidya hai jiske dwara kisi bhasha ko shudh bola pada aur shudh likha jata hai bhasha ki shuddhta ko banaye rakhne ke liye in niyamon ka palan karna aavashyak hota hai

भाषा में व्याकरण का महत्व क्या है तो दो तो किसी भी भाषा के अंग प्रत्यंग का विश्लेषण तथा वि

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  1842
WhatsApp_icon
play
user
0:29

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्याकरण यानी ग्रामर व्याकरण सी चीज है जो हमें किसी भाषा को सही सही बोलने पढ़ने तथा समझने की गुण देता है शक्ति प्रदान करता है और व्याकरण नहीं होगा तो हमसे देवाचन कुछ भी बोल देते हैं जो व्याकरण के तौर पर सीधा नहीं है भले ही बात कर ले ले लिखने पढ़ने में अगर वैसा करेंगे तो बहुत धारण की मदद से हम अच्छा बोल पाते हैं तो लिख पाते धन्यवाद

vyakaran yani grammar vyakaran si cheez hai jo hamein kisi bhasha ko sahi sahi bolne padhne tatha samjhne ki gun deta hai shakti pradan karta hai aur vyakaran nahi hoga toh humse devachan kuch bhi bol dete hain jo vyakaran ke taur par seedha nahi hai bhale hi baat kar le le likhne padhne mein agar waisa karenge toh bahut dharan ki madad se hum accha bol paate hain toh likh paate dhanyavad

व्याकरण यानी ग्रामर व्याकरण सी चीज है जो हमें किसी भाषा को सही सही बोलने पढ़ने तथा समझने क

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  1087
WhatsApp_icon
user
0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

करण क्या है इसका आंसर है किसी भी भाषा के अंग प्रत्यंग का विश्लेषण तथा विवेचन व्याकरण कल आता है व्याकरण हुआ विद्या है जिसके द्वारा किसी भाषा को शुद्ध पूर्णा पढ़ना और शुद्ध लिखा जाता है भाषा की शुद्धता व सुंदरता को बनाए रखने के लिए इन नियमों का पालन करना आवश्यक होता है

karan kya hai iska answer hai kisi bhi bhasha ke ang pratyang ka vishleshan tatha vivechan vyakaran kal aata hai vyakaran hua vidya hai jiske dwara kisi bhasha ko shudh poorna padhna aur shudh likha jata hai bhasha ki shuddhta va sundarta ko banaye rakhne ke liye in niyamon ka palan karna aavashyak hota hai

करण क्या है इसका आंसर है किसी भी भाषा के अंग प्रत्यंग का विश्लेषण तथा विवेचन व्याकरण कल आत

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  916
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
vyakaran ka kya mahatva hai ; vyakaran ka mahatva ; व्याकरण का क्या महत्व है ; व्याकरण का महत्व ; भाषा में व्याकरण का क्या महत्व है ; bhasha mein vyakaran ka kya mahatva hai ; vyakaran mein bhasha ka kya mahatva hai ; vyakaran ka mahatva kya hai ; vyakaran ka mahatva hindi mai ; व्याकरण के महत्व ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!